कॉलेज लाइफ – चुदाई की शुरुवत

हेलो दोस्तो आज मई आपको अपनी कॉलेज लाइफ की रियल स्टोरी बताने जा रही हू, स्टोरी शुरू करने से पहले मई अपना इंट्रो दे डू.

मेरा नाम पालक है और मेरी आगे 25 एअर की है, मेरा हॉट फिगर 36.30.36 और मई काफ़ी हॉट दिखती हू. तो आज मई आपको अपनी कॉलेज लाइफ की रियल स्टोरी बताने जा रही हू जिसमे सेक्स भी है और ब्दल भी है.

तो स्टोरी शुरू होती मेरी कॉलेज लाइफ से मैने कॉलेज जाना शुरू ही किया था की कॉलेज के बाहर कुछ लड़को की नज़र मुझ पे पद गयी. और पड़े भी कीयू ना मई उस टाइम भी बहुत सुंदर आंड हॉट दिखती थी. लेकिन मई कभी किसी लड़के को भाव नही देती. मेरा अंदर अपनी सुंदरता का तोड़ा ईगो था और मई किसी से डरती नही थी. लड़के मुझे से बात करने से डरते थे. मेरी फ्रेंड्स भी कभी मेरी बात नही काट सकती थी.

लेकिन एक लड़का जिसका नाम इमरान था. (इमरान मेरे कॉलेज मे सीनियर था, वो मा फाइनल मे था, मुझसे करीब 6 साल बड़ा था.)

वो मेरे कुछ ज़्यादा ही पीछे पद गया और मुझे रास्ते मे रोक के प्रपोज़ कर दिया. जिससे मुझे बहुत गुस्सा आया और मैने उसको बहुत गालियाँ दी और वाहा से निकल गयी. वही दूर खड़े उसके दोस्त ये देख कर उसपे हास रहे थे. क्यूकी एक जूनियर लड़की से उसने गलिया खा ली.

लेकिन उसने हार नही मानी और वो मेरे पेची प्डा रहा. करीब 6 महीनो बाद पता नही क्यू मुझे भी उसमे इंटेरेस्ट आने लगा. शायद इसलिए कियूकी मेरी सभी फ्रेंड्स के ब्फ थे और मेरी फ्रेंड मेरे सामने इमरान की तारीफ करती थी.

ऐसे ही कहानी आयेज बढ़ी और अट थे एंड मई इमरान से पाट गयी. मतलब् मई उसकी गफ़ बन गयी. ह्म लोग लंबी लंबी फोन पे बात करने ल्गे. वो धीरे धीरे मुझसे सेक्स की बात करने लगा.

वो मुझे चुदाई वेल जिफ भेज के रोज मेरी छूट गरम करने लगा. जिससे मुझे भी चूड़ने की चुल मचने लगी और मई उससे चूड़ने तैयार हो गयी. अपनी चुदाई के लिए मैने कॉलेज बंक मारा और इमरान के साथ उसके दोस्त के रूम पे चली गयी.

मैने उस दिन रेड टॉप ब्लॅक आंड रेड ब्रा आंड पेंटी पहनी थी. रूम पे ले जाते ही इमरान ने मुझे किस करना शुरू कर दिया.

उसने मुझे दीवार से चिपकाया और अपने दोनो हटो से मेरे दोनो बूब्स पकड़ के मुझे किस करने लगा. उफफफफ्फ़ मेरी लाइफ की पहली किस.

दोस्तो उसकी किस से मेरे पूरे शरीर मे करेंट फेल गया, मई पागल से ही गयी. वो ज़ोर ज़ोर से मेरे बूब्स दबा रहा था जिससे मुझे मज़े के साथ दर्द हो रहा था.

धीरे धीरे उसने मेरा टॉप निकल दिया और मेरी ब्रा को उपर कर के मेरे निपल्स चूसने लगा. आअहह दोस्तो मुझे बहुत मज़ा रहा था.

