जवान लड़की ने दिया बुड्ढे ड्राइवर को मज़ा

ही फ्रेंड्स, सॉरी काफ़ी लाते स्टोरी उपलोआड कर रही हू. बुत अब से एवेरी वीक स्टोरी पोस्ट करूँगी.

मेरा नामे रागिनी अगरवाल है, और मैं अपने बारे में बता रही हू अब. मैं 19 की हू, बुत मेरी बॉडी देख कर कोई भी बोलेगा की 22 की हू. मेरी बॉडी 34सी-28-34 है. काफ़ी ज़्यादा कर्वी हू, अवर ग्लास के जैसे. लोंग हेर है ब्लॅक, और लिप्स पिंक है. मुझे देख कर अंकल्स और बुड्ढे दोनो घूरते है. कुछ अपनी पॅंट्स को मसालते भी है.

स्टोरी अब तक ये थी की पापा के साथ मैने सेक्स कर लिया था. अब अगली सुबा उठ कर मैं बातरूम नहाने चली गयी. मुझे अभी भी पापा के स्पर्म मेरे टमी के वूंब में फील हो रहा था, क्यूंकी पापा काफ़ी थिक कम रिलीस किए थे.

सेक्स के साथ बॉडी में एक स्मेल आ जाती है, और जिस्म की वो स्मेल मुझे काफ़ी पसंद थी. पर आप जानते ही है सेक्स के बाद गर्ल्स को नहाना पड़ता है बॉडी फ्रेश करने के लिए. तो मैं भी नहाने चली गयी. उसके बाद टवल लपेट कर बाहर आई और देखा पापा अभी भी सो रहे थे. मैने उन्हे डिस्टर्ब नही किया और ब्लू स्कर्ट आंड ब्लू टॉप वेर कर लिया. अंदर एक पनटी और ब्रा भी पहनी.

फिर मैने खुद को मिरर में चेक किया, और बार-बार अपनी कर्वी आस को हाथो से लिफ्ट करके दीखा सब ओके था या नही. उसके बाद सडन्ली मेरा मॅन हुआ की बाहर जौ. पर पापा सो रहे थे, तो मैने सोचा की जिस ड्राइवर बुड्ढे से नंबर एक्सचेंज किया था, उसको बोलती हू. फिर मैने उन्हे कॉल किया.

मे: हेलो ड्राइवर अंकल?

ड्राइवर: हा कों?

मे: आप बड़ी जल्दी भूल गये मुझे (हेस्ट हुए).

ड्राइवर: आपकी आवाज़ जानी-पहचानी लग रही है. एम्म रागिनी?

मे: उम्म हा, आपको याद है मेरा नामे?

ड्राइवर: आपके साथ एक-एक पल याद है बिटिया.

मे: उम्म.. ड्राइवर जी, आप क्या मुझे एक शॉपिंग माल ड्रॉप करोगे?

ड्राइवर: हा, आप जहा चाहो वाहा छ्चोढ़ दूँगा.

मे: कही भी?

ड्राइवर: हा, एक बार स्पीड पकड़ लेता हू तो सवारी को मज़े दिला कर छ्चोढता हू.

मे: फिर तो आपको जल्दी होटेल आना चाहिए, सवारी आपका ही इंतेज़ार कर रही है, हीही.

ड्राइवर: 15 मिनिट में आता हू बिटिया.

कॉल ड्रॉप. फिर मैं सोच रही थी बुद्धा काफ़ी रोमॅंटिक था, और मैं इसे भी सिड्यूस करू? या इसको और तड़पौ. फिर मैने सोचा रिस्क नही ले सकती, क्यूंकी जल्दी ही वाकेशन ख़तम हो सकती थी. जो करना था आज ही करना था. फिर 15 मिनिट्स बाद गाते पर उनकी कॅब आई, और मैने उन्हे ही किया.

उन्होने मुझे बैठने का इशारा किया. मैं पीछे बैठ गयी ताकि होटेल में किसी को शक ना हो, और बीच में बैठ गयी ताकि उन्हे मेरी थाइस दिखे.

