जंगल मे नंगी मा और बेटा

दोस्तो पार्ट 3 मे आपने पढ़ा की हुँने रात को घर जाने का प्लान बनाया, अब आयेज…

अभी भी ह्यूम और 10 घंटे यहा रुकना था.हम वॉटरफॉल की तरफ जाने लगे.

मों-बेटा मुझे तो अब दर्र लग रहा है कही कोई और ना आजाए यहा पे.पहले ही हम इश्स वॉटरफॉल के चक्कर मे बोहोट प्राब्लम ज़ेल चुके है.

मे-लेकिन और कोई उपाय भी तो नही है.हम और 10 घंटे यहा बिताने है.अब इतना कुछ हो गया की ह्यूम प्राब्लम के सिवा कुछ नही मिला अब जो टाइम बचा है कम से कम तोड़ा एंजाय करके तो निकल सकते है ना.

मों-बात तो ठीक है टुमरी लेकिन अब इश्स हालत मे एंजाय कैसे कर सकते है.टेन्षन के कारण मेरा तो मूड भी नही है कुछ करने का अब सिर्फ़ घर जाने का इंतेजार है मुझे.

मे-मों टेन्षन लेने से टाइम जल्दी तो नही जाएगा ना? उल्टा एंजाय करेंगे तो टाइम का पता भी नही चलेगा.

मों-ठीक है मई कोशिश करती हूँ.लेकिन ये पत्ते जो हुँने लपेटे है वो पानी के कारण खुल जाएँगे.

मे-मों अब भी तूमे मुझपे भरोसा नही है? मुझे कुछ करना होता तो मई तभी करता जब मे टुमरे उपेर लेता था.

मों-मुझे तुमपे पूरा भरोसा है लेकिन कोई और आगेया तो प्राब्लम होगी.

मे-अब कोई नही आएगा.और आ भी गया तो मई संभाल लूँगा.

फिर हम वॉटरफॉल के नीचे नहाने चले गये.वॉटरफॉल के पानी से हमारे पत्ते खुल चुके थे और मों भी मेरे साथ बिना शरमाये एंजाय कर रही थी.

हम यहा अपनी मस्ती मे इतने खोए हुवे थे की आने वेल ख़तरे को समाज नही पाए. जो आदमी हुमारे पीछे पड़ा हुवा था वो फिर से आ गया.वो ह्यूम देख के ज़ोर से बोला

आदमी-कामीनो मुझे इतना दौड़ाया और तुम लोग मज़े कर रहे हो.अब भाग के दिखाओ.ये वीडियो इंटरनेट पे विराल कर दूँगा(उस के हाथ मे मोबाइल था)

हम दोनो बोहोट दर्र गये.

मों-(उसके सामने हाथ जोड़ते हुवे) प्लीज़ ह्यूम जाने दो, हम बोहोट अकचे परिवार से है.

आदमी- साली रंडी कही की.यहा नंगी नहा रही हो अपने यार के साथ.थोड़ी देर मुझे भी नहाने है फिर चली जाना आराम से.

मे-मई इसका यार नही.ये मों है मेरी

आदमी-वा रे मदरचोड़ तेरी तो मौज है. अपनी ही मों के साथ नंगा नहा रहा है. सिर्फ़ नंगा करके तो ऐसी आइटम को कोई छोड़ेगा नही बोलो कितनी बार छोड़ा है इश्स रंडी को.

मे-हम टुमरी वजह से इश्स हालत मे है वरना मे अपनी मों की बोहोट रेस्पेक्ट करता हूँ.

आदमी-रेस्पेक्ट करता है तो फिर सुबह मेरे आने से पहले भी तो तुम दोनो नंगे ही थे.

मे-वो.. वो.. ग़लती से….(मेरे मु से शब्द निकल नही रहे थे)

आदमी-चुप कर मदारचोड़ मे यहा टुमरी स्टोरी सुनने नही आया. अब जो मे बोलता हू वो करो नही तो ये वीडियो विराल कर दूँगा.

