मा और अंकल के चुदाई संबंध-2

हेलो गाइस स्वागत है आपका “मा और अंकल के चुदाई संबंध” पार्ट 2 मे. आपने पिछले पार्ट मे देखा की कैसे मा और अंकल के बीच होटेल मे किस का सीन हुआ अब आयेज.

हम अब घर पह्ोछ गये लेकिन रास्ते मे ही आते वक्त मई सो गया था. तो अंकल ने मुझे उठाके हमारे कमरे मे सुला दिया. लेकिन मुझे उठाने के वजह से आँख खुल गयी. मा तोड़ा बेचें सी लग रही थी. और अंकल भी मा से नहर नही मिला पा रहे थे तो अंकल अपने कमरे मे चले गये.

और मा हमारे कमरे मे बेड पे बैठ के कुछ सोच रही थी. शायद वो होटेल मे हुई किस के बारे मे सोच रही थी. तभी मा के मोबाइल पे म्स्ग आ गया शायद अंकल का था. अंकल ने मा को सॉरी बोला था और कहा की.

अंकल – सॉरी भाभी जी लेकिन मई तोड़ा नशे मे था और वो हो गया, मुझे माफ़ कर दो.

मों – कुछ नही, मई तो नशे मे नही थी ना. मुझसे भी ग़लती हुई.

अंकल – नही सारी ग़लती मेरी ही थी, आप हो ही इतनी खूबसूरत की कोई भी ऐसा ही करता. सच मे तो मई आपको बहोट चाहता हो. आप मुझे बहोट आक्ची लगती हो. तो मई अपने आप को काबू मई कर नही सका.

मों – ओह ऐसा क्या, मुझे लग रहा था ऐसा ही कुछ.

अंकल – क्या मई आपको पसंद नही हू क्या? बोलो ना.

मों – ऐसा कुछ नही लेकिन ये ग़लत है ना.

अंकल – तो आप भी मुझे पसंद करती हो?

मों – हन लेकिन वो ठीक नही है.

अंकल – ओके ई लोवे योउ भाभी जी, माफ़ करना मुझे.

मों ने कुछ जवाब नही दिया. मा की साँसे तेज हो गयी थी.

मों का जवाब नही आया तो अंकल ने तोड़ा वेट किया और 10 मिनिट्स के बाद हमरे रूम का डोर ओपन हुआ. मा ने देखा तो अंकल खड़े थे.

अंकल अंदर आ गये और डोर आयेज कर दिया. मा ने कुछ नही बोला वो वही बेड पे बैठी थी. अंकल क्या हुआ मैने कुछ ग़लत कहा क्या. अगर कहा होगा तो माफ़ करदो लेकिन बात करो.

मों ने कुछ नही कहा, अंकल मा के पास आ गये और मा के हाथो को अपने हाथ मे ले लिया और किस किया और बोला सच मा भाभी जी मई आपको बहोट चाहता हो. मा ने हल्के से कहा मई भी.

अब अंकल को इशारा मिल गया था तो अंकल ने मा के एर को पकड़ा उनके बाल पीछे किए और कहा. कितना प्यारा चेहरा है आपका. और गाल पे किस किया. मा थोड़ी सी मुस्कुरई.

अंकल ने मा के होतो को अपने होतो मे जाखड़ लिया और किस करने लगे. वो मा के गुलाबी होतो को चूस रहे थे अब मा भी उनका साथ देने लगी.
थोड़ी देर ऐसी ही किस करने के बाद अंकल मा के गले की किस करने लगे और चाटने लगे.

मानो आज अंकल को सबकुछ मिल गया था. वो मा के गले को और कानो को काटने लगे. मा को दर्द हो रहा था. मा ने कहा हल्के से करो. तो अंकल अब धीरे धीरे किस करने लगे.

अंकल ने मा का पल्लू गिरा दिया और उनके बूब्स को दबाने लगे. उन्होने मा का ब्लाउस निकल दिया. मा को बेड पे ही लिया दिया और उनके उपर चढ़ के किस करने लगे.

