दी के लिए स्पेशल सर्प्राइज़

हेलो एवेरिवन, मैं सिद्धार्ट वापस आया हू अपनी स्टोरी कामिनी दी का थर्ड पार्ट ले के.

अब तक मैने आप सभी को अपने और दी के मेषर्मेंट के बारे मैं ज़्यादा कुछ नही बताया है आंड मेरे दोनो पार्ट्स मैं ज़्यादा रोमॅन्स आंड सेक्स भी नही था लेकिन ये कुछ फॉर्वर्ड रहे गी तो आपको डीटेल्स दे देता हू.

मेरी आगे स्टोरी के वक़्त 18 थी आंड मेरी हाइट उस वक़्त 5’5 रही होगी. उस वक़्त मैं एक स्लिम लड़का था आंड एक आवरेज स्मार्ट बॉय मेरे लंड का साइज़ 6 इंच के सम्तिंग था.

आंड दी की आगे उस वक़्त 23 रही होगी वो एकद्ूम कर्वी गर्ल थी. अब भी कर्वी है उनका फिगर उस वक़्त 34-30-32 का रहा होगा .वो एकद्ूम गोरी नही थी ना एक दूं सवली थी उनका रंग फेर था. और आज भी वैसा ही है बस बदलाव आया है तो उनके फिगर मे और आगे मे.

आप फिगर को देख के सोच ही सकते है वो क्या माल है किसी का भी लंड खड़ा कर्दे. ज़्यादातर वो सूट पहनती थी तो सूट मैं से उनके बूब्स बाहर आने को रहते थे और उनके हिप्स बिल्कुल शेप मैं थे सूट के बाहर से.

अब चलिए स्टोरी शुरू करता हू..

अभी तक आपने पढ़ा की..

दी के हब्बी गे थे और वो उनसे परेशन थी उनकी ख्वाहिश पूरी नही हो सकती थी. और ये जान के मुझे बड़ी खुशी सी हुई अंदर ही अंदर और मैने उनकी ख्वाहिश पूरी करने का मॅन बना लिया और उनको रात को रेडी रहने के लिए कहा.

अब आयेज…

मैने दी से कहा की दी एक बात बताओ ऐसे कोंसि ख्वाहिश है आपकी जो आप शादी के बाद ही पूरा करना छाती थी?

तो उन्होने बताया की…

मैं हनिमून पे कही ठंडी सी जघा जाना छाती थी. वाहा रूम मैं मस्ती और हर जघा मस्ती करना छाती थी. ड्रिंक करना चाहती थी फर्स्ट आंड लास्ट टाइम, और फुल ओं एंजाय करना चाहती थी.

मैने कहा ऊऊ इतना सब बस यार क्यू टेन्षन ले रही हो सब होगा टेन्षन मत लो.

दी- कैसा ना लू तेरा जीजा कुछ करने लायक ना है.

मे- मैं हू तो सब करूँगा आपका भाई है बस आप रात को रेडी रहना और जो आपको शादी के बाद पहने का कम था वही पहना.

दी- क्या करना वाला है तू अब देख कोई ड्रामा मत करियो मैं वैसे ही बहोट परेशन हू.

मे- आपको भरोसा है ना मुझ पे?

दी – बहोट बुत…

मे- कुछ नही होगा आप रेडी रहो.

फिर मैं इतना कह के उनको हग कर के चला गया. अब टाइम हो रहा था शाम के 5 और मुझे 8 बजे तक सारी टायारी करनी थी. मैं सारी टायारी मैं लग गया आंड खुद भी रेडी हो गया.

मैने पहने था एक ब्लॅक जीन्स, वाइट शर्ट आंड ब्लॅक ब्लेज़र. और मैं रेडी हो के दी के घर पौच् गया.

वाहा सब थे चाचा चाची दोनो भेने तो सबको बोला दी कहा है तो चाची बोली वो उपर है.

फिर चाची बोली तू टाइम से आ गया अछा है तू कामिनी के साथ उसके फ्रेंड के बर्तडे मैं साथ जेया रहा है वरना वो अकेली कहा जाती.. (मैने ही दी को म्स्ग कर के बोला था कोई बहाना लगाने को ताकि कोई कुछ कहे ना की कहा कैसे जेया रहे हो).

मैने कहा हा चाची दी ने बोला तो मुझे तो जाना ही था.

फिर मैं दी के रूम की तरफ चल पड़ा दी के रूम को नॉक किया तो दी ने आवाज़ दी आजा सिड अंदर.

मैं अंदर गया तो दी अपने बाल बना रही थी और मिरर की तरफ फेस कर के खड़ी थी. उन्होने रेड कलर का गाउन फीना हुआ था स्लीवलेशस जिसमे से उनके हिप्स बाहर की तरफ निकल रहे थे.