तभी उसने मुझे घुमाया और पीछे से मेरे ब्रा के हुक खोल दिए और मेरी बॅक पे किस करने लगा. इस टाइम तक मई पूरी गरम हो चुकी थी. तभी उसने मेरी जीन्स भी उतरवा दी और मुझे बेड पे लिटा के उपर से नीचे तक चूमने लगा. उम्म्म्मम मई अलग ही जन्नत मे थी.

जब उसको लगा की मई पूरी गरम हो गयी तो वो मुझ से बोला-

इमरान – पालक मज़ा आ रहा है तुझे?

मई – हन बहुत अच्छा लगा रहा है.

इमरान- (बूब्स दबाते हुए) तुझे किस टाइप का सेक्स पसंद है, वाइल्ड या रोमॅंटिक?

मई – दोनो चलेगा.

इमरान – मुझे वलिड छोड़ना पसंद है, बोले तो हार्डकोर, छोड़ते टाइम गलिया भी देता हू.

मई – अच्छा तुम जैसा चाहो छोड़ सकते हो.

इमरान ने एक स्माइल दी और मुझे किस करने लगा किस करते करते उसने मेरे गाल पे एक ज़ोर का थप्पड़ मारा जिससे मई तोड़ा दर गयी. पर मैने अपनी दोस्तो से सुना था की चुदाई के टाइम ब्फ थप्पड़ भी मरते है जो सेक्स का पार्ट है.

करीब 10 मीं तक ऐसे ही किस करने के बाद जब इमरान ने देखा की मेरी छूट गीली हो चुकी है तो उसने मुझे उठाया और बोला-

इमरान – बेबी मेरा लंड चूसो.

पहले तो मैने आनाकानी की बुत जब चूड़ने का नशा चड़ा हो तो मई कितना ही माना कर पाती.

मई- ठीक है लेट जाओ चूस देती हू.

इमरान- ऐसे नही डार्लिंग जैसा मई बोलू वैसा करो.

उसने मुझे खड़ा किया और बेड के नीचे घुटनो पे बिता दिया और खुद मेरे सामने आ के खड़ा हो गया. उसका लंबा तगड़ा लंड सीधे मेरे मूह के सामने था, तभी इमरान बोला-

इमरान – अब चूस, लोलीपोप जैसे मूह मे ले.

मैं वैसे ही किया, उसका लंड मूह मे लिया.. पहले तो उसका टॉप चूसा फिर धीरे धीरे उसको पूरा अंदर लेने की कोशिश करने लगी. उसका बड़ा तगड़ा लंड मेरे मूह के अंदर तक जा रहा था.

तभी इमरान तोड़ा झुका और मेरी आस पे एक ज़ोर दर थप्पड़ मारा. बहुत दर्द हुआ पर लंड मूह मे होने के कारण मेरी चीक वही डब गयी. तभी उसने मेरे सर को पकड़ा और धीरे धीरे खुद मेरे मूह को छोड़ने लगा. वो मेरे मूह मे अपना लंड अंदर बाहर कर रहा था.

आअहह उम्म उम्म आआ ही बाहर आ रही थी, वो भी रुक रुक के क्यूकी उसका लंड मेरे गले तक जा रहा था, इस बीच इमरान बोला-

इमरान – साली आज तो तुझे कुटिया जैसे छोड़ुगा बेहन की लोदी साली!

मई जो कभी किसी की एक बात नही सुनती थी आज इमरान का लंड मूह मे लिए हुए उससे ये गली खाने बे बाद और अच्छा फील कर रही थी. शायद यही होती लंड की तकड़.

तभी इमरान ने अपना लंड मेरे मूह से निकल के लंड मेरे मूह पे मारा जिससे मेरा फेस पे थूक आ गया.

इसी बीच इमरान बोला – मदारचोड़ अब बिना हाथ लगाए खुद से चूस.

मई भी ऐसा ही करने लगी, तभी इमरान ने अपना मोबाइल उठाया और उसका कॅमरा ओं किया और मुझसे बोला-

इमरान – साली लंड मूह मे ले, हाथ पीछे कर और मेरी आँखो मे देख.

