कोमल की वर्जिन चूत का मज़्ज़ा लिया

उन दिनों वो मेरे दोस्त प्रदीप के यहाँ टीवी सीरीज देखने आया करती थी कोमल एक मस्त फिगर वाली खूसूरत और कमसिन काली थी. बड़े बूब्स मस्त गांड और पतली कमर होठ पिंक दिखनी में मासूम.

एक दिन प्रदीप ने बताया की वो उसे छोड़ना चाहता है पर उस की हिमत नहीं है. वो कई बार कोमल के नाम की मुठ बी मार चूका है. फिर उस ने कहा मैं उस की कुछ मदद करू उस को पटाने मई.

मैं सोच आईडिया बुरा नहीं है और माल भी मस्त है और एक नयी काली की खुसबू लेना का भी मज़ा मिलेगा. फिर हम प्लान बनाने लगे उस दिन संडे का दिन था.आज प्रदीप के गार पर कोई नहीं था मैं प्रदीप बेथ की बाते कर रहे थे. और रोज की तरह कोमल वह आई और टीवी प्रोग्राम देखने लगी. तब मेरे दिमाग मैं एक आईडिया आया.

मैं प्रदीप को कहा चल आज तेरा गार साफ़ करते है.ी प्रदीप समाज गया और मैंने कोमल को भी हमारे साथ काम करने को कहा. मैंने और कोमल ने चाट साफ़ करने का तय किया और हम चाट पर चले गया. मैं कोमल मैं पाइप से पानी डालूगा और तुम साफ़ करना.कोमल बोली ठीक है फिर मैंने पैन डालना स्टार्ट किया और पाइप हाथ से फिसल ने के बहाने मैंने कोमल के ऊपर पानी दाल की उसे पूरी गिला कर दिया. वो गबरा गयी और बोली ये तुमने क्या किया अब मैं गर कैसे जोगी!

मैं – सॉरी सॉरी कोमल वो मेरे हाथ से फिसल गया पाइप.

कोमल – अब मैं क्या करू?

मैंने कहा देखो गैब्रो मत तुम स्टोर रूम मैं जाओ और और अपने कपडे मजे देदो मैं सूखा देता हु. और दूप भी तेज है तो कोई प्रॉब्लम भी नहीं आधे घंटा लगेगा.

कोमल – नहीं प्लीज और कोई रास्ता नहीं है सूखा ने का?

मैं – नहीं है अब जल्दी करो वर्ण कोई आ जाएगा.

वो स्टोररूम मैं चली गयी और अपने कपडे निकाल के मुझे दे दिए. मैं कपडे सूखा दिया ५ मिनट्स बाद प्रदीप ऊपर आया और बोलै मेरे अंकल आया है और तू कही चुप जा वर्ण प्रॉब्लम हो जाएगी.

मैं दूर नॉब खोला और कोमल को बताया की मुझे अब अंदर आना ही होगा वर्ण हम सब फास जायगे. वो आई और बोली प्लीज ऐसा मत करो. मैं कहा अब हमारे पास दूसरा कोई रास्ता नहीं है.मैं जाट से अंदर चला गया और वो मुझे अंदर देख कर अपना नंगा बदन छुपाने लगी. मैंने कहा चुप हो जाओ वार्ना उसके अंकल ऊपर आ गया तो प्रॉब्लम होगी.

वो अब मेरे पास आके मुझे चिपक के रोने लगी. मैंने उसे सहलाते हुवे उसे शांत कर रहा था और उसके नंगे बदन के छू के मज़े ले रहा था.

मई – कोमल तू बहोत खूबसूरत है… ये कह के दूर लॉक किया और उसे किश करना स्टार्ट कर दिया.

वो दरी हुवी थी और बोलने लगी ऐसा मत करो प्लीज. फिर मैंने उसे समझाया की देख अगर मैं ये बात सबको बता दू की मैंने तुजे नंगा देखा तो तेरी कितनी बदनामी होगी. और यहाँ हमारे शिव है कोण जिसे पता चलेगा और एक बार की तो बात है.

कोमल न न करती रही और मैंने स्टार्ट किया. पहले उसके होठ पे किस्सेस करना एक हाथ से उस बूब्स दबा रहा था. फिर मैं अपने कपङे निकल न स्टार्ट किया कपडे निकल कर कहा आज तुजे भी मज़ा दूंगा.

मैंने उसे निचे ज़मीन पर लेता दिया और उसके जिस्म की खुसबू ले रहा था.

दोस्तों १२ तह की लड़की के जिस्म की खुसबू का मज़ा कुछ अलग होता है. फिर उसके बूब्स चूसने लगा जो की ३०’के थे. वो भी अब माज़ा लेने लगी.

मैं उसके हाथ में लुंड पकड़ा दिया और वो आगे पीछे करने लगी. फिर मई उस की छूट के पास गया और टंगे छोड़ी की. क्या छूट थी हलके से बाल थे एक डैम पुलि उसके छूट की लिप्स को ऊँगली से खोला और देखा तो मैं पागल हो गया. एकदम पिंक कलर!

मैंने पास जाके उस की स्मेल ली वह क्या स्मेल थी उस की. मैंने तुरंत अपना लुंड छूट के पास ले गया और उस की छूट के लिप्स को ऊँगली से खोल के सिर्फ टोपा सेट किया. और उसके ऊपर आ गया और लिप्स को किश किया और एक जातक मारा. तो आधा लुंड कोमल की छूट मैं चला गया.

