हवस भारी औरत ने पार्लर में गांद चुदाई

ही फ्रेंड्स मानसी अगेन. कैसे हो सब? याद तो कर ही रहे होंगे? अछा कितने लोगों ने स्टोरी पढ़ कर मूठ मारी बताना ज़रूर. और गर्ल्स ने कितनी बार पानी निकाला बताना ज़रूर. ओक गाइस, लेट’स स्टार्ट थे स्टोरी.

क्लिनिक वाली डॉक्टर को पर्मनेंट जॉब मिल गयी, तो क्लिनिक क्लोज़ हो गया. मैं घर बैठी थी किरायेदार आते, कुछ बातें होती उनकी बहू से, कुछ मस्ती होती. मैं घर बैठे बोर हो रही थी. पेपर में आड आई की न्यू स्पा सलून खुला था.

मैने प्रोग्राम बनाया जाने का. मैने मैड को कहा की जल्दी काम कर ले, क्यूंकी मुझे बाहर जाना था. उसने काम किया, और खाना रेडी किया. मैने तोड़ा खाया, और मैं चल पड़ी. मैने जीन्स टॉप पहनी थी. मुझे लगा आज जेया कर अओ क्यूंकी 2-3 दिन तक मुझे पीरियड आने वाले थे. सो मैने सोचा की आज ही जेया कर अओ, क्यूंकी मैं ये मौका मिस नही करना चाहती थी.

ये हमारे घर के पास 10 मिनिट के रास्ते पर था. मैं वाहा पहुँची तो खाली-खाली था. आज 1 दे था. मैं मसाज का पूछा, और ऑप्षन्स में एरॉटिक मसाज चूज़ किया. फिर मैने उनको पेमेंट की. उन्होने पूछा की गर्ल्स से करवानी या बाय्स से.

मैने कहा: बॉय से, बुत कोई छ्होटी सी आगे का हो.

वाहा था एक, 18-19 यियर्ज़ का होगा. ठीक था, स्लिम और यंग था. मॅनेजर ने उसको बुलाया और रूम में ले-जाने को कहा. हम दोनो रूम में गये. एक छ्होटा सा बेड था सिंगल पर्सन के लेटने को. लाइट भी हल्की सी थी.

उसने कहा: आप कपड़े उतार लो, मैं रेडी हो कर आता हू.

फिर वो चला गया. मैने जीन्स उतारी, और त-शर्ट भी उतार दी. मैं अब ब्रा पनटी में थी. पनटी भी मॉडर्न तोंग थी, जैसे एक हल्की सी रस्सी होती है वैसी. मेरी सिर्फ़ छूट कवर थी, बाकी मेरी गांद में घुसी थी. फिर मैं लेट गयी.

5 मिनिट बाद वो लड़का आया. उसने खाली फ्रेंचिए पहनी थी. उसका लंड और गोलियाँ कवर थी. उसकी गांद सॉफ दिख रही थी. उसने मुझे उल्टा करके लेटने को कहा. फिर मेरी गांद पर छ्होटा सा टवल रख दिया.

मैने कहा: टवल हटा दो, मुझे कोई दिक्कत नही.

उसने टवल हटा दिया, और मेरी ब्रा की हुक खोल दी. मैने ब्रा खींच कर उसको पकड़ा दी. उसने भी साइड पर हुक लगी थी, वही टाँग दी. फिर मेरी बॉडी पर आयिल लगाना स्टार्ट किया, और मसाज करने लगा. मुझे अछा लग रहा था.

फिर स्लोली वो पीठ मसाज करते नीचे आ गया, और मेरी पनटी को नीचे कर दिया. उसने पनटी उतार कर साइड पर रख दी, और मेरे छूतदों पर आयिल लगा कर मसाज करने लगा. वो मेरी गांद के होल पर आयिल लगा कर मालिश करने लगा. मुझे मज़ा आ रहा था.

वो कभी-कभी मेरी गांद में उंगली डाल देता. मैं आ आ अफ कर रही थी. फिर वो आयिल फिंगर पर लगा कर मेरी गांद में डालने लगा. मुझे मज़ा आ रहा था. अब मुझे पता लगा की एरॉटिक मसाज क्या होती है. फिर स्लोली वो और डीप्ली जाने लगा, और मेरी लेग्स फैला दी, और आयिल डाल कर मेरी चूत को रगड़ने लगा.

मैं मस्त हो रही थी अफ आ एयेए हा अफ मज़ा आ रहा था. मैं गरम हो चुकी थी, और मेरी आँखें क्लोज़ थी. मेरी छूट लाल हो गयी थी. वो 10 मिनिट तक छूट रगड़ने के बाद मेरी लेग की मसाज करने लगा.

फिर उसने मुझे सीधा कर दिया. उसके बाद मेरे बूब्स पर आयिल डाल कर उनकी मालिश करने लगा. मेरे बूब्स टाइट हो गये थे, निपल्स उठ गये थे. वो मेरे निपल्स को आयिल लगा कर गोल-गोल घुमा रहा था. मुझसे अब रहा नही जेया रहा था. मैने एक हाथ से उसका लंड पकड़ लिया. लेकिन उसने मेरे हाथ हटा दिया.

मुझे गुस्सा आया और मैने कहा: ऐसा क्यूँ किया?

वो बोला: अभी नही, काफ़ी टाइम है अभी.

