कहानी जिसमे भाई के सामने लड़कों ने लिया बहन का मज़ा

पिछले दिन के हादसे के बाद मेरे और सबा के बीच में कोई बात नही होती थी. वो सिर्फ़ मुझे छाई और खाने के लिए पूछती थी, और मैं चुप-छाप आक्सेप्ट कर लेता था. अगली शाम फिरसे चारों लड़के मेरे घर आ जाते है, और रोहित मुझे पेंद्रीवे देता है.

मैं माना करता हू, पर वो कहता है की सारी वीडियोस ऑनलाइन पोस्ट हो जाएँगी, वरना हमारी बात चुप-छाप से सुन. अब मैं उनसे कुछ नही कह पाता, और पेंद्रीवे टीवी में लगा के वीडियो चालू कर देता हू.

सबा भी वही होती है, पर वो काफ़ी रिलॅक्स्ड होती है. असलम और अनिल सोफे पे बैठ जाते है. रोहित और आनवार एक-एक चेर पे बैठ जाते है. सबा उस वक़्त जीन्स और त-शर्ट पहनी हुई होती है.

मैं जेया कर दरवाज़ा आचे से बंद कर देता हू. तभी रोहित सबा को उसके कपड़े उतारने को कहता है. सबा बिना कुछ बोले पहले अपनी ब्लॅक जीन्स उतारती है, और फिर पर्पल त-शर्ट. उसने अंदर मॅचिंग ब्लॅक ब्रा-पनटी का सेट पहना होता है.

फिर वो ब्रा-पनटी भी निकाल कर पूरी नंगी हो जाती है. पहली बार अपनी बेहन को सामने पूरी नंगी देख कर मेरी पंत में कुछ होने लगता है. पर मैं ऐसा कुछ शो नही करता.

फिर रोहित सबा को छाई बनाने के लिए कहता है, और नंगी सबा किचन में छाई बनाने चली जाती है. वीडियो शुरू होती है. सबा और विक्रम दोनो पुर नंगे होते है वीडियो में. उसने सबा को पीछे से पकड़ा हुआ है, और उसकी गर्दन और शोल्डर पे किस कर रहा है.

साथ ही दोनो पंजो से सबा के बूब्स दबा रहा है. बीच-बीच में वो अपना हाथ सबा की छूट पर ले जाता है, और उसको मसलता है, और छूट के अंदर उंगली भी डालता है.

फिर वही उंगली सबा के मूह में देके चुस्वता है. सबा धीरे-धीरे मोन कर रही होती है, जो टीवी में काफ़ी ज़्यादा साउंड आ रहा था. इसीलिए मैं टीवी का वॉल्यूम कम करता हू, और कोई भी लड़का कुछ नही कहता.

अब सिर्फ़ इतनी ही वॉल्यूम होती है, की सिर्फ़ ड्रॉयिंग रूम तक ही सुनाई दे. विक्रम वीडियो में सबा को डॉगी बनने के लिए बोलता है. जब सबा कुटिया बन जाती है, तब विक्रम उसकी गांद पे ज़ोर-ज़ोर से थप्पड़ मारने लगता है. कुछ देर बाद सबा की गांद बिल्कुल लाल हो जाती है.

फिर वो सबा को कुटिया पोज़िशन में चलने के लिए कहता है. सबा अपने ही रूम में नीस और हॅंड्ज़ पे क्रॉल करती है. फिर विक्रम उसके सामने खड़ा हो जाता है, और सबा के मूह में अपने गोते देता है. सबा उसकी गोटियों को पहले चाट-ती है, और फिर चूस्टी है.

इतने में नंगी सबा किचन से एक ट्रे में सब के लिए छाई लेके आती है. वो एक-एक करके सब के पास जाती है, और सब छाई लेने के बाद कोई उसकी गांद पे हाथ लगता है, तो कोई उसके बूब्स पे.

अनिल उसको किस करता है, और गांद सहलाता है. फिर वो मेरे पास आती है, और मैं चुप-छाप छाई ले लेता हू. रोहित के पास वो सबसे लास्ट में जाती है. वो उसकी छूट में उंगली डाल के अंदर-बाहर करता है, और उसके निपल्स चूस्टा है.

फिर असलम सबा को सोफे पे खींच के अपने और अनिल के बीच में बैठता है. स्क्रीन पे सबा विक्रम का लंड चूस रही होती है. विक्रम लंड का पूरा पानी सबा के मूह में निकालता है, और वो चूसना चालू ही रखती है.

