कज़िन की चुदाई करी

हेलो दोस्तो, ये मेरी फर्स्ट स्टोरी है जो मई पब्लिश कर रहा हू,ये पूरी सच्ची कहानी है. मुझे झूट लिखने का कोई सूक नही है. मेरा नाम कारण है और मई चंडीगार्ह मेी रहता हू. मेरी आगे 23 है अभी और मई बोहट सालो बाद ये इश्स वेबसाइट प्र स्टोरीस पढ़ रहा हू. मेरा कोई स्टोरी वगेरह लिखने मेी इंटेरेस्ट नही है पर वैसे ही मैने सोचा सब लोग अपनी चुदाई की स्टोरीस शेर करते है तो मई भी एक कर ही देता हू.

ये स्टोरी किसी को भी चुदाई करने की प्रेरणा के लिए नही लिख रहा जस्ट मी रियल इन्सिडेंट है जो शेर कर रहा हू. अगर किसी आंटी भाभी लड़की को सेक्स करना हो तो मुझे मैल कर सकती है. मई जो हो सकता है अपने तरफ से ज़रूर करूँगा और मेरी शादी अभी नही हुई है.

बात कुछ दीनो पहले की ही है. मेरी कज़िन सिस्टर मेरी घर रहने क लिए आई थी. वो मुझसे आगे मेी छ्होटी है. मैने कभी उसके बारे मेी ग़लत नही सोचा था. उसका नाम शिवानी है. वैसे मुझे चुदाई का बोहट सूक है मैने कई बार चुदाई करी है मगर तसल्ली से नही मारी थी.

एक दिन मई घर पर सोने जा रहा था तो मुझे लगा छूट मरने का जुगाड़ करना पड़ेगा खि से कोयोकि सेक्स करने का मान तो सबका होता है. फिर मेरे दिमाग़ मेी अचानक अपनी कज़िन सिस्टर क बारे मेी गंदा ख़याल. मैने सोचा रहने देता हू क्या फयडा अगर किसी को टा ल्ग गया तो बड़ी प्राब्लम हो जाएगी की अपनी कज़िन सिस्टर को ही छ्चोड़ दिया इसने तो.

फिर भी वो थॉट बार बार मेरे दिमाग़ मेी घूम रहा था. मई सोच रहा था की कज़िन को छ्चोड़ूँगा तो ज़्यादा एफर्ट की भी ज़रूरत नही लगेगी और आसानी से छूट का भी जुगाड़ हो जाएगा. ऐसा सोचते कुछ दिन निकल गये.

फिर एक दिन मैने हिम्मत करके अपनी कज़िन को बुलाया यूयेसेस दिन घर पर कोई नही था. मैने उससे बोला की तू कपड़े वगेरा ढंग से पहना कर और उससे तोड़ा डाँटने लगा. दाँत ते हुए ही उससे गले लगा लिया और वो भी खुस हो गयी. फिर मैने उसके बूब्स दबाने लगा उससे समझ नही आया क्या हो रहा है. फिर जब मई उससे किस वगेरा करने लगा तब उससे स्मझ आया मई कुछ ग़लत करने जेया रहा हू.

वो उठ कर बाहर चली गयी और बाहर जाकर बैठ गयी. मुझे लगा सब गड़बड़ हो गयी अब ये सब को बीटीये देगी मैने जो किया. मई भी 5 मीं बाद बाहर गया और तोड़ा दूर उससे दूसरे कमरे मेी चला गया और फोन चलाने ल्ग गया. फिर वो टा नही क्या सोच कर मेरे पास आई और बोली दूसरे रूम मेी चलो कुछ बात करनी है.

मई भी चला गया फिर वो मेरे से लिपट गयी और मई भी उससे किस करने लगा. थोड़ी देर तक ऐसा ही हुआ मैने उसके बूब्स वगेरा दबाए और छूट मेी उंगली भी करी. मगर यूयेसेस दिन छूट नही मारी क्योकि मुझे दर्र था की मम्मी ना आ जाए मार्केट से. कुछ दीनो तक ऐसा ही चलता रहा मई उसके बूब्स दबाता और उसके हाथ से अपनी मूठ मरवाता था मगर उसकी छूट नही मारता था.

