लड़की को आडिशन के लिए बुलाया गया

हे फ्रेंड्स, ई’म मोहित फ्रॉम लुक्कणोव. ये लगभग 10 महीने पहले की एक रियल घटना है, जो मैं सबसे शेर करना चाहता हू. क्यूंकी अब मैं खुद के अंदर और नही दबाए रख सकता.

मैं मोहित, आगे 22 देल्ही में ही फ्लॅट रेंट पे लेकर रह रहा हू, और म्बा कर रहा हू. मेरे साथ मेरी दीदी प्रिया रहती है, और वो एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करती है.

दीदी प्रिया की आगे 24 है, और वो गुड लुकिंग है. मैं और दीदी दोनो बहुत खुशी-खुशी रह रहे थे. दीदी एक अची डॅन्सर है, और काई बार मॉदेलिंग भी की है. बुत सिचुयेशन के अकॉरडिंग उसने जॉब जाय्न कर ली.

दीदी को हमेशा से ही आक्टिंग का शौंक था, और वो इसी में अपना करियर बनाना चाहती थी. इसलिए दीदी सोशियल मीडीया पर काफ़ी आक्टिव थी, और उसके आचे ख़ासे फॉलोवर्स भी थे.

दीदी डेली अपने पोज़स की पिक या रील्स पोस्ट करती रहती थी. देल्ही में मेरा एक अछा दोस्त था, राहुल, जो बहुत बार हमारे फ्लॅट पे आ जाता था, और दीदी से भी अची तरह से बनती थी उसकी.

नेचर का काफ़ी अछा था वो, और रिच फॅमिली से बिलॉंग करता था. वो दीदी से काफ़ी बार मॉदेलिंग और आक्टिंग का ज़िकार कर देता था, जिससे दीदी खुश हो जाती थी. और फिर दोनो बहुत देर तक इस टॉपिक पर डिस्कशन करते.

उसने ऐसे ही मज़ाक-मज़ाक में एक दो बार बोला की उसका कोई रिलेटिव इस आक्टिंग इंडस्ट्री मैं था. बुत दीदी ने कभी उसको सीरीयस नही लिया. बस यू ही हमारी नॉर्मल लाइफ चल रही थी.

मैं भी कॉलेज चला जाता, और दीदी भी जॉब पर चली जाती. सनडे के दिन बाहर खाना खाने या शॉपिंग करने जाते थे हम. एक दिन दीदी को सोशियल मीडीया पे कोई मेसेज मिला, और वो मुझे दिखाने लगी.

उसमे लिखा था की “शॉर्ट फिल्म या वेबसेरीएस में लेड रोल के लिए इंटरेसटेड हो तो कॉंटॅक्ट कर लेना”.

मैने दीदी को बोला की “ये फेक है”. दीदी को तो विस्वास ही नही हो रहा था. उसी शाम को राहुल आया तो दीदी ने उसको भी बताया.

तो वो बोला: मैं पता करके बताता हू, की ये रियल है या फेक.

उस रात दीदी राहुल से चाटिंग लगी रही. मैने ज़्यादा माइंड नही किया. अगले दिन राहुल ने बताया-

राहुल: मैने अपने रिलेटिव अंकल से पूछा उस नाम के आदमी के बारे में. तो उन्होने ब्टाया की वो एक आचे डाइरेक्टर का असिस्टेंट है, जिसको वो आचे से जानते है.

ये सुन के दीदी को जैसे आसमान में पहुच गयी, की उनको सच में कोई ऑफर आया था. दीदी ने उस आदमी को सोशियल मीडीया पे एस का रिप्लाइ दे दिया. उस आदमी ने दीदी को आडिशन और ट्राइयल के लिए अड्रेस्स और टाइम बता दिया.

उसने दीदी को 3 दिन बाद ही मिलने को बोला. दीदी ने ये मुझे और राहुल को बताया. लेकिन दीदी ने ये बात घर पे बताने के लिए माना किया की एक बार प्रॉजेक्ट मिल जाए, और कन्फर्म हो जाए, तो बाद में बताएँगे.

दीदी ने राहुल को बोला: तुम उसकी पूरी डीटेल्स ले लो, और उससे जान-पहचान निकालो. और 3 दिन बाद मेरे साथ भी चलना.

राहुल ने भी एस बोल दिया, और सब खुश थे. ऐसे ही 3 दिन गुज़र गये, और वो दिन आ गया. दीदी सुबा ही पार्लर से बिल्कुल रेडी होके आई. वो ऐसी लग रही थी, जैसे शादी के पहले दुल्हन होती हो. मेकप, फेशियल, आइब्राउस, वक्षिंग एट्सेटरा. सब करवाया दीदी ने.

दीदी ने एक टाइट स्किन फिटिंग वाला पिंक टॉप और ब्लॅक जीन्स डाली थी. उन पर वो बिल्कुल सूट कर रहा था, और दीदी बहुत प्रेटी लग रही थी. दीदी ने राहुल को पहले से ही बोल रखा था, तो राहुल गाड़ी लेके आ गया.

