दिन दिहाड़े चुदाई साली की चूत

हेलो, दोस्तो मेरा नाम सुखविंदर है. और मैं पंजाब से हूँ. मेरी उमर 28 साल है और मेरी शादी को 2 साल हो चुके है. मेरी वाइफ हरयाणा की है. मेरी वाइफ का नाम रेणु है वो बहोत ही सेक्सी है. एकदम गोरी, भरा हुआ जिस्म. शादी से पहले वो एकदम पतली थी.

पर शादी के 2 महीने बाद ही उसका फिगर चेंज होने लग गया. शायद उसे मेरे लंड का पानी लग गया था. मैं उसे रोज चोदता था और मेरी वाइफ को भी मेरा डेली सेक्स करना बहोत अच्छा लगता है. मेरी कोई सग़ी साली नही थी.

मेरी वाइफ के चाचा जी की एक लड़की थी. जो की मेरी साली लगती थी. वो भी बहोत कमाल की है. साली किसी भी जगह से मेरी वाइफ से कम नही थी. बल्कि उससे ज़्यादा ही थी मुझे शुरू से उसे चोदने का बहोत दिल करता था. पर अभी कुछ ऐसा नही हो रहा था जिससे मैं उसे आसानी से चोद सकु.

मुझे अभी तक ऐसा मोका नही मिला था जिससे मैं रीता को चोद सकूँ. वैसे रीता मेरे साथ काफ़ी ज़्यादा घुली हुई थी. उस पर मेरा आधा हक था जिसका मैं पूरा फयडा उठाता था. मुझे वो बहोत सेक्सी लगती थी क्योकि उसकी उमर अभी 20 साल ही थी. वो कॉलेज मे पढ़ती थी. जिस वजह से वो काफ़ी सेक्सी और हॉट कपड़े भी डालती थी.

एक दिन मुझे उसे चोदने का मोका मिल ही गया. सॅटर्डे का दिन था मैने ऑफीस से छुट्टी ली हुई थी. क्योकि घर पर मेरी वाइफ नही थी वो अपने घर गयी हुई थी. और मैं एक दिन पूरा घर पर अकेला आराम करना चाहता था. आप को तो पता ही है अगर घर मे वाइफ हो तो आप छुट्टी के दिन भी आराम नही कर सकते हो.

मैं घर मे बैठा आराम से टी.वी देख रहा था. करीब 10 बज रहे थे मैं नहा धो कर ब्रेकफास्ट भी कर लिया था. तभी मेरे पास मेरी साली का फोन आया. उसने बताया की मैने बताया तक नही की दीदी घर गई हुई है. उसने कहा की वो घर आ रही है, मैने कहा ठीक है आ जाओ. मैने सोचा भी नही था की आज वो मुझसे चुदने वाली है.

वो घर आई मैने उसका अच्छे से वेलकम किया. उसको पीने के लिए कोल्डड्रिंक दी. कुछ देर बाद वो मेरे साथ चिपक कर बैठ गई और टीवी देखने लग गई. कुछ देर मे टीवी पर हॉट सीन्स आने लग गये मेरा दिमाग़ खराब होने लग गया. क्योकि एक तो इतनी हॉट लड़की मेरे साथ चिपक कर बैठी थी.

यह कहानी भी पड़े  18 साल की जवान लड़की की सील तोड़ी

मैने हिम्मत करके उसके बूब्स पर हाथ रख दिया. रीता कुछ नही बोली मेरी हिम्मत बढ़ गई. और मैने उसके टॉप मे हाथ डाल लिया और उसके बूब्स को मसलने लग गया. मैने देखा की आज साली ने ब्रा नही डाली है. तभी मैं हैरान रह गया रीता का हाथ मेरे लंड के उप्पर था और वो उसे मसल रही थी.

तब मैने उसकी आँखो मे देखा और एकदम सेक्सी सी स्माइल देने लग गई. मैं समझ गया की ये साली आज चुदने के लिए ही आई है. मैने झट से उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए. और ज़ोर-ज़ोर उसके होंठो को चूसने लग गया. मैने ज़रा भी टाइम खराब नही किया. मैने उसे अपनी गोद मे उठया और बेड रूम मे ले गया.

हम दोनो जल्दी से एक दूसरे के कपड़े उतारे और पूरे नंगे हो गये. रीता मेरा लंड अपने हाथ मे पकड़ कर कहने लगी. जीजू आप का लंड सच मे बहोत मस्त है. मेरा यहाँ आना आज सफल हो जाएगा. फिर क्या था मैने अपना लंड उसके मूह मे थुस दिया और धक्के मार-मार कर अपनी साली का मूह चोदने लग गया.

