लड़के ने ट्रैनिंग में मिली लड़की को चोदा

हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम राज है, और मैं वडिषा से हू. मेरी आगे 29 है, और हाइट 5’1″ है. बॉडी तगड़ी और हटता-कटता होने के वजह से कोई भी लड़की अट्टरक्त हो जाती है.

ज़िंदगी की पहली चुदाई मैं आप सब के साथ शेर कर रहा हू. मेरा रियल नामे और लड़की का नाम यहा चेंज है, जो शेर नही करूँगा. नाम बदल कर सीमा लिखा है, आप समझ जाओ.

बात 2015 की है. मैने अंगुल में एक मार्केटिंग कंपनी में जाय्न किया तो वाहा ट्रैनिंग के लिए रुकना पड़ा. फिर अलग-अलग जगह से काई सारे लड़के-लड़कियाँ भाभी सब ट्रैनिंग सेंटर आते थे. वही मेरे जाय्न करने के 3 दिन के बाद मैने पहली बार सीमा को देखा.

उसकी हाइट 5’7″ और बूब्स 34″ थे. पतली कमर, क्या ग़ज़ब की उसकी बॉडी थी. उसको कोई लड़का देख ले, और उसका लंड खड़ा ना हो, तो लड़के के मर्दानगी पे डाउट होगा. ट्रैनिंग सेंटर के सारे लड़कों की नज़र उसपे ही रहने लगी.

मैं ओड़िया इतनी आचे से नही बोल पता था. तो जब मैं ओड़िया में बोलता ट्रैनिंग के दौरान तो सब हेस्ट थे. एक दिन सीमा आई और कहा-

सीमा: राज तुम कहा से हो?

तो मैने उसको अपने घर का पता बताया. पता चला मेरे घर से उसका घर सिर्फ़ 70 केयेम की दूरी पे था, तो हम दोनो की दोस्ती हो गयी, और हम दोनो ने नंबर एक्सचेंज कर लिए.

अंगुल से हम दोनो का घर करीब 500 केयेम की दूरी पे होगा. वो लेडी हॉस्टिल और मैं जेंट्स हॉस्टिल में रहता था. एक ही बिल्डिंग में हम सब को रूम मिला था. एक रात मैने उसको “ही” लिख कर मेसेज किया. तो उसने भी “हेलो” कहा.

मैने कहा: क्या कर रही हो?

उसने कहा: कुछ नही.

मैने पूछा: खाना हो गया?

उसने कहा: हा हो गया.

फिर नॉर्मल बात-चीत होने लगी.

मैने उससे पूछा: अगर तुम बुरा ना मानो तो एक सवाल पूचु?

उसने कहा: क्या तुम भी वही सवाल पूछने वाले हो, जो सब पूछते है?

मैने कहा: मतलब?

उसने कहा: यही तुम्हारा कोई ब्फ है की नही, और मेरी गफ़ बनोगी एट्सेटरा.

मैने कहा: नही-नही वैसा कुछ नही. मैं तो बस ये जानना चाहता था, के तुम्हारी खूबसूरती का राज़ क्या है?

उसने कहा: मैं कोई खूबसूरत नही हू.

मैने कहा: अगर मैं सच बोल डू, तो तुम शायद गुस्सा करो वर्ड्स सुन कर, जाने दो. यार तुम बहुत ज़्यादा खूबसूरत हो.

उसने कहा: बोलो, नही बुरा मानूँगी.

मैने कहा: सीमा मैने बहुत सारी लड़कियाँ देखी है, मगर तुम अलग ही हो. भगवान ने बहुत फ़ुर्सत से तुम्हे बनाया है. तुम्हारा एक-एक अंग वाउ, क्या दिखती हो बॉस. वो मर्द नही होगा जो तुम्हे गौर से देख ले, और उसकी नीयत ना खराब हो. यार खूबसूरत और बहुत.

सीमा से पूछा: बहुत क्या?

मैने कहा: बहुत सेक्सी हो यार.

इस तरह से हमारी छत हर दिन होने लगी. गर्मियों का मौसम था. रात के करीब 9:45 हो रहे होंगे. मैं डिन्नर करके च्चत के उपर गया, तो मैने देखा सीमा मोबाइल पे बातें कर रही थी. मुझे लगा अपने ब्फ से बात कर रही होगी, तो मैं वापस चला आया. मुझे वापस लौट-ता उसने देख लिया. फिर करीब 11 बजे रात को उसने मेसेज किया-

सीमा: ही.

मैने कहा: हेलो.

सीमा: क्या हुआ, तुम च्चत से लौट क्यूँ गये?

मैने कहा: आप बात कर रही थी, तो डिस्टर्ब करना सही नही समझा.

सीमा: वैसी कोई बात नही है. क्यूँ तुम्हे जलन हुई क्या?

मे: जाने दीजिए ये सब.

फिर मैने बात को घुमा दिया. वो समझ गयी थी, की मैने उसको पाटता हू. एक दिन ट्रैनिंग सेंटर में वो आई. क्या ग़ज़ब वाले सेक्सी लुक में थी वो. मगर ग़लती से उसका ब्रा दिख रही थी, जो सब लड़के देख रहे थे. ये मुझे तोड़ा भी अछा नही लग रहा था, तो मैने सीमा को मेसेज किया-

मे: आपकी ब्रा दिख रही है. कपड़े ठीक करो.

सीमा ने ठीक किया, और मुझे कहा: थॅंक्स राज.

मैने कहा: वेलकम.

फिर मेसेज-मेसेज में एक नों-वेग जोक मैने उसको भेज दिया, तो पलट कर उसने भी एक नों-वेग जोक भेजा. उसने कहा वो घर जाना चाहती थी वीकेंड को, और बस में उसको वॉमिटिंग होती थी.

