देसी कहानी सहेली का धोखा के बाद चुदाई

हैल्लो दोस्तों, आज में आप लोगों से मेरी एक सहेली की एक स्टोरी शेयर करना चाहती हूँ. उसका नाम नीतू है, उसकी उम्र 26 साल है और उसका फिगर साइज 34-28-36 है और वो दिखने में भी काफ़ी सुंदर है. नीतू के एक बॉयफ्रेंड था, जिसका नाम विनोद था. नीतू और विनोद एक दूसरे से बहुत प्यार करते थे. नीतू कुछ मॉडर्न ख्याल की लड़की है, वो प्यार में सब कुछ चाहती थी, लेकिन विनोद उससे शरीरिक सम्बन्ध नहीं रखना चाहता था, लेकिन नीतू की ज़िद्द पर विनोद ने पहली बार उसे किस किया.

उसने कुछ दिन के बाद उसके बूब्स सक किए और कुछ दिन के बाद उनके बीच शरीरिक सम्बन्ध कायम हो गये. अब शुरू-शुरू में तो विनोद नीतू से बहुत ज़्यादा प्यार करता था, लेकिन नीतू उसे लेकर सीरीयस नहीं थी, इसलिए वो कभी भी उसकी कोई बात नहीं मानती थी और ना ही उसे टाईम पर मिलने आती, वो हमेशा लेट आती थी और लड़कों से बातें करती थी और उनके साथ बाइक पर घूमने जाती थी और घंटो फोन पर बातें करती थी.

फिर जब विनोद उससे कहता कि जरूरत हो तो लड़कों से बातें किया करो, वरना तुम्हारा बेवजह उनसे बातें करना और उनके साथ घूमना मुझे पसंद नहीं है, लेकिन नीतू उसकी बात को नहीं मानती थी और उससे कहती कि ये आखरी बार है, आगे से ऐसा कभी नहीं होगा. फिर एक बार नीतू का कोई ऑफिस ट्रिप दिल्ली गया और उस ट्रिप पर कोई भी स्टाफ की लड़की नहीं गयी थी और अकेली नीतू गयी थी, वो भी 4 लड़को के साथ.

विनोद ने नीतू को काफ़ी मना किया, लेकिन नीतू नहीं मानी और उन लड़कों के साथ घूमने चली गयी. बस उस दिन के बाद उन दोनों के बीच में लड़ाईयाँ कुछ ज़्यादा ही शुरू हो गयी, लेकिन लड़ाईयों के बावजूद जब नीतू का सेक्स करने का मन करता तो वो विनोद के पास चली जाती और उसे सेक्स करने के लिए मनाती और वो कुछ देर के बाद तैयार भी हो जाता था.

यह कहानी भी पड़े  बहन की सहेली को बहन की मदद से चोदा

अब धीरे-धीरे नीतू भी विनोद को बहुत प्यार करने लगी थी. अब इसी तरह से उन दोनों की लाईफ चल रही थी कि विनोद के घरवालों ने विनोद का रिश्ता कहीं और कर दिया. फिर नीतू को जब इस बात का पता चला तो वो अंदर से बिल्कुल टूट गयी. अब वो सारी-सारी रात रोकर गुजारती थी. अब उसे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि वो क्या करे? फिर उसी वक़्त उसके एक ख़ास जिसका नाम आनंद गुप्ता था उसने उसकी काफ़ी मदद की, वो उसे समझाता था कि दुनियाँ में ये सब कुछ तो होता रहता है इसलिए अपनी लाईफ दुबारा नये तरीके से दुबारा शुरू करे.

फिर धीरे धीरे नीतू को उसकी बात समझ में आने लगी कि भूतकाल के पीछे भागने से कुछ हासिल नहीं होगा, तो वो विनोद को भूलने की कोशिश करने लगी और विनोद को भूलने की कोशिश में वो आनंद के कब करीब आ गयी? यह खुद उसे भी पता नहीं चला था. फिर एक बार वो दोनों इंटरनेट कैफे पर कुछ काम से गये तो वहाँ कैबिन बने हुए थे, तो वो दोनों एक कैबिन में बैठ गये और काम करने लगे थे.

कुछ देर के बाद आनंद ने धीरे से अपने एक हाथ को नीतू की कमर में डाल दिया, लेकिन फिर भी नीतू ने आनंद को कुछ नहीं कहा. यह देखकर आनंद की हिम्मत बढ़ गयी और उसने नीतू को किस कर दिया, लेकिन आनंद के किस करने पर नीतू चौंक गयी और बोली कि आनंद ये क्या कर रहे हो? तो तब आनंद ने कहा कि क्या हुआ नीतू डार्लिंग? मैंने कुछ अलग तो नहीं किया, जो सभी लोग प्यार में करते है में वही तो कर रहा हूँ, क्या यह गलत है? तो यह सुनकर नीतू ने कहा कि नहीं गलत तो नहीं है, लेकिन डर लग रहा है, में एक बार प्यार में चोट खा चुकी हूँ.

यह कहानी भी पड़े  पारूल दीदी का भीगा बदन

आनंद ने कहा कि हर कोई एक जैसा नहीं होता है, मुझ पर विश्वास करो और यह कहकर उसने नीतू को अपनी बाँहों में जकड़ लिया और उसे चूमने लगा था. फिर काफ़ी देर तक चूमने के बाद उसने नीतू से कहा कि क्या तुम मेरे साथ मेरे घर चलोगी? आज मेरे घर पर कोई नहीं है.

कुछ देर तक आनाकानी करने के बाद नीतू आनंद के साथ उसके घर जाने के लिए तैयार हो गयी और उस दिन उन दोनों के बीच शरीरिक सम्बन्ध बन गये और उस दिन के बाद तो नीतू और आनंद ने काफ़ी बार सेक्स किया.

काफ़ी दिनों के बाद नीतू ने आनंद से शादी के लिए कहा तो आनंद ने उसकी बात को घुमाकर खत्म कर दिया और वो नीतू को बाहर घूमने के लिए मनाने लगा और नीतू तैयार भी हो गयी और फिर वो दोनों शिमला चले गये और शिमला में आनंद ने नीतू को जबरदस्त ढंग से चोदा और कई बार चोदा, वो कहीं नहीं घूमा और न ही नीतू को घुमाया और सारे दिन कमरे में नीतू को चोदता रहता और फिर 4-5 दिन के बाद वो लोग वापस आ गये और वहाँ से वापस आने के बाद भी आनंद ने उसे चोदना कम नहीं किया और उसे चोदने की स्पीड बढ़ा दी.

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!