डॉक्टर रश्मि की चालाकी -1

Doctor Rashmi ki chalaki दोस्तो कोई भी घटना कभी भी सोची समझी नही होसकती और ना ही मनचाई.. खास कर के सेक्स तो बिल्कुल भी नही… क्योंकि सभी किसी ना किसी से फॅंटसी सेक्स करते है लड़के सोचते है को वो कैटरीना कैफ़ या प्रियंका चोपड़ा को चोदेन्गे या लड़की सोचे कि वो सलमान या अक्षय कुमार से चुदवा ले तो यह फॅंटसी तक तो ठीक है पर हक़ीकत नही… और रियल लाइफ मे भी चुदाई के लिए बहुत आसानी से कोई मिलता भी नही .. यहा तक कि वाइफ भी बिना मनुहार के अपनी चूत चुदवाने को तय्यार नही होती……

दोस्तो मैं हू देव.. आपका अपना देवमूकुंद जिसने आपको पहले अपने कुछ अनुभव पढ़ने के लिए स्टोरी के रूप मे दिए…. अब मेरी उमर 40 टच कर रही है लेकिन आक्टिव सेक्स लाइफ अभी भी जी रहा हू.. मैं अपनी वाइफ और जो भी मिल जाती ही उससे बड़ी ही उम्दा चुदाई कर लेता हू.. मैं सागर का रहने वाला हू.. यह स्टोरी है जब मेरी शादी हुई हुई थी … मेरी एक फ्रेंड है गिनॅकलजिस्ट डॉक्टर रश्मि(नेम चेंज्ड) की उसी की क्लिनिक मे चुदाई की….

हुआ कुछ यूँ की मेरी शादी लोकल मे ही हुई है.. और मेरी वाइफ एक टीचर की फॅमिली से है तो आप समझ सकते है कि वो कितनी फॉर्वर्ड होगी… मैने अपनी वाइफ को पहली बार अपनी ही शादी मे जैमला के स्टेज पर ही देखा था ध्यान से…. खैर मेरे लंड की साइज़ ज़्यादा लंबी होने से उसकी सील तो टूट गयी और जबरदस्त सुहाग रात तो क्या दिन, सुबहा, शाम सब कुछ बहुत मस्त हुई…. लेकिन मेरे लंड की ठोकरो से मेरी वाइफ जिसने पहले कभी लंड का नाम भी ना सुना हो इस हल्लाबी लंडको अपनी चूत मे घुस्वाकर लंगड़ाकर चलती थी.. पहले कुछ दिन तो वो ठीक से लंगड़ा कर भी ना चल सकी…चूँकि वो नई नई थी तो चुदवाने को भी मना ना कर सकती थी सारे दर्द सहते हुए भी चुपचाप चुदवाती रहती थी मेरे से लेकिन फिर रोती थी और उसकी चूत रोज सूज जाती और उससे रोज थोडा बहुत खून टपकता था….

हम दोनो ने एक दिन बाहर एक शाम साथ गुजारने का फ़ैसला किया उस दिन मैने उससे पूछा की घर मे तो तुम शरमाती हो मेरे से बात करने मे और कमरे मे तुमको देखकर सिर्फ़ तुमको नंगा करके चोद्ते रहने को दिल चाहता है… यहा बताओ तुम खुल कर क्यों नही चुदवाती .. बड़ी मुस्किल से उसने बताया की आपका वो (लंड) बहुत बड़ा है इससे मेरी वो(चूत) मे घाव हो जाता है मुझे यूरिनेशन मे भी दिक्कत होती है…. तभी मैने निर्णय किया की इसको अपनी ज्ञानिक फ्रेंड डॉक्टर.रश्मि के पास ले चलता हू.. मैने उसे फोन किया वो क्लिनिक पर ही थी.. उसने मुझे टाइम दे दिया… और कहा डिन्नर साथ मे ही करेंगे…

हम फिक्स्ड टाइम पर उसकी क्लिनिक पर पहुचे ड्र.रश्मि वैसे तो मेरे से उमर मे बड़ी थी उस समय उनकी उमर 35-38 की रही होगी और मेरी 28 की थी… लेकिन मैं वॉलंटियियर्ली ब्लड डोनेट करता था और मज़लूम की मदद करता था इसलिए मेरी उससे दोस्ती थी वो मेरे से काफ़ी इंप्रेस्ड थी… उसने अपने सभी पाटेंट्स निबटा लिए थे सबसे आखरी मे हमे बुलाया….