मों-क्या करना होगा ह्यूम?

आदमी-रूको ज़रा रंडी कितनी उतावली हो रही हो छोड़ने के लिए.

मों-प्लीज़ ऐसी बाते मत करो मेरे बेटे के सामने.

आदमी- चुप साली नाकरे बंद कर और मेरे पास आकर कपड़े निकालो मेरे.

मों- ये क्या कह रहे हो आप

आदमी-साली रंडी जो बोलता है वो कर नही तो पता है ना क्या करूँगा.

मों के आँखो मे अब आसू आने लगे. वो मेरी तरफ देखने लगी. लेकिन में भी कुछ नही कर सकता था. अगर वो वीडियो विराल होता तो हुमारी इज़्ज़त चली जाती.

मों भी समाज चुकी थी अब कुछ नही हो सकता.वो रोते हुवे यूयेसेस आदमी के पास गयी और उसके कपड़े निकालने लगी. पहले शर्ट उतरी फिर पंत और कपते हुवे हटोसे उसकी अंडरवेर भी उतरी.

उसका लंड मों को नंगा देख के पहले ही खड़ा था.

आदमी- चलो अब तीनो मिलके नहाते है.

उसने मोबाइल पंत की जेब मे डाला और ह्यूम लेकर वॉटरफॉल के नीचे गया. नहाते हुवे वो मों के पीछे गया और पीछेसे दोनो हाथ आयेज लेके गया और मों के बूब्स पकड़लिए. मों अचानक हुवे इश्स हमले से कपने लगी.

मों-प्लीज़ ऐसा मत कीजिए.

आदमी – लास्ट वॉर्निंग देता हूँ अब फिर एक बार भी नाकरे किए तो वीडियो विराल कर दूँगा.

फिर वो मों के बूब्स ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा. मों सिर नीचे झुकाके चुपचाप खड़ी थी.

10 मिनिट बूब्स दबाने के बाद. वो आयेज की तरफ आ गया और बूब्स चूसने लगा. मों की तरफ से कोई रिक्षन नही था वो मुहरत बनके खड़ी थी. उसको मों के बूब्स के साथ खेलता हुवा देख के मेरा भी लंड खड़ा हो गया. वो मेरी तरफ देखने लगा और बोला-

आदमी-साले तेरा भी मॅन कर रहा है क्या इससे चूसने का?

मे-नही

आदमी – तो फिर ये खड़ा किसको देख के हुवा है?

मे कुछ जवाब नही दे पाया.

आदमी- मैं आजतक बोहोट औरतों को छोड़ चुका हू लेकिन कभी मा-बेटे को सेक्स करते नही देखा, लगता है आज मेरी ये ख्वाइश भी पूरी होगी.

मे-नही मे ऐसा कुछ नही करने वाला.

आदमी- अब तुम दोनो मेरे सेक्स टाय्स हो मे जैसा चाहू तुम लोगो को इस्तेमाल कर सकता हूँ.

मों-प्लीज़ हुमारे रिश्ते को कलंकित मत करो.

आदमी- ठीक है मई तुमको 2 चाय्स देता हूँ एक तो तुम मुझसे चूड़ो या फिर अपने बेटे से. अब तुम चूज़ करो क्या तूमे एक अजनबी के साथ चूड़ना है जो की बोहोट रफ चुदाई करेगा या फिर अपने बेटे के साथ जो टुमरी मुलायम छूट की आराम से चुदाई करेगा.

मों कुछ नही बोली सिर्फ़ सर नीचे करके खड़ी थी.

आदमी-क्या सोच रही हो? जल्दी बोलो मेरे पास टाइम नही है.

मों- में अपने बेटे के साथ कैसे कर सकती हूँ

आदमी-तो फिर मेरे साथ करो

मों-मैने आजतक अपने पति के अलावा और किसी से नही किया है प्लीज़ मुझे जाने दो.

आदमी- चुदाई तो तेरी आज होगी अब तुम डिसाइड करो किससे करवानी है.