वो जोर से उछाल रही थी आ मा मारर जायईईई प्लीज निकालो बहोत दर्द हो रहा है प्लीज…

फिर भी मैं नहीं रुका और एक जातक मारा तो पूरा लुंड कोमल की छूट में चल गया. फिर वो और जोर से चीला रही थी. मैंने उस को मुँह बंद किया और रुक के संजय और धीरे धीरे छोड़ना स्टार्ट किया.

कुछ देर बाद उसे भी मज़ा आने लगा और वो अपनी गांड उछाल के मेरा साथ देने लगी. करीब १५ मिनट्स वो दो बार मेरे लुंड को गिला कर चुकी थी. पर मेरा मैं अभी तक नहीं भरा था और मैं चोदे जा रहा था.

करीब और २५ मिनट्स बाद मारा निकलने वाला था. मैंने अपना लुंड निकाला और उसके बूब्स पे पूरा पानी निकाल दिया. वो मुझे पूछ रही थी ये क्या है अजीब से स्मेल वाला.

मैंने कहा ये हमारे सेक्स का रास है.

फिर मैं उठ कर खून वाला लुंड साफ़ करके कपडे पहने और कोमल के कपडे बहार से ले आया. और उसकी अंडरवियर से उसके बूब्स पर मेरा रास गिरा था वो साफ़ किया और कपडे पहना कर हम बहार आया.

कोमल से पूछा माज़ा आया?

तो कोमल ने हाँ में सर हिलके मुझसे पूछा की फिर कब करेंगे ऐसा?

मैंने कहा अभी सबर रख फिर बुलाऊंगा तुझे.. और हम निचे आये और वो गार चली गयी.

फिर प्रदीप ने मुझे पूछा क्या हुआ काम बना के नहीं?

मैंने कहा नहीं अभी नहीं बना काम जैसे कुछ होगा मैं तुजे बताउगा.

फिर ४ दिन बाद मैं कोमल के गार गया अपने कपडे प्रेस करवाने. और गार पे आने का इशारा किया. वो २० मिनट्स बाद आई और मैंने अपने गार का दूर बढ़ किया तो उसने दीपा को देखा और पूछा ये है अब हम कैसे करेंगे?

मैंने उसे कहा तू चिंता मत कर वो किसी को कुछ नहीं बताएगी. और कोमल को लेके रूम में चला गया. मैंने उसके कपडे निकले और अपने कपडे भी निकले.

फिर कोमल को बोलै चल आज मेरा लुंड चूस. वो निचे बेथ के पहले मेरे लुंड की स्मेल लेने लगी. तो मैं पूछा ये क्या कर रही हो?

कोमल ने बताया की जिस अंडरवियर मैंने मेरा स्पैम साफ़ किया था उस की स्मेल उस को ाची लगी इसलिए वो माज़ा ले रही है.

ये बोल के ने १५ मिनट्स तक मेरा लुंड चूसा. फिर मैंने कोमल को बीएड पे लेता दिया और उसके जिस्म की खुसबू ले के कोमल के बूब्स और लिप्स चूसने लगा.

फिर मैंने कोमल को ३ हॉर्स तक छोड़ता रहा. हम नंगे ही बीएड पर पड़े चुदाई की गन्दी बाते करते रहे. और उसी गंदे तरीको से चुदाई भी करते रहे.

एक दिन कोमल ने मुझसे पूछा की ऐसी क्या बात है जो दीपा ये हमारी चुदाई की बाते किसे से नहीं बताती? मैंने कोमल को बताया की मैं दीपा के साथ रोज सेक्स करता हु और उसे भी मैंने ऐसे ही छोड़ा था जैसे तुम्हे.

अब कोमल ने मुझे कहा आप को ये सब करने में मज़्ज़ा आता है पर हमारी तो जान निकल जाती है. कोमल ने मुझे बताया कैसे वो पहले अपनी छूट में ऊँगली दाल कर पानी निकालती थी. और उस पानी को अपने बूब्स पे लगाके पूरा दिन स्मेल लेके मज़े लेती थी.

उसने बताया की वो १६ साल की तब से उसे ये सब करने में मज़ा आता था. मैंने उससे कहा तू और दीपा लेस्बियन सेक्स करो आज मुझे तुम दोनों के साथ माज़ा लेना है. वो रेडी हो गयी मैं दीपा को रूम में बुलाया और नंगा होने को कहा और हम ३ नो नंगे हो कर माज़ा लेने लगे.

दोस्तों क्या बताऊ आपको क्या माज़ा आया मेरी तो जैसे किस्मत ही खुल गयी. अब कभी मैं दीपा के साथ तो कभी कोमल के साथ ये कभी हम ३ एक साथ मज़े लेने लगे.

एक दिन प्रदीप को शक हुआ और वो कोमल पे नज़र रखने लगा और उसने हमे पकड़ लिया और मुझसे दोस्ती भी तोड़ दी.

तो दोस्तों कैसी लगी मेरी स्टोरी और कोमल का कमसिन बदन. उम्मीद है जरूर पसंद आयी होगी और ये रियल स्टोरी है और दोस्तों नेक्स्ट पार्ट में आपको मेरे दोस्ती की बहिन की चुदाई उसी के अंकल ने की वो भी बताउगा.

कैसे उसके अंकल ने एक स्कूल के लड़के के साथ पकड़ा और फिर ब्लैकमेल करके उसके सेक्स किया. और फिर मुझे भी मज़े करवाए कैसे. आज भी उसे छोड़ते है और दारू पि के उससे नंगी डांस करवाते है और उसको भी पीला के मज़े करते है और दुसरो को भी करवाते है. गुड बाई फ्रेंड्स फिर नेक्स्ट पार्ट में.

यह कहानी भी पड़े  बेटी ने खोला बाप का राज़ बाप के सामने

error: Content is protected !!