मुझे दर्र था खि ये प्रेग्नेंट ना हो जाए और वो भी डरती थी इसी बात से. फिर एक दिन मेरी फॅमिली वेल बाहर गये थे और उन्होने बोला था की रात 9 ब्जे तक आ जाएँगे किसी रिस्त्ेदार क घर गये थे. यूयेसेस दिन मई घर मेी अलग लेता था और बेर पी रहा था. मुझे लगा घरवाले आ जाएँगे रात तक और मेी सोने जेया रहा था.

रात क 10 या 11 ब्ज रहे होंगे की मम्मी का फोन आया की वो नही आएँगी आज रात. फिर क्या था माने बेर तो पी ही रखी थी मई मेरा छ्होटा भाई भी सो गया था. मई कज़िन क रूम मेी गया और वो जाग गयी और मुझे अपने पास बुलाई. मई भी चला गया और उससे किस करने लगा वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी.

हम गरम होने लगे बुत वो बोलने लगी तुम जाओ घरवाले आते ही होंगे. मैने उससे गोद मेी उठा लिया और मज़े से किस करने लगा और बोला आज कोई नही आने वाला आज की रात पूरे मज़े करेंगे. फिर उसके साथ रज़ाई मेी लेट गया.

मेरा तो एक ही मक़्शद था उसकी छूट मारना और वो भी सयद यही चाहती थी. फिर हम ने लाइट बंद कर दी तो वो और कंफर्टबल हो गयी और अच्छे से साथ देने लगी. मगर ठंदियो को मोसां था तो मई कपड़े नही उतरना चाहता था तो वैसे ही मई उसकी छूट मेी उंगली करने लगा और बूब्स दबाने लगा.

बेर के नशे की वजह से मुझे और ज़्यादा मज़ा आ रहा था और बेर क टेस्ट की वजह से वो भी मुझे अच्छे से किस कर रही थी. फिर मैने अपना लंड निकाला और उससे मूठ मरवाने लगा बोहट मज़ा आया था यूयेसेस दिन.

उसके बाद मई उसके कपड़े निकालने लगा पर वो टा नही क्यू माना कर रही थी. फिर भी मैने उसका तो उतार दिया और उससे अपने साथ बिना टॉप के लिटा लिया और किस करने लगा.

थोड़ी देर बाद मैने उसकी जीन्स भी ज़बरदस्ती उतार दी और उससे पूरा नंगी कर दिया. उसकी छूट पर थोड़े बात थे और उससे नंगी ही रज़ाई मेी लिटा लिया अपने साथ. फिर मैने अपने लोड पर कॉंडम चड़ाया और उसको चुदाई के लिए बोला. मगर वो वर्जिन थी तो तोड़ा दर्र रही थी. फिर भी मैने उससे किस करते हुए खुद हू मूठ मार कर कॉंडम मेी गिरा दिया और ठंडा पद कर लेट गया और बाते करने लगे.

थोड़ी देर बाद दुबारा लंड खड़ा हुआ और मैने दुबारा कॉंडम चढ़ाया और इश्स बार उसको रज़ाई से नकाला और जबारजस्ति उसके उपर चाड गया और छोड़ने लगा.

तोड़ा छोड़ने के बाद मैने उससे घोड़ी बनाया फिर थोड़े से शॉट मारे. जब निकालने वाला था तो लंड निकल कर मैने हाथ से ही कॉंडम मेी गिरा दिया और आराम से लेट गया . और वो भी नंगी ही मेरे साथ ले गयी.

जब मैने घड़ी मेी देख तो सुबह के 3 बाज रहे थे. मैने सोच अपने रूम मेी जाकर सो जाता हू. पर हो मेरे उपर चाड गयी और मुझे किस करने लगी मई भी करने लगा.

मगर मेरा ज़्यादा मॅन नही था तो मैने उससे साइड मेी लिटा दिया और बात की 2 मीं और बोला मैने सोने जेया रहा हू. पर वो जबारजस्ति मुझे जाने ही नही दे रही थी और फिर मेरे उपर नंगी ही चाड गयी और किस करने लगी.

मैने उससे बोला लास्ट बार किस कर ले मई जेया रहा हू और वो लास्ट किस हमारी कम से 5 मीं तक उसने अपनी जीभ मेरे मूह मे डाल कर रखी. फिर मैने उससे हटाया और अपने रूम मेी जाकर सो गया.

यह कहानी भी पड़े  मा और बेटे के बीच चुदाई की तड़प

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!