हीना की सेक्स कहानी ऑटो वाले से – २

मैं अकड़ू बड़े घर की लड़की. एक अंजन गावर को अपने दूध पीला रही थी. वो भी नंगी ओपन जंगल में. उसने 20-25 मीं मेरे दूध पिए. लाल लाल कर दिया. फिर मुझे देखा और लिप्स चूमने लगा. “मेरी रंडी आहह…”

फिर उसने मुझे नीचे दबाया. उसने इशारा काइया की चूस. मैने भी उसका लंड पकड़ लिया जो की गंदा स्मेल मार रहा था, उसने घाप से लंड मेरे मूह में भर दिया. और मेरा मूह छोड़ने लगा. मूह के अंदर तक झटके मारने लगा. और में भी उससे चूसने लगी.

इतना मोटा और बड़ा था की मेरा मूह पूरा खूल गया. आंड गले तक उसके लंड टकरा रहा था. मैने भी बहुत चूसा. क्यूकी में लंड देख के पागल सी हो जाती हू. उसने अपने बॉल्स भी चूसने कहा मैने वही किया.

15-20 मीं चूसने के बाद उसने मुझे उठने कहा. बोला “वा क्या माल है तू, इंग्लीश रंडी चल अब ज़रा पैर के फिंगर्स पकड़ झुक के, तेरी पनिशमेंट है यह. मुझे गलिया दे रही थी ना, रंडी छीनाल” और थप्पड़ लगाया ज़ोर्से मेरी गांद पे. सतत्त्टककककक करके.

मैं उंगलिया पकड़ के झुक के खड़ी हो गयी. वो घूम घूम के देखने लगा. पीछे आया और पुसी की स्मेल लेने लगा. बोला. “कभी सोचा नही था, ज़िंदगी में तेरे जैसी खूबसूरत रांड़, की चिकनी क्लीन शेव्ड छूट देखने भी मिलेगी,. और देख आज मेरे सामने मेरी रखेल की तरह, झुक के खड़ी है. क्या रे मस्त छूट है तेरी. ज़रा चक तो लू.”

ऐसा बोलके उसने अपना मूह पीछे से मेरी छूट में घुसा दिया और पागल की तरह मेरी गांद पकड़ के कभी छूट चूस्ता, काटता, कभी अशोल छत ता.

साथ में गांद पे स्पॅंक कर रहा था. अपने दो उंगलिया उसने अंदर डाल दी. में उठी तो बोला “रंडी मदारचोड़ छीनाल, साहब ने तुझे उतने कहा नही ना. बोल बहेनचोड़ साहब में आपकी रंडी हू. बोल मदारचोड़”. मैने भी बोला “हा मैल्क में आपकी रंडी हू. सिर्फ़ आपकी.”

फिर वो जाके एक पेड़ के नीचे पूरा नंगा होके लेट गया. और बोला “आ जेया रांड़ इस मुल्ले के लंड की तुझे सैर करता हू”. मैने कहा “नही प्लीज़. ”

बोला अब नाटक करेगी तो मार ही डालूँगा. मैने कहा “कोई आ जाएगा”. उसने कहा “आने दे रांड़, ऐसे रंडिया यहा ऐसे ही चुदाई करवाती है, पोलीस आ गयी तो वो भी छोड़ देगी तेरी महनगी घमंडी छूट, अभी आ नही तो पूरी दुनिया नंगी वीडियो देखेंगी. जो मैने भी निकली है, तेरा नंगा नाच और मुज़रा जंगल में”.

मैने पूरी तारा शॉक में थी. में सच में एक प्राइवेट रंडी की तरह उसके पास गयी. उसने कहा लंड पे बैठ. मैने बैट गयी. उसके मोटा लंड. मुझे तकलीफ़ देने लगा. मेरे छूट के लिप्स पे वो घिसने लगा अपना लंड का कट टॉप. और मुझे बोला देख मज़ा आएगा. तू दीवानी हो जाएगी अब्दुल की.

उसने थूक लगाई मेरी छूट पे और नीचे से एक ही झटके में अपना लंड मेरी छूट की लिप्स को चीरता हुआ अंदर चला गया. मेरे मुहे से चीक निकल गयी. अहह मार गयी.

बोला “ऐसे नही मारेगी, अभी तो शूरवात है तू अब रोज मुजसे चूड़ेगी. मेरी रांड़”. और झटके मारने लगा. मुझे बहुत दर्द हो रहा था. हलकी मैने बहुत सेक्स काइया था. बुत ऐसा सांड मुस्लिम लंड पहले बार अंदर था मेरे.