मेरी बॉडी की मसाज करते हुए उसने अपना अंडरवेर उतार दिया. मेरे बूब्स टाइट थे, और छूट में मुझे खुजली हो रही थी. मैने उसका लंड पकड़ा जो अछा और टाइट था. तकरीबन 6 इंच का होगा, और मोटा भी था. मैने उसका लंड हिलाया. उसके सूपदे का माज़ पीछे कर दिया. फिर वो मेरे मूह के पास आ गया.

मैने कहा: तुम उपर आ जाओ.

वो मान गया, और मेरे मूह के उपर आ कर बैठ गया. उसने बताया उसने सिर्फ़ एक बार सेक्स किया था, वो भी अपनी मों के साथ कुछ दिन पहले. मैने उसका लंड मूह में लिया. काफ़ी गरम था. 15 मिनिट चूसने पर वो मेरी लेग्स फलिया कर मेरी छूट चाटने लगा.

मेरी छूट वेट थी. मैं उसका सर पकड़ कर छूट में दबा रही थी. 15 मिनिट की सकिंग से मैं झाड़ गयी. फिर उसने टिश्यूस से मेरी छूट सॉफ की, और मैने उसको सेक्स के लिए कहा. उसने माना कर दिया. उसको यहा ये अलोड नही था. सिर्फ़ कौसतोमेर को खुश करना और गरम करना था उसका काम.

मैने कहा: मैं एक्सट्रा पे कर दूँगी.

पहले तो वो नही माना, फिर कहा: आप ऑनलाइन कर दो 2 थाउज़ंड, मैं कॅश नही ले सकता.

और कहा की मैं आवाज़ ना करू. मैने पे किया उसको.

फिर उसने कहा: मेडम आपकी गांद मस्त है, गांद छोड़ू?

मैने कहा: हा ठीक है.

छूट से पानी तो निकल चुका था. उसने बेड तोड़ा नीचे किया, और मेरी लेग्स उपर उठा कर बेंड कर दी. मैं नीचे से उपर उठ चुकी थी. मेरी गांद का होल बाहर आ गया था. फिर उसने लंड मेरी गांद पर रखा, और हल्का सा फोर्स किया. उसका लंड मेरी गांद में हाफ जेया चुका था. मेरी चीख निकल गयी.

उसने मेरे मूह पर हाथ रखा और बोला: धीरे माँ, मेरी जॉब चली जाएगी.

फिर वो धीरे-धीरे अंदर करने लगा. उसका लंड ज़्यादा मोटा तो नही, पर लंबा था. मुझे पेट के अंदर तक उसका लंड फेल्लिंग दे रहा था. फिर स्लोली-स्लोली वो छोड़ने लगा. करीब 20 मिनिट तक छोड़ने के बाद सारा पानी मेरी गांद में छ्चोढ़ दिया. फिर मेरी गांद को टिश्यूस से सॉफ किया.

उसके बाद वो मुझे स्टीम रूम में ले गया, और मेरी पूरी बॉडी को स्टीम दी. उसके बाद मुझे हॉट शवर से बात दिया.

उसने कहा: आपको प्राइवेट मसाज करवानी हो तो नंबर लो. फोन कर लेना. किसी होटेल या घर पर बुला लेना, मैं आ जौंगा.

फिर उसने मेरी बॉडी को टवल से सॉफ किया, मेरी छूट को अची तरह रब किया, और एक किस किया मेरी छूट पर. आ मज़ा आ गया. फिर उसने मेरी छूट पर अपने टीत से काटा. उई मा मॅर गयी. पाईं हुआ, बुत मज़ा आ गया. मेरी पुसी के लिप्स टाइट हो गये. फिर उसने अपना अंडरवेर पहना, और बाहर चला गया.

वो बोला: आप अपने कपड़े पहनो, मैं आता हू.

फिर मैने अपनी ब्रा पनटी पहनी, और फिर जीन्स टॉप पहनी. अब मैं उसकी वेट करने लगी. वो आया, उसने अपना नंबर दिया, किस किया, मेरे बूब्स प्रेस किए, और चला गया.

मैं भी बाहर आ गयी. थोड़ी गांद में पाईं हो रही थी. फिर मैने स्कूटी ली, और घर आ गयी. घर आके थोड़ी आइस ली, और गांद के होल पर रगडी. इससे कुछ पाईं कम हुआ. इतने में रोहित की कॉल आ गयी. वो बोला वो आज घर वापस आ गया था.

मैने कहा: ईव्निंग को मिलो.

वो बोला: नही, 1 मंत हो गया, घर वाले बाहर नही रहने देंगे.

मैने कहा: 5 मिनिट के लिए बोलो फ्रेंड्स से मिलने जेया रहा हू. मुझे कोई इंपॉर्टेंट बात करनी है.

मैने काफ़ी दिन से एक प्लान बनाया था. वो मैं आपको नेक्स्ट स्टोरी में बतौँगी, और रोहित से दीस्स्कूस करूँगी. उमीद है आपको मज़ा आया होगा मेरे चूड़ने पर. मुझे चुदाई में मज़ा आता है, और आपको मुझे फील करने पर. लोवे योउ गाइस मुहााअ. स्टोरी पद कर, मुझे याद करके एक बार मूठ ज़रूर मारना. और गर्ल्स एक बार फिंगरिंग ज़रूर करना.

यह कहानी भी पड़े  दी के लिए स्पेशल सर्प्राइज़


error: Content is protected !!