कहानी जिसमे दोस्त ने दोस्त की बहन को चोदा

मैं ज़्यादा देर ना करते हुए आप सब को पहले कोमल और उसके घर से मेरे तालुक़ात के बारे में बता देता हू.

कोमल मेरे दोस्त संजू की छ्होटी बेहन है, जिसकी उमर 22 साल की है, और ये मुझसे 4 साल छ्होटी है.

संजू के फादर नही है. उसके घर में एक मा है, और कोमल. संजू को एक बड़ी बेहन भी है जिसकी शादी हो चुकी है, और वो ससुराल में रहती है.

संजू के घर में मुझे बहुत इज़्ज़त की नज़र से देखा जाता है, हालाकी संजू मुझसे बड़ा है. पर फिर उसके घर में मेरे बगैर कोई काम नही होता. कोमल मुझे भैया बोलती है और मुझसे ज़्यादा घुल-मिल कर भी रहती है.

बात 2019 के सेप्टेंबर महीने के आखरी हफ्ते की है, जिसके बाद कोलकाता में दुर्गा पूजा मनाया जाता है. उस वक़्त कोमल के लिए आसनसोल से रिश्ता आया था, और 27 सेप्टेंबर को कोमल के घर वालो को लड़के वालो के घर जाना था, लड़के को देखने के लिए.

जाना तो मुझे भी था इन लोगो के साथ, पर मैं एक बिज़्नेसमॅन हू, और पूजा के वक़्त मेरे कारखाने में ऑर्डर का माल बनता है. इसलिए मैं कही जाने का सोच भी नही सकता. तो इस वजह से मैं नही जेया सका.

एक हफ्ते बाद मैं लड़के से संजू के साथ मिलने और देखने का बोल कर मैने इन लोगों को भेज दिया.

मैने इनको बोला: आप लोग जेया कर लड़का को आचे से देख लो, और पूजा के तीसरे दिन मैं और संजू आसनसोल जेया कर मिल लेंगे.

27 सेप्टेंबर फ्राइडे का दिन था, और मेरे दोस्त के घर वालो को शाम की गाड़ी से हॉवरह से आसनसोल के लिए निकलना था. तो उसी हिसाब से सब 3 बजे घर से निकल गये.

उसके घर में बस कोमल अकेली रह गयी जिसका ध्यान रखने को मुझे बोल दिया गया था. क्यूंकी वो लोग दूसरे दिन शाम में आने वाले थे वापस.

तब तक कोमल की ज़िम्मेदारी मेरी थी. वैसे कोमल खुद समझदार लड़की थी, और वो अपने घर में खुद को आचे से रख सकती थी. पर फिर भी उन लोगों ने मुझे उसकी देख-रेख करने को कहा.

उन लोगों को आसनसोल के लिए गाड़ी पर बिता कर मैं अपने कारखाने आ गया, और वाहा मार्केट में माल भिजवाने के लिए पॅकिंग करने लगा. रात के 8 बजे संजू की कॉल आई की वो लोग आसनसोल स्टेशन पर उतार गये थे, और कोमल का मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा था.

संजू: तुम फ़ुर्सत मिलते ही मेरे घर जेया कर कोमल से बात करवाना.

मैने वैसा ही किया. 30 मिनिट के बाद अपना काम ख़तम करके मैं कोमल के घर पहुँचा, और उसकी बात उसके घर वालो से करवाई. उसके बाद मैं 10 मिनिट बैठ कर घर के लिए निकालने लगा.

उस वक़्त घड़ी में 10 बाज चुके थे. तब कोमल ने कहा-

कोमल: आप खाना खा कर जाइएगा, और बहाना बिल्कुल भी नही चलेगा.

और मैं भी मान गया. फिर हम दोनो ने साथ खाना खाया, और मैं खाने के बाद घर निकालने लगा. जैसे ही मैं सीडी पर उतरने लगा तो कोमल ने मुझे आवाज़ दी, और मैं वापस कोमल के पास गया.

फिर उसने मुझे बोला: मुझे कुछ बात करनी है आप से.

मैने कोमल से पूछा: बोलो क्या बात है?

तो कोमल ने मुझे बोला: अगर आपको कोई परेशानी नही है, तो आप मेरे घर रुक जाए. क्यूंकी अकेले में मुझे दर्र लग रहा है.

मैने हा कर दी, पर मैने कहा: तुम्हारा रूम एक ही है, और हम दोनो कैसे एक रूम में रह पाएँगे? कही कोई ग़लत ना समझ जाए.

