कहानी जिसमे मा ने बेटे की फॅंटेसी पूरी की

मेरी मा का नाम रश्मि है. उनकी आगे 42 साल है. उनका फिगर 36-34-40 है. थोड़ी मोटी है, पर उनकी बड़ी गांद देख कर किसी का भी मॅन उन पर आ जाए. और वो बहुत ज़्यादा गोरी है.

तो ये कहानी शुरू होती है 1 साल पहले, जब मैने इंस्टाग्राम पर एक इन्सेस्ट मिम पेज बनाया, और वाहा पर मा को छुड़वाने वाले मेम्स डालने लगा. उनमे से अधिकतर थी दोस्तों से छुड़वाने वाली.

मा मॉडर्न टाइप थी, तो उन्हे मोबाइल वग़ैरा चलना आता था. एक बार उन्होने मेरा मोबाइल चेक कर लिया, और उन्हे ये सब मेम्स मिल गये. फिर उन्होने मुझे बहुत दांता और कहा-

मा: ये सब करता है तू? अपनी मा के बारे में ये सब सोचता है?

तो मैने मा को देसी कहानी के बारे में बताया, और माफी माँगने लगा.

मैने कहा: सॉरी मा क्या करू, मैं ऐसे ही हो गया हू.

तो उन्हे बहुत गुस्सा आया, और उन्होने मुझसे 1 वीक तक बात नही की. फिर उन्होने मुझे वही मेम्स देख कर हिलाते हुए पकड़ लिया. तो मा ने कहा-

मा: क्या चाहता है तू? ये सब कैसे बंद करेगा? छ्चोढ़ दे, ये सब ग़लत है.

तो मैने कहा: मा जब तक मेरी फॅंटेसी पूरी नही हो जाती, मैं ये बंद नही कर सकता. मुझसे नही हो पाएगा.

तो मा बोली: वो मेम्स वाली फॅंटेसी, तू मुझे वैसे छोड़ना चाहता है?

मा के मूह से ऐसा सुन कर मैं शॉक्ड हो गया. पर मैं समझ गया की मा प्यासी थी. क्यू की पापा बिज़्नेस के कारण बाहर ही रहते थे.

तो मैने मा को कह दिया: हा मैं यही चाहता हू.

तो मा बोली: जेया बेटा, कर ले अपनी फॅंटेसी पूरी. कों सी वाली करना चाहता है?

तो मैने कहा: मॉडेल वाली.

फिर मा ने कहा: मुझे क्या पता?

तो मैने मा को सब बताया की क्या-क्या रहेगा उस फॅंटेसी में. मा ने भी हा कर दिया. फिर मा को मैने उस फॅंटेसी के बारे में सब कुछ बताया तो मा बहुत खुश सी हो गयी और कहा-

मा: ओक बेटा, शुरू कर.

अब आयेज ये फॅंटेसी शुरू हुई.

मुझे मा का अपने 3 दोस्तों से गंगबांग करवाना था. तो मैने मा को पूरा प्लान बताया, और शाम को अपने टीन दोस्त रमेश, आर्यन और सिड को डिन्नर पर बुलाया.

मैने उनको कहा: मा का बर्तडे है, तो खाना वग़ैरा होगा.

तो वो लोग आ गये शाम को. मा ने तब सिर्फ़ एक सिल्क की मॅक्सी पहनी थी, जो सिर्फ़ उनके घुटनो के तोड़ा सा नीचे तक थी. और मैने मा को ब्रा-पनटी पहनने से माना कर दिया था, तो मा की गांद और बूब्स का शेप सब दिख रहा था. मा के निपल्स भी दिख रहे थे. सब आए तो मा को घूरते ही रहे. फिर सिड ने मा से पूछा-

सिड: आंटी आज आपका बर्तडे है. आपने निघट्य क्यू पहनी? कोई अची सी ड्रेस पहन लेती.

मा: हा बेटा, मैं भी यही चाहती हू. पर शॉपिंग का टाइम नही मिल पाया तो अभी यही पहन लिया.

आर्यन: कोई बात नही आंटी, हम आपके लिए गिफ्ट ला देंगे.

मा: थॅंक्स बेटा.

रमेश: आंटी वैसे आप इस निघट्य में भी बहुत अची लग रही है.

मा: थॅंक्स बेटा.

फिर सब ने खाना खाया, और हम सब बैठ कर बातें करने लगे.

तभी रमेश ने मा से पूछा: आंटी आप तो यंग आगे में मुंबई गयी थी ना. क्या हुआ, आप क्या बनना चाहती थी?

तो मा ने कहा: तुम्हे कैसे पता?

तो रमेश बोला: हम सब आपको इंस्टाग्राम पे फॉलो करते है.

फिर मा ने कहा: बेटा वो तो बस कुछ हुआ नही. मॉडेल बनना था पर फोटोशूट के अलावा कुछ नही हो पाया

तो सिड और आर्यन बोले: आंटी आपके फोटोशूट तो दिखाओ.

तो मा ने कहा: नही बेटा, रहने दो, क्या करोगे?

