दोस्त की मा को ब्लॅकमेल करने की सेक्सी कहानी

तो तोड़ा अपने बारे में बता देता हू पहले. मेरी हाइट 5’11” है, और मैं तोड़ा हेल्ती हू. लेकिन उससे मेरी सेक्स लाइफ पे कोई असर नही पड़ता. मेरा डिक साइज़ 6.5 इंच है, और 2 इंच मोटा है.

वैसे तो मैने बहुत सेक्स किया है. लेकिन पहली बार अपने बेस्ट फ्रेंड की मों के साथ किया था, जो की मेरे को पहले से ही बहुत पसंद थी. उनकी हाइट 5’7″ थी, और उनके मूटे 36″ के बूब्स और 38″ की गांद मुझे बहुत अट्रॅक्ट करती थी. तो अब स्टोरी पे आता हू.

थोड़े दिन पहले मैं शाम को पार्क गया एक्सर्साइज़ करने. फिर 1 घंटा एक्सर्साइज़ करने के बाद जब मैं पार्क से बाहर आ रहा था, तो मैने एक कार नोटीस करी, जो ज़् ब्लॅक थी. उसमे इग्निशन ओं था, तो मेरे को बड़ी क्यूरीयासिटी सी हुई की उस गाड़ी में क्या हो रहा था.

फिर मैं टाय्लेट करने के बहाने से गाड़ी के आयेज गया, और टाय्लेट करते हुए देखने लगा तो एक 30-32 साल का आदमी एक करीब 45 साल की औरत को स्मूच कर रहा था, और एक हाथ से उस औरत के बूब्स दबा रहा था.

मेरा लंड तो तभी 1 सेकेंड में खड़ा हो गया. जब उन्होने मुझे दीखा, तो मैं वाहा से एक-दूं निकल गया. लेकिन मैं तोड़ा साइड में जेया कर दोबारा देखने लगा. करीब 15-20 मिनिट बाद लेफ्ट साइड का गाते खुला, तो उसमे से एक आंटी निकली जिनकी पीठ मेरी साइड थी.

मेरा तो बड़ा मॅन हुआ उनको देखने का, तो जब क़ो जाने लगी, तो मैं भी उनके पीछे चल पड़ा. फिर वो जूस कॉर्नर पे रुकी, तो मैं भी वही चला गया. वाहा जाके ध्यान से देखा, तो मेरे तो होश ही उडद गये, की यार ये तो मेरे बेस्ट फ्रेंड की मों सोनू आंटी थी.

तो वाहा जाके मैने आंटी को नमस्ते करा, और अपने लिए भी जूस ऑर्डर कर दिया. फिर 5-7 मिनिट हमारी बात हुई जूस पीते-पीते और मैने आंटी से पूछा-

मैं: आंटी मिशू(मी बेस्ट फ्रेंड) कहा है?

तो आंटी ने बोला: बेटा मेरे को तो पता नही. मैं तो अभी मार्केट से आई हू.

तब मेरे को पता चल गया, की आंटी का एक्सट्रा मॅरिटल अफेर चल रहा था. तो फिर मैं वाहा से चला गया और आंटी भी चली गयी. जब मैं अपने घर पहुँचा, तो मैं सोचता रहा की यार मिशू को बतौ या नही.

मैं ये भी सोचने लगा की आंटी को ब्लॅकमेल भी कर सकता था. वैसे भी मेरे को आंटी बहुत पसंद थी. फिर ऐसे ही थोड़े दिन निकल गये.

फिर वो ख़ास दिन आ ही गया, जब मैने आंटी से इस बारे में बात करी. तो दिन था होली का, और हम सारे दोस्त इकट्ठे हुए और प्लान करने लगे की दारू कैसे पिए. तब मेरे दोस्त को आइडिया आया की पेप्सी में मिक्स कर लेते है, जिससे किसी को शक भी नही होगा.

फिर हम आस यूषुयल जहा हर साल होली मानते थे मिशू के घर की बॅक साइड में, वाहा चले गये. वाहा उसने अपना स्पीकर चला लिया, और उसकी मम्मी ने हम सब के लिए स्नॅक्स बनाए.