कोमल ने कहा: मैं अड्जस्ट कर लूँगी. रात भर की बात है, हम लोग बातें करते-करते भी पार कर लेंगे. और नींद आ गयी तो आप पलंग पर सो जाना मैं नीचे सो जौंगी. और कोई ग़लत नही समझेगा. क्यूंकी मेरे घर में आप हो ये किसको पता है.

मैं फिर रुक गया वही, और कोमल से बातें करने लगा. बात-बात में मैने उससे ये पूछा के जहा उसका रिश्ता लग रहा था, अगर लग गया पूरी तरह से, तो उसको कोई दिक्कत तो नही होगी.

तो वो बोली: आप जब तक नही देखोगे, तब तक तो मैं हा नही करने वाली.

मैं ओक बोलते हुए दूसरी बात करने लगा, और कुछ देर में मैं पलंग में लेटने चला गया. वो भी नीचे अपना बिस्तर लगा कर लेती हुई थी. मैं उसकी तरफ जब देखता, तो वो जागी हुई होती है. तब मैने उसको सोने के लिए बोला, की जल्दी सो जाओ.

तब कोमल ने कहा: मुझे एक बुरी आदत है.

मैने पूच: क्या?

तो उसने बताया, की वो रोज़ रात में अपने भाई के फोन पर सॉंग सुनती थी. उसके बाद ही सोती थी. मैं हासणे लगा, और उसको मेरा फोन आयेज करके बोला-

मैं: तुम मेरे फोन में सॉंग सुन लो, बहुत सॉंग है. वीडियो भी है, जो तुम्हे अची लगे.

वो मेरा मोबाइल लेकर सॉंग सुनने लगी, और मुझे नींद ज़ोर से आने लगी, और मैं 12:30 तक सो गया. 1 घंटे के बाद जब मेरी आँख खुली, तो मैं अपना फोन देख कर घबराने लगा.

क्यूंकी मेरे फोन में मेरा एक वीडियो था, जो रुखसार भाभी के साथ किस करते हुए था. और वो वीडियो कोमल देख रही थी.

मैने झटके से नीचे उतार कर कोमल के हाथ से मोबाइल खींच कर पीछे हॅट गया, और कोमल भी चौंक कर मुझसे डोर हो गयी. कुछ सेकेंड्स बाद उसने कहा-

कोमल: सॉरी, वो सॉंग सुन रही थी, और उसी बीच ये वीडियो आ गया. इसलिए मैने आपको देखा तो प्ले कर दिया. पर मुझे नही पता था की इसमे ऐसा कुछ होगा.

तब उसने मुझसे पौच्ा: ये आपकी गर्लफ्रेंड तो नही है? क्यूंकी इसकी नाक में बेसार है. इसका मतलब ये शादी-शुदा है, और आप एक शादी-शुदा के साथ ये सब क्यूँ कर रहे थे?

मैने उसको कुछ नही बोला. पर वो ज़िद करने लगी.

वो बोली: मैं सच जानना चाहती हू, क्यूंकी मुझे आप पर बहुत भरोसा था, की आप ग़लत काम नही करोगे. और आप क्यूँ किसी शादी-शुदा के साथ ऐसा किए?

तब मैने सारी सकचाई बताई: वो मेरी भाभी है, और मेरी गर्लफ्रेंड ना होने की वजह से वो रीलेशन में आ गयी है मेरे साथ.

मैं सर झुका कर शरम के मारे पलंग पर बैठा था, की कोमल मेरी सकचाई को जान गयी और मेरी इज़्ज़त ख़तम हो गयी उसके नज़रो में. पर होना कुछ और ही था.

उसने मुझे कहा: जो आप भाभी के साथ कर रहे थे, क्या वो मेरे साथ कर सकते हो?

मैं कोमल को हैरान हो कर देखने लगा और बोला: नही, तुम मेरे दोस्त की बेहन हो. और मैने कभी ऐसा सोचा नही.

तब कोमल ने बोला: मैं सिर्फ़ किस के लिए आपको बोल रही हू क्यूंकी मुझे आज तक इसका कोई एक्सपीरियेन्स नही है की कैसा फील होता है. जब मैने आपकी वीडियो में देखा, तो आपकी भाभी आँखें बंद करके अजब सी मदहोश हो गयी थी. ये मुझे भी फील करना है अभी, बस किस करके मुझे बताइए.

