जीजू की बेहन की सील, लड़के ने अपने बड़े लंड से तोड़ी

हेलो देसी कहानी, दोस्तों मैं साक्षी अपनी कहानी का अगला भाग लेकर हाज़िर हू. उमीद है आपको मेरी कहानी अची लगेगी. और आप मेरी इस मादक, लंड और छूट में आग लगा देने वाली कहानी का मज़ा लेंगे. फिर उसके बाद मेरी कहानी को लीके और कॉमेंट ज़रूर करेंगे.

दोस्तों जैसा आपने अभी तक पढ़ा की कैसे मैने अपनी मा और बेहन को लेज़्बीयन करते हुए देखा. फिर जब दोनो मा-बेटी मेरे अपने सगे भाई के लंबे और मोटे लंड से चुड रही थी. तब मैने भी अपने भाई टोनी के मस्त गढ़े जैसा लंड से अपनी छूट की सील तोड़ चुदाई करवाई.

फिर टोनी ने बताया की कैसे उसने मेरी मौसी की बेटी सीमा दीदी की छूट की सील तोड़ कर उसे गर्भ से किया. और फिर मेरी मौसी की छ्होटी बेटी अनु और अपनी सग़ी बेहन नेहा दीदी की छूट की सील अपने लंड से तोड़ी. नेहा दीदी जैसे ही अपनी पहली चुदाई की बात बता कर चुप हुई, तभी मम्मी ने कहा-

मम्मी: नेहा साली रंडी, ज़रा अपनी रंडी मौसी का फोन तो लगा. ज़रा उससे पूचु की साली रंडी की छूट में ऐसी क्या आग लगी थी, जो उसने मेरे बेटे को भी नही छ्चोढा.

नेहा दीदी ने अपने फोन से किरण मौसी का फोन लगाया, और फोन को स्पीकर पर डाल दिया.

मौसी फोन उठाते ही बोली: हा मेरी रंडी बिटिया, क्या हाल है? टोनी अपने लंबे और मोटे लंड से तेरी मस्त चुदाई कर रहा है?

मुझसे पहले मम्मी बोली: साली रंडी कुटिया, तेरी छूट में ऐसी क्या आग लगी थी जो तूने मेरे बेटे को भी नही छ्चोढा?

मौसी एक ठंडी आअहह भर कर बोली: ममता, तुझे क्या पता तेरे बेटे और मेरे भनजे का लंड ही इतना मस्त है, की अगर एक बार तू भी देख ले, तो तू खुद पकड़ कर अपने बेटे का लंड अपनी बरसों से प्यासी छूट में लेने को मचल जाएगी.

मम्मी हेस्ट हुए बोली: सच में दीदी. टोनी के लंड से चुड कर मेरी छूट की बरसों की प्यास बुझ गयी. आज तो टोनी ने साक्षी की छूट की सील तोड़ कर उसे भी अपनी रंडी बना लिया है.

मौसी बोली: मुझे पता है, विवेक ने मुझे सब बता दिया है. और अनु अभी विवेक की बेहन निल्लू को लेकर आती ही होगी.

ये बोल कर मौसी ने फोन काट दिया. तभी घर की डोरबेल बाजी, और हमने सीक्ट्व कॅमरा में देखा तो बाहर अनु के साथ विवेक जीजू की बेहन निल्लू खड़ी थी. मैं नंगी ही डोर खोलने गयी, और टोनी ने नेहा दीदी को घोड़ी बना कर अपना लंड पीछे से नेहा दीदी की छूट में थोक दिया.

जब मैने डोर खोला, तो अनु निल्लू को अंदर लेकर आई. अंदर आ कर अनु निल्लू की त-शर्ट उतारने लगी, और निल्लू अनु को रोकते हुए बोली-

निल्लू: अनु प्लीज़ छ्चोढ़ दे मुझे. तेरे भाई का वो बहुत बड़ा है. और मुझे बहुत दर्र लग रहा है.

अनु निल्लू का एक चूचा मसल कर मेरी छूट में उंगली डाल कर बोली-

अनु: ये देख साली रंडी की छूट की सील. आज ही हमारे भाई ने अपने मस्त लंड से तोड़ी है. पूच इससे अपने भाई के लंड से इसने अपनी छूट की सील तुडवाई है.