ड्राइवर: आप आयेज बैठ जाती.

मे: नही अभी यहा नही बैठ सकती. आप चलो माल.

ड्राइवर: ओक बेटी चलो.

फिर कॅब होटेल की लाने से निकली, और उन्होने मिरर मेरी थाइस पर सेट किया. मैने भी ये चीज़ नोटीस की, और मेरे मॅन में काफ़ी अछा फील हुआ. मेरे पेट में बटरफ्लाइस उड़ने लगी. मैने भी उन्हे अची व्यू देने के लिए थाइस क्रॉस की, जिससे मेरी स्कर्ट और उपर आ गयी. अब मेरी थिक वाइट क्रीमी थाइस उन्हे आचे से दिख रही थी. शायद पनटी की लेस भी.

ड्राइवर: आज आप काफ़ी अची लग रही है.

मे: शुकरिया, बुत सिर्फ़ अची?

ड्राइवर: बोल डू? कही आप बुरा तो नही मानोगी?

मे: हा बोलिए ना.

ड्राइवर: आप… आप हॉट लग रही है.

मे: ऑम्ग! थॅंक्स ड्राइवर जी.

ड्राइवर और मैं दोनो हासणे लगे, और मैं समझ रही थी की वो काफ़ी हिम्मत करके बोले थे.

ड्राइवर: आपको माल से क्या लेना है? माल काफ़ी महँगा है. मैं यहा की बेस्ट शॉप्स जानता हू, वाहा सब शॉपिंग करते है.

मे: माल से जो मुझे चाहिए वो बाहर नही मिलेगा.

ड्राइवर: ऐसा क्या है?

मे: गर्ल्स की कुछ प्राइवेट चीज़े.

ड्राइवर ये प्राइवेट वर्ड सुनते ही अपनी पंत में अपने दोंग को मसालने लगा, और मैने ये नोटीस किया.

मे: आपको पता है वो क्या चीज़ है?

ड्राइवर: नही पर अगर आप बताना चाहो तो मुझे भी अछा लगेगा.

मे: इननेरवेार है ड्राइवर जी.

जैसे ही मैने इननेरवेार बोला, वो एक-दूं से ब्रेक मारे, और मुझे थोड़ी सी नी पर सीट लग गयी. उन्होने मुझे बोला-

ड्राइवर: सॉरी बेटा, आपको लगी तो नही? आप ठीक हो?

मे: हा मैं ठीक हू (अपनी नी को सहलाते हुए).

ड्राइवर: रूको मैं देखता हू.

ड्राइवर को बस मुझे छूने का मौका चाहिए था, और ये वो बेस्ट मौका था. वो अब मेरी नी को टच कर रहे थे, और सहला रहे थे. मैं उनकी आँखों में देख रही थी, और वो प्यार से मुझे सहला रहे थे.

फिर उनकी नज़र मेरी नज़रो से मिली, और उनका हाथ धीरे से मेरी नी से हो कर मेरी थाइस की और बढ़ा. पर तभी पीछे से किसी ने हॉर्न मार दी और हम दोनो ठीक हुए. फिर कार माल की तरफ चलने लगी.

ड्राइवर: सॉरी बेटा, मुझे माफ़ करना.

मे: कोई बात नही ड्राइवर जी, आपकी ग़लती नही है.

ड्राइवर: आप चाहो तो माल के अंदर तक चलूँगा. एक पल भी अकेला नही छ्चोधुंगा. मेरी वजह से आपको लगी.

ड्राइवर को बस मौका चाहिए था माल में मेरे साथ अंदर जाने का, और मैं ये अची तरह समझ रही थी तो मैने भी उनका साथ दिया और कहा-

मे: हा ओक, आप साथ चलना. मुझे अकेला फील नही होगा.

फिर माल आया. उन्होने कार पार्किंग लॉट में पार्क की, और कार से उतार कर गाते ओपन की. मैने भी स्कर्ट बिना अड्जस्ट किए उनका हाथ पकड़ा, और बाहर आई. उन्होने मेरा हाथ काफ़ी टाइट से पकड़ा. सेक्षुयल फीलिंग की इंटेन्सिटी फील हुई मुझे. फिर उनके सामने मैने अपनी ब्रा स्ट्रॅप्स और स्कर्ट अड्जस्ट की. ड्राइवर जी के मूह में पानी आ गया.