उन्होने मुझे भी चलने को कहा, लेकिन मैने माना कर दिया. क्यूंकी कॉलेज में मुझे एक इंपॉर्टेंट प्रॉजेक्ट जमा करवाना था. तो दीदी राहुल के साथ चली गयी.

शाम को जब मैं आया, तो दीदी और राहुल घर पर ही थे, और दोनो बहुत खुश थे. दीदी ने कुछ स्वीट्स एट्सेटरा. ला रखी थी, और आते ही मुझे बताया की वो एक शॉर्टफील्म के लिए सेलेक्ट हो गयी थी.

मैं भी बहुत खुश हुआ, और तीनो ने मिल कर एंजाय किया. हमने स्वीट्स, स्नॅक्स, कोल्डद्रिंक एट्सेटरा. सब लिए. करीब 1 वीक बाद दीदी को शूटिंग के लिए बुलाया गया था. उस रात भी दीदी रात भर चाटिंग में लगी रही.

मैने पूछा तो बताया की डाइरेक्टर का असिस्टेंट था, और फिर राहुल से छत करने का बताया.

अगली सुबा दीदी नहाने गयी तो उनका फोन बाज रहा था. उनकी किसी सहेली का था ऑफीस से.

मैने फोन ओपन किया तो देखा की दीदी और राहुल के बीच कल रात बहुत सारी चाटिंग हुई थी. बीच में कुछ वर्ड्स देख के मुझे शक हुआ और कुछ ठीक नही लगा.

तो मैने दीदी के Wहत्साप्प अकाउंट को जल्दी से मेरे फोन में स्कॅन कर लिया. दीदी के जॉब पर जाने के बाद मैने उनकी सारी चाटिंग पढ़नी स्टार्ट की.

दीदी: थॅंक्स राहुल, तुमने मुझे सपोर्ट किया और हेल्प की.

राहुल: नो-नो प्रिया, ई’म ऑल्सो वेरी हॅपी. अब तो तुम्हे प्रॉजेक्ट मिल जाएगा, और तुम सेलेब्रिटी बन जाओगी.

दीदी: क्या पता, अभी तो स्टार्ट भी नही हुआ. देखते है कहा तक पहुँच पाते है.

राहुल: वो तो पक्का पता है, तुम आगे जाओगी. लेकिन तुम्हे अंदर बुला कर क्या-क्या पूछा था? और तुम्हे इतनी जल्दी सेलेक्ट कर लिया. उनको तुम और तुम्हारी आक्टिंग पसंद आ गयी लगता है. तुम्हारा आडिशन कैसे हुआ?

दीदी: नही, कुछ ज़्यादा नही, बस नॉर्मल बातें पूछी और बस हो गया.

राहुल: नही प्रिया, आक्टिंग करवा कर तो देखते ही है. आडिशन तो होता ही है.

दीदी: नही कोई आक्टिंग नही करवाई, और कोई आडिशन नही हुआ.

राहुल: सच बताओ.

दीदी: नही बस कुछ बातें पूछी थी, पर्सनल ही, और आक्टिंग करियर एट्सेटरा.

राहुल: पर्सनल बातें, मतलब क्या पूछा?

दीदी: अर्रे यार कुछ नही. बस नॉर्मल खुद और फॅमिली के बारे में

राहुल: आडिशन में फॅमिली के बारे में कों पूछता है? सच-सच बताओ. आज-कल तो फिल्म्स में काम पाने के लिए लड़कियों को डाइरेक्टर और प्रोड्यूसर के साथ बहुत कुछ करना पड़ता है. तुम भी जानती हो इंडस्ट्री की दुनिया कितनी गंदी है. सच बताओ कही तुम्हारे साथ तो ऐसा-वैसा तो कुछ नही हुआ?

दीदी: अर्रे मैं जानती हू. बुत ऐसा कुछ नही हुआ. डॉन’त वरी.

राहुल: तो बताओ क्या-क्या बात हुई थी? कसम है तुम्हे

दीदी: यार, ओक बताती हू. बस आगे, फिगर साइज़, और बाय्फ्रेंड एट्सेटरा. के बारे में पूछा था.

राहुल: फिगर और ब्फ के बारे में क्यू?

दीदी: अर्रे पागल, इंडस्ट्री में काम पाने के लिए अची बॉडी और अछा फिगर होना चाहिए ना.

राहुल: लेकिन ब्फ के बारे में क्यूँ? ये तो पर्सनल लाइफ है तुम्हारी.

दीदी: तुम्हे कैसे बतौ?

वो इसलिए की वो बोले की शूटिंग होने तक ब्फ के साथ सेक्स मत करना. फिगर लूस हो जाएगा, इसलिए पूछा.

इसके आयेज क्या हुआ, वो आपको अगले पार्ट में पता चलेगा.

यह कहानी भी पड़े  कामुकता कहानी - नाजायज रिश्ता


error: Content is protected !!