मेरा पहला गेंगबेंग पूरी रात चला

दोस्तों मेरा नाम अनिला कुमारी हे और मैं दहरादून के पास के एक छोटे से गाँव की हूँ. अभी मेरी उम्र 23 की हो चली हे और मेरे फिगर का साइज़ 34-30-34 हे. मेरा रंग साफ हे. और मैं चुदने की पक्की सौकीन लड़की हूँ ऐसा आप कह सकते हो. मुझे लंड बदल बदल के लेने का मज़ा आता हे. काफी लड़कियां होती हे जो पूरी लाइफ एक ही लंड को अपनी चूत देती रहती हे. लेकिन मैं तो नए नए लंड टेस्ट करना चाहती थी पहले से ही.

मेरा एक बॉयफ्रेंड भी हे. जिसे मैंने जेक की तरह रखा हुआ हे. कोई ना मिले तो उसे बुला के उसका ले लेती हूँ. वो साला भी चोदने में तो बड़ा माहिर हे. लेकिन एक लंड से पता नहीं क्यूँ मुझे बोरियत सी लग रहती थी. एक दिन मेरा बॉयफ्रेंड पसीने से लथपथ मेरी गांड मार रहा था.

उसने कहा, कैसे लग रहा हे मेरी जान.

मैंने कहा, कैसे लगेगा, गांड में ले रही हुना और क्या!

वो बोला: यार तुझे तो जैसे फिलिंग ही नहीं होती हे.

मैंने कहा, होती हे ना लेकिन एक लंड से नहीं होती हे.

वो बोला, क्या मतलब.

मैंने कहा. एक साथ 2 3 लोग मुझे चोदे तो मुझे बड़ा मजा आता हे.

वो बोला, ऐसा हे तो मेरे दोस्त हे जो तेरी मार लेंगे. लेकिन फिर मत कहना की दर्द हो रहा हे.

मैंने कहा, आजतक कहा मैंने कभी.

वो बोला, ठीक हे जान चार दिन के बाद मेरे बर्थडे पर मैं दोस्तों को बुला लूँगा यही पर. तू उस दिन अन्दर ब्रा या पेंटी मत पहनना, तुझे पूरी रात चोदेंगे हम लोग.

मैंने अपने घर के लोगों को बोला की ऑफिस की एक कलिग की शादी हे तो मुझे रात को वहां रहना हे. और मैं उस दिन शाम से ही अपने बॉयफ्रेंड के कमरे पर चली गई.

यह कहानी भी पड़े  तिन दोस्तों ने मुंबई की रंडी को चोदा

वो लोग शाम को ही मेरी चोदने की प्लानिंग में लगे थे. बियर की बोतलें केक सब आ गया था. उसके 6 दोस्त आये हुए थे. सब के सब मुझे ही देख रहे थे जैसे की मैं कोई छिनाल थी. वो लोग पी पी के टुन्न से हो गए. फिर मेरे बॉयफ्रेंड ने कहा, देखो मेरी जान तुमने 4 कहा था मैं सात लंड से चोदने के लिए रेडी हूँ तुम्हे. आज हम जो भी कहे बस कर लेने देना मना मत करना.

उसके दोस्तों में से एक ने कहा, यार इसे पहले तो कहो की ये कपडे निकाल दे. इसे आज की रात पूरी की पूरी नंगी ही निकालनी हे.

और फिर वो लोग खुद मेरे पास आये और मेरे सब कपडे उन्होंने ही खोल दिए. पहले मेरा टॉप फेंका और फिर जींस निकाल डाली. ब्रा और पेंटी के लिए तो मेरे बॉयफ्रेंड ने पहले से ही मना कर दिया था. वो लोग अब मेरे जिस्म के साथ खेलने लगे. कोई बूब्स मसल रहा था तो कोई जांघ को चूम रहा था. एक का हाथ तो मेरी चूत के ऊपर था जिसे वो सहला रहा था. और तभी पीछे हाथ कर के किसी ने मेरी गांड में भी ऊँगली कर दी. मुझे बड़ा ही मजा आ रहा था ऐसे सात लडको के बिच में लेट के अपने बदन को टचिंग करवाना.

फिर वो लोगों ने मेरी चूत के ऊपर स्ट्रॉबेरी केक रखा जो कटने के लिए आया था! और वो चूत को चाटते हुए केक को खा रहे थे. मेरे बॉयफ्रेंड ने केक के ऊपर की चेरी को अपने लंड के सुपाडे के ऊपर रख दी और वो लंड मेरे पास ले आया. मैंने मुहं खोला और चेरी खा गई और उसने लंड मुहं में ही रहने दिया. केक लगा होने की वजह से उसका लंड मीठा मीठा लग रहा था. वो अपने मोटे लंड के धक्के दे दे के मेरे मुह का फकिंग कर रहा था.

यह कहानी भी पड़े  सुहाना सफ़र है और मौसम चुदासी भरा

और उस वक्त निचे किसी ने मेरी चूत को खोला और अपने लंड को अन्दर कर दिया. मैं बहुत चुदी थी उस दिन से पहले भी. इसलिए जाहिर हे की मेरी चूत ढीली तो नहीं थी. मेरी चूत में पच से लंड घुसा. और वो मुझे चोदने लगा. मैंने देखा तो वो एक भारी बदन वाला बंदा था. ओपनिंग बेट्समेन मजबूत आया था. और तभी उसने मुझे अपनी गोदी में उठा लिया. मेरे पैरो को अपनी कमर के ऊपर कस के वो मुझे उठा उठा के पेलने लगा था. तभी एक और लड़का पीछे आ गया. उसने गांड के ऊपर थूंक लगाया और अपने लंड को अन्दर डाला. मैंने अह्ह्ह कर बैठी. एक चूत में और एक गांड में था मेरे.

फिर उस लड़के ने बिस्तर के ऊपर लेट के मेरी गांड मारी. और ऊपर से ये बड़ा लड़का मेरी चूत को चोद रहा था. एक लड़का मेरे मुह के पास आया और उसने अपने लंड को मुहं में डाला. और मैंने एक एक लंड को अपने हाथ में ले लिया था. एक लड़का मेरी नाभि के ऊपर लंड घिस रहा था. और बाकी बचा था मेरा बॉयफ्रेंड जो अपने लंड को ये सब देख के हिला रहा था. मैं 6 लंड से मजे कर रही थी और एक लंड मेरे सामने कुश्ती के लिए रेडी हो रहा था.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!