किरायेदार और कॉल बॉय के साथ चूत ठंडी की

ही, मेरा नामे मानसी है. मैं पुंजब की रहने वाली हू. मेरी आगे 30 है, और मैं मॅरीड हू. मेरे हब्बी उस में है, और मैं यहा अकेली रहती हू. मेरे सास-ससुर के डेत हो चुकी है. मेरा फिगर 34-28-30 है. हम लोग काफ़ी रिच फॅमिली से बिलॉंग करते है. हम लोगों की सोसाइटी भी काफ़ी अची और ही-फ़ि लोगो की है. किसी को किसी से कोई दिक्कत नही.

हर वीकेंड पर सब सोसाइटी वाले ग्राउंड में एक-दूसरे से मिलते है. वैसे ज़्यादा मर्दो की नज़र मुझ पर रहती थी, की वो मुझे छोड़ सके. बुत मैं किसी को भाव नही देती थी. उनको पता था मैं काई सालों से नही चूड़ी थी.

मेरी शादी को 3 यियर्ज़ हो गये है. शादी के 4 दिन बाद मेरे पति उस वापस चले गये. मेरा कोई बेबी नही है, ना ही प्रेग्नेंट हो पाई. मेरे हब्बी ने ही मेरी कुवारि सील तोड़ी थी. मुझे याद है सुहग्रात को उन्होने 3 बार ठोका, और मैं टीन दिन ठीक से चल भी नही पाई.

हनिमून पर तो उन्होने मुझे एक मिनिट भी कुछ पहनने नही दिया. पूरा दिन हिल स्टेशन के रूम में चुदाई हुई. मैं बहुत खुश थी. बुत उन्होने आक तक मेरी गांद नही मारी थी. मैने मोविए में काई पॉर्न आक्टर्स को गांद मारते देखा था.

मेरे हब्बी एक-लौटे थे घर पर, और मैं भी. मेरे मों-दाद कुछ डोर अलग सिटी से है, बुत शादी के बाद कम ही मिले है. वो मेरे घर पर कम ही आते है. मैं जाती हू मिलने उन्हे. हमारा घर काफ़ी बिग है, और मैं यहा अकेली रहती हू. एक पोर्षन मैने रेंट पर दिया है.

वाहा एक फॅमिली रहती है, अंकल, आंटी, उनका बेटा, और बहू रहती है. अंकल 60 के है. आंटी भी इतनी ही उमर की है, और उनका बेटा 35 का है. बहू 28 की है. अब मैं स्टोरी पर आती हू.

मुझे सेक्स किए 3 यियर्ज़ हो गये थे, तो मेरी सेक्स की आग ज़्यादा थी. लास्ट मंत अंकल-आंटी और उनका लड़का सब घर गये थे. उनकी बहू अकेली थी. एक दिन रात को हम दोनो बैठी टीवी देख रही थी. ऐसे ही बातों में सेक्स की बात स्टार्ट हो गयी. उसने बताया की उसके हब्बी का लंड स्माल था 4 इंच का, और वो 5 मिनिट में झाड़ जाते थे.

उसकी तड़प सॉफ दिख रही थी. फिर क्या, आग तो मुझे भी थी की कोई मेरी छूट में फिंगरिंग या लंड डाल दे. उसने ब्टाया उसके हब्बी सेक्स नही कर पाते थे, और 5 यियर्ज़ में मुश्किल से 10 बार किया होगा.

मैने कहा: मेरे हब्बी जब भी आते है, डेली 3 बार हो जाता है.

उसने बताया की वो फिंगरिंग करती थी.

मैने कहा: मैं फिंगरिंग नही करती, बस टॉय है, उसे करती हू. वाइब्रटर है, रिमोट से उसे होता है.

उसने निघट्य पहनी थी, और मैने भी. मैने हाथ उसके बूब्स पर रखा, और वो दर्र गयी.

वो बोली: क्या हुआ?

मैं: कुछ भी नही, बस एंजाय करते है.

मैने अपनी निघट्य उतार दी. उसकी भी खोल दी. हम दोनो नंगी थी. उसकी फिगर मस्त थी 32-26-34 साइज़ की. उसकी आस भारी थी. मैने उसके बूब्स को मूह में लिया. वो भी एक हाथ से मेरे बूब्स दबा रही थी, दूसरे हाथ से मेरे सर को अपनी तरफ दबा रही थी.

मैने एक हाथ उसकी छूट पर रखा. बिल्कुल क्लीन थी उसकी छूट. मेरी छूट भी सॉफ थी. मैने हल्के से एक फिंगर अंदर डाल दी.

वो तड़प उठी: अफ मॅर गयी.

उसकी छूट टाइट थी. फिर हम दोनो एक-दूसरे की फिंगरिंग करने लग गये. 15 मिनिट बाद दोनो झाड़ गयी. ऐसा पूरी रात किया.

अफ मेरी जान निकल गयी. काई दीनो बाद इतना सेक्स किया था. मैं 4 बार झाड़ गयी. मेरी उठने की हिम्मत नही थी. मैं तक चुकी थी, लेकिन वो नही. वो मेरे साथ चिपक कर सो रही थी. मॉर्निंग 10 बजे मेरी नींद खुली, और हमने एक बार फिर एक-दूसरे की फिंगरिंग की.