फिर उन्होने कहा बेत जेया बस मैं रेडी हो ही गयी. उन्होने अपने बाल सेट किए और अपने गाउन की चैन लगाने लगी. बुत उनका ठीक से हाथ नही पौच् रहा था तो मैने जेया के उनकी हेल्प की और चैन बंद करदी.

अचानक से मेरे चैन बंद करने से वो दर्र गयी और उनकी साँस तेज हो गयी. फिर उन्होने मुझे मिरर मैं देखा और थॅंक्स बोला मैने कहा इट्स ओकक फिर मेरी नज़र मिरर पे पड़ी.

वाउ क्या नज़ारा था भाई देख के ही दिल की धड़कन तेज हो गये और मैं रोंगटे छा गये.

दी ने माँग बाहर रखी थी आँखो पे आइलाइनर आंड कुछ मास्कारा टाइप लिप्स पे रेड ही लिपस्टिक. रेड गाउन डीप नेक और डीप नेक की जघा नेट लगा हुआ था रेड ही. जिसमे से उनके क्लेवगे दिख रहे थे और बूब्स मानो कह रहे हो भाई हुमको बाहर निकालो. मैं तो उनको देखता ही रह गया. पहली बार इतनी खूबसूरत लड़की मैने देखी थी मैं तो खो गया उनमे.

फिर दी ने जब आवाज़ दी तब मुझे होश आया और मैने दी को बोला यार क्या हॉट लग रही हो! किसी आक्ट्रेस से कम नही लग रही हो! आपको देख के तो कोई भी पागल हो जाए.

अपनी तारीफ़ सुन के वो शर्मा गयी आंड मुझे तांकष बोला और कहा की तू भी कुछ कम नही लग रहा है. स्मार्ट लग रहा है, कितनी लड़की घायल करेगा और मैं हास गया.

अब हम नीचे जाने लगे और सबको बाइ बोल के कार की तरफ जाने लगे.

मैने दी के लिए कार का गाते ओपन किया आंड उनको बिताया आंड मैं खुद ड्राइविंग सीट पे बेत गया. दी ने कहा अब रेडी भी हो गये कहा ले जेया रहा है बता ना?

तो मैने कहा सबर करो. और कार की बॅक सीट पे से रोज़ का बोकेः उठा के उनको देते हुई कहा ये रोज़ आज सिर्फ़ मेरे रोज़ के लिए. दी के फेस पे स्माइल आ गये और उन्होने थॅंक योउ बोला.

मैने कार स्टार्ट की और हम चल पड़े. सिटी से करीब 15 केयेम दूर जाना था हुमको. वो एक क्लब था जो आज के लिए स्पेशल ही मैने दी के लिए बुक करा हुआ था आंड अपने सभी फ्रेंड्स को भी बुलाया था. वो दी को भी आचे से जानते थे आंड मैने उनको बताया था की दी के घर आने की खुशी मैं पार्टी रखी है.

कुछ देर बाद हम क्लब पौच् जाते है क्लब को देख के दी बोलती है यहा क्यू लाया है. मुझे लगा किसी रेस्तूरंत वगेरह मैं ले जाएगा.

मैने कहा अरे आप चलो तो सही…

फिर हम दोनो अंदर जाने लगे और मैने फ्रिंड्स को म्स्ग कर दिया की हम आ रहे है.

दी ने जैसी ही गाते ओपन किया तभी ज़ोर से सोर आया… सुप्रिसीईए कामिनी दी हॅपी मॅरेज… आंड उपर से फ्लवर गिर रहे थे दी इस सब को देख के बहोट खुश हो गयी और मेरी तरफ देख के स्माइल कर के अपनी स्माइल जाहिर की.

मे- कैसा लगा आपको?

दी- बहोट अछा है तूने ये सब कब प्लान किया?

मे- जब आपसे रेडी होने के लिए बोला तभी.

दी ने मुझे थॅंक्स बोला और हग कर किया कॅष्यूयली वाला.

फिर मैने दी को सबसे मिलया आंड सब दी को मॅरेज विश करने लगे. वाहा पे खाना दारू डॅन्स सब का इंतज़ाम था. फिर वाहा सब पार्टी एंजाय करने लगे सब डॅन्स करने लगे कपल वाले कपल के साथ बिना कपल वाले अकेले.

दी इतनी मस्त लग रही थी की मेरे कुछ फ्रेंड भी उनको घुरे जेया रहे थे बुत मेरी वजा से कुछ नही कह पा रहे थे. फिर मैने दी को ऑरेंज जूस ऑफर किया आंड हम दोनो जूस पीने लगे.

आप सभी को मैं बता डू मैं ड्रिंक आंड स्मोक नही करता हू.

फिर मैने दी को डॅन्स के लिए ऑफर किया दी भी मान गयी. अब क्लब मैं कपल डॅन्स की बारी थी तो सारी लाइट ऑफ हो गयी आंड बहोट कम लाइट मैं सब डॅन्स करने लगे.