अंकल बहोट वाइल्ड होकर मा को चूम रहे थे. मा ने आजतक ऐसी चुम्मचती कभी नही देखी थी. अंकल मानो मा को खाने ही वेल थे. अंकल ने मा की सारी निकल दी और अपना टशहिर्त भी निकल दिया. उनकी सख़्त बॉडी मा के सामने थी मा भी अंकल को अब चूमने लगी.

अंकल का पूरा शरीर मा मे उपर था और मा अंकल का पूरा वेट अपने आप पर ले रही थी. फिर अंकल ने मा की ब्रा निकल दी और मा के वो दोनो बूब्स देख के उनके होश उड़ गये. उन्होने मा के निपल्स को अपने जीभ से चूसना शुरू किया और अपने हाथो से बूब्स को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगे.

अंकल मा को बहोट ज़ोर से दबा रहे थे. मा भी बहोट मॉडर्न थी और उन्हे भी ऐसा करना पसंद आ रहा था. उन्हे मज़ा आ रहा था. अंकल ने अब मा की पनटी को निकल दिया और मा की छोटी सी छूट मे अपनी जिव्हा घुसा दी. मा के मूह से आअहहा की आवाज़ निकल आई.

अब अंकल मा की छूट की सफाई करने लगे. मा को बॉडी एकदम पतली और किसी मॉडेल से केयेम नही थी. उनका 34 26 36 का फिगर देखे के अंकल पागल हो गये थे. उनके बरसो की ख्वाहिश पूरी हो रही थी. उन्होने मा के पूरे बदन को काट के लाल कर दिया था.

अब मा पूरे जोश मे आ गयी और अंकल के उपर चढ़ गयी उन्हने अंकल के शरीर को चूमना शुरू किया वो भी अंकल को काट रही थी. अंकल का शरीर बहोट बड़ा था मा को हमेशा से ही ऐसा ही शरीर चाहिए था. उनके पतले शरीर को ऐसा ही सख़्त और तकड़वार शारी उन्हे पसंद था.

अब मा ने अंकल की अंडरवेर निकल दी और अंदर देखा तो उनकी आँखे फटी की फटी र गयी. अंकल का लंड बहोट बड़ा था वो किसी सॅप की तरहा मा की तरफ देख रहा था. उन्होने अपने हाथ मे उसे पकड़ा एक हाथ की मुट्ठी मे लंड नही स्मा रहा था.

अंकल का लंड करीब 7.5 इंच लंबा और 3.5 इंच चौड़ा था. इतना ब्डा लंड देखार मा के होश उड़ गये थे. अब अंकल का लंड मा की छूट मे जाने के लिए टार्स रहा था.

अंकल ने ज़तक से मा को नीचे किया और खुद उनके उपर चढ़ गये. और अपने लंड से मा की छूट के उपर रगड़ने लगे. मा की मूह से अहहा आहा की आवाज़ आ रही थी. अंकल के लंड का बड़ा सा टोपे मा की छूट पे मस्ल रहा था.

अब मा को कंट्रोल नही हो रहा था तो मा ने बोला अब ब्स करो जल्दी डालो. तो अंकल ने मा मा की छूट को तोड़ा अपने उंगली से फैला दिया और अपना लंड उसपे रखकर एक झहहातका दिया..

जैसे ही अंकल ने तोड़ा अपनी पीठ का ज़ोर ल्गया मा की मूह से ह की आवाज़ आ गयी और अंकल का आधा लंड मा की छूट मे च्ला गया और मा की चींखे निकल आई.

मों- ऑश.. औच मॅर गयी.. बहोट बड़ा है ये ऑश…

अंकल ने मा के मूह मे अपना मूह डाला और उन्हे थोड़ी रहट दी अब अंकल आहे पीछे करने लगे. अंकल का आड़ा ही लंड मा की छूट मे अंदर बाहर कर रहा था. और मा इतने मे ही चींख रही थी. मा की छूट बहोट टाइट थी शायद अंकल का लंड बहोट ही चौड़ा था मेरे हिसाब से ज़्यादा.

अब मा को दर्द केयेम हो गया तो अंकल ने और एक ज़ोर से झटका दिया और मा की मूह से आवाज़ आ गयी.

