दोस्त से बीबी को बदल लिया

दोस्तों बहुत दिन बाद समय मिला आज तुम सभी को एक सच्ची स्टोरी सुनाता हु | बात अभी अभी एक सप्ताह पुरानी है मैंने और मेरे कालोनी में ही मेरे ही जाती भाई के एक दोस्त रहता है हम दोनों में अच्छी दोस्ती है हम दोनों की पत्नियों में भी खूब दोस्ती है हम दोनों दोस्त व हमारी पत्निया आधुनिक खाय्लातो के है | हम दोनों दोस्तों की उम्र लगभग 35 के और आपसपास है | रीना को एक लडकी है १० साल की और मेरे यहाँ एक लड़का है करीब १३ साल का ! रीना -नेहा से छोटी ही करीब ३ साल कि फिर भी हम दोनो आपस मी एक दुसरे कि को भाभी कहते है |

हम दोनों एक साथ दूर पिकनिक में गए मेरी कार से रास्ते में कुछ ही दूर पर दोस्त की बीबी को वोम्टिंग होने लगी तो मैंने उसे बोला की इन्हें आगे की सीट में बिठा दो वोम्टिंग बंद हो जायेगी मैंने मेरी बीबी को बोला की तुम कार में पीछे वाली सीट में बैठ जाओ तो ओ मान गई और खुसी खुसी पीछे की सीट में जाकर बैठ गई और दोस्त की बीबी मेरे साथ आगे की सीट में आकर बैठ गई उसे बहुत राहत मिली और उसकी वोम्टिंग एक दम से बंद हो गई | क्योकि मेरी बीबी को भी यही समस्या है उसे भी पीछे की सीट पर हल्का हल्का वोम्टिंग होती है पर आगे की सीट में बैठने से नहीं होती है |

एक बार कार का गीयर बदलते समय दोस्त की बीबी रीना से मेरा हाथ टकरा गया तो मैंने सोरी बोला तो मेरे तरफ देख कर मुस्कुराई और “इट्स ओके ” कह दिया मैं कार चलाने में मशगुल था की अचानक मेरी नजर मिरर से कार के पीछे बैठी मेरी बीबी नेहा पर गई तो देखा की नेहा मेरे दोस्त की गोद में सर रख कर सो रही है और दोस्त का हाथ मेरी बीबी के पेट पर रखा हुआ था और दोस्त भी आराम से सीट पर आँखे बंद किये हुए आराम से बैठा था मुझे तो करंट लगा और गुस्सा भी फिर मैं अपने आप को कंट्रोल किया और मन ही मन प्लान बना लिया की क्यों न इस पिकनिक को यादगार बना लिया जाये और आपस में बीबीओ की अदला बदली करके चोदा जाए यह विचार आते ही मैंने एक बार जान बुझ कर रीना के जांघ पर हाथ रख दिया

यह कहानी भी पड़े  मौसम की करवट

और रीना कि जांघ को दबा दिया तो रीना ने कुछ नहीं बोला और पलट कर पीछी की तरफ देखा सीट में जिधर मेरा दोस्त बैठा था और एक गहरी सास लिया और मेरे हाथ को पकड़ लिया और दबा दिया और मुस्कुराने लगी तो मैं समझ गया जो हँसी ओ फसी अब मेरे मन और आगे बढ़ना चाह रहा था मैंने कार पर पूर्ण नियंत्रण रखते हुए मिरर से पीछे बैठे हुए दोस्त को देखा की ओ सो रहा है तो में रीना के बूब्स को हलके हाथ से दबा दिया तो रीना में मेरा हाथ पकड़ लिया और धेरे से नीचे खिसका दिया और पीछे सीट तरफ देखने लगी और फिर एक गहरी सास लिया और मेरे तरफ देख कर मुस्स्कुरा दिया तब मैंने फिर से रीना की बूब्स को दबा दिया इस बार रीना ने मेरे हाथ को पकड़ लिया और अपने हाथो से दबाब बना लिया बूब्स की तरफ अब मैं समझ गया की रीना तो पट चुकी है पर इसे चोदा कैसे जाए | यही प्लान बनाने लगा मन में |

कार चालते चलाते मैं थक गया था और अब मेरी इच्छा थी की कार से नेचे उतर कर पाँव को रिलेक्स दिया जाए और मैंने कार को रोक दिय रोड के किनारे और हम चारो कार से बाहर आ गए और सबो बोला की हलके हो जाओ तो मेरे दोस्त ने बोला की मुझे नहीं लगी है तू आ जा हल्का होकर | तो मैंने मेरी बीबी को बोल चल रहे हो क्या तो बोली की नहीं मैंने रस्ते भर पानी ही नहीं पिया तो वजन कहा से बढे आप हो आइये मैं नहीं जाउगी मैं यही घूम रही हु | तब मैं पेसाब करने के लिए रोड के उस पर ज्वार के खेत की तरफ जाने लगा तो रीना ने दोस्त से पूछा की मैं भी चली जाऊ साथ में , तो दोस्त हस्ते हुए बोला की जा न मना किसने किया जितना हल्का होना है हो ले क्या फर्क पड़ता है और इतना कह कर जोर से हसने लगा और मुझे एक आँख मार दिया मैं भी मुस्कुरा दिया और मेरी बीबी ने दोस्त के कंधे में एक हलकी से चपत मार कर बोली की बेसरम कही के |

यह कहानी भी पड़े  भाभी ने भाभीचोद बनाया

मैं रोम्नाचित हो गया रीना की चुदाई को सोचकर और मेरा लंड एक दम से कड़क पड़ कर तन गया मैं पास के ज्वार के खेत में घुस गया साथ में रीना भी थी ओ भी अपनी ‘ लैगी को नीचे खिसककर बैठ गई उसकी गोरे -गोर दुधिया रंग के चीकने नितम्ब दिख रहे थे मैं भी रीना के पास ही खड़ा होकर अपने ताने हुए ८ इंची लंड को बड़ी मुस्किल से निकालकर पेसाब करने लगा पर लंड में इतन तनाव हो गे की पेसाब ही नहीं निकल रही थी फिर भी थोड़ा थोड़ा करके निकल रही पेसाब दूर तक प्रेसर से जा रही थी इतने में रीना उठ गी और मेरी तरफ देखने लगी तो मैंने बोला की बेसरम बी\मत बनो उधर देखो नहीं तो मेरी पेसब नहीं निकलेगी तो रीना ने कहा की देख लेने दो यार क्या मस्त नाग की तरह फनफना रहा है लगता है डास्वा लू इस नाग से और आकर मेरे पीछे खडी होकर चिपक गई मेरे से फिर मैं जैसे तैसे पेसाब किया

Pages: 1 2 3 4 5

error: Content is protected !!