मैने दी को बोला रहने देते है डॅन्स यहा सब कपल हो रहा है इसके बाद करेंगे. बुत दी बोली चल ना यार करते है तूने बोला है तो अब पीछे मत हाथ.

तो हम दोनो पौच् गये डॅन्स करने. ना मुझ को डॅन्स सही से आता था ना दी को.

मैने एक हाथ उनकी कमर पे रखा और एक हाथ अपने हाथ मैं ले लिया. अब हम धीरे धीरे स्टेप करने लगे जैसे भी हो रहे थे कौन देखने वाला था वैसे भी.

डॅन्स करते करते हम बहोट करीब आने लगे उनके बूब्स मेरे चेस्ट से टकराने लगे. फिर मैने उनको एक बार घूमया और हम तोड़ा ओपन होने लगे. अबकी बार दी ने दोनो हाथ मेरे गर्दन मैं पकड़ लिए और मैने अपने दोनो हाथ उनकी कमर पे रख लिए आंड डॅन्स करने लगे.

इस स्टेप से हम और नज़दीक आने लगे उनकी साँसे भी मुझे फील होने लगी थी. मैं गरम होने लगा था और शायद दी भी.

फिर मैने उनको पलटा और उनकी पीठ मेरी तरफ हो गये मेरा हल्का हल्का खड़ा लंड उनके हिप्स पे टच होने लगा. ये बात उनको भी फील हो गये होगी शायद.

मैने अब उनकी कमर पे हाथ रखा और डॅन्स करने लगा. उन्होने अपने हाथ मेरी गर्दन पे कर लिए उल्टे ही अब मेरा पूरा लंड उनको चुप रहा था.

फिर मैने उनका फेस अपनी तरफ किया और हम दोनो ही उस वक़्त गरम हो चुके थे. मैने अपना हाथ उनके फेस पे रखा आंड उनके लिप्स पे अपने लिप्स रखने लगा की तभी लाइट ओं हो गयी और हम दोनो अलग हुए. सब क्लॅपिंग करने लगे आंड हम दोनो एक दूसरे से थोड़ी देर नज़र भी ना मिला पा रहे थे.

हमारी पार्टी को 10 बाज गये थे आंड 11 बजे तक मेरा घर पौचने का प्लान था.

दी दूर दूर रह रही थी मुझसे, सब से बाते कर रही थी. फिर मैने हीमात कर के उनको अपने पास बुलाया और कहा की खाना कहा लेते है आंड आपकी एक और विश भी तो पूरी करनी है तो कम ही खाना.

तो दी बोली कोंसि विश?

मैने कहा वेट करो…

फिर हम दोनो ने खाना फिनिश किया आंड पार्ट ओवर होने लगी. सब जाने लगे कुछ ही फरन्डस रह गये थे मेरे. फिर मैं दी को साइड मे ले गया और उनको दारू की बॉटल दी और बोला आपकी ये विश.

दी- तू पागल हो गया है मैं यहा कैसे पियूंगी ये और मैं नही पीने वाली वो विश अलग थी हब्बी के साथ थी.

मे- तो मैं हू तो आपके साथ.

दी- लेकिन मैं यहा नही पी सकती, मैने कभी पी नही है मुझे यहा दिक्कत होगी एक काम कर तू भी मेरे साथ पी.

मे- दी आपको तो पता है मैं नही पिता.

दी- तो मैं कॉन्सा पीटी हू आज फर्स्ट आंड लास्ट टाइम पिएँगे तू भी ले ले मेरे साथ प्लीज़..

मे- यार बुत मुझे ड्राइव भी करनी है और मैं अगर पी के लुढ़क गया तो घर कैसे जाएँगे.

दी- ये भी सही बात है चल ऐसा करते है घर चलते है टेरेस पे चल के पिएँगे आराम से. कुछ ज़्यादा नशा हुआ भी तो घर पे ही तो रहेंगे.

मे- अरे वाहा दी दी आप तो बड़ी समझदार हो.. और ये कह के मैने उनके चीक्स खिच दिए.

पार्टी पूरी तरह ओवर हो चुकी थी. मेरे बाकी के फ्रिंद भी घर जाने लगे. मैं और दी भी घर के लिए निकालने लगे. मैं बॉटल कार मे रखड़ी और दी को बिता और हम घर के लिए निकल गये 10:30 का टाइम हो रहा था.

तो बे कंटिन्यूड…

दी ने दारू पी या ना और मैने दी को कब कोहड़ा कैसे कोहड़ा नेक्स्ट पार्ट मैं जाने गे आप सब..

यह कहानी भी पड़े  Mera Kamuk Badan Aur Atript Yauvan- Part 2

error: Content is protected !!