मैने भी अपनी उंगली अनु की छूट में डाल कर कहा: निल्लू सच में बहुत मज़ा आया मुझे अपने भाई का लंड अपनी सील पॅक छूट में लेकर.

अनु पहले खुद और फिर निल्लू के कपड़े उतारने लगी और निल्लू नही-नही कहती रही. फिर अनु ने निल्लू को भी हमारी तरह नंगी करके मुझसे पूछा.

अनु: साक्षी वो साला बेहन छोड़ टोनी है कहा?

मैने कहा: दीदी वो अंदर नेहा दीदी की छूट का फालूदा बना रहा है.

अनु निल्लू को अंदर रूम में ले गयी. अंदर टोनी भैया नेहा दीदी को घोड़ी बना कर छोड़ रहा था, और अनु ने खींच कर टोनी का लंड नेहा दीदी की छूट से निकाला. फिर अनु टोनी का लंड चूम कर बोली-

अनु: ओह मेरे भाई, यहा मेरी और साली रंडी निल्लू की छूट में आग लगी है. और तू सेयेल बहनचोड़ साली रंडी नेहा की छूट के पीछे लगा है.

नेहा दीदी अनु का चूचा खींच कर बोली: साली रंडी अभी तो मज़ा आने लगा था, और साली तेरी हिम्मत कैसे हुई मेरी छूट से टोनी का लंड निकालने की?

अनु बोली: साली तू सुबह से लगी है, और मैं एक महीने से तड़प रही हू टोनी का लंड अपनी छूट में लेने को.

और वो टोनी का लंड चूसने लगी. नेहा दीदी अनु की गांद पर थप्पड़ मार कर बोली-

नेहा: साली कुटिया मैने टोनी का गरम-गरम वीर्या अपनी छूट में बच्चे-दानी में लेकर गर्भ से होना है. और तूने साली ने मेरी छूट से टोनी का लंड निकाल दिया.

टोनी अनु के मूह में धक्के लगता हुआ निल्लू के चूचे मसलता हुआ बोला: साली रॅंड, पहले इस साली रंडी की सील पॅक छूट की चुदाई करने दे. इसका भाई इसकी फटी छूट देखने को उतावला हुआ जेया रहा है.

तभी अनु ने टोनी का लंड मूह से निकाल कर अपने फोन पर वीडियो कॉल विवेक जीजू को लगाई. विवेक जीजू के फोन उठाते ही अनु बोली-

अनु: जीजू देखो आपकी रंडी बेहन आपके सेयेल के लंड के पास है, और साली बहुत दररी हुई है. ज़रा इसे बोलो के दर्रे नही मेरे भाई के मस्त लंड से. अपनी कोरी, मखमली, और कोमल छूट की सील तुद्वा कर, इसका गरम-गरम वीर्या अपनी छूट में बच्चे-दानी में लेकर, गर्भ से हो कर तुझे अपने सेयेल के बच्चे का मामा बना दे.

विवेक जीजू निल्लू का मस्त नंगा मांसल जिस्म देख कर अपनी जीभ होंठो पर फेरते हुए बोले-

विवेक: ओह निल्लू, मेरी प्यारी बहना. तू ऐसे क्यूँ दर्र रही है? अब दर्र छ्चोढ़ कर मेरे सेयेल के लंड से अपनी कोरी सील पॅक छूट की सील तुद्वा ले. फिर मुझे अपने सेयेल के हरामी बच्चे की मा बन कर मामा बना दे.

टोनी निल्लू के चूचे मसलता हुआ बोला: जीजू आपकी बेहन तो एक-दूं मस्त माल है. इसे ज़रा प्यार से बताओ के मेरा लंड डरने की नही, मज़ा लेने की चीज़ है.

और उसने ज़ोर से निल्लू के दोनो चूचे खींच दिए.

निल्लू बोली: आ श भैया, दुख़्ता है.

विवेक जीजू बोले: निल्लू तू दर्र मत. अगर मैं यहा होता तो मैं खुद अपने सेयेल का लंड पकड़ कर तेरी छूट की मस्त दरार से लगा कर, तेरी सील पॅक छूट में ठुकवता. सेयेल साब, आप फिकर मत करो. मेरी बेहन चूड़ते हुए तुझे पूरा सहयोग करेगी.