तो मैने उससे कहा: तुम मेरे साथ बिके पे चल सकती हो.

उसने हा कह दिया. मेरे मॅन में लड्डू फूटने लगे. वीकेंड पे हम बिके से निकले. रास्ते में काई सारे जंगल थे, ये उसको भी पता था और मुझे भी. बिके पे वो मुझसे चिपक कर बैठी थी. क्यूंकी बहुत डोर जाना था, और जल्दी पहुँचना था.

उसके बूब्स मेरी पीठ में टच हो रहे थे, जिससे उसके जिस्म की गर्माहट मैं महसूस कर रहा था. फिर एक जगह हम रुके ब्रेकफास्ट करने. वो मुझे देखती रही तिरछी नज़रों से, जिन्हे मैने देख लिया था. फिर दोबारा से हम बिके पे आ गये. उसने मेरे कानो में कहा-

सीमा: राज क्या तुम मुझे बिके चलना सिख़ाओगे?

मैने कहा: हा क्यूँ नही सीखौँगा.

फिर बिके रोक कर मैने उसको आयेज बिताया, और खुद उसके पीछे बैठ गया.

अब मेरा लंड खड़ा हो चुका था, और उसकी गांद में टच हो रहा था, जिसको वो भी महसूस कर रही थी. शायद उसको भी मज़ा आ रहा था. बातों-बातों में उसने मुझसे पूछा-

सीमा: अगर मैं तुम्हारी गफ़ होती, और ऐसे हम जेया रहे होते, तो तुम क्या करते?

मैने कहा: बहुत कुछ करता.

सीमा: क्या करते बताओ तो?

मे: पहले किस करता.

सीमा: फिर क्या करते?

मे: बूब्स दबाता और सक करता. सेक्स करता, रोमॅन्स करता, कानो को चूमता.

फिर ये सब के बाद मैने कहा: क्या तुम मेरी गफ़ बनोगी?

वो खामोश रही. मुझे लगा शायद वो गुस्सा हो गयी थी. मैं उसके कानो को दाँत से हल्का-हल्का बाइट कर रहा था.

फिर उसने कहा: राज जंगल में बिके रोको. रुक कर तोड़ा करते हैं ना.

मैने बिके रोकी, और हम दोनो जंगल की तरफ चल दिए. मेरा पहला एक्सपीरियेन्स था, और उसका भी. फिर उसने ड्रेस उपर करके बूब्स को ब्रा से निकाला, और नीचे से अपनी जीन्स और पनटी उतरी.

वाउ! पहली बार छूट के दर्शन हुए थे. मैं उसको किस करने लगा, और वो भी साथ देने लगी. मैने अपनी पंत खोल कर अपने लंड को निकाला, और उसने पकड़ लिया. फिर मैं उसके बूब्स सक करने लगा. वो बेकाबू होने लगी, और बोली-

सीमा: राज, करो ना प्लीज़.

मैने धीरे से लंड अंदर डालना चाहा, लेकिन नही जेया रहा था. मेरे लंड का हल्का पानी, और उसकी छूट का हल्का पानी निकल रहा था, मगर फिर भी नही जेया रहा था. फिर मैने एक झटका मारा, और लंड डाइरेक्ट्ली अंदर चला गया.

वो चिल्लाई: आअहह मा मॅर गयी.

मैने उसके मूह पर हाथ रख दिया. वो आहह आहह कर रही थी. फिर मैने धीरे से लंड को निकाला, तो उसकी छूट से ब्लड आ रहा था. फिर मैं धीरे-धीरे लंड अंदर-बाहर कर रहा था.

उसको भी मज़ा आ रहा था, और मुझे भी मज़ा आ रहा था. फिर मैं ज़ोर-ज़ोर के झटके देने लगा. वो आहह उहह आहह उऊहह करने लगी. अब मेरा निकालने वाला था, तो मैने लंड निकाल लिया, और बाहर गिरा दिया.

पहली बार था, तो थोड़ी जलन मेरे लंड में भी हो रही थी, और उसको काफ़ी दर्द हो रहा था. मैने उसको ई-पिल की एक गोली और एक पाईं किल्लर खरीद कर दिया, और घर ड्रॉप किया. अब जब भी वीकेंड आता है, हम जंगल में खूब रोमॅन्स करते थे. फिर उसकी शादी हो गयी.

शादी के बाद उसका हज़्बेंड गूव्ट. जॉब होने के कारण वो लोग क्वॉर्टर में रहते थे. वो रौरकेला में अपने हज़्बेंड के साथ अकेले रहती थी, तो उसने मुझे बुलाया था. उसके हज़्बेंड की नाइट शिफ्ट थी, तो मैं बस से गया, और शाम को रौरकेला पहुँच गया था.

ठीक 10 बजे मैं उसके घर पहुँचा. उसने मेरे लिए डिन्नर बनाया था. फिर साथ में हम दोनो ने खाया, और रात भर खुल कर सेक्स किया.

उसने कहा: राज तुम्हारे सेक्स के स्टाइल में जो सुकून है, वो हज़्बेंड में नही है.

और हमेशा हम दोनो जब भी मौका लगे, हम सेक्स करते है.

अगर कोई भाभी या लड़की सेक्स करना चाहती हो, तो मैं उनके घर आ कर कर सकता हू, या कही बाहर जेया कर भी कर सकता हू. तो आप मुझे मैल कर सकती है. सब कुछ सीक्रेट रहेगा. मेरी मैल ईद है-

यह कहानी भी पड़े  डॉक्टर से चुदाई का ज्ञान

error: Content is protected !!