वो आचे से लेने लगा मेरी. मैं भी उसके लंड पे उछालने लगी. मॅन में सोचा. बाकी सब बाद में सोचेंगे अभी इसके लंड का मज़ा तो ले लू.

ओं थे टॉप लेने के बाद. उसने मुझे उल्टा घूम के राइड करने कहा. मेरी आस देखते हुए उससे लेनी थी मेरी. मैं भी आचे बीवी की तरह उठ के आंगल चेंज करके उसके लंड अंदर लेके, अपनी आस हिलने लगी. उसका लंड मेरी छूट फाड़ रहा था. मुझे भी मज़ा आ रहा था. में 2-3 बार झाड़ गयी.

जंगल में नंगी हॉकीक गावर के लंड के मज़ा ले रही थी. फिर उसने मुझे वैसे ही उठा लिया और हवे में मेरी छूट लेने लगा. मैने भी उसे गले से अपना हाथ डाल दिया. ताकि गिरु ना. और वो मुझे चूमते हुए मेरी लेने लगा.

अचानक वो मुझे लेके वैसे ही चलने लगा. आंड पास ही के पानी वेल पॉंड में मुझे ले गया. ठंडा ठंडा पानी था. वो पानी में उतार गया. और हम सीने तक डूब गये.

वो पानी में पच पच पच करके मेरी लेने लगा. और फिर मुझे उठाके पानी में फेक दिया. और हासणे लगा हाहहाहा. में अचानक फेकने से डूब गयी. में अची स्विम्मर हू तो स्विम करने लगी.

वो बोला. “वा मेरी नंगी रंडी पारी, नंगी टायर और मेरे पास आ”. मैं उसके पास आई तो उसने मेरा सर पकड़ के पानी में डूबा दिया और अपना मोटा लंड मेरे मूह में डाल दिया.

और बहुत देर तक मेरे मूह को पानी में छोड़ रहा था. फिर में उपर आई. साँस रुक सी गयी थी. उसने मुझे उठाया. और उल्टा घुमा दिया और मेरे सर पानी में और पैर उपर हो गये. ऐसे ही उसने अपना लंड मेरे मूह में तूस दिया और मेरी छूट चाटने लगा.

में छटपटाने लगी. उसने मुझे सीधा काइया मैने ब्रेत काइया. वो मेरे नंगे गीले जिस्म को काटने लगा, स्पेशली बूब्स खाने लगा. में भी उससे बूब्स और जिस्म खिलाने आयेज करने लगी. पता नही अपने आप हो रहा था सब.

फिर उसने मुझे घोड़ी बनने कहा, और बोला अब पीछे से आंड चाड गया आंड मुझे डॉगी पोज़िशन में छोड़ने लगा.

अचानक उसने अपना अंगूठा मेरी अशोल में डाल दिया. मैने कहा “ना अब्दुलजी वाहा नही, प्लीज़. उसने कहा “चुप मदारचोड़ तेरी पर्मिशन लूँगा क्या रांड़” आंड थूक लगाके उसने अपना लंड अंदर धकेलेना शुरू किया.

बहुत पाईं आंड एफर्ट के बाद में अंदर ले पाई और अब वो मेरी रौंद बिग आस के मज़े ले रहा था. 1/2 ह्र उसने कभी मेरी छूट आंड कभी मेरी गांद मारी. आंड अचानक. बोला. “घूम का रांड़, पवितरा हो जा. अब्दुल का अमृत पीक.”

मैने भी कुटिया की तारक वेट करने लगी. उसने इतना सारा लोड मुजपे गिरा दिया. पूरा लोड मुजपे था. मेरे मूह पे, फेस पे, बूब्स पे. वो एकद्ूम शिवर करके सब मुजपे डाल रहा था. मैने उसके लंड चूस लिया. उसने बोला “रांड़ कुछ वेस्ट नही होना, सब चाटना”. मैने सर से हा कहा और सब छत लिया.

उसने मुझे बाल से पकड़ के पानी में डूबा दिया. 3-4 बार दुबले नंगी बाहर ले आया. और बोला “आज से तू मेरी रखेल है. जो में बोलूना तू वो करेगी. वो देख सब उस मोबाइल पे रेकॉर्ड हुआ है. ”

आपको लगा होगा यह होने के बाद उसने मुझे जाने दिया होगा. नही अभी जंगल वाली कहानी और लंबी है. उसे अगले पार्ट में बतौँगी. वेट कीजिए.

यह कहानी भी पड़े  गर्लफ्रेंड की सील तोड़ी उसी के घर मे

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!