गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड के बीच में किसी अनजान आदमी के घुसने की कहानी

अब तक आपने पढ़ा कि किसी नैना और मैं एक फिल्म देखने के लिए आए थे, जहां नैना और मैं काफी गरम हो चुके थे। अब आगे पढ़िए कैसे मेरी जिंदगी का सबसे शर्मिंदगी वाला दिन बीता।

इंटरवल के बाद फिल्म शुरू होते ही हमसे 3 सीट छोड़ कर एक सिक्योरिटी वाला गार्ड आके बैठ गया। ये वही गार्ड था जो टिकट चेक कर रहा था और सुबह होने के कारण से शायद दूसरा कोई गार्ड उपलब्ध नहीं था। उसकी उमर करीब 55 साल होगी। मैं सोचने लगा कि आखिरी ये यही वाली सीट पे क्यूं बैठा। तभी मैंने देखा कि शायद हमारे से ऊपर कोने में एक कैमरा लगा था।

ये क्या कर दिया हमने? अपनी हवस मिटाने के लिए बिना कुछ समझे मैंने अपनी जान से ज्यादा प्यार और हॉट गर्लफ्रेंड को किसी के सामने सुबह-सुबह नंगा कर दिया? आखिर ये मैंने क्या कर दिया? मतलब ये हम को सब कुछ करते देख रहा होगा और मजा ले रहा होगा। मैं थोडा शॉक था।

मैंने सोचा ये बूढ़ा जिसके लंड में दम तक नहीं होगा, जिसकी बीवी की चुदाई इससे ठीक से नहीं हो रही होगी, वो भला क्या मजा लेगा मेरी कमसिन जवान गर्लफ्रेंड का। मेरी गर्लफ्रेंड मेरे दाहिने साइड बैठी थी।‌ उससे 3 सीट दाहिने ओर बैठे उस बुड्ढे अंकल से कहा कि वो आगे वाली सीट पे बैठ‌ जाए, तो वो बुड्ढा वहां से हटने के मूड में नहीं था, और वो हम दोनों को घूरे जा रहा था।

नैना गरम थी। उसने मेरा हाथ लिया, और अपनी चूत पे मसलन लगी। मैं थोड़ा विचार में था कि आखिर क्या ये करना सही होगा? वो बुद्ध अगर हमें देख भी लेगा तो क्या होगा? मैंने अपने दिमाग से सब बातों को निकाला, और मेरी गर्लफ्रेंड की गुलाबी नाज़ुक चूत को अपने कड़क हाथों से मसलना शुरू किया। 3-4 मिनट में ही वो हल्की सी सिसकियां लेने लगी।

मुझे भी बहुत अच्छा लग रहा था कि उसकी वो नाज़ुक सी सिसकियां मेरे लंड को और ज़्यादा खड़ा और बड़ा कर रही थी। मैंने अपना लंड निकाला, और अपने ही हाथ से हिलाने लगा। मेरा 5.5 इंच का लंड पहली बार मुझे 6 इंच तक खड़ा नजर आया। उस गार्ड का ध्यान मूवी में था, तो मैं अपनी गर्लफ्रेंड के पैरों के पास बैठ गया और उसकी टांगो के बीच अपना मुंह घुसा के उसकी चूत चूसने लगा।

उसकी आंखें बंद हो गई। क्यूंकि मेरी प्रेमिका भूलभुलैया ले रही थी। वो बहुत ही मदक आवाज कर रही थी।

वो: अम्म‌.. आह.. आकाश ओह.. प्लीज रुकना मत।

ये आवाज हमसे 3 सीट ज्यादा दूर जाए ऐसा नहीं था, तो मुझे टेंशन नहीं थी। मैंने चाटना जारी रखा।

उसी वक्त मेरी गर्लफ्रेंड की सिसकियां बढ़ने लगी। मैं और ज़ोर से चूसने लगा। उस वक़्त एक हाथ मेरे बालों में था, और दूसरा हाथ मेरे हाथ को कसके पकड़े हुए था। मैंने अपने दूसरे हाथ से उसका स्कर्ट पकड़ा हुआ था। मैं बहुत ज्यादा गरम था और मानों कि अपना लंड बस उसकी चूत में डालने के लिए तैयार था। बस मैं चाह रहा था वो मुझे खुद कहे।

फिर मैंने अपना हाथ उसके हाथ से छुड़ाया, और ऊपर उसके मम्मों पर रखने लगा। लेकिन ये क्या? मेरी प्रेमिका का एक हाथ मेरे सर के ऊपर था,‌ और मैंने उसका दूसरा हाथ पकड़ा हुआ था, तो उसके मम्मों पे किसका हाथ लगा? मैंने अपना सर उठाया, और में दंग रह गया।

मैंने देखा कि वो सिक्योरिटी गार्ड मेरी गर्लफ्रेंड के मम्में दबा रहा था, और मेरी गर्लफ्रेंड जो इतनी गरम थी, कि वो उसके मोटे और काले 4 इंच के लंड को देख रही थी, वह जो उसकी पेंट से बाहर था। मतलब ये सिक्योरिटी गार्ड भी ये ही इंतजार में था। नैना ने उसको रोका क्यूं नहीं?