मेरी नीयत अब बदल रही थी. मुझे कोमल के अंदर एक ख्वाहिश नज़र आ रही थी. तब मैने उसको कहा-

मैं: ठीक है, पर इसके बारे में तुम किसी को नही बताॉगी.

वो बोली: आप बेफिकर रहो, और ना ही मैं आपके रीलेशन के बारे में किसी को बोलूँगी.

ये बोल कर वो मेरे एक दूं बगल में बैठ गयी, और बोली: चलिए अब बताइए मुझे.

मैने उसके फेस को पकड़ कर उसके होंठो पर किस कर लिया, और बोला: चलो अब हो गया.

वो बोली: नही, जैसे आप वीडियो में अपनी भाभी को किस कर रहे थे, मुझे वैसा किस चाहिए.

और मैं उसको वैसा ही किस करने लगा. मैं लीप तो लीप कोमल को किस कर रहा था, और किस करते-करते मैं उसको फ्रेंच किस करने लगा, जिसका साथ भी वो देने लगी. इसकी वजह से मैं पिकप में आने लगा, और वो भी गरम हो चुकी थी.

पर बात सिर्फ़ किस की हुई थी, इसलिए मैं आयेज नही बढ़ा और कोमल को किस करके हॅट गया. पर कोमल ने आँखें बंद की हुई थी. जैसे ही मैं पीछे हटा, तो उसने आँखें खोली. उसके आँखों में मैने सेक्स देखा. वो मुझे मदहोश नज़रो से देख रही थी.

दिल ही दिल में वो मुझे आयेज के लिए दावत दे रही थी. पर मुझे दर्र भी लग रहा था, लेकिन मैने हिम्मत करके उसको दोबारा किस करना शुरू कर दिया.

वो अब मुझे पकड़ के किस का मज़ा लेने लगी, और मैने किस करते-करते उसके गले पर किस करना शुरू कर दिया. वो उसका पूरा मज़ा ले रही थी. मैं गले पर किस करते-करते उसके सीने पर किस करने लगा, और वो मुझे रोकने की बजाए, खुद से और सताए जेया रही थी.

और अब मैं कॉन्फिडेन्स के साथ कोमल को किस करता जेया रहा था, और कपड़े के उपर से ही उसके बूब्स को मूह में लेने लगा. वो बौखलने लगी. मेरा भी मॅन अब उसको छोड़ने के लिए रेडी था. मेरा लंड एक-दूं खड़ा हो गया था, जिसको कोमल ने देख कर बोला-

कोमल: आपकी पंत के अंदर क्या हो रहा है?

मैं बोला: तुम खुद देख लो.

फ़ि कोमल ने खुद से मेरी ज़िप को खोल दिया. उसके खोलते ही मेरा लंड बाहर आ गया. वो देख कर बोली-

कोमल: ये इतना खड़ा क्यूँ हो गया है.

मैं बोला: इसको तुम्हारा प्यार चाहिए.

कोमल: कैसा प्यार?

मैं: क्यूँ तुम्हे नही पता?

कोमल: नही ये आप बताओ

मैं: सोच लो, फिर तुम पीछे मत हटना.

कोमल: मुझे सब जानना है.

मैं: ये तुम्हारे अंदर जाना चाहता है.

कोमल ( मुस्कुरा कर ): कर दीजिए अंदर.

कोमा के इतना बोलते ही मैं उसके कपड़े खोलने लगा. पहले तो वो शरम से मुझे रोकने लगी, पर सेक्स के आयेज शरम कब तक जुंग लड़ सकता है. मैने उसके उपर का कुर्ता खोल कर उसको बेड पर लिटा दिया.

उसने ब्रा पहनी हुई थी, और मैने उसको लिटाने के बाद उसकी ब्रा के अंदर से दोनो बूब्स निकाल कर बूब्स चूसने शुरू कर दिए. वो आअहह उसस्स उफफफफ्फ़ की आवाज़े निकालने लगी. मैं उसके दोनो बूब्स को बुरी तरह चूस रहा था.

तब मैं कोमल की सलवार के उपर से ही उसकी छूट को मसल रहा था, जिससे वो और भी बेकाबू हो रही थी. वो मुझ पर चढ़ कर मुझे किस करने लगी, और मेरी शर्ट को खोल कर मेरे सीने और लिप्स पर दाँत काटने लगी.

