फेसबुक फ्रेंड की दोस्ती और चुदाई

Facebook friend ki dosti or chudai sex kahani आज से 1 साल पहले दिसंबर 2013 में फेसबुक में एक मेडम ”दीपिका सिंह” से मुलाकात हुई पहले तो हम एक साल तक फेसबुक में अच्छे फ्रेंड बने रहे , देश दुनिया राजनीती समाज नीति पर खूब चेटिंग करते करते एक दूसरे के बारे में जानने लगे दीपिका सिंह को दो लड़कियाँ है और ओ सरकारी नौकरी में है किस बिभाग में है ये नहीं बताया । दीपिका ने कभी अपने हसबैंड के बारे में कोई बात नहीं किया न ही उसकी फेसबुक प्रोफाइल में रिलेसन सिप की कोई जानकारी नहीं है चेटिंग करते करते दोनों में अच्छी खासी दोस्ती हो गई । एक दिन दीपिका ने कोई दुसरी प्रोफाइल पिक लगाया जिसमे ओ गागल (कलर फूल चस्मा) लगाए हुए थी उसमे ओ बहुत खूबसूरत लग रही थी तो मैंने उनकी तारीफ कर दिया तो जबाब में उन्होंने लिखा ”किस मी” बस उस दिन से बातो बातो में घनिष्ठाता और बढ़ती गई

। मैंने एक दिना दीपिका से उनका मोबाइल नंबर माँगा तो आराम से अपना नंबर दे दिया उस दिन से हम मोबाइल पर बातें करने लगे और खूब देर देर तक बातें करते, बात चीत ज्यादातर सुबह 9 से 10 के बीच में और फिर रात के 10 बजे के बाद । एक दूसरे से खूब घूम मिल गए तो मैंने एक दिन पूछ लिया की रात में बात करती हो तो आपके हस्बेंड को नहीं पता चलता क्या तो बोली ” ओ साथ में नहीं रहते ” तब मैंने पूछा ”ओ क्या करते है,कहाँ रहते हैं ” तो नहीं बताया फिर मैंने जोर देकर पूछा भी नहीं । मैंने एक दिन पूछा की प्रोफाइल पिक आपकी ही है तो बोली ”नहीं” तब मैंने कहा की ”आप कैसी हैं ” तो बोली ”बहुत बदसूरत” और हँसने लगी बातचीत का शिलशिला मधुरता में बढ़ने लगा एक दिन मैने कहा ”ऑनलाइन वीडिओ चेटिंग करोगी” तो बोली ”नहीं करुँगी” तब मैंने कहा की ”अपनी ओरिजनल फोटो
बताओ” तो बोली ” नहीं बताउंगी ” तो मैं बनावटी गुस्सा दिखाते हुए कहा की ”ठीक है आज से बात नहीं करुगा” और इतना कह कर फोन काट दिया पर ओ भी जिद्दी निकली और दोनों एक दूसरे से 15 दिन तक बातें नहीं किये,15 दिन बाद एक दिन दीपिका का फोन आया तो मैं फोन काट दिया,जब भी फोन करती तो मैं बात नहीं करता जबकि मैं खुद भी उसके लिए तड़पता था पर मैं अपने आपको रोक रखा दीपिका को तड़पाने के लिए । एक दिन नए नंबर से सुबह सुबह दीपिका ने फोन किया और तुरंत बोली ”आपको मेरी कसम फोन नहीं काटना” तब मैं आवाज पहचान गया और बोला ” हां कहिये क्या सेवा करू आपकी ”

यह कहानी भी पड़े  मेरा पहला सेक्स कल्लू के साथ

तो बोली ”आप तो एक काम करो मुझे थोड़ा सा जहर दे दो” और इतना कह कर फोन पर ही जोर जोर से रोने लगी

उस समय सुबह के 9 बज रहे थे मैं मेरे कालेज में आ गया था मैं ऑफिस से बाहर निकलकर ” दीपा प्लीज़-दीपा प्लीज़-दीपा प्लीज़ मत रोइए मेरी बात तो सुनिए” कहकर मैं उन्हें समझाने लगा ओ रोती जाती और बातें करती जाती करीब 5 मिनट तक रोने के बाद ओ चुप हुई और बातें करने लगी मैंने प्रेम से समझाया तो कुछ देर में हँसते हुए कहने लगी ” मैं आपके लिए इन 15 दिनों में कितना तड़पी हु मैं ही जानती हु” तब मैंने कहा ”तड़पा तो मैं भी हु आपके लिए” मेरी बात पूरी होने के पहले ही दीपिका बोल पडी ” रहने दीजिये बहाने मत बनाइये” इस तरह से 35 मिनट की बातचीत से गिले – शिकवे दूर हो गए और दीपिका खुस हो गई तब मैंने उनसे कहा ” अब तो अपनी ओरिजनल पिक बता दो” तो बोली ” आप मिस यूज तो नहीं करेंगे” तब मैंने कहा ” ओके विश्वास नहीं हो तो मत बताओ | तो बोली ”रुकिए भेजती हु ” और अपनी दो फोटो भेज दिया पर फोटो में दीपिका का पूरा पूरा चेहरा दिखाई नहीं दे रहा था । पर जितना दिख रहा था उससे लग रहा था की दीपिका बहुत खूबसूरत है । कुछ देर में मैंने फोन कर उनकी खूबसूरती की तारीफ़ करने लगा तो बोली ” चलिए हटिये,बेकूफ नहीं बनाइये,