मे: आपको प्यास लगी है क्या ड्राइवर जी?

ड्राइवर: हा, काफ़ी ज़्यादा.

मे: चलिए आपकी प्यास आज मैं ख़तम कर दूँगी.

ड्राइवर: हा.

और पंत में अपना वो मसालने लगा. मैं वॉक करने लगी, और वो सडन्ली मेरा हाथ पकड़ लिया. फिर लिफ्ट में हम दोनो के साथ काफ़ी भीड़ थी उन्होने खुद को पीछे और मुझे उनके आयेज रखा. मैं इस मूव से काफ़ी एक्सपीरियेन्स हू. तो मैने भी सोचा उन्हे सिड्यूस करते है.

भीड़ की वजह से हम दोनो एक-दूसरे से एक-दूं चिपक गये थे, और उनका क्राउच मेरी आस पर था. वो कोशिश कर रहे थे की उनका हाथ मेरी कमर पर हो. पर शायद दर्र रहे थे. उनकी गरम साँसे मेरे शोल्डर्स पर आ रही थी. मुझे भी कुछ कुछ होने लगा था वाहा.

जैसे ही लिफ्ट स्टार्ट हुई एक झटका लगा, और लिफ्ट रुकी. शायद ओवर लोड हो गयी थी. उस झटके में उन्होने अपना हाथ मेरी वेस्ट पर रख दिया, और मैं भी अपनी बॅक उनके क्राउच पर रख दी.

कुछ 2-3 लोग लिफ्ट से निकले, और लिफ्ट स्टार्ट हुई. फिर लिफ्ट जैसे उपर जाने लगी, वो अपने हाथो से मुझे मेरी वेस्ट पर मूव करने लगे.

मुझे ये सेन्सेशन काफ़ी सिड्यूस कर रहा था, और उनका दोंग अब लंबा और मेरी आस पर चुभने लगा. मुझे जैसे ही फील हुआ ये, मैं शाइ होने लगी. बुत उन्हे कॉन्फिडेन्स देना चाहती थी, तो मैने उन्हे रोका नही.

वो स्लोली-स्लोली हाथ मेरी पूरी वेस्ट पर मूव कर रहे थे, और एक ग्रिप बना कर पीछे से अपनी कमर से धक्के मारने लगे. मैं समझ गयी वो ड्राइ हंप करने लगे थे, और मैं भी वेट होने लगी थी. मैने भी उन्हे कॉन्फिडेन्स देने के लिए अपने हाथ को उनके हाथ के उपर रखा, और एंजाय करने लगी वो ड्राइ हंप्स.

अफ, क्या बतौ वो थिक रोड मेरी स्कर्ट के उपर मेरी आस पर बार-बार चुभ रहा था काफ़ी हॉट हो गयी थी मैं. फिर लिफ्ट खाली हुई और हम दोनो स्लोली बाहर आ गये.

मे: ड्राइवर जी, लिफ्ट में काफ़ी गर्मी थी अफ!

ड्राइवर: हा बेटा काफ़ी थी. अर्रे तुम्हे पसीना आने लगा.

मे: कहा?

ड्राइवर: वो गले के नीचे.

मे (नाटक करके हुए): कहा? आप ये हॅंडकरचीफ से वाइप कर दो प्लीज़.

ड्राइवर: ओक बेटा.

फिर वो हॅंडकरचीफ से वाइप किए, और मेरी क्लीवेज को अची तरह घूर रहे थे. फिर हम दोनो वाहा की लाइनाये शॉप पर गये और वाहा एक सेल्सवाय्मयन ने अड्रेस किया वो मेरे ब्फ होंगे (शुगर डॅडी). ड्राइवर को समाज नही आया और मैं हस्सी. फिर मैने भी हा कर दी, और वो मुझे बेस्ट सेक्सी लाइनाये दिखाने लगी. मैने भी नाटक करते हुए पूछा-

मे: कों सी लू, ये या वो? समझ नही आ रहा.