मुझे किस करते-करते वो मेरे होंठो से सीने तक और सीने से पेट तक जेया रही थी. मेरा लंड पंत से बाहर था ही, तो मैने कोमल को उसको किस करने को कहा, और उसने मेरे लंड को किस कर दिया.

वो किस कर रही थी, की मैने उसके सर को पकड़ कर उसके मूह में अपना लंड घुसा दिया. वो कुछ समझ नही पाई, और मैने उसको लंड चूसने को कहा. उसने मेरी बात मान कर लंड को चूसना शुरू कर दिया.

10 मिनिट वो ऐसे ही लंड चूस्टी रही, जिस वजह से मेरा माल उसके मूह में निकल गया, और उसने जल्दी से मेरे लंड को बाहर निकाल कर अपने पर गिरे माल को पलंग के नीचे थूक दिया.

इस वजह से मेरे लंड का और भी माल मेरी पंत पर गिर गया. वो जल्दी से पलंग से कूद कर मूह को सॉफ करने चली गयी, और आ कर बोली-

कोमल: क्या था ये, जो अजीब सा गाढ़ा-गाढ़ा मेरे मूह में गिर गया?

मैने कहा: मुझसे कंट्रोल नही हुआ, इसलिए तुम्हे बता नही पाया.

उसके बाद वो मुझे किस करने लगी. मैं एक बार झाड़ गया था, और अब मुझे दोबारा खड़ा करके छोड़ना था. मैने उसको बेड पर लिटा कर उसकी सलवार को खोल कर उसे पूरा नंगा कर दिया. वो शर्मा कर अपनी छूट पर अपने हाथ रख कर उसको च्छुपाने लगी.

अब वो मुझे किसी अप्सरा से कम नही लग रही थी. उसके बिखरे बाल और गोरे बदन को देख कर मैं खुद को रोक नही पाया, और उसकी नाभि में किस करने लगा. उसकी नाभि के अंदर ज़ुबान डाल कर सहला रहा था, और वो मचल रही थी.

और ऐसे करते-करते मैने उसकी नाभि के कुछ नीचे किस करते हुए उसकी छूट पर किस किया. इससे वो सिसकने लगी, और मैं अब उसकी जाँघ पर किस करने लगा. मेरा लंड दोबारा से खड़ा हो गया था.

पर मुझे उसकी छ्होटी सी दिख रही छूट का रस्स-पॅयन करना था. मैं देर ना करते हुए दोनो पावं के बीच में आ कर उसकी छूट पर टूट पड़ा. मैने उसके छूट पर पहले तो किस किया. उसके बाद दोनो हाथ से उसकी छूट के मूह को खोल कर उसपे फ्रेंच किस करने लगा, जिससे वो आअहह आह की आवाज़ करने लगी, और मेरे सर को अपने छूट में दबाने लगी.

मैं अंदर ज़ुबान डाल कर हिला रहा था, और वो एक-दूं भरपूर सेक्स में आ गयी, जिस वजह से उसने अपन रस्स निकाल दिया. मैने उसका सारा रस्स पी लिया. फिर मैने अपनी पंत उतार कर अलग की, और कोमल के उपर लेट गया. कोमल मेरे लंड को देख कर घबरा रही थी की उसकी छूट में ये कैसे जाएगा.

उसने कहा: मेरे लंड अंदर नही जाएगा, और अगर गया तो जान निकल जाएगी मेरी.

तब मैने उसको भरोसा दिलाया: मुझ पर भरोसा करो. पहले थोड़ी तकलीफ़ होगी, पर उसके बाद सिर्फ़ मज़ा ही आएगा.

वो मेरे बात को आचे से समझ गयी, और अपनी आँखें बंद करके लेट गयी. मैं भी उसको पहले किस ले ले कर और ग्राम कर रहा था. कभी उसके लीप पर किस करता, तो कभी उसके गले पर. या फिर कभी उसके सीने पर.

जब मैं उसको फुल मूड में ले आया, तब उसके दोनो पावं को फैलाने को कहा, और उसने फैला दिए. उसके बाद मैने उसकी छूट के च्छेद पर अपना लंड सेट किया, जिससे उसके पुर जिस्म में करेंट सा लगा.

उसके बाद मैने उसके लिप्स को अपने लिप्स से जाकड़ लिया, और इससे पहले कोमल कुछ समझ पति, मैने एक झटका दे कर उसकी छूट में अपना आधा लंड घुसा दिया.