मैने उसको समस्या बताई तो ड्र. रश्मि कहने लगी” यार देव एक बात कहु बुरा मत मानना यार”
मैने कहा ” हा कहिए आप तो डॉक्टर है”
” यार तुमने इस बेचारी को बड़ी ही बेरेहमी से प्यार किया होगा इसलिए इसकी हालत खराब हो गई”
वहाँ खड़ी उसने मेरी वाइफ को कहा तुम अंदर चलो चेकप कॅबिन मे अपने कपड़े उतारो और टेबल पर लेट जाओ.. मैं आती हू…

फिर वो अपने ग्लव्स वागियरह लेकर पहुचि… उसने कुछ देर तक चेकुप किया फिर मेरी वाइफ की कन्सेंट लेकर मुझे भी अंदर बुला लिया…..

रश्मि मेरे से बोली” देखो देव इस मासूम सी चीज़ (चूत) की तुमने कैसी धज्जियाँ उड़ा दी”
यह तो बहुत प्यार करने की चीज़ है तुमने इसे किस तरीके से हॅंडल किया कि इसकी वेगीना मे घाव ही घाव है अंदर तक.. और मेरी पत्नी से कहा तुम बहुत खुसकिस्मत हो कि तुमको ऐसा पति मिला नही तो औरते तरसती है ऐसे प्यार के लिए…
मेरी वाइफ ने कहा ” डॉक्टर एक तो इनका बहुत बड़ा और मोटा है ऊपेर से यह 1-2 घंटे के पहले मेरी उसमे से नही निकालते” मेरा पूरा बदन टूटता है…
मेरी वाइफ की चिकनी चूत जिस पर मैने डिज़ाइन दार झांते बना रखी थी देख कर मेरा लंड तो तुरंत तन गया था और यह शायद रश्मि ने देख लिए था तो उसने अपनी गांद कॅबिन मे कम जगह होने के कारण मेरे लंड से रगडी थी…

यह कहानी भी पड़े  सुहाना सफ़र है और मौसम चुदासी भरा

“अछा चलो अब जो हो गया सो हो गया मैं सब ठीक कर दूँगी.. चलो देव तुम अब बाहर वेट करो” रश्मि ने उसे दिलासा और मुझे बाहर का रास्ता दिखाते हुए कहा…

कुछ देर बाद वो अकेली ही मेरी वाइफ के कपड़े लिए हुए आई और बोली उसे अभी 1-1.30 घंटे लेटने के लिए कहा है क्रीम लगाई है अंदर तक और कहा है कि तुमको चेक करना है…. रश्मि मेरे से बोली

रश्मि उस दिन येल्लो सलवार सूट पहने हुई थी जिस्मै से उसके 38 साइज़ के बूब्स झलक रहे थे और वो कॅबिन से बिना चुन्नी के निकली थी… वो बैठत हुए मेरे सामने झुकी अपनी दूधों की घाटी दिखाते हुए … और मुझे प्रैज़्क्रिपशन लिखने लगी…

“मुझे भी चेक करोगी क्या…..’ मैने पूछा
“हा करना ही पड़ेगा” रश्मि बोली और मुझे अपनी सीट के पीछे बने दरवाजे की ओर इशारा किया कि तुम वाहा चलो….

मैं उठा तो वाहा चला गया….

वो कमरा डॉक्टर्स रेस्टरूम रूम था जिस्मै सोफा और बेड फ्रिड्ज टीवी से सज़ा हुआ था भीने भीने रोज़ सेंट की स्मेल आ रही थी…. मेरा लंड तो वाइफ की चूत और रश्मि के बूब्स की घाटी देखकर वैसे ही तना हुआ था फिर इस महॉल ने और उसे जगा दिया था….
थोड़ी देर बाद रश्मि रूम मे दाखिल हुई… उसने डोर बोल्ट किया…

कहने लगी “पेंट खोलो…”
मैने कहा “मुझे शर्म आती है”
“धात पगले डॉक्टर से कैसे शर्म”
उसने मुझे पलंग पर लिटा दिया और मेरा पॅंट खोलने लगी….

मेरा पॅंट निकाल कर उसे डाइरेक्ट ही मेरे लंड के दर्शन हो गये…… क्योंकि मैं उन दिनो अंडरवेर नही पहनता था……

मेरा लंड खुलते ही उसने अपने हाथों पर दस्ताने चढ़ा लिए और कहा कि बहुत मस्त माल पाया है रे देव तूने तो इसे देख कर तो किसी की भी नीयत खराब हो जाए और अंदर जाने पर अछी ख़ासी मेच्यूर औरत भी चीखेगी….