मों-लेकिन मई ये कैसे मान्लू की बेटे के साथ करने के बाद तुम मुझे कुछ किए बिना जाने दोगे?

आदमी-मतलब तुम अपने बेटे के साथ करने को रेडी हो?

मों- और कोई रास्ता छोड़ा है तुमने?

आदमी-ठीक है फिर शुरू करो

मों-लेकिन तुम पहले वाडा करो इसके बाद ह्यूम जाने दोगे और वो वीडियो भी डेलीट करोगे

आदमी-ठीक है मई वाडा करता हूँ अगर तुम अपने बेटे से चुड्ती हो तो फिर मई टुमरी चुदाई नही करूँगा.

आदमी-चलो अब इश्स शुब काम की शूरवात मु मीठा करके करते है…एक दूसरे को किस करो.

मों मेरे पास आके मेरे गाल पे किस किया

आदमी-आज ये टुमारा बेटा नही आशिक है और आशिक को लीप किस करते है इतना भी नही पता.

मों मुझे किस करने से शर्मा रही थी. लेकिन यूयेसेस आदमी के दर्र से वो अपने हॉट मेरे होतों के पास बढ़ने लगी. जैसे जैसे मों के लिप्स मेरे लिप्स के करीब आने लगे वैसे मेरे दिल की धड़कन तेज होने लगी…

मों ने अपने लिप्स मेरे लिप्स पे रखे और धीरे धीरे चूसना शुरू किया. मैं भी मों का साथ देते हुवे मों के लिप्स चूसने लगा.

करीब 10 मिनिट हम दोनो एक दूसरे को किस किए जेया रहे थे..तभी उस आदमी ने ह्यूम रोकते हू ए कहा

आदमी- लगता है दोनो को मज़ा आ रहा है. अब किस्सिंग ही करते रहोगे या आयेज बढ़ोगे, चलो बेटा अपनी मम्मी के बूब्स चूसो.

मे-मुझे शर्म आ रही है, मैने कभी किसिके बूब्स नही चूसे है

आदमी- तो फिर बचपन मे लंड चुस्के बड़ा हुवा है? साले इसी बूब्स को चुस्के बड़ा हुवा है और अब शर्म आ रही है.

मे- लेकिन अब मई बाकचा तो नही रहा ना.

आदमी- हा तो अब एक मर्द की तरह चूसो, चूस्ते हो या में चुस्के दिखौ?! (ऐसा कहते हुवे वो मों की तरफ आने लगा)

उसको आते देख मे तुरंत अपना मु मों के बूब्स पे रखा और चूसने लगा. मों के मु से “अया” निकल गया.

आदमी- लगता है टुमरी मों को अपने बेटे से बूब्स चुसवाना अक्चा लगा.

कुछ देर चूसने के बाद फिर उसने मुझे रोखा और बोला

आदमी- बेटे ने तो चुसलिया अब मा चुसेगी बेटे का

मों- क्या मतलब है टुमारा?

आदमी-साली कभी लंड मू मे नही लिया क्या?

मों-मई क्या तूमे वैसी औरत लगती हूँ मैने कभी नही लिया.

आदमी- लंड मू मे लेने के लिए रंडी होना ज़रूरी नही आजकल हर औरत अपने पति का चुस्ती है.

मों-लेकिन मे नही चुस्ती.

आदमी- तो बेटे का चुसले.ये जवान भी है और फ्रेश भी है..

मों- नही मुझे नही करना ये सब.

आदमी- अगर इसका नही लिया तो मेरा डालूँगा मू मे.

मों ये सुनके दर गयी और नीचे बैठ गयी, अब मेरा लंड मों के मू के सामने था..

मों ने अपना हाथ बढ़ाया और मेरा लंड पकड़लिया….मों का हाथ जैसे ही मेरे लंड पे टच हुवा मेरे शरीर मे हलचल होने लगी. पहली बार किसी औरत ने मेरे लंड को पकड़ा था और वो भी मेरी मों ने.