इससे उसको तकलीफ़ होने लगी. वो चिल्लाना चाहती थी, पर मेरे मूह ने उसके मूह को क़ैद करके रखा था. वो मेरी कमर को उपर की तरफ हाथ से धकेल रही थी, जैसे की खुद को मुझसे अलग करना हो, पर ये कोशिश नाकाम थी उसकी.

फिर मैने कुछ ही सेकेंड्स में दूसरा धक्का लगाया, जिससे उसने आँखें बड़ी कर ली, और मेरे पीठ पर नाख़ून गाड़ाने लगी. पर मैं उसको जकड़े रहा क्यूंकी मेरा पूरा लंड उसकी छूट में समा गया था.

कुछ देर बाद मैने उसको शांत देख कर आहिस्ते-आहिस्ते अपने लंड को अंदर बाहर करना शुरू किया, जिससे उसको अब मज़ा आ रहा था. वो मेरी पीठ को सहला रही थी, और मेरी ज़ुबान को चूस रही थी, जिसकी वजह से मैं अब और भी गरम हो गया.

फिर मैने लंड को अंदर-बाहर करते-करते उसको झटको में बदल दिया, और वो मेरा पूरा साथ दे रही थी. वो भी कमर को उठा-उठा कर मेरे झटके का जवाब दे रही थी. पुर रूम में उसकी आवाज़े आ रही थी.

कोमल: आह आह भैया बहुत मज़ा आ रहा है आहह. तुम मुझसे शादी कर लो. बहुत अछा लग रहा है.

उसके मूह से ये सब सुन कर मेरा जोश बढ़ते जेया रहा था. वो मुझे भैया भी बोल रही थी, और साथ में मुझे खुद से शादी कर लेने को भी बोल रही थी.

ये सब सुन कर मैं बौखला रहा था, और मेरी तेज़ी बढ़ने लगी. 20 मिनिट के लगातार झटकों की वजह से मैने उसकी छूट के अंदर ही अपना रस्स गिरा दिया. वो अब तक काई बार झाड़ चुकी थी. मेरे झड़ने के पहले वो लास्ट बार झड़ी थी.

उसके बाद हम दोनो हाँफ रहे थे. मैं उसके गले में घुसा हुआ था, और आँखें बंद करके उसके कान में ई लोवे योउ कोमल बोला. वो मेरा रिप्लाइ देते हुए लोवे योउ टू बोली

4 बाज चुके थे. जिस्म के ठंडा होते ही मैं उसके बगल में तकिये पर पीठ लगा कर बैठ गया, और उसको देखने लगा. वो बहुत ही खूबसूरत लग रही थी. बेडशीट गंदी हो चुकी थी, जिसमे उसका ब्लड और हम दोनो का रस्स लगा हुआ था.

फिर मैने उसकी छूट को उसके दुपट्टे से सॉफ किया, और उसको फ्रेश होने को कहा. उसने मुझे कहा, की वो मुझे सब कुछ दे चुकी थी, और अब वो किसी से शादी नही करेगी.

उसने मुझे ये भी बोला की उसका जो रिश्ता आया था, उसको मैं कॅन्सल करवा डू.

और उसने अपने जिस्म पर हमएसा के लिए मुझे हक़ दे दिया.

वो बोली: आज से मैं आपकी हू, भले हमारी शादी हो चाहे ना हो. पर हम दोनो एक शादी-शुधा जोड़े की तराहा एक-दूसरे की ज़रूरत पूरी करेंगे.

ये कह कर वो मुझे एक हग करने लगी, और मेरे कान में दोबारा सब करने को कहा. उसके बाद हम दोनो ने एक बार फिर सेक्स किया और सो गये.

जब आँख खुली तो मैने उसके घर नहा कर नाश्ता वही किया, जो उसने मेरे लिए रेडी किया. और फिर मैं कारखाने आ गया. अब हम दोनो फोन या व्हातसपप पर बात करते है, और जब-जब उसको मेरी ज़रूरत होती है, वो मुझे कॉल करके अपने घर या नही तो मेरे घर बुला लेती है.

इसके बाद कैसे-कैसे मैने कोमल के साथ सेक्स किया, ये मैं आप लोगो के रिप्लाइ के बाद सब्मिट करूँगा.

इस पर मुझे ज़रूर अपनी राय दे.

यह कहानी भी पड़े  स्टोरी रीडर की हॉट चुदाई


error: Content is protected !!