चूत का रास्पान और खुला हुआ आसमान

ही फ्रेंड्स कैसे हो आप सभी छूट वाली और लंड वेल दोस्तो. मैं आपका योगु फिर से हाजिर हू एक नयी कहानी लेकर. आप तो जानते ही हो मैं पुणे मई मंक कंपनी मैं जॉब कर रहा हू. मैं देखने मैं सेक्सी हॅंडसम और सिंगल बंदा हू.

आज की कहानी मेरे और मेरी एक रीमा नाम की भाभी जी के बारे मैं है. रीमजी और मेरी दोस्ती ऐसे ही हुई थी. और हम काफ़ी फ्रेंड्ली बाते शेर करते थे. उनके हज़्बेंड कही बाहर मैं जॉब करते है.

उनका फिगर साइज़ बहुत मस्त है. 34 30 और 38 की भारी हुई गदराई गंद. और उनकी छूट