ग़लती से बीवी समझी गयी बेटी, सच में बीवी बनी

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम नयनिका है, और मैं 21 यियर्ज़ की हू. मैं कोलकाता से हू. आज मैं आप लोगों को अपनी ज़िंदगी की एक सॅकी कहानी बताने जेया रही हू.

ये कहानी मेरे और मेरे पापा के बीच में हुई चुदाई की कहानी है. कहानी पर आने से पहले में आपको मेरी फॅमिली के बारे में बताती हू. मेरे पापा का नाम राजवीर है, और मेरी मा का नाम विधया है. और मेरे परिवार में मेरे 2 बड़े भाई भी है. सबसे बड़े भैया का नाम अंकुश और उससे छ्होटे भाई का नाम रुद्रा है.

पापा की एक कंपनी में जॉब लगी थी, इसलिए हम कोलकाता शहर आ गये थे. मेरी मम्मी घर और बच्चे संभालती थी. पापा अपने काम को लेके काफ़ी सीरीयस थे, और वो मेहनत भी उतनी ही करते थे, तो अछा करियर ग्रोत हो रहा है.

पर पापा की लाइफ में एक ही प्राब्लम थी, और वो मेरी मम्मी. मेरी मम्मी गाओं से है और ज़्यादा पढ़ी लिखी नही है. उनकी शादी घर वालो ने करवाई थी काफ़ी साल पहले. मम्मी का अनपढ़ होना पापा के स्टॅंडर्ड को सूट नही करता था. पापा ने काफ़ी कोशिश की मम्मी पढ़ ले, और उनके स्टॅंडर्ड को मॅच करे. पर मम्मी कुछ नही कर पाई.

धीरे-धीरे मम्मी और पापा के बीच में दूरियाँ बढ़ने लगी. पापा ने दोनो भैया को पढ़ने के लिए बाहर भेज दिया, और हम घर में टीन लोग रह गये. मेरे और पापा के बीच ये कहानी तब शुरू हुई जब मैं 19 साल की थी. और उस टाइम मेरे पापा की उमर 44 यियर्ज़ थी.

पापा की कंपनी में फॅमिली गेट-टुगेदर फंक्षन था. उसमे सब को अपने परिवार के साथ पार्टी में जाना था. उस दिन पार्टी में पापा मुझे अपने साथ ले गये. मम्मी को कभी पापा अपने साथ लेके नही जाते थे, क्यूंकी मम्मी कभी शहर के माहौल में ढाल नही पाई.

मैने और पापा ने जैसे ही एंट्री ली, सब हमे देख रहे थे. पापा की ये न्यू कंपनी थी, और फॅमिली के साथ पहली बार गये थे. आते ही उनके बॉस ने पापा को बोला-

बॉस: राजवीर योउ हॅव आ वेरी ब्यूटिफुल वाइफ. वेलकम भाभी जी.

राजवीर: सिर, पर ये मेरी…

बॉस: ब्यूटिफुल वाइफ है, इसलिए मिलवा नही रहे थे एक साल से.

उस दिन मैने लोंग पार्टी गाउन पहना था, और मेरा फिगर तोड़ा हेल्ती था. मेरा फिगर साइज़ था 34″ के बूब्स थे, बुत मैने उस दिन पॅडेड ब्रा पहनी थी, तो 36″ साइज़ बूब्स लग रहे थे. 30″ की कमर और 34″ साइज़ की मेरे हिप्स थे. 34-30-34 था फिगर.

पापा की आगे 42 थी, बुत जिम करते थे, तो बॉडी किसी हीरो से कम नही थी. इसलिए उस दिन हम एक कपल ही लग रहे थे. उस टाइम मैं अपनी पहचान बताने जेया रही थी की पापा ने मेरा हाथ पकड़ लिया और मुझे बोलने से रोक लिया. फिर मुझे सब के सामने वाइफ बना के ही इंट्रोड्यूस करवाया. मीट मी वाइफ नयनिका.

सबसे मिलने के बाद पापा मुझे साइड में ले गये, और मुझसे कहा-

पापा: प्लीज़ डियर, आज मेरी वाइफ बन के रहो पार्टी में.

मे: पापा मैं कैसे?

पापा: बाकी मैं पार्टी के बाद समझौँगा. पर मेरी रिक्वेस्ट है अभी मेरी वाइफ बन के रहो. प्लीज़ डियर.