विक्रम का पानी अब उसके मूह से बाहर गिरने लगता है, और उसके बदन पे आने लगता है. फिर सबा और विक्रम दोनो रिलॅक्स करने लगते है. विक्रम बेड पे लेट जाता है, और उसी की बगल में सबा भी लेट जाती है. विक्रम: मस्त ब्लोवजोब देती है यार तू. मज़ा ही आ गया.

सबा: अछा? आप भी मस्त छोड़ते हो.

विक्रम: तेरे ब्फ से भी अछा?

सबा: हा, सब से अछा.

विक्रम: अभी भी तेरा कोई ब्फ है?

सबा: नही, 6 महीने पहले मेरा लास्ट ब्फ से ब्रेक उप हो गया था.

विक्रम: सुना है तेरा बॉस भी तुझपे चढ़ता था?

सबा: आपने पूरी एंक्वाइरी की है क्या मेरे बारे में? बॉस से सिर्फ़ फ्लर्ट करती थी, और कुछ नही.

विक्रम: कभी ग्रूप सेक्स करा है?

सबा: ना बाबा, इतनी भी नही हू मैं.

अब काउच पे असलम और सबा किस करने लगते है. सबा ऑलमोस्ट असलम के उपर आ कर उसको किस कर रही होती है. और अनिल उसकी गांद सहलाता है, और उसकी कमर पे किस भी करने लगता है.

सबा अब काउच से नीचे उतार के नी पे बैठ जाती है, और अनिल की पंत खोल के नीचे करती है. फिर उसका लंड अपने मूह में लेके चूसने लगती है. फिर उसका पानी आने लगता है, और पूरा पानी सबा अपने मूह में लेती है.

स्क्रीन पे विक्रम का लंड फिरसे टाइट हो जाता है. वो सबा की छूट को कॅमरा के सामने लाता है, और बेड पे लेती हुई सबा की दोनो टांगे उपर उठा कर पूरा फैला देता है. फिर वो सबा को अपनी छूट में उंगली से छोड़ने के लिए कहता है.

सबा अपनी छूट में दो उंगली डालती है, और खुद को छोड़ने लगती है. सबा की मोनिंग बढ़ने लगती है, और वो खुद को ज़ोर-ज़ोर से छोड़ती है. इस बीच विक्रम ने सबा की दोनो टाँगो को फैला का पकड़ा होता है.

फिर विक्रम सबा को हटा के उसकी जगह लेट जाता है. उसकी गांद बेड के कॉर्नर पे होती है, और दोनो पैर फर्श पे नीचे लटक रहे होते है. और उसका लंड फुल्ली टाइट होता है.

फिर वो सबा को कॉवगिरल पोज़िशन में आने को कहता है. सबा के दोनो पैर के तलवे विक्रम की गांद के आजू-बाजू होते है बिल्कुल कॉर्नर पे. फिर सबा अपनी छूट विक्रम के लंड पे रखती है, और धीरे-धीरे पूरा बैठ जाती है.

अब वो सहारे के लिए विक्रम के दोनो हाथ पकड़ लेती है. लंड छूट में क्लियर्ली उपर-नीचे होता दिखने लगता है. सबा की आहें तेज़ होने लगती है. काफ़ी देर तक सबा विक्रम के लंड से खुद को चुड़वति है. फिर विक्रम सबा की कमर पकड़ के अपने लंड पे दबा के रखता है, जिससे उसका पूरा पानी सबा की छूट में निकल जाता है.

विक्रम सबा को उसी पोज़िशन में रहने के लिए कहता है, और धीरे से अपना लंड छूट में से निकाल कर बेड पे उपर स्लाइड हो जाता है. सबा उसी पोज़िशन में रहती है, यानी पैर के दोनो तलवे बेड के कॉर्नर पे और गांद हवा में.

थोड़ी देर में विक्रम का पानी सबा की छूट में से ड्रॉप-ड्रॉप करके नीचे गिरने लगता है.

यहा असलम सबा को ड्रॉयिंग रूम के सेंटर में कुटिया बना देता है, और पीछे से अपना लंड उसकी छूट में डालता है.

यह कहानी भी पड़े  घूमने के लिए आई टूरिस्ट की चुदाई

error: Content is protected !!