डॉक्टर सोनल की चुदाई की कहानी

हेलो ऑल डीके रीडर्स, मैं साहिल जिगलो मालेगाओं से एक बार फिर आप सब के सामने हाज़िर हूँ सब से पहले मैं देसीकाहानी को थॅंक्स बोलना चाहूँगा क्योकि डीके की वजह से मुझे बहुत सारे कस्टमर्स मिलते है और खुशी भी की मेरी सर्विस से फीमेल सॅटिस्फाइ होती है और मैं उन्ही सब घटनाओ की पहचान गुप्त रख कर डीके को रिटर्न गिफ्ट देता हूँ, अब स्टोरी पर आता हूँ ये घटना मेरी एक स्पेशल क्लाइंट डॉक्टर सोनल (नेम चेंज्ड) की है जो मेरी रेग्युलर सर्विस लेती है वो एक अनमॅरीड फीमेल है उनकी उमर 38 साल है और उनका साइज़ 40,30,38 है वो अनमॅरीड इस लिए है क्यूकी वो काली भी है और उन्होने डॉक्टर बनने के जुनून मे काफ़ी वक़्त भी लगा दिया था लेकिन जिस्म को भी इंसान की तरह भूक लगती है, जब मैने उन्हे देखा तो मेरा दिल उदास हो गया की इतनी ब्लॅक लेडी के साथ मैं हंडसॉम बॉय सेक्स करने मे मज़ा नही आएगा लेकिन ये मेरा जॉब है और हर जॉब मे थोड़ा बहुत अपने पसंद के बगैर भी करना पड़ता है.

तो अब स्टोरी पर उन्होने मुझे अपने घर पर बुलाया था मैं पहुँच गया तो उन्होने एक ग्रीन नाइटी मे मेरा वेलकम किया मैने भी उनके बूब्स को देख कर थॅंक्स बोला बहुत ही ज़्यादा उभरे हुए बूब्स थे, हम काफ़ी देर बात करते रहे उन्होने अपने बारे मे बताया और फिर हम बेडरूम मे गये और फिर उन्होने मुझे बेड पर गिरा दिया और अपने होंठों को मेरे होठों पर रख दिया और धीरे धीरे किस करने लगी बहुत मस्त महक आ रही थी उनके मूह से और काफ़ी मीठा भी लग रहा था, मैं भी अब गरम हो गया था और जमकर रिप्लाइ देने लगा वो मेरी जीभ को अपने मूह मे खा जाना चाहती थी और मैं अब उनकी नाइटी के बंधन को खोल कर ब्रा के उपर से बूब्स को जाँचने लगा वो काफ़ी टाइट थे और अब वो मेरी शर्ट के बटन खोल कर मेरी चेस्ट को अपनी जीभ से सहलाने लगी काफ़ी मज़ा आने लगा था, फिर मैं भी उनकी पीठ सहलाने लगा और हम दोनो के मूह से ह ऊऊहह की आवाज़े निकलने लगी थी.

यह कहानी भी पड़े  मेरी सेक्सी गर्लफ्रेंड काजल

और फिर मैं उठा और सोनल मॅम की नाइटी उतार दी और उन्होने मुझे न्यूड कर दिया सिर्फ़ अंडरवेर पहना था और वो ब्रा और पैंटी मे थी, मैने बेड पर लिटा कर बूब्स पर टूट पड़ा बहुत ही मज़े दार निप्पल थे और फिर नेवेल मे जीभ डाल कर घुमाने लगा वो बहुत ज़ोर ज़ोर से मोन कर रही थी “ऊऊऊहह साहिल्ल्ल्ल यू आर बेस्ट सक आअहह” मैं अब नीचे आ कर पैंटी पर हाथ रखा तो वो पूरी लत पत थी मैने पैंटी को उतार दिया वो मेरा सीर पर ज़ोर डाल कर अपनी चुत पर प्रेस करने लगी, सोनल की चुत बहुत काली थी लेकिन क्लीन शेवेड थी शायद आज ही की थी बहुत अछी महक आ रही थी तो मैने अपनी जीभ को चुत के दाने पर रखा तो उनके मूह से एक स्वीट सी आवाज़ निकली आअहह मैं अब जीभ को अंदर डाल कर घुमाने लगा वो मोन करते हुए मेरा सिर चुत पर दबाए जा रही थी और अपनी बड़ी बड़ी गॅंड भी उछाल कर और अंदर तक ले रही थी तो मैने अपनी बड़ी उंगली को चुत के पानी से गीला कर के सोनल की गॅंड मे डाल दिया.

और उसकी गॅंड का होल भी काफ़ी काले रंग का था, वो बहुत मज़े से चुत और गॅंड को एंजॉय कर रही थी और अब मैने गॅंड मे से फिंगर निकाल कर अपनी दो उंगली उसकी चुत मे डाल कर ज़ोर ज़ोर से फक करने लगा क्यूकी उसके मोन से मुझे समझ मे आ गया था वो झड़ने वाली है और फिर मेरा सिर फुल स्ट्रॉंग पकड़ कर वो मेरे मूह मे झड़ गयी और तेज़ तेज़ साँस लेने लगी, मैं अब सोनल की चुत का पानी पी रहा था और अब मैं खड़ा हो गया और वो उठ कर मेरा लॅंड बाहर निकाल कर सहलाने लगी और मेरा लॅंड बहुत ज़्यादा जोश मे था वो अपने होंठो से लॅंड के टोपे पर मसलने लगी और फिर अपनी जीभ को नोकिली बना कर लॅंड के छेद मे डालने लगी और मुझे एक अजीब सा मज़ा आ रहा था और मुझसे रहा नही गया और मैने अपना लॅंड उसके मूह मे प्रेस कर दिया वो लॅंड को मूह के आखरी हिस्से तक ले जा कर बाहर निकालती, फिर अंदर तक ले जाती मैं भी बहुत गरम हो चुका था और फिर मौत फक्किंग करने लगा उसके मूह से गाप गाआप गूऊव उनह जैसी आवाज़ें निकल रही थी.

यह कहानी भी पड़े  तुमने मुझे सॅटिस्फाइ कर दिया

अब सोनल ने मेरे आंडो को मूह मे भर कर चूसने लगी, अब तक मेरा लॅंड पूरा गीला होकर बहने लगा था तो मैने उसे उठाया और डोगी बनने को बोला वो झट से बन गयी और मैने अपने लॅंड को चुत पर सेट करके एक झटके मे पूरा लॅंड अंदर उतार दिया वो चीख पड़ी “मार गाययययीी आराअम से” उसकी चुत बहुत मस्त थी तो मैं ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा वो भी आगे पीछे हो कर साथ दे रही थी तो मैने अपने हाथ उसकी कमर पर रख कर बहुत ताक़त लगा कर चोद रहा था, वो भी आआअहह ययईईए ऊऊओह करते हुए मज़ा ले रही थी और वो अब पीछे हाथ कर के मेरे लॅंड को चुत से निकाल लिया और अपने गॅंड पर रख दिया, तो मैने भी देर किए बगैर गॅंड मे लॅंड प्रेस करने लगा और लॅंड आसानी से चला गया क्यूकी वो काफ़ी चुदाई करवाती है इसलिए गॅंड का होल भी बड़ा था अब मैं अपने हाथो से बूब्स को दबाते हुए गॅंड मार रहा था और वो बोल रही थी “और ज़ोर ज़ोर से चोदो फाड़ दो मेरी गॅंड बहुत खुजली होती है इसमे”.

Pages: 1 2

error: Content is protected !!