आपसे से कम खूबसूरत हु ” तो मैंने कहा की ”मेरी अभी की पिक देख लोगी तो बातें करना बंद कर दोगी” तो हसने लगी और बोली ”आप जैसे भी हैं बहुत अच्छे है ” कुछ ही मिनट के बाद फोन काट दिया बोली ऑफिस जाना है ” और बात बंद हो गई । फोटो में दीपिका की खूबसूरती को देखकर मैं उनसे वीडिओ चैट पागल होने लगा और साम को 6 बजे फोन किया और वीडिओ चेट के लिए बोला तो ओ बोली ”अभी तो बच्चे डिस्टर्ब करेगें रात में बात करुँगी जब बच्चे सो जायेगें” तो मैंने उन्हें अपनी परेसानी बताया की रात में मैं बात नहीं कर सकता मेरी श्रीमती जी रहती है घर में तो ओ बोली ”कल सुबह कर लूंगी बात जब मेरी दोनों लडकियां स्कूल चली जाएगी” तब मैंने कहा ”टीक है सुबह का इन्तजार करता हु” और मैं सुबह के इन्तजार में रात भर नहीं ठीक से सो नहीं पाया । पर सुबह काम में इतना ब्यस्त हो गया तो बात करने की याद ही नहीं रही और 9 बजकर 30 मिनट हो गए तो दीपिका की मिस काल आई तो मुझे याद आया और मैं ऑनलाइन हुआ और दीपिका को फोन किया तो दीपिका भी ऑनलाइन हुई और मेरे लैपटॉप की स्क्रीन पर जो चेहरा सामने दिखा मैं उसे देखकर मैं आस्चर्यचकित रह गया इतनी खूबसूरत की उनकी खूबसूरती सब्दो से परे है । हलके हलके भूरे भूरे बाल,लाल-लाल गाल,सुर्ख गुलाबी लाल लाल होठ (बिना लिपस्टिक लगाए) समंदर सी गहराई लिए हुए नीली नीली आँखें ,सुडौल नाक, मैं अपलक दीपिका को देखता ही रह गया इतने में दीपिका बोली ” हेल्लो कुछ बात भी करेंगे ता यू ही देखते रहेंगे” तब मैं चौक गया और बोला ” OMG कितनी खूबसूरत हो आप” तो हँसने लगी और बोली ”झूठी तारीफ नहीं करिये” तो तब मैंने कहा ”आप वाकई में जन्नत की हुर लगती है” तो ओ और जोर से खिलखिला पड़ी इस तरह करीब 20 मिनट तक दोनों में प्यार भरी बातें होती रही , फिर दीपिका का ऑफिस का समय हो गया तो ओ बोली ”अलविदा” तो मैंने उन्हें टोंका ” अलविदा नहीं कहते ” तो बोली टीक है ” बाय बाय” मैं भी भारी मन से बाय बाय किया और ओ ऑफ़लाइन हो गई । दीपिका बाते करते समय एक कट बाह की गाउन पहन रखी थी जिसमे उनकी गोरी गोरी सुन्दर सेक्सी चिकनी चिकनी बाहें दिखाई दी । उनके होठों के बाए तरफ ऊपर की तरफ एक काला तिल उनकी सुंदरता में चार चाँद लगा रहा था दीपिका से वीडिओ चेटिंग के बाद मैं उनसे मिलने के लिए तड़प उठा पर मैं उतावला पन नहीं दिखाना चाहता था । मैं ये देखना चाहता थी की दीपिका को मिलने की तमन्ना है की नहीं । अब तो रोज रोज का क्रम बन गया 15 -20 मिनट तक दोनों वीडिओ चैट करते अपने अपने लैपटॉप की स्क्रीन पर एक दूसरे को चूमते एक दिन मैंने दीपिका से कहा ” मैं आपसे मिलना चाहता हु” तो चहकते हुए बोली ” आ जाइए जब मिलने का मन करे” तो मैंने कहा ” आप बहुत दूर रहती है” (दीपिका की फेसबुक ID में कोलकत्ता का पता लिखा हुआ था) तो हँसते हुए बोली ”’मैं आपके शहर के पास ही रहती हु , फेसबुक में गलत लिखा हुआ है ” तब मैंने पूछा ”गलत पता क्यों लिखा है” तो बोली ” मजनू लोग परेसान नहीं करें इस लिए लिखा हुआ है”

यह कहानी भी पड़े  सहेली के पापा से जोरदार चुदाई - 2

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!