हम सब करीबन 2 घंटे होली खेले, और अब हमारी शराब भी ख़तम होने लगी थी. शराब का असर भी होने लगा था, और मेरे को टाय्लेट भी जाना था. तो मैने मिशू को बोला-

मैं: यार मेरे को टाय्लेट जाना है.

फिर उसने आंटी को आवाज़ लगा दी, और बोला: गाते खोल दो, कुश को टाय्लेट जाना है.

फिर मैं उसके घर के अंदर गया, और टाय्लेट करने लगा. वॉशरूम में वाहा एक साइड में गंदे कपड़े भी पड़े थे. और उनके उपर आंटी की ब्रा भी थी, जिसको देख के मैं पागल हो गया. मेरे दिमाग़ में आइडिया आया, की आज ही वो दिन हो सकता था, जिसका मैं इतने दीनो से इंतेज़ार कर रहा था.

फिर मैं वॉशरूम से निकला, और किचन की तरफ गया जहा आंटी हमारे लिए लंच बना रही थी. मैने सोचा आंटी को कलर लगता हू, और इसी बहाने उन्हे टच भी कर लूँगा. मैने आंटी को ड्रा दिया, और ‘हॅपी होली’ बोल के कलर लगाने लगा.

तो आंटी ने बोला: बेटा तोड़ा लगाना. मैं अभी खाना बना रही हू.

लेकिन मैं कहा मानने वाला था. मैने आंटी के पुर फेस पे और मौके का फ़ायदा उठाते हुए तोड़ा सा उनके बूब्स के अंदर भी डाल दिया. अब आंटी को कुछ दिखाई नही दे रहा था.

तो आंटी ने बोला: बेटा इतना क्यूँ लगा दिया? मेरे को कुछ नही दिख रहा. मेरा फेस सॉफ कारवओ अब और पानी डालो फेस पे.

फिर मैं आंटी को वॉशरूम तक ले गया. वाहा मैने उनके फेस पे पानी डाला, और अपने हाथ से सॉफ कने लगा. तभी एक-दूं से मैने एक हाथ उनके बूब्स के अंदर डाल दिया, जिससे आंटी एक-दूं उठ गयी और बोली-

आंटी: ये क्या कर रहे हो तुम? तुम्हे शरम नही आती? मैं अभी मिशू को बुला लूँगी.

आंटी बहुत गुस्से में थी. फिर ज़्यादा आवाज़ ना हो, तो मैने अपना हाथ उनके फेस पे रखा, और चुप होने को कहा.

मैने उनको बोला: ज़्यादा शरीफ ना बनो आंटी. मैने आपको थोड़े दिन पहले किसी की गाड़ी में स्मूच करते हुए देखा था. और वो आदमी आपके बूब्स भी दबा रहा था. तो आपने उसको तो कुछ नही कहा.

ये सुन कर आंटी एक-दूं दर्र सी गयी, और बोलने लगी-

आंटी: बेटा ये बात किसी को ना बताना. मैं बदनाम हो जौंगी.

तो मैने बोला: आंटी ऐसी कोई बात नही. मैं आपको बिल्कुल भी बदनाम नही होने दूँगा. लेकिन बस आपको मेरे को खुश रखना पड़ेगा.

आंटी ने पूछा: वो कैसे?

मैने बोला: आंटी मैं आपको बहुत पहले से पसंद करता हू, और आप मेरे सेक्स क्रश भी हो.

फिर आंटी बोली: बेटा मैं तेरी मा जैसी हू.

मैने बोला: आंटी लेकिन आप मेरी मा नही हो. अभी बस आप एक औरत हो, और मैं एक मर्द.

फिर सीधा मैने आंटी के होंठो पे अपने होंठ रख दिए, और एक हाथ से उनके बूब्स दबाने लगा. आंटी ने इसका तोड़ा विरोध किया, लेकिन मैं नही माना.

अगर स्टोरी इंट्रेस्टिंग लगे, तो मुझे मैल करना. और किसी भी औरत और लड़की को देल्ही में मेरी सर्विस चाहिए हो, तो मुझे मैल करे

पर.

नेक्स्ट पार्ट में बतौँगा की आंटी को कैसे मनाया सेक्स के लिए. टिल देन बाइ-बाइ.

यह कहानी भी पड़े  बेटे ने मा को दूध वाले से चूड़ते देखा

error: Content is protected !!