डाइवोर्स भाभी के साथ सेक्स की शुरुआत की कहानी

बात ऑस्ट्रेलिया की सिटी ब्रिज़्बेन की है. हेलो फ्रेंड्स, मेरा नामे संग्राम है. मैं ब्रिज़्बेन में 2012 से रह रहा हू. तीस इस मी फर्स्ट स्टोरी. ऑस्ट्रेलिया में रह रहे इंडियन कपल्स में अब वेस्टर्न वर्ल्ड के कल्चर जैसे डाइवोर्स होने में देर नही लगती. यहा पर ज़्यादातर डाइवोर्स का रीज़न डोमेस्टिक वाय्लेन्स है. खैर ज़्यादा गयाँ ना देते हुए मैं सीधा स्टोरी पे आता हू.

एक बात बता डू, ये कहानी मेरी कोई कल्पना नही, बिल्कुल सॅकी कहानी है. और मैं आपसे अपना एक किस्सा शेर कर रहा हू. यहा से मेरा सीक्रेट रिलेशन्षिप वित सिंगल मदर्स स्टार्ट हुआ था.

दोस्तों तोड़ा पेशियेन्स रख के पढ़ना, क्यूंकी ये असली स्टोरी है. तो सेक्स तक बात कैसे पहुँची इसमे टाइम लगेगा. लेकिन आपके इंटेरेस्ट के लिए बता देता हू. मैं उस लड़की को मॉर्निंग में मिला था, और रात तक बात सेक्स पर पहुँच गयी थी.

बात 2022 की है. मैं करियर वन चलता था तब. मुझे मेरे एक फ्रेंड का फोन आया. उसने बताया उसकी एक रिलेटिव को घर शिफ्ट करना था, तो अगर मैं अपनी वन से उसकी हेल्प कर डू.

मैं कहा: सनडे को फ्री हू, करवा दूँगा मैं. तू भी आ जाना.

उसने बोला उसे फॅमिली के साथ सिड्नी किसी शादी में जाना था. उसने रिक्वेस्ट की मैं अकेला संभाल लू.

मैने कहा: ठीक है, तू अड्रेस सेंड कर दे.

मैं सनडे को अर्ली मॉर्निंग उसकी रिलेटिव के घर पहुँच गया. हमारी इंट्रोडक्षन हुई, और उसने अपना नाम गरिमा बताया. गरिमा इंडिया में चंडीगार्ह से बिलॉंग करती थी. उसका एक 5 साल का बेटा भी था. गरिमा सुबह से परेशन लग रही थी.

मैने कहा: गरिमा जी आप बता दो क्या समान लोड करना है वन में.

गरिमा ने बोला: बाकी सब समान तो मैने पॅक कर रखा है. क्या आप मेरी बेड खोलने में हेल्प कर सकते है?

गरिमा ने तब शॉर्ट्स के साथ लूस त-शर्ट पहनी हुई थी. ऐसा लग रहा था जैसे बहुत टाइयर्ड हो. बिना मेकप के भी वो बहुत खूबसूरत लग रही थी. मैने जब ध्यान से देखा तो उसकी फिगर बहुत ला-जवाब थी. गरिमा के बूब्स कम से कम 38″ साइज़ के होंगे. कमर 32″, आंड हिप्स भी 38″ के आस-पास होगी.

गरिमा ना ज़्यादा गोरी थी ना काली, हल्का सा सावला रंग था उसका. मैने गरिमा से ऐसे ही पूच लिया-

मैं: आपके हज़्बेंड नज़र नही आ रहे?

गरिमा मेरी बात सुन कर और परेशन हो गयी, और कहने लगी: उसकी वजह से तो आज ये दिन देखना पद रहा है.

मैने कुछ और पूछना ज़रूरी नही समझा. खैर मैने गरिमा की हेल्प से बेड खोल दिया. बेड खोलते हुए मेरी नज़र उसके थाइस पर पड़ी. मेरी तो मानो हवस जाग गयी. गरिमा के मोटे-मोटे टॅंड थाइस मेरी जान निकाल रहे थे. जब वो घूम कर दूसरी साइड के सक्रूज़ खोलने लगी, तो बैठे हुए उसकी शॉर्ट्स नीचे खिसक गयी थी. इस वजह से उसकी गांद की दरार दिख रही थी.

हमने बेड दिसाससेंबले किया आंड बाकी समान के साथ वन में लोड कर लिया. जब सारा समान लोड हो गया तो गरिमा ने कहा-

गरिमा: क्या आप पहले मेरी फ्रेंड के घर चल सकते है?

उसने अपने बेटे को फ्रेंड के घर छ्चोढना था 2 दिन के लिए, ताकि वो न्यू हाउस में अपने समान की सेट्टिंग कर सके. मेरी वन के कॅबिन में 3 सीट्स है. उसका बेटा बीच में और गरिमा कॉर्नर में बैठी थी. हमने उसके बेटे को उसकी फ्रेंड के घर छ्चोढ़ दिया.

अब हम उसके नये घर की और चल दिए, जो ब्रिज़्बेन से तकरीबन 2 घंटे की ड्राइव पर सन्षाइन कोस्ट में था. अब गरिमा सेंटर में थी. गरिमा ने मेरे बारे में पूछा तो मैने अपनी फॅमिली के बारे में बताया.

उसने पूछा: आप मॅरीड हो?

मैने कहा: हा मॅरीड हू, और मेरा भी एक बेटा है 8 साल का.