थोड़ी देर आयेज पीछे करने के बाद मों ने मू खोला और मेरा लंड मू मे ले लिया…

मेरे मू से सिसकारी निकल गयी.एक अजीब सा मज़ा आने लगा.ऐसा लग रहा था की जैसे मे जन्नत मे पहुच गया हूँ…

मों मेरा लंड मू मे लेले चूसने लगी. ये मेरा पहली बार था इसलिए कुछ देर चूसने के बाद ही मेरे लंड ने पानी निकाला जो मों के मू मे ही निकल गया.

मों ने मेरा वीर्या थूक दिया…

आदमी-क्या हुवा बेटे का रस अक्चा नही लगा

मों चुप हो गयी…

ज़दने के कारण मेरा लंड ढीला पद गया.

आदमी- लगता है इसका तो काम तमाम हो गया…(लंड की तरफ इशारा करते हुवे) साले इसको जगाओ और भी बोहोट कुछ करना बाकी है.

मैने हाथ मे लेके बोहोट हिलाया लेकिन कुछ फयडा नही हुवा लंड खड़ा ही नही हुवा..

आदमी-एक काम करो अपनी मा को रिटर्न गिफ्ट डेडॉ, शायद इससे ये फिर खड़ा हो जाएगा.

मे- रिटर्न गिफ्ट मतलब?

आदमी- साले तेरा तो हो गया अब मा को मज़े लेने दो, उसकी छूट छातो…

मों-प्लीज़ मेरे बेटे से ऐसा गंदा काम मत कारवओ..

आदमी-गंदा काम? कभी किया नही इसलिए ऐसा बोल रही हो एक बार छूट पे मूह लग गया तो जन्नत की सैर करोगी…

उसने मुझे इशारा किया और बोला-

आदमी- चल अब जल्दी से अपनी मा को जन्नत की सैर काराव…

मे मों के पास गया-

मों-नही बेटे ये मत करो

मे-मों मुझे भी ये सब नही करना है पर अब और कोई रास्ता नही है.

फिर मैने मों को एक पट्तर पे बैठने को बोला और नीचे मू ले गया.मैने अपना मू मों की छूट पे रखा और चाटने लगा.

कुछ देर चाटने के बाद अब मों को भी शायद मज़ा आने लगा. वो दोनो हाथो से मेरे सर को पकड़के छूट पे दबाने लगी…कुछ देर छूट चाटने के बाद मों भी झाड़ गयी और ज़ोर ज़ोर से सिसकिया लेते हुवे मेरा सिर से हाथ हतालिया.

आदमी- चाटना-चूसना बोहोट हुवा अब चुदाई शुरू करो.अपने लंड को उसकी असली जगा दिखाओ…

मे फिर से लंड हाथ मे लेके हिलने लगा पर इस बार भी कुछ नही हुवा.

आदमी- लगता है मा छोड़ना तेरे नसीब मे नही है…मुझे ही ये काम करना पड़ेगा.

मों- लेकिन तुमने तो वाडा किया था की तुम नही करोगे…

आदमी- मैने ये वाडा किया था की अगर तेरा बेटा तुझे छोड़ता है तो मई नही छोड़ूँगा. लेकिन तेरा बेटा तूमे छोड़ नही पाया इसमे मेरी क्या ग़लती.

मों-प्लीज़ उसको तोड़ा टाइम दो उसने ये सब किया नही ये पहली बार है उसका.

आदमी – ठीक है 15 मिनिट का टाइम देता हूँ अगर तेरा बेटा का 15 मिनिट मे खड़ा नही हुवा तो फिर मई छोड़ूँगा तुमको..

क्या बेटा अपनी मों की इज़्ज़त बचाने के लिए अपना लंड खड़ा कर पाएगा?…

ये जानने के लिए आपको अगले पार्ट की प्रतीक्षा करनी पड़ेगी….

यह कहानी भी पड़े  मिस सुजाता, मी स्कूल टीचर - 2

error: Content is protected !!