मैने देखा की इमरान लंड चूस्ते हुए मेरी फोटो ले रहा है. तो मैने उसको म्ना किया पर वो नही माना. आज मई सोचती हू की ये बहनचोड़ चुदाई की भूक भी क्या चीज़ है, लड़की को लंड का गुलाम ब्ना देती. मेरी बात काटने की किसी की हिम्मत नही थी और आज मई लंड चूस्ते हू अपनी पिक लेने से माना कर रही हू जिसको इमरान ने मानने से म्ना कर दिया.

खेर कुछ पिक लेने के बाद उसने मेरे बाल पकड़ के जाम के मेरे मूह को छोड़ा और मुझे लगभग अधमरा सा कर दिया.

इसके बाद उसने मुझे मेरे बाल पकड़ के उठाया और बेड पे लिटा दिया और मेरी दोनो टॅंगो को फेला के ज़ोर ज़ोर से मेरी छूट चाटने लगा.

आहह दोस्तो मई वर्ड्स मे नही बीटीये सकी की जब वो छूट चाट रहा था तो मई कैसा फील कर रही थी. मई तो आँखे बंद करके ब्स छूट चटाई का फुल मज़ा ले रही थी. और अपनी गंद को उठा उठा के उसके मूह की तरफ ले जा रहा रही थी.

5 मीं तक छूट चाटने बाद टाइम था मेरी चुदाई का. इमरान ने मेरे दोनो पैरो को 180 डिग्री के आंगल पे मोड़ा और अपना लंड मेरी छूट पे र्ख के मेरे उपर आ गया और एकद्ूम से ज़ोर का झटका मारा.

आआअहह मेरे मूह से बहुत ज़ोर की चीख निकली और मई बिना पानी की मच्चली जैसे तड़पने लगी. मई इमरान से खुद को छुड़ाने लगी और उससे दूर भागने की कोशिस करने लगी. लेकिन उसने मुझे इतनी ज़ोर से जकड़ा था की मई उसकी पकड़ से च्छुत नि पाई.

मई – इमरान प्लीज़ प्लीज़ प्लीज़ मुझे छ्चोड़ दो बहुत दर्द हो रहा है छ्चोड़ो प्लीज़…

मई उसके सामने ऑलमोस्ट रोने सी लगी लेकिन उसका आधा लंड मेरी छूट मे ही था.

इमरान- चुप कर मदारचोड़ 2 मीं रुक जेया तेरी सील टूटी है इसलिए दर्द हो रहा है, थोड़ी देर बाद उच्छल उच्छल के लंड लेगी.

ये बोल के उसने अपना आधा लंड मेरी चुड मे डाल के मुझे पकड़े रहा. मेरी हालत मरने जैसी हो रही थी. करीब 2-3 मीं बाद ज्ब मुझे थोड़ी शांति आई तो उसने मुझे अच्छे से पकड़ा आंड एक और जो का झटका मारा जिससे उसका पूरा लंड मेरी छूट मे चला गया.

आआहाआसस छ्ोड़ूऊऊऊऊ… इस बार मेरी आँखो से आँसू आ गये लेकिन उसने मुझे नही छ्चोड़ा.

थोड़ी देर बाद ज्ब मुझे शांति आई तो उसने धीरे धीरे लंड को अंदर बाहर करना शुरू कर दिया जिससे मुझे बहुत दर्द हो रहा था.

करीब 5 मीं तक ऐसा करने बाद मुझे तोड़ा अच्छा फील हुआ और मई उसके लंड को एंजाय करने लगी. इमरान ने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी. आअहह मई ब्स बेड पे मूह खोल के सिसकिया निकल रही थी और इमरान मुझे छोड़े जा रहा था.

थोड़ी देर बाद वो झाड़ गया तो मुझे तोड़ा आराम मिला. मैने देखा मेरी छूट से तोड़ा खून आ रहा है जो मुझे पता था की सील टूटने के कारण आ रहा है.

इसी बीच इमरान कंटिन्यू मेरे बूब्स से खेल रहा था. करीब 10 मीं के बाद उसने मुझे फिर से लंड चूसने को बोला. मैने भी उसका लंड चूसा जिससे वो फिर से खड़ा हो गया.