फिर गरिमा ने खुद बताना शुरू किया की उसका 15 दिन पहले ही डाइवोर्स फाइनल हुआ था. उसका हज़्बेंड डाइवोर्स लेकर कॅनडा मूव हो गया, और उसे और बेटे को बिना किसी फाइनान्षियल हेल्प के यहा छ्चोढ़ गया. गरिमा बात करती हुई हल्का-हल्का रो भी रही थी. मैं उसकी बातें बहुत ध्यान से सुन रहा था.

गरिमा ने कहा वो बाद मेमोरीस के साथ ब्रिज़्बेन में नही रहना चाहती थी, इसलिए दूसरे शहर में मूव हो रही थी. वो एक इट कंपनी के लिए वर्क फ्रॉम होमे करती थी, इसलिए उसे मूव करने में कोई परेशानी नही थी. फिर काफ़ी देर चुप रहने के बाद गरिमा रोने लगी, तो मैने उसका हाथ पकड़ लिया, जिस पर उसने कुछ नही बोला.

मैने उस अपने वर्ड्स से हॉंसला दिया. फिर हमारे बीच कुछ नॉर्मल बातें हुई आंड हम सन्षाइन कोस्ट पहुँच गये. गरिमा ने डोर खोला, और मैने वन से समान उतारना शुरू कर दिया.

गरिमा ने कहा: आप भी तोड़ा टाइम रेस्ट कर लो, आप भी टाइयर्ड हो गये होंगे.

हमने उबेर ईट्स से फुड आंड ड्रिंक्स ऑर्डर कर दिए. रेस्ट करने के बाद मैं उसका सारा समान अंदर ले आया. गरिमा ने मुझे बहुत बार थॅंक्स कहा और बोला-

गरिमा: अगर आप जाना चाहते हो तो जेया सकते हो.

मैने कहा: कोई बात नही, मैं घर बोल कर आया हू की लाते अवँगा. और मुझे आपके कज़िन ने बोला है के सारी सेट्टिंग करवा के आना.

उसको भी जैसे मेरी कंपनी चाहिए ही थी. मैने उसकी किचन आंड बाकी रूम्स की सेट्टिंग करवा दी. एंड में उसका बेड असेमबल किया. जब टाइम देखा तो रात के 9 बाज गये थे.

गरिमा ने बोला: आपको बहुत देर हो गयी. आप चाहो तो रात रुक सकते हो.

मुझे भी आइडिया सही लगा, क्यूंकी मेरा डीपो ब्रिज़्बेन और सन्षाइन कोस्ट के सेंटर में था. मैने सोचा सुबह यही से सीधा काम पर चला जौंगा. मैने घर फोन करके बोल दिया की मैं अपने एक फ्रेंड के घर जेया रहा था, और सुबह वाहा से ही काम पर जौंगा.

गरिमा ने बोला: आप बेड पर सो जाना, और मैं दूसरे रूम में कार्पेट पर सो जौंगी.

मैने कहा: नही, बेड पर तो आपको सोना होगा. आंड मैं काउच पर सो जौंगा.

गरिमा ने पूछा: आप ड्रिंक करते हो?

मैने कहा: हा.

गरिमा ने किचन में एक बॉक्स अनरॅप किया और उसमे से विस्की की बॉटल निकली.

उसने कहा: जब से मेरी हज़्बेंड के साथ बिगड़ी है, तब से मैने भी ड्रिंकिंग आंड स्मोकिंग शुरू कर दी है.

हम दोनो ने दो-दो पेग मारे, और सिगरेट्स भी फूकी. अब गरिमा कुछ रिलॅक्स्ड लग रही थी. हम दोनो एक साथ टू सीटर काउच पर बैठे थे, और दोनो ने टांगे टेबल पर रखी हुई थी. दोनो ने कपड़े चेंज नही किए थे, तो दोनो से स्वेटिंग की स्मेल आ रही थी. मुझे गरिमा के स्वेट की स्मेल मदहोश कर रही थी.

गरिमा ने फिरसे अपने हज़्बेंड की बातें शुरू की, और बताया की उनका रिलेशन्षिप तो लगभग एक साल से ख़तम था. वो दोनो रह भी अलग-अलग रहे थे. और वो फिर से रोने लगी. मैने गरिमा के कंधे पर हाथ रख लिया, और उसका हाथ पकड़ लिया. गरिमा ने अपना सिर मेरी कंधे पर रख लिया, और बैठे-बैठे ही मुझसे हग कर ली और रोने लगी.

मैने भी उसको हग कर लिया, और उसकी पीठ सहलाने लगा. वो 10 मिनिट तक ऐसे ही मुझे हग करके लेती रही. अब मैने उसकी गांद से लेकर गर्दन तक पीठ सहलानी शुरू कर दी थी. मुझे गरिमा के बूब्स मेरी चेस्ट की साइड में फील हो रहे थे. फिर 10 मिनिट बाद वो मुझसे अलग हुई और हमने एक-एक और पेग बनाया.

सिगरेट पीने के लिए हम बॅकयार्ड में गये. जब अंदर आने लगे तो गरिमा ने बोला रूको एक मिनिट. फिर पता नही उसके मॅन में क्या आया, की उसने मुझे ज़ोर से हग की, आंड मुझे स्मूच करने लगी. मैने भी अब उसको कस्स के पकड़ लिया, और उसके होंठो को ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगा. मैं उसे अंदर ले आया. अंदर आ कर हमने फिरसे ज़ोर से स्मूच किया.

इसके आयेज क्या हुआ, ये आपको कहानी के अगले भाग में पता चलेगा. मुझसे बात करने के लिए [email protected]

पर मैल करे.

यह कहानी भी पड़े  ऑनलाइन मिली भाभी की होटेल में चुदाई की कहानी


error: Content is protected !!