दोस्त का बाय्फ्रेंड मेरा पति ओर उसके साथ सेक्स

राहुल का परिवार और मेरे परिवार दोनो मे बहोट अची बनती थी. क्यू की उसके पापा मेरे पापा बचपन के दोस्त थे और सात मे ही बिज़्नेस करते. इसलिए मेरे और राहुल के बीच भी अची दोस्ती थी.

मई जब कॉलेज मे गयी थी तो मेरी एक फरन्ड मिली जिसका नाम नीता था नीता. बहोट अची लर्की थी, अची फॅमिली से बिलॉंग करती थी. उसकी और मेरी दोस्ती होई और दोनो एक दूसरे के घर आना जाना बन गया.

एक दिन राहुल ने नीता को मेरे घर देखा उसको देखते ही फिदा हो गया. फिर मैने दोनो का इंट्रोड्यूस कराया और चली गयी. राहुल के बॉडी बहोट अची थी क्यू की राहुल ज़ीं करता था.

नीता को भी राहुल अछा लगा फिर उसने मेरे पास से नीता का नंबर लिया और दोनो बात करने लगे. धीरे धीरे दोनो प्यार करने लगे एक दूसरे से मिलने लगे.

एक राहुल नीता को कॉलेज से होटेल ले गया और जाम कर उसकी चुदाई की. नीता ने मुझे बताया की राहुल का लंड 9 इंच का है और उस दिन 4 बार छोड़ के नीता की छूट पूरा फेला दिया.

उसके बाद तो दोनो रोज ही चुदाई करने लगे. कभी मेरे घर, कभी राहुल के घर, कभी कार मे, तो कभी जंगल मे, तो कभी होटेल मे, कभी कभी तो नीता को घर जाकर भी छोड़ने लगा. सात ही उसका गोल गोल गांद भी मारता.

इस तरह 6महीने मे ही नीता का कड़क बूब्स लटक गये. सात ही अब उसकी गांद बहोट बड़ी बड़ी दिखने लगी. गांद का दरार भी जयदा फक हो गया था. जिसे देख कर लगता था एक शादीसूडा औरता का गांद हो. बूब्स देख कर लगता की 2 बचे की मा है.

ये सिलसिला पूरे 2.5 साल चला, इस बीच नीता 6 बार प्रेज्ञेट हुई जिसे राहुल ने नीता का बाकचा डॉक्टर के पास जा कर गिराया था. सब बाते मुझे नीता ने ही बताई थी.

पर एक दिन नीता मेरे साथ कॉलेज गयी उसी बीच उसका पीरियड आ गया. तो नीता घर के लिए निकल गयी. पर जेसे ही घर गयी उसने अपने घर के पास राहुल की कार देखी. उसे कुछ अजीब लगा क्यू की कॉलेज से जब निकली तब उसने राहुल को फोन किया. तो राहुल ने कहा की अभी मई ज़रूरी काम कर राहु हू नही आ सकता. पर उसने नही बताया की नीता घर आ रही है.

जब वो घर के पास गयी तो दरवाजा लॉक था. उसकी एक चाची भी थी जो घर संभालती क्यू की उसके मम्मी पापा दोनो जॉब करते और चाचा भी. इसलिए उसे और सक हुआ.

नीता पीछे के दरवाजे से अंदर गयी, उसकी चाची नही दिख रही थी. तभी उसे अपनी चाची के कमरे से कुछ आवाज़ सुनाई दी. वो पीछे से खिड़की के पास गयी और देखा तो उसके होश उड़ गये. क्यू की राहुल उसकी चाची की गांद मार रहा था और उसकी चाची एयाया ऊऊहह आआआहह आआआ कर रही थी.

फिर राहुल ने उसकी चाची की छूट मारी. तब नीता को बहोट गुस्सा आ रहा था. वो सीधा अंदर गयी चाची के रूम का दरवाजा खोला. राहुल और उसकी चाची दोनो दर गये.

उसकी चाची नीता के पाओ पकड़ कर माफी मागने लगी. कहा की – प्लीज़ किसी को कुछ मत बताना मेरी इज़्ज़त चली जाएगी.

तो नीता ने पूछा कब से चल रहा हे? चाची ने कहा 1 साल से.

उसी टाइम नीता ने राहुल से ब्रेकप कर लिया पर किसी को कुछ नही कहा, सिर्फ़ मुझे ही बताया था नीता ने.

1 साल बाद मेरी कॉलेज ख़तम हो गया. पापा मेरे लिए लड़के देखने लगे. उधर राहुल के पापा भी लर्की डुनध रहे थे. तो मेरे पापा ने एक दिन उसके पापा से कहा की चलो हम दोस्ती को रिश्ते मे बदल लेते है. फिर मेरी और राहुल की शादी तय हो गयी.

पर मेरा फिगर कुछ अची नही थी. राहुल को मालूम था की मेरा फिगर नीता की तरह नही है पर सील पॅक थी, किसी से अभी तक चूड़ी नही थी. बस पढ़ाई मे ही ध्यान था मेरा कोई ब्फ भी नही बना. पर राहुल ने हन कर दी इसलिए मैने भी हन कर दी.