इस बार इमरान ने मुझे घोड़ी बनाया और मेरे पीछे आ गया. तभी उसने मेरे बाल पड़के और मेरी आस पे कंटिन्यू बिना रुके ज़ोर ज़ोर से 7-8 थप्पड़ मारते हुए बोला. साली बहनचोड़ बड़ी मस्त गंद है तेरी, मई कुछ नही बोली.

तभी उसने मेरा पोज़ ठीक किया और पीछे से अपना लंड मेरी छूट मे डाल दिया. मेरे मूह से फिर सिसकिया निकालने लगी. उसने अपनी स्पीड बढ़ा दी और वो बीच बीच मे गंद पे थप्पड़ मरते हुए गाली दे रहा था.

फिर उसने छोड़ते हुए मेरे बाल पकड़ के खींचे और पीछे से मेरे उपर आ कर छोड़ने लगा. तभी वो अपना मूह मेरे पास लाया और बोला-

इमरान – साली बहुत नाटक करे है तूने पाटने मे बहनचोड़ बहुत ईगो था ना तुझमे. आज देख कुटिया बन के मेरा लंड ले रही है. साली मदारचोड़..!

मई बस आअहह उूुउउ उूउउ आआअम्म्म्मम कर पा रही थी. उसका लंड कंटिन्यू मेरी छूट के अंदर बाहर हो रहा था.

इसी बीच वो ज़ोर ज़ोर से धक्के मारे जा था था, मुझे भी अब चुदाई मे मज़ा आने लगा था. ऐसे ही 5 मीं तक छोड़ने के बाद वो फिर से झाड़ गया.

फिर हम दोनो एक ही बेड पे आराम करने ल्गे. मैने उसको किस करते हुए बड़े प्यार से पूछा. (प्यार से इसलिए क्यूकी अब मई उसका लंड ले चुकी थी, उसके सामने कुटिया बन चुकी थी, तो अब मेरे नखरे कोई काम के नही थे.)

मई – इमरान तुमने मेरी पिक्स क्यू ली? प्लीज़ डेलीट कर दो.

इमरान – हा बहनचोड़ टेन्षन मत ले विराल नही करूगा, वो पिक तो मैने एक शर्त पूरा करने के लिए ली है.

मई – कैसी शर्त?

इमरान – याद कर एक दिन तूने मुझे मेरे फ्रेंड्स के सामने गली दी थी और वो मुझ पे हास रहे थे?

मई – हन तो मैं उसके लिए पहले सॉरी बोल चुकी हू.

इमरान – हन लेकिन मैने अपने दोस्तो से शर्त लगाई थी की एक साल के अंदर-अंदर तू घुटनो पे बैठ के मेरा लंड मूह मे ले कर चुसेगी. बस वो शर्त का प्रूफ दिखाने के लिए तेरी पिक ली है.

मई – मतलब अपने दोस्तो को मेरी पिक दिखाओगे..?

इमरान – हन तो तू टेन्षन मत ले कुछ नही होगा, ज़्यादा मत सोच.

मई भी कुछ नही बोली जो होना था हो चुका था. अब मुझे रीयलाइज़ होता है की प्यार व्यार कुछ नही होता. मुझे तब लगता था की इमरान को मुझसे और मुझे इमरान से प्यार है बुत अब साँझ मे आता है की ह्म दोनो को तो ब्स चुदाई से मतलब था.

दोस्तो ये सिर्फ़ शुरुवत है, इसके बाद इमरान के साथ मिल के उसके दोस्तो ने भी मुझे छोड़ा और कॉलेज मे बहुत बड़ी चुड़ाकड़ बन चुकी थी.

आपके रिव्यू का वेट रहेगा, यदि आप मेरी आयेज की सेक्स लाइफ स्टोरी मे इंट्रेस्टेड हो तो प्लीज़ बताए. मई नेक्स्ट स्टोरी उपलोआड करूँगी

यह कहानी भी पड़े  रिक्शा वाले चाचा और मेरी कुँवारी जवानी

error: Content is protected !!