टोनी ने अपना लंड निल्लू के होंठो से लगा कर निल्लू को लंड चूसने को बोला. फिर निल्लू टोनी का लंड चूसने लगी, और टोनी निल्लू के दोनो चूचे मसालने लगा. कुछ देर बाद निल्लू को मज़ा आने लगा, और वो टोनी का लंड अपने मूह में लेकर अंदर-बाहर करने लगी. फिर टोनी निल्लू के मूह में धक्के लगा कर निल्लू का मूह छोड़ने लगा.

कुछ देर बाद टोनी ने अपना लंड निल्लू के मूह से निकाला, और अनु को घोड़ी बनने को बोला. फिर अपना लंड एक ही झटके में अनु की छूट में पेल दिया, और अनु अपनी गांद पीछे करके टोनी का लंड अपनी छूट में लेने लगी.

करीब एक घंटे बाद जब टोनी झड़ने के करीब आया, तो उसने मुझे निल्लू की दोनो टांगे उठा कर लिटने को बोला. फिर जैसे ही मैने निल्लू की टांगे उठा कर लेटया, तभी टोनी ने अपना लंड अनु की छूट से निकाला, और निल्लू की छूट में अपना वीर्या छ्चोढ़ दिया.

निल्लू बोली: श अनु, तेरे भाई का वीर्या तो बहुत गरम है.

अनु बोली: साली अभी तो जब मेरे भाई लंड तेरी सील पॅक छूट में घुस कर अपने वीर्या से तेरी छूट भरेगा, तब देखना तुझे कितना मज़ा आता है.

कुछ देर बाद टोनी ने निल्लू की दोनो टांगे उठा कर अपने कंधो पर रखी, और जीजू से बोला-

टोनी: देख जीजू आज आपकी बेहन आपके सेयेल की रंडी बनने जेया रही है.

फिर एक ज़ोरदार धक्का निल्लू की छूट में लगाया, और टोनी का आधा लंड निल्लू की छूट की सील तोड़ अंदर घुस गया.

निल्लू दर्द से तड़पने लगी, और टोनी को लंड निकालने को बोलने लगी. टोनी ने फिरसे एक ज़ोरदार धक्का लगाया, और इस बार टोनी का पूरा लंड निल्लू की छूट में समा गया. फिर टोनी धीरे-धीरे निल्लू की छूट में धक्के लगाने लगा.

कुछ देर बाद निल्लू को मज़ा आने लगा, और वो अपनी गांद उठा कर टोनी से चूड़ने लगी.

करीब 1:30 घंटे बाद टोनी ने अपने गरम वीर्या से निल्लू की छूट और बच्चे-दानी भर दी, और अपना लंड निल्लू की छूट से निकाल कर विवेक जीजू से पूछने लगा.

टोनी: जीजू पूछो अपनी रंडी बेहन से, की उसको मज़ा आया?

निल्लू टोनी का लंड चूम कर बोली: ओह भैया, बहुत मज़ा आया.

विवेक जीजू बोले: टोनी काश मैं वाहा होता, और खुद तेरा लंड अपनी बेहन की सील पॅक छूट से लगा कर अपने सामने अपनी बेहन और पत्नी को चूड़ते हुए देखता. कसम से मज़ा आ जाता.

टोनी निल्लू के चूचे मसल कर बोला: जीजू ये भी कोई बात है. अभी आपकी छ्होटी बेहन निशा बाकी है, और अब जब आप अगले महीने वापस आओगे, तब हम दोनो मिल कर आपकी दोनो बहनो की छूट का बंद बजाएँगे.

उसके बाद टोनी ने नेहा दीदी और निल्लू को छोड़ कर दोनो को गर्भ से किया, और मुझे वो अपनी रखैल बना कर छोड़ता है. अब टोनी की शादी की बात चल रही है, और टोनी मुझसे कहता है की वो मुझे अपनी सुहग्रात को सुहाग की सेज पर, अपनी पत्नी के साथ छोड़ कर मुझे गर्भ से करके, बिन शादी किए ही मा बनायगा.

अब टोनी मुझे छोड़ने को तैयार है, और मेरी छूट में भी आग लगी है, और मैं अपनी कहानी को विराम देती हू.

आपको मेरी कहानी कैसी लगी प्लीज़ मुझे मैल करके ज़रूर बताए. मेरी मैल ईद है-
[email protected]

यह कहानी भी पड़े  अपने अब्बू से चुदाई अपनी कुँवारी चूत


error: Content is protected !!