मों – मॅर गयी, ऑश बाबू, बाहर निकालो इसे बहोट दर्द हो रहा है.

और अंकल का पूरा लंड मा की छूट की दीवारों को चीरता हुआ मा की छूट मे समा गया.

मा की ये आवाज़ सुनके अंकल को और जोश आ गया और अंकल अब मा धीरे धीरे अपने लंड को उपर नीचे करने लगे. अंकल का बड़ा सा लंड मा की छूट मे एक रोड की तरह अंदर बाहर कर रहा था. और मा की मूह से सिसकिया निकल रही थी.

अंकल का पूरा मोटा शरीर मा के उपर था ऐसा लग रहा था की मा अंकल के नीचे समा गयी है. उनका वेट मा के वेट से करीब 2 गुना मे नज़दीक था. मा पूरी गद्दी मे समा गयी थी.

और अब अंकल की मा को छिड़ने की गति भी बढ़ गयी थी अब मा की मूह से सिसकिया निकल रही थी लेकिन उस दर्द मे भी उन्हे सुकून मिल रहा था. अंकल अपनी तकड़ से मा को छोड़ रहे थे. और बोल रहे थे – ई लोवे योउ बेबी तुम मेरी हो. मैने तुम्हारी जैसी लड़की आज तक नही देखी.

मा भी अब अंकल का साथ दे रही थी और अंकल बहोट मज़े से मा के बूब्स को चूस्ते चूस्ते छोड़ रहे थे. उनके हर एक धक्के के साथ मा की मूह से सिसकिया निकल रही थी. मा की मधहोश आवाज़ सुन के अंकल को और जोश आ रहा था.

अंकल का पूरा लंड अब मा की छूट मे खेल रहा था और इतनी टाइट छूट को छोड़ने का अंकल का सपना पूरा हो रहा था. अंकल के धक्के की स्पीड अब ज़्यादा होने लगी. और मा बोली..

मों – धीरे करो बेबी, अब दर्द हो रहा है. धीरे करो औच ह्म्‍म्म्म ऑश य्ाआ. मई कहा भागी नही जेया रही हो ऑश बेबी ह्म

लेकिन अंकल कहा सुनने वेल थे वो तो पूरे जोश से मा को छोड़ रहे थे. इतना ब्डा लकड़ी का डबल बेड हिल रहा था. अंकल का हर एक धक्का मा की छूट पे आकर ख़तम हो रहा था. अब मा झड़ने वाली थी और अंकल भी झड़ने वेल थे.

अंकल ने मा से पूछा बेबी कहा डालु अपना माल. मा ने कहा बाहर डालो प्लीज़.
अब अंकल ने अपनी गति बढ़ा दी मा की मूह से आवाज़े आने लगी.

मों – ऑश.. औकचह ह्म्‍म्म्म फक फूच ऑश और ज़रा सा ऑश बेबी फक फक फूच और मा झाड़ गयी. लेकिन अभी अंकल नही झाडे थे.

अंकल ने अपनी स्पीड बढ़ा दी और मा को अब अंकल धक्के सहे नही जेया रहे थे लेकिन अंकल मा मानने वेल थे. अब अंकल ज़ोर ज़ोर से मा को छोड़ने लगे और किस करने लगे उन्होने मा को अब जाखड़ लिया और वो झड़ने ही वेल थे तो मा ने कहा प्लीज़ बाहर निकालो.

अंकल ने अपने लंड को छूट से बाहर निकाला और मा के नाभि पे अपना सारा माल दल दिया. और मा को किस किया. दोनो पूरी तरह से तक गये थे. अंकल ने मा से पूछा कैसा था तो मा श्रमा गयी और बोली ज़रा धीरे करना सीखो मई कोई मशीन नही जो इतने ज़ोर से ले साकु.

और मा वॉशरूम चली गयी. आपको ये कहानी कैसे लगी बताईएएगा ज़रूर इस मैल ईद पे..

यह कहानी भी पड़े  प्यासी विधवा आंटी की चुत चुदाई करके मजा दिया

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!