ड्राइवर: वो रेड वाली.

मे: आपको पसंद आई ये?

ड्राइवर: हा आप इसमे काफ़ी हॉट दिखोगी.

मे: उम्म.. क्यूँ अभी हॉट कम हू?

ड्राइवर: नही-नही, अभी आप हो. मेरा मतलब था बेटा उसमे ज़्यादा हो जाओगे. मेरी किस्मत कहा, मुझे पता नही आप इनमे कैसे दिखोगे.

मैने सोचा चलो ये भी सेशन एंजाय करूँगी. फिर मैं वो रेड बिकिनी लेकर ड्रेसिंग रूम में गयी, और उन्हे बिकिनी होल्ड करने को कहा. मैने सोचा चलो नाटक करती हू. मैने डोर ओपन किया और कहा-

मे: मेरी टॉप की हुक पीछे ओपन नही हो रही है. आप हेल्प करोगे?

ड्राइवर एक स्टेप अंदर आया, और मैं पीछे घूम गयी. फिर उन्होने मेरा हुक खोलना शुरू किया, और वापस अपनी पंत मेरी आस पर टच की. वो सेन्सेशन हॉट थी. 2 मिनिट्स बाद बटन्स सारे ओपन हुए, और मैने टॉप निकाल दी. मैं ब्रा में थी, और ड्राइवर मुझे देखता रह गया. अभी भी उसका हाथ मेरी वेस्ट पर था.

मे: आप बाहर जाओ अब.

ड्राइवर: हा-हा आप कर लो. एक बात बोलू?

मे: हा बोलो.

ड्राइवर: आप काफ़ी हॉट दिख रहे हो.

मैं ब्लश करने लगी और थॅंक्स बोल कर उन्हे निकाल दी. फर्स्ट मैने स्कर्ट निकली, और फोटोस लेने लगी आचे-आचे पोज़स में, जिसमे अपनी कुवर्व्स हाइलाइट हो, और पापा को सेंड कर दी. फिर बिकिनी न्यू वाली ट्राइ की, और वापस पिक्चर्स ली. उसके बाद मैने आवाज़ लगाई-

मे: ड्राइवर जी.

ड्राइवर: हा.

मे: आप एक मिनिट अंदर आ सकते हो?

ड्राइवर: आप ठीक हो ना? क्या हुआ बेटा?

मे: सस्सह, सिर्फ़ अंदर आओ.

मैने गाते ओपन किया, और उन्हे अंदर पुल किया. वो मुझे देखते ही शॉक हो गये. एक सेक्सी लड़की बिकिनी में फर्स्ट टाइम, उनका टेंट मानो जैसे अभी निकल जाएगा. मैं भी आचे से पोज़स में उन्हे अपना सब दिखाने लगी. फिर उन्होने कहा

ड्राइवर: आज मुझे जन्नत दिख गयी.

मे: अछा जी.

ड्राइवर: हा बेटा, बस वो एक साइड से तोड़ा कपड़ा मूड गया है.

मे: कों सा?

वो मेरी पनटी की बात कर रहे थे, जो आस में फोल्ड हो गयी थी.

मैने कहा: वो पनटी है, आप ठीक कर दो.

ये सुनते ही वो मूह खोल कर आयेज बढ़े, और अपना हाथ धीरे से मेरी आस कर्व पर ले गये, और मुझे अपने पास चिपका लिया. उनका टेंट मेरी नेवेल तक टच कर रहा था, और वो स्लोली पनटी अड्जस्ट करने के बहाने मेरी आस पर हाथ मूव करने लगे. फिर एक फिंगर से पनटी अड्जस्ट की. अफ… फर्स्ट टाइम उन्होने मेरी आस टच की. फिर हम अलग हुए और मैने कहा उनसे-

मे: बाहर जाओ, मैं आती हू.

बाकी नेक्स्ट स्टोरी में.

यह कहानी भी पड़े  मंगलोरे वाली चाँदनी भाभी की चुदाई


error: Content is protected !!