फिर वो बोली की उसको जाना होगा, क्यूंकी उसके सास-ससुर आने वाले थे. और वो जल्दी से निकल ली. उसके जाते ही 1 अवर बाद उसके सास-ससुर भी आ गये. उनका जो पोर्षन था, हमने अलग बनाया था. नेक्स्ट दे हमने प्रोग्राम बनाया की कोई बॉय का इंतेज़ां किया जाए.

मैने नेट पर सर्च किया कॉल बॉय का. काफ़ी नंबर आए. एक लड़का था करीब 19 यियर्ज़ का. मैने उसकी पिक देखी, और उसको व्हातसपप किया की अपनी एक न्यूड पिक और डिक की पिक दे. 5 मिनिट बाद उसका रिप्लाइ आया. उसका डिक काफ़ी बड़ा था. मैने सोचा कही ये पिक फेक ना हो. तो मैने उसको वीडियो कॉल करके लिव दिखाने को कहा.

उसने लिव दिखाया, और वो रियल पिक ही थी. मैने सोचा की क्यूँ ना इसको बुलाया जाए. फिर मैने एक अननोन नंबर से कॉल की. मैने नेहा को नही बोला. मैने ईव्निंग को 4-5 बियर, 1 विस्की, और कुछ खाने को ऑर्डर कर दिया. वो रात 10 बजे आने वाला था.

मैने एक रूम डेकोरेशन वाले को फोन किया और पूरा रूम डेकोरेशन करवाया. वो भी एक लड़की थी.

उसने पूछा: माँ क्या प्रोग्राम है?

मैने कहा: हमारी शादी की आनिवर्सयरी है.

फिर उसने रूम बेड पर फ्लवर और रूम को पूरा आचे से सज़ा दिया. करीब 9:30 पर उसका फोन आ गया, की वो 5 मिनिट में आ जाएगा. नेहा पहले ही सो गयी थी. वो लड़का मेरे से हाफ आगे का था. 10 मिनिट बाद उसका फोन आ गया की वो घर के बाहर था.

मैने कहा: रूको मैं आई.

मैने ब्रा-पनटी और एक हल्का सा गाउन डाला था. वो भी ट्रॅन्स्परेंट था. फिर मैने डोर ओपन किया. एक लड़का था बिके पर. उसने बिके अंदर की, और आ गया. वो हेल्ती था, शायद जिम जाता होगा. करीब हाइट मेरे जितनी थी. उसको अंदर लिया और लास्ट रूम में ले गयी. रूम पूरा डेकोरेशन वाला था.

वो बोला: मेडम क्या सुहग्रात वाली फीलिंग लेनी है?

मैने कहा: हा.

फिर हम दोनो ने बियर पी. उसने बताया की वो कॉलेज में पढ़ता है, और घर के लिया ये सब करता है. वो बोला की वो कॉंडम भी उसे करेगा.

मैने कहा: ठीक है. वैसे मेरा कोई और रिलेशन्षिप नही है. तुम ऐसे ही कर सकते हो.

बुत वो बोला: नही.

उसके पास चॉक्लेट फ्लेवर का पॅकेट था. वो मुझे उठा कर बेड पर ले गया, और मेरा गाउन खोल दिया. मैने भी उसकी शर्ट का बटन खोल दिया. वाउ, उसकी बॉडी मस्क्युलर थी. फिर वो मुझे किस करने लगा. मुझे मज़ा आ रहा था. मैने अपना हाथ उसकी पंत पर रखा.

उसका लंड टाइट हो रहा था. काफ़ी मोटा और लोंग लग रहा था. मैने उसकी पंत खोल दी. वो मेरे उपर था, और किस कर रहा था. 3 यियर्ज़ बाद किसी मर्द ने किस किया था. मुझे मज़ा आ रहा था. मैने हल्के से उसकी पंत नीचे की. उसने पंत खुद ही उतार दी.

मैं बेड पर थी, और फूलों पर लेती थी. उसने मुझे बेड पर बिता दिया और मेरे पीछे आ गया. फिर अपने लिप्स से मेरी ब्रा ओपन की. मैं मस्त हो चुकी थी बिल्कुल. मुझे मेरी सुहग्रात याद आ गयी. मुझे बिना टच किए अपने लिप्स से मेरी ब्रा उतार दी.

फिर उसने मुझे लिटा दिया, और फिर मेरी पनटी भी अपने मूह से नीचे कर दी. मैं पूरी नंगी हो गयी थी. हम दोनो पूरा न्यूड हो चुके थे. उसने मेरी नेक पर किस करना स्टार्ट किया. अफ मेरी आ निकल रही थी.

वो कभी मेरे गाल पर, कभी मेरी नेक पर किस कर रहा था. मेरी बॉडी पर एक भी बाल नही था. पूरी तरह वॅक्स्ड थी. मैं हर वीक वॅक्स करवाती थी. मेरे घर सिर्फ़ बाहर से कंवली आती थी. बस ये एक था जो मेरे घर अकेले आया था.

गाइस मुझे रिप्लाइ ज़रूर करना. ये मेरी ट्रू स्टोरी है, और मैं बाकी आपको बतौँगी की मेरे साथ उसने कैसे किया, और मेरी गांद तक फाड़ दी. उसने मुझे ओरल सेक्स का मज़ा भी दिया. ओक बाकी नेक्स्ट पार्ट में बतौँगी.

यह कहानी भी पड़े  नाना जी और मा की चुदाई


error: Content is protected !!