तब मैने कहा: मा मैं लता हू आल्बम, क्यू माना कर रही हो?

तो मा ने हा कर दी. फिर मैं आल्बम लाया उसमे मा की बहुत हॉट-हॉट पिक्स थी. सब वो पिक्स देख कर डांग रह गये.

फिर सिड बोला: आंटी मेरे पास कॅमरा है. आप बुरा ना माने तो आपका फोटोशूट कर सकता हू? और आज कल इंस्टाग्राम पर पोस्ट करने से भी मॉडेल बनने के चान्स मिल जाते है. आप ट्राइ करेंगी?

मा ने पहले बहुत माना किया. फिर मेरे इशारे पर हा कर दी, और कहा ओक. तो रमेश बोला-

रमेश: आंटी कल से स्टार्ट करते है आपका मॉडेलिंग का सफ़र.

मैने कहा: हा दोस्तों, चलो मा को मॉडेल बनाए.

फिर सब चले गये, और कल आने का कहा.

फिर मा ने मुझे हग किया, और कहा: बेटा तू मुझे इतने जवान लंड से छुड़वाना चाहता है. मेरी प्यास बुझाना चाहता है, ई लोवे योउ बेटा.

मैने कहा: ई लोवे योउ टू मा.

फिर मा और मैं अगले दिन का वेट करते-करते सो गये. अगला दिन आया, और वो सब सुबा डूस बजे सब कुछ लेकर आ गये. फिर उन्होने मा को एक बॉक्स दिया, और कहा-

दोस्त: आंटी आपका गिफ्ट. आप यही पहन कर आना.

फिर मा रूम में गयी, और थोड़ी देर बाद कहा: बेटा इसमे ब्लाउस नही है, और मेरे पास इसकी मॅचिंग का ब्लाउस भी नही है.

तो सिड ने कहा: आंटी आप कोई मॅचिंग ब्रा पहन लो. आज कल मॉडेल यही करती है.

तो मा ने पहले माना किया.

फिर मैने कहा: मान जाओ मा, क्या दिक्कत है? सब बेटे जैसे है तुम्हारे.

तो मा मान गयी और वैसे ही बाहर आई एक ब्लॅक ब्रा, ब्लॅक ट्रॅन्स्परेंट सारी में. मेरे दोस्तों ने पेटिकोट नही दिया था. एक जिम शॉर्ट्स दी थी, और सारी ट्रॅन्स्परेंट थी. तो मा की गोरी टांगे दिख रही थी.

मा की ब्रा में बहुत मस्त क्लीवेज दिख रही थी, तो मा को देख कर सब लंड पर हाथ फेरने लगे. फिर मा ने कहा-

मा: शूट स्टार्ट करे?

फिर सिड, आर्यन, रमेश ने कॅमरा सेट किया, और मा को पोज़ देने को कहा. मा बहुत हॉट लग रही थी. उनका यही रूप मैं फॅंटेसी में देखना चाहता था, तो मा हॉट-हॉट पोज़ दे रही थी. फिर रमेश ने कहा-

रमेश: आंटी तोड़ा और हॉट हो सकता है शूट.

तो मा ने कहा: कैसे?

तो उसने कुछ पोज़ अपने फोन में मा को दिखाए, जिसमे पल्लू नीचे गिरा था. फिर मा ने भी वैसे पोज़ दिए. अब मा के बूब्स की क्लीवेज देख के सब के लंड तंन चुके थे, जो दिख रहे थे.

मा भी च्छूप-च्छूप कर लंड देख कर मुस्कुरा रही थी. फिर सब शूट हो गया. मा ने नॉर्मल निघट्य पहन ली, और कहा-

मा: तुम लोग अब बैठो, मैं खाना बनती हू सब के लिए.

फिर हम सब बैठ कर मा की फोटोस देखने लगे मेरे कमरे में. अब सब के लंड खड़े हो गये, और सिड नंगा हुआ और कहने लगा-

सिड: सॉरी रवि, मुझसे कंट्रोल नही हो रहा है. मस्त हॉट मा है तेरी.

और वो मेरी मा की पिक्स देख कर हिलने लगा. फिर रमेश और आर्यन ने भी यही किया, और सब मा की पिक्स देख कर हिला रहे थे. सभी के लंड 6 इंच से ज़्यादा के थे. इतने में मा को मैने रूम के गाते पर देखा.

वो च्छूप-च्छूप कर लंड के मज़ा ले रही थी, और यहा तीनो मा का नाम ले लेकर मूठ मार रहे थे. इतने में मा पूरी नंगी होकर रूम में आ गयी, जो मेरे प्लान में नही था.

अब आयेज क्या हुआ जानने के लिए अपना फीडबॅक मुझे

पर मैल करे. अगर आचे रेस्पॉन्स रहे, तो मैं आयेज की स्टोरी और नयी स्टोरीस भी पोस्ट करूँगा.

यह कहानी भी पड़े  हवस भारी औरत ने पार्लर में गांद चुदाई


error: Content is protected !!