रीता पूरी मस्ती मे मेरा लंड चूस रही थी. फिर हम दोनो 69 की पोज़िशन मे आ गये. और मैं उसकी चूत चूसने लग गया और वो मेरा लंड चूसने लग गई. उसकी मूह की गरम थूक ने मेरे लंड का पानी निकाल कर रख दिया. जिसे वो सारा पी गई और मैने उसकी चूत को चाट-चाट कर उसका पानी पी लिया. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

अब बारी थी की मैं अपना लंड उसकी चूत के अंदर उतार दू. मैने रीता को बेड के किनारे पर लिया और खुद नीचे खड़ा हो गया. मैने उसकी दोनो टाँगे उप्पर अपने कंधे पर रखी और अपना लंड उसकी चूत पर सेट कर दिया. और एक जोरदार धक्के के साथ अपना लंड उसकी चूत मे उतार दिया.

लंड अंदर जाते ही मुझे पता लग गया की ये साली एक नंबर की रांड़ है. क्योकि मेरा लंड बहोत ही आसानी से उसकी चूत मे चला गया था. तभी मैने सोच लिया था की अब इस साली की मैं गांड भी मारूँगा. करीब 15 मिनिट तक की जबरदस्त चूत की चुदाई के बाद मैने अपने लंड का सारा पानी उसकी चूत मे ही निकाल दिया था.

उसकी चूत और मेरे लंड का पानी मिक्स हो कर बाहर आ रहा था. जो की सच मे बहोत मस्त लग रहा था. मैं उसके चुत्तड़ थोड़े उप्पर उठाए और मैने देखा की रीता की गांड का छेद बहोत छोटा और गुलाबी है. मेरा लंड तभी फिर से खड़ा हो गया.

यह कहानी भी पड़े  रात को सोते समय पापा ने गरम कर दिया

मैने चूत से निकलते पानी से अपने लंड को आगे से पूरा गिल्ला कर लिया. और उसी पानी से उसकी गांड को भी पूरा गीला कर लिया. रीता समझ गई थी की अब उसकी गांड फटने वाली है. मैने तभी उसकी गांड पर अपना लंड फेरा और धीरे-धीरे उसे मस्त करना शुरू कर दिया.

आख़िर मे मैने अपना लंड उसकी गांड के छेद पर सेट किया. और खुद उसके उप्पर आकर उसके होंठो को चूसने लग गया. वो भी मेरा साथ देने लग गई थी. मैने उसकी जीब को अपने मूह मे लिया और उसी टाइम मैने नीचे इतनी ज़ोर से धक्का मारा की मेरा आधा लंड उसकी गांड मे घुस गया था.

रीता चिल्ला भी नही पाई पर वो मेरे नीचे तड़पने लग गई. पर अब कुछ नही हो सकता था. इससे पहले वो दर्द से थोड़ा सा संभल पाती मैने एक और धक्के से अपना पूरा लंड उसकी गांड मे उतार दिया. रीता रोने लग गई. उसकी आँखो से आँसुओ की बाढ़ आ गई थी. जिसे मैं पी रहा था. पर मैने उसकी एक ना सुनी और ज़ोर-ज़ोर से उसकी गांड मरने लग गया.

करीब 25 मिनिट तक मैने उसकी गांड मारी जिससे उसकी गांड एकदम खुल गई. और अब मेरा लंड बड़ी आसानी से उसकी गांड मे अंदर तक जा रहा था. अब रीता भी अपनी गांड को उठा उठा कर बहोत मज़े से अपनी गांड मरवा रही थी. मेरे लंड ने फिर से अपना सारा पानी उसकी गांड मे भर दिया. और फिर मैं उसके उप्पर ही लेट गया.

उस दिन मैने उसे शाम को 5 बजे तक खूब अच्छे से चोदा वो उसी दिन से मेरी साली मेरी दीवानी हो गई थी. जब तक उसकी शादी नही हुई तब तक मैं उसे होटेल मे ले जा कर चोदता रहा. जब से उसकी शादी हुई है तब से ले कर आज तक मैने उसे फिर नही चोदा.

मुझे अक्सर अपनी मस्त रीता साली की याद आती है. अब फिर से वो मुझसे चुदि तो वो भी आप को ज़रूर बताऊंगा. फिलहाल आप मुझे ये बताओ की आप को मेरी ये कहानी कैसी लगी. और नीचे दिए हुए कॉमेंट्स बॉक्स मे मुझे अपने विचार लिख कर ज़रूर बताना. मुझे आप के कीमती कॉमेंट्स का इंतेजार रहेगा.

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!