पापा मेरी हर विश पूरी करते थे, और आज सच बोल कर मुझे पापा को शर्मिंदा नही करना था. मैने पापा की बात मान ली, और उनकी वाइफ बन के रही. हमने पार्टी में डॅन्स किया, गेम्स खेली, और उसमे हमे बेस्ट कपल का अवॉर्ड भी मिला. गिफ्ट में हमे एक कपल वॉच मिली.

पार्टी से घर जाने के लिए हम कार में आके बैठे. मैं पापा को कुछ कहती उससे पहले पापा ने मुझे कहा-

पापा: आज मैं पहली बार बहुत खुश हू, और मैने पार्टी इतनी एंजाय की. उसका रीज़न तुम हो नयनिका. तुम्हारी मम्मी को तो तुम जानती हो. ऐसी पार्टी में उसे नही ले जेया सकता मैं. आज तक ये सब पार्टीस मैने अकेले अटेंड की. सब अपनी वाइफ के साथ एंजाय करते थे, और मैं साइड में बैठ के ड्रिंक करता था. आज तुम्हारे साथ होते मैने आक्टिविटी में पार्टिसिपेट किया, और बहुत एंजाय किया. शादी के बाद आज पहली बार मैं बहुत खुश हू.

मैने पापा को सच में पहली बार इतना खुश देखा था. मैने उनको हग किया, और कहा-

मे: जैसे आप बोलो. मैं हमेशा आपके साथ हू.

कुछ दिन बाद पापा ने कहा की उनके ऑफीस का एक ग्रूप पिक्निक प्लान कर रहा था. तो मुझे साथ ले जाना चाहते थे. सब अपनी वाइफ के साथ आ रहे थे. तो मुझे उनकी वाइफ बन के चलना था. मैने पापा की खुशी के लिए हा बोल दी. पापा बहुत खुश हो गये, और मुझसे कहा की मैं पापा नही उनको राज कह के बूलौऊ. क्यूंकी पापा के ऑफीस ग्रूप के लिए मैं उनकी वाइफ थी.

पापा के साथ मैं उनकी वाइफ बन कर पिक्निक पर आ गयी. पिक्निक के लिए हम एक रिज़ॉर्ट में आए थे. हमारे साथ कुछ 7-8 कपल थे. सब की नज़र में हमारी शादी को सिर्फ़ 2 मंत्स हुए थे, इसलिए हम हॉट रोमॅंटिक कपल थे. रिज़ॉर्ट में जाते ही हमे अपने रूम की के मिल गयी, और हम रूम में आ गये.

पापा ने मुझे कहा की नाइट में पूल साइट पार्टी रखी थी. मैने अपने लिए एक वाइट वन पीस सेलेक्ट की और पहन ली. ड्रेस मेरी ब्रेस्ट से लेके मेरे हिप्स तक ही आ रही थी. साथ मैने हल्का सा मेकप किया आंड रेड लिपस्टिक लगाई थी, जो मुझे बहुत ज़्यादा बोल्ड लुक दे रहा था.

रेडी होके मैं और राज (पापा) पूल साइट चले गये. ऑलरेडी सब हमारा वेट कर रहे थे. और कुछ लोगो का तो मुझे देख कर मूह खुला का खुला रह गया. हमने बहुत सारी बातें की, डिन्नर खाया, और पूल साइट पर बैठे थे. सब मिल कर ट्रूथ और डियर का ग़मे खेलने लगे. ट्रूथ में एक ऑनेस्ट आन्सर देना था, और डरे में एक चॅलेंज पूरा करना था.

हम सब खेलने लगे और काफ़ी मज़ा भी आ रहा था. इसमे राज की बारी आई और राज ने डरे लिया. राज को सब के सामने मुझे प्रपोज़ करना था और लीप किस करनी थी. फिर राज ने एक रेड रोज़ लिया, और अपनी नीस पर बैठ कर मुझसे पूछा, “विल योउ बे मी लोवे फॉर लाइफ लोंग?” मैने रोज़ लेते हुए हा बोल दिया और राज ने मुझे लीप किस किया.

राज ने जैसे ही मुझे लीप किस किया, मैं राज की बाहों में धीरे-धीरे पिघल रही थी. लोंग किस के बाद राज ने मेरे लिप्स को छ्चोढा. मैं बहुत ज़्यादा शर्मा गयी थी. मैं राज की आँखों में देख भी नही सकती थी. आज लीप किस के बाद हमारे बीच में बहुत कुछ बदल गया था.