शायद वो बहुत ज्यादा गरम थी। पर अब क्या होगा? उसने मेरी प्रेमिका का हाथ पकड़ा और अपने लंड पर रख दिया, और हिलाने लगा। उस गार्ड का सोया हुआ लंड बी 4 इंच का लग रहा था। मैंने बेवजह उसको बूढ़ा आदमी समझ लिया। मेरी गर्लफ्रेंड मेरा मुंह पकड़ के अपनी चूत पे ले गई, और चुसवाने लगी। मैं सोचने लगा कि अब क्या होगा?

क्या ये सिक्योरिटी गार्ड मेरी कमसिन नई चूत को मुझसे पहले चोद लेगा? क्या नैना इतना ज्यादा गरम थी कि वो किसी का भी लंड ले लेगी। और क्या कोई और ये सब देख के उसकी चूत का इंतजार कर रहा था? मेरा लंड खड़ा था जो मुझे ये सब चीजों के ऊपर नैना की यहीं पर चुदाई करने के लिए कह रहा था।

मैंने चूत को चाटना छोड़ दिया, और में अपना खड़ा लंड लेकर उसकी चुदाई करने के लिए खड़ा हुआ। मैं सीट पर बैठा और नैना को अपने ऊपर बैठाने लगा। मैंने कोशिश की, पर उस सीट पे चुदाई हो पाना मुश्किल था। सोचा अपने लंड उसके मुंह में दे देता हूं। मैंने नैना का सर पकड़ा, लेकिन उसके पहले ही वो बुड्ढा उसका सर पकड़ कर अपने लंड के पास ले गया, और बहुत ही ज़ोर से उसको लंड चुसवाने लगा।

मुझे देख‌ कर वो आंख बंद करने लगा, और मैं सोच में पड़ गया कि अब आगे क्या करना चाहिए। नैना तो आज तक इतना अच्छा लंड नहीं चूसती थी, तो वो क्यूं इतना सपोर्ट कर रही थी। उसका लंड जल्दी से बड़ा हो रहा था और वो क़रीब 7 इंच का हुआ तब तक नैना पूरा लंड गले तक लेकर अच्छे से चूस रही थी।

अंधेरे में उसका हाथ मेरे लंड पे भी आया और वो अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ के हिलाने लगी, जिसे मुझे थोड़ा बहुत अच्छा लगा। मैं सोचने लगा क्या ये ठीक था? मेरा लंड फिर से पूरा खड़ा हो गया।

3-4 मिनट में ही वो बुड्ढा सिक्योरिटी वाला हांफने लगा तो मुझे और खुशी हुई कि शायद वो झड़ जाएगा। वो सच में निकल गया, और उसका माल मेरी गर्लफ्रेंड के चेहरे पर लग गया।

मेरी प्रेमिका जिसके चेहरे पर आज तक मैंने अपना माल नहीं निकाला था, वो आज किसी का माल अपने चेहरे पर चाट रही थी । फिर मैंने ही अपने रूमाल से उसका चेहरा साफ किया।

वो पूरा लंड साफ करके खड़ा हो गया। मैंने देखा मेरी गर्लफ्रेंड की चूत बहुत गीली थी, और वो आंखें बंद करके उठी और ज़ोर से मेरे लंड पर वापस बैठने लगी।

उसे वहां बैठ पाना मुश्किल लग रहा था। हमने 4-5 बार अलग-अलग तरीके से ट्राई किया। तभी वो सिक्योरिटी वाला हमारे पास आया और कहा-

सिक्योरिटी वाला: पीछे एक केबिन है जहां पर हम ठीक से खुल कर चुदाई कर सकते हैं।

“हम” मतलब मैं और मेरी नैना, या वो भी भी बाकी था?

नैना को मैं कुछ कहूं उसके पहले उसने कपड़े ठीक किए और चलने लगी। मैंने उसकी चड्डी की ओर देखा जो 2 सीट आगे थी, और बिना कोई टेंशन वो जाने लगी। मैं उठा, अपनी पेंट पहनी, और उनके पीछे भागा। आगे क्या होने वाला है जानने के लिए बने रहे।

यह कहानी भी पड़े  2 दोस्तों के एक-दूसरे की मा को चोदने की कहानी


error: Content is protected !!