उसकी बड़ी बेहन एक दिन मेरे घर आई. उसने मज़ाक मज़ाक मे मेरे बूब्स दबा दिए. मई शर्मा गयी पर उसने कहा की तुम्हारे बूब्स तो बहोट सकत है. इस तरह तो तुम्हे अपने पति को खुश करने मे प्राब्लम होगी.

बोल कर वो मुझे अगले दिन डॉक्टर के पास ले कर गयी. एक लदी डॉक्टर थी उसे कहा की मेरे बूब्स बड़े करने के लिए और मेरी बॉडी को अची करने के लिए. तब डॉक्टर ने 2 तेल दिया और एक क्रीम. उसे एक महीने उसे करने को कहा जब की मेरी शादी भी एक महीने बाद थी.

राहुल बहोट ही छोड़ू था, कोई भी लार्दी हो कोई भी औरत उसे फराक नही पड़ता था, बस छोड़ डालता. मुझे सब मालूम था पर हमारी शादी हो गयी.

सुहग्रात भी आ गयी, राहुल अंदर आते ही उसने मुझसे कहा की यार पुष्पा किस्मत भी क्या कुट्टी चीज़ ही. इतने साल से दोस्त थे और अब पति पत्नी बन गये.

मैने भी कहा हन पर अब तुम्हे अपना कमीना पं चोरना पड़ेगा नही तो मई पापा से सब बोल दूँगी. तो उसने कहा नही अब से सब छोड़ दूँगा, बस तुम्हारे साथ रहुगा.

फिर वो मुझे किस करने लगा, मेरी लाइफ का पहला किस था जो मेरे पति राहुल कर रहा था. किस करते करते वो मेरी कडपे उतारने लगे. मई भी उसके सात दे रही थी क्यू की अब राहुल मेरे पति थे.

फिर उसने मुझे पूरा नंगा किया, मेरे बूब्स देख कर वो पागल हो गया. कहा इतने बड़े बड़े तुम्हारे तो नही थे, कैसे बना लिया? बोल कर बारी बारी दोनो बूब्स को मसालने लगा और चूसने लगा.

उसके बाद वो खुद भी नंगा ही गया और मेरे बूब्स चूस चूस कर पुर लाल कर दिए, दंटो से काटने लगा था राहुल. और एक हाथ से छूट छूट मे उंगली करने लगा.

मेरी छूट टाइट थी, उसे मज़ा आरहा था. फिर बहोट देर चटा पूरे शरीर को. उसके बाद वो मेरी छूट चाटने लगा. मई पूरी तरह से जर गयी. फिर उसने अपना लंड मुझे चूसने को कहा पर मैने माना कर दिया.

तो उसने मुझे लिटाया और मेरी टांगे फेला कर छूट पर अपना लंड सेट किया. फिर धक्का मारा पर लंड अंदर नही गया. तो उसने बहोट सारा थूक निकाल कर मेरी छूट और अपने लंड पर लगाया. उसके बाद ज़ोर का धक्का मारा तो लंड अंदर चला गया चीरता हुआ. फिर एक झटका और मारा और पूरा का पूरा पेल दिया.

मई रोने लगी, मेरी छूट से खून निकल रहा था जो की उसके लंड पर भी लगा था. उसने रहम नही दिखाया और ज़ोर ज़ोर से कमर हिला हिला कर छोड़ने लगा.

मई भी आआआआ आआआअहह आआआआ ऊऊऊओ आआआहह ऊऊऊहन आआआआ कर के चुड्ती रही. 20 मिनिट्स बाद वो मेरी छूट मे जर गया और फिर लेट गया मेरे साथ.

कुछ देर बाद वो मुझे लंड फिर से चूसने को कहा. पर इस बार मई माना नही कर पाई. उसका लंड हाथ मे लेके लोलीपोप की तरह चूसने लगी. कुछ ही देर मे फिर से उसका लंड खड़ा हुआ.

इस बार मेरी गांद की बारी थी जो की मैने तेल से मालिश कर कर के बड़ी बनाई थी. उसने मुझे उल्टा किया और खुद बेड के नीचे उतार कर मेरी गांद मे बहोट सारा तेल डाला और अपने लंड पर भी लगाया.

उसके बाद धीरे धीरे करके पूरा अंदर चला गया लंड मेरी गांद मे. मुझे दर्द होने लगा, उसे भी महसूस हुआ की मुझे बहोट दर्द हो रहा था. तो राहुल कुछ देर रुका, जब मुझे रहट मिली तो फिर से लंड आयेज पीछे करने लगा.

धीरे धीरे रफ़्तार बड़ा दिया और उसके बाद ज़ोर ज़ोर से गांद मारने लगा. मुझे भी मज़ा आने लगा और उसका साथ देने लगी. इस तरह उसने पहली रात को 3 बार छूट और 3 बार गांद मारी. फिर हम दोनो सो गये, इस तरह हम रोज 2 बार छूट और 2 बार गांद की चुदाई करते.

यह कहानी भी पड़े  परीक्षा पास होने के लिए टीचर से चुदाई

error: Content is protected !!