पार्टी ख़तम करके हम रूम में आ गये. मैने शॉर्ट्स आंड त-शर्ट पहन ली, और मैं बार-बार अपनी पहली किस के बारे में सोच रही थी. वो एहसास, वो फीलिंग बहुत ही अलग थी मेरे लिए. राज ने मुझे ख़यालों से जगाया और कहा-

पापा: नयनिका मैने तुम्हारी मर्ज़ी जाने बिना ही सीधा तुम्हे किस कर लिया. पर सच काहु तो मैं बहुत अछा फील कर रहा हू. क्या मैं फिरसे तुम्हे किस कर सकता हू?

मेरा दिमाग़ कुछ और सोच रहा था, पर जाने-अंजाने मेरे दिल ने हा कर दी और वो हा मेरी आँखों में दिख रही थी. राज ने मुझे कमर से पकड़ा, और अपने नज़दीक लाके अपने होंठ मेरे होंठो से मिला दिए. फिर काफ़ी देर तक हमने किस की, और ये किस मेरी लाइफ बेस्ट किस थी.

मैं किस करने के बाद बहुत शर्मा रही थी. पर मॅन में कोई गिल्ट नही था, और हम दोनो ये भूल चुके थे हमारा रिश्ता एक बाप बेटी का था. राज ने मुझसे कहा-

पापा: क्या मैं तुम्हारा फिगर जान सकता हू, और मुझे तुम्हारा फिगर फील भी करना है.

34-30-34 मेरा फिगर है. क्यूंकी मुझे बहुत शरम आ रही थी, राज मुझे अपने साथ बहुत फ्री राहु ऐसा बनाना चाहते थे.

राज ने कहा: इसका क्या मतलब समझू? खुल के बोलो 34-30-34 क्या है?

मे: 34″ साइज़ मेरी ब्रेस्ट का है. 30″ साइज़ की मेरी कमर है, और 34″ साइज़ मेरी हिप्स का है.

राज ने कहा: मैं ये सब देखना चाहता हू. मुझे ये हक़ चाहिए और हमेशा के लिए चाहिए.

फिर राज मेरे करीब आए, और बिना कुछ कहे मेरी त-शर्ट निकाल दी. हा उनको मेरी आँखों में दिख गयी थी. रात के टाइम मैं ब्रा नही पहनती थी. उनको सीधे ही मेरी 34″ साइज़ की मस्त चुचिया दिख गयी, और राज ने मेरे दोनो चुचियों पर किस कर लिया. मैं राज से डोर जेया रही थी, तो उन्होने मुझे बाहों में पकड़ लिया, और कहा-

पापा: ये सब मुझे चाहिए.

फिर मुझसे बिना पूछे ही मेरी एक चुचि मूह में लेके चूसने लगे, और मेरे मूह से भी आहह निकल गयी.

राज ने फिर मुझे बेड पर लिटा दिया, और मेरे उपर आ गये. फिर दोनो हाथो से मेरे बूब्स मसालने लगे, उसे बारी-बारी चूमने लगे. मैं भी ये पल बहुत एंजाय कर रही थी. जैसे मैं इस एहसास में खो गयी थी.

थोड़ी देर बाद राज मेरे पास लेट गये और कहा: क्या मैं तुम्हारी सबसे प्यारी और कीमती चीज़ को देख सकता हू?

मैं राज की आँखों में देख रही थी, और मेरे लिए उनकी तड़प और प्यार दोनो ही मुझे दिख रहे थे. पर मैं कुछ जवाब नही दे रही थी. राज ने मुझे फोर्हेड पर किस किया और कहा-

पापा: सो जाओ. और फिकर मत करो. जब तुम्हारे दिल से हा होगी, तब ही मैं तुम्हे टच करूँगा.

राज फिर बेड से उठ कर जेया रहे थे, और मैने उनका हाथ पकड़ के रोक लिया. वो बेड के पास खड़े थे. फिर मैं बेड से उठी, और मेरा शॉर्ट निकाल कर फेंक दिया.

मे: राज ई आम ऑल युवर्ज़!

दोस्तों मेरी कहानी कैसी लगी मुझे मैल (नयनिका.अग्रवाल2005@गमाल.कॉम) में ज़रूर बताएगा. मेरे और राज के रिश्ते शुरुआत है. उस रात हमारे बीच क्या हुआ जानने के लिए आप दूसरे पार्ट का इंतेज़ार करे.

यह कहानी भी पड़े  बाय्फ्रेंड की जगह पर बाप से चुदी लड़की की स्टोरी


error: Content is protected !!