दोस्त ने अपनी सेक्सी बहन चुदवाइ

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राज है और में गुड़गांवा से हूँ। दोस्तों आज में अपनी लाईफ की पहली सच्ची कहानी लिख रहा हूँ और यह कहानी मेरे दोस्त की बहन की चुदाई के बारे में है, मेरे दोस्त का नाम चेतन है और हम दोनों एक साथ बचपन से पढ़े है चेतन की एक छोटी बहन है और उसका नाम डॉली है। वो 20 साल की है और 12th क्लास में है। दोस्तों वो दिखने में बहुत ही मस्त है।

उसका रंग एकदम गोरा है और उसके फिगर का साईज 34-28-36 है। मेरी कोई बहन नहीं है इसलिए में उसकी बहन को अपनी बहन की तरह मानता हूँ। में और चेतन बचपन के बहुत अच्छे दोस्त है और मेरा हमेशा उसके घर पर आना जाना लगा रहता है और वो भी अक्सर मेरे घर पर आता जाता रहता है।

दोस्तों पहले मेरे मन में डॉली के लिए कोई ग़लत बात नहीं थी क्योंकि वो मेरे एक अच्छे दोस्त की छोटी बहन है इसलिए में भी उसे अपनी बहन की तरह ही मानता हूँ, लेकिन जब डॉली 18 साल की हुई और उस पर जवानी चड़ने लगी तो अब वो मस्त माल बन चुकी थी? उसके बूब्स का उभार और उसकी मोटी गांड को देखकर किसी का भी मन उसको चोदने के लिए तैयार हो जाए और अब मेरी डॉली के लिए थोड़ी सी भावनाए बदल गयी थी और अब में डॉली को एक सेक्सी लड़की के रूप में देखने लगा था।

तो एक दिन में अपने दोस्त से मिलने उसके घर पर गया हुआ था वो अपने रूम में बैठकर कम्प्यूटर पर फिल्म देख रहा था, तो में भी उसके पास बैठकर फिल्म देखने लगा। तभी चेतन ने डॉली को पानी लाने के लिए आवाज़ लगाई और जब डॉली रूम में आई तो में उसे खा जाने वाली नजर से देखता रहा क्योंकि वो उस समय क्या मस्त माल लग रही थी?

यह कहानी भी पड़े  मेरी जवान बहन मेरे लंड से चुदाई

उसने काले कलर का टॉप और लोवर पहना हुआ था और फिर मैंने ध्यान दिया कि शायद डॉली ने टॉप के अंदर ब्रा नहीं पहनी थी इसलिए मुझे उसके मोटे मोटे बूब्स का आकार और उभरी हुई निप्पल बाहर से साफ साफ दिखाई दे रही थी और अब में तो उसके बूब्स को ही घूर रहा था और फिर जब डॉली मुझे गिलास में पानी देने के लिए थोड़ा झुकी तो अंदर ब्रा ना होने की वजह से मुझे उसके टॉप के अंदर उसके बड़े बड़े बूब्स दिखाई देने लगे और शायद उसने मुझे ऐसा करते हुए देख लिया था।

उसने मुझे हल्की सी स्माइल दी और फिर वो वहां से चली गई, लेकिन जब डॉली वापस जा रही थी तो उसकी मोटी मोटी मटकती हुई गांड को देखकर मेरी तो हालत ही बहुत खराब हो गयी।

फिर मैंने अपने घर पर जाकर डॉली के नाम की मुठ मारी और अब तो में अक्सर डॉली को देखने के लिए अपने दोस्त के घर किसी ना किसी बहाने से जाने लगा। में और मेरा दोस्त आपस में एक दूसरे से सब तरह की बातें करते थे। हम लोग एक दूसरे से कुछ भी नहीं छुपाते थे। एक दिन मैंने उससे कहा कि यार क्यों ना अब हम भी किसी के साथ चुदाई का मज़ा ले?

यार तू तो कई बार बहुत सी रंडियों को चोद चुका है, मेरे लिए भी कोई ऐसा जुगाड़ करवा दे मेरा भी बहुत मन करता है, प्लीज कुछ कर यार चेतन और अब में कब तक ऐसे ही अपना लंड हिलाता रहूँगा? तो चेतन बोला कि राज तू एक अच्छा लड़का है, तू क्यों इन रंडियों के चक्कर में पड़ता है। यह सब तेरे लिए नहीं है तू तो मेरी एक बात मान और कोई अच्छी सी लड़की को पटा ले और फिर उसे चोद ले। फिर मैंने कहा कि मेरे साथ यही तो समस्या है कि मुझसे कोई लड़की नहीं पटती तो में किसे चोदूंगा?

यह कहानी भी पड़े  पति,पत्नी,सास ,ससुर की रासलीला

तभी चेतन मुझसे बोला कि यार राज तू दिखने में इतना अच्छा है, तू अपने आप देख कोई ना कोई तो ज़रूर फंस जाएगी और में भी यही चाहता हूँ कि मेरे दोस्त को कोई अच्छी सी चूत मिल जाए और उसका लंड शांत हो जाए और मुझसे यह बात बोलकर वो हंसने लगा। फिर मैंने कहा कि क्या यार चेतन तू तो मेरा मज़ाक बना रहा है? तो वो बोला कि नहीं राज अच्छा तू एक काम कर, तू किसी लड़की को पटा ले और उसे चोद ले, तू कोशिश कर, मुझे उम्मीद है कि तू ज़रूर कोई लड़की पटा सकता है,

मुझे तुझ पर पक्का यकीन है। तो मैंने कहा कि यार मेरे पास एक प्लान है, लेकिन उसे सुनकर अगर तू बुरा ना माने तो में तुझे वो बता सकता हूँ? तो उसने कहा कि हाँ बोल ना क्या प्लान है? मैंने थोड़ी हिम्मत करते हूँ कहा कि क्यों ना तुम्हारी बहन को पटाया जाए? तो वो मेरे मुहं से यह बात सुनकर एकदम चुप हो गया जैसे उसे कोई करंट का झटका लग गया हो और फिर मैंने कहा कि चेतन तू बिल्कुल भी बुरा ना मान मुझे डॉली बहुत अच्छी लगती है और अब में उसे चोदना चाहता हूँ और यार अगर मेरी कोई बहन होती और तू मुझसे बोलता तो में अपनी दोस्ती के लिए उसे तुझसे जरुर चुदवा देता।

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!