” उसने मेरे लंड को अपनी मुट्ठी मे लेकर उसको उपर से नीचे और नीचे से ऊपेर सहलाया मूठ मारने की स्टाइल मे”

उसके हाथ लगाने से मेरा लंड कुछ और फूल गया था.. मुझे लग रहा था कि मैं ज़्यादा नही टिक पाउन्गा… मैने कहा डॉक्टर यदि चेक कर लिया हो तो मैं पेंट पहन लू

बोली अभी नही… फिर उसने एक बॉटल मे से कुछ लिक्विड निकाल कर लंड पर लगाया उस्मै से चेररिश खुसबू आ रही थी……

“देव तेरा पेनिस तो बहुत मस्त है ऐसा लगता है इसे प्यार करती रहू” रश्मि ने कहा… रस्मी की गांद मेरी ओर थी और वो झुक कर मेरे लंड का मुआईना कर रही थी….

मुझे लगा कि वो शायद गरम हो गई है तो मैने चान्स लेना ठीक समझा…

मैने अपना हाथ उसकी गांद पर फेरना चालू किया… और उंगलिया सलवार के ऊपेर से ही उसकी चूत के पास तक ले गया…..

“सीईईईईईई दीएव मैं अपना कॉंटरोल्ल खोती जा रही हू…….. ”
“एक तो तुम्हारा यह गुलाबी मस्त मलांगा लंड और उपर से तुम्हारी यह हरकते……उम्म्म्म देव… आइ म गॉन मड्ड…..”
‘रश्मि ……. मुझे तो अब चूत चाहिए चाहे तुम मुझे दो या मेरी वाइफ को यहा बुलाओ…… ” कहते हुए मैने उसकी चूत को अपनी हथेली मे भर लिया सलवार के ऊपेर से ही……..

उसकी चूत को मसलते ही रश्मि ने गहरी साँस के साथ सिसकारी भरी मोअन्न किया… सीईईईूम्म्म्मम …..आआआआ……….. और मेरा लंड अपने मूह मे भर लिया………. और वो मेरे लंड को पागलों की तरह चूसने लगी……. मैं उसकी चूत को सलवार और उसकी पॅंटी समेत ही मसल्ने लगा…..

रस्मी मेरा लंड मूह मे ही लिए हुए मेरे ऊपेर सवार हो गई और उसने अपनी सलवार एक झटके मे नीचे खिसका दी.. उसकी सलवार मे नाडा की जगह एलास्टिक लगी हुई थी….. मेरे सामने उसकी सामली सामली सी गोल गोल गांद और उसकी येल्लो प्रिंटेड पॅंटी थी जो की चूत की जगह से बहुत गीली थी…….
वो चूत को मेरे मूह पर रख रही थी.. और मेरे लंड को बहुत जोरो से चूस रही थी… मैने पहले उसकी जांघे और खोल कर उसकी पॅंटी जहा से गीली थी उसको सूँघा उस्मै से उसकी पेशाब और उसके पानी की मिली जुली स्मेल आ रही थी……

यह कहानी भी पड़े  मोटी गांड वाली आंटी की चुदाई स्टोरी

मैने कहा रश्मि मेरी जान तुमने मूत लिया क्या …. तुम्हारी पेशाब की खुसबू तो बहुत ही अछी है मैने इतना कहते हुए वित पॅंटी उसकी चूत को अपने मूह मे भरकर चूसा….
मेरे चूसने से वो मेरा लंड अपने मूह मे कसने लगी और वैसे मे ही मोन करने लगी…..मैं भी उसकी तबाद तोड़ चूसा उसकी चुसाइ से मैंझरने के करीब था और वो भी मेरे चूत चूसने से वैसे ही झार गई….. मैने ना जाने कितनी पिचकारी उसके गले मेछोड़ी होंगी………वो बिना एक भी बूँद टपकाए मेरा पूरा पानी पी गई और वो निढाल होकर पैर मेरे सिर के दोनो ओर फैलाकर मेरे उपर ही लेट गई…. मेरा लंड अब भी उसके मूह मे था…. मैने उसकी पॅंटी चूत पर से खिसकाई तो उसकी झांते थी…… मैने चूत को सूँघा और उसे जीव से चॅटा……. तो वो चिहुक पड़ी……..

“उई….देव…. बहुत गुदगुदी होती है…. ऐसा करने से………”
‘रश्मि थोडा उठो ना…..अपने कपड़े उतारो”
‘ नही पूरे नही अभी तो मुझे तुम ऐसे ही चोदो…”
मैने कहा अभी यह खड़ा होने मे 10-15 मिनिट लेगा जब तक मुझे प्यार तो कर लेने दो….

वो उठी तो मैने उसका कुर्ता निकाला जिस्मै उसकी येल्लोयिश ब्रा मे मम्मे बाहर को निकलने को बेताब थे मैं भी पूरा नंगा हो चुका था…..

मैने रश्मि से कहा तुम्हारे हज़्बेंड तो इन दूध की घाटी मे ही मस्त हो जाते होंगे…..

” कहा जानू….. वो तो मेरे हाथ लगाते ही ढेर हो जाते है फिर मुझे अपने मूह से फारिग करते है”….
” तुम दूसरों का तो इलाज़ करती हो फिर उनका क्यों नही किया” …..
“क्या फ़ायदा.. करने से… उनका तुम्हारे लंड का 1/4थ भी नही है”

“देव मुझे जबरदस्त चोदो….. आज…. मेरी 3 साल से चुदाई नही हुई…मैं तो तुम्हारी वाइफ की चूत की हालत और कॅबिन मे तुम्हारा लंड अपनी गांद पर महसूस करके ही पानी छोड़ दी थी…..और निश्चय कर लिया था की आज चाहे कुछ हो जाए तुमसे चुदवा के रहूंगी..”

” हा रानी….. मैने उसके मम्मो को मसलते हुए.. कहा”” मैं तुम्हारी चूत का उससे भी बुरा हाल करूँगा…..

” तो करो… ना जाअँ बात मत करो….”
कही प्रीति(मेरी वाइफ) आ गई तो” मैने कहा….

” नही यार मैने उसे नींद का इंजेक्षन दिया है 11-12 के पहले नही उठ पाएगी.. और मैने तुम्हारे घर भी फोन कर दिया है की हमारे यहा डिन्नर कर रहे है लेट आएँगे”

फिर तो मैने रश्मि को पलंग से नीचे खड़ा किया और उसके रसीले होंठ को अपने होंठ मे दबाए और उसके मम्मे इस स्टाइल से दबा रहा था कि उसके दोनो निपल मेरे अंगूठे और उंगली की गिरफ़्त मे भी रहे…..

“उम्म्म…..आआ……. देववव इन्हे बहुत मस्लो…… इनकी तरफ सिर्फ़ मेडिकल कॉलेज मे प्रोफेस्सर्स ने ध्यान दिया था फिर तो किसी ने इनको देखा तक नही…”

उम्म्म्ममाआ…………….. मस्लो मैने रश्मि के माथे को चूमा और एक निपल को मरोड़ा और उसकी पीठ सहलाई…. फिर कान को चूमा फिर गले को…. और उसकी गांद को मसला….उसकी गांद के छेद को सहलाया…..मैं उसके मम्मो के इर्द-गिर्द वेट किस कर रहा था… रूम मे मेरे किस की पुचह… पुचह…. और रश्मि के मुँह से उम्म्म एयाया … सीईइ ही गूँज रहे थे……

मैने रश्मि को सोफे पर बैठाया…और उसके एक मम्मे को नीचे से चाटना और चूसना शुरू किया… जैसे ही जीव हटती उसके मम्मे से वाहा पर गहरे लाल और बाद मे नीला निशान बन जाता… रश्मि की झांतों भरी सामली सलोनी और अंदर से गुलाबी चूत उसके पानी के कारण चमक रही थी….

वो अपने दोनो पैर फैलाए हुई थी… मैने एक उंगली उसकी चूत मे जैसे ही घुसेडि… वो चिहुक पड़ी… उसकी चूत बहुत चिकनी थी उसके पानी छोड़ने के कारण और टाइट तथा गरम बहुत थी मैं एक दो बार अंदर बाहर कर के उसका जी-स्पॉट पर उंगली फेरी और उसके एक एरोला कोमुह मे भरकर निपल को बुरी तरह से चूसा… उसे स्मझ नही आ रहा था कि वो मेरे सिर अपने बूब्स पर दबाए या मेरी उंगली अपनी चूत पर…. वो पगलाती जा रही थी……. .

उई…. माआआअ… यह क्या कर रहे हो देव…… मैं पिघल रही हू….. जल रही हू…. मेरी चूत को चोदो अपने लंड से……… उम्म्म …..आआआअ….. देव… प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़

मत तडपऊ……….उम्म्म्मम………आआआ…. मैईन तो अब तुमसे चुदवाती रहूंगी……….

मैने उसके मम्मो को फ्री कर दिया था जिनपर मेरे प्यार के निशनात दिख रहे थे….

 

Comments 1

  • किसी भी भाभी या लड़की को चूदाई करानी है तो वह इस न पर काल करे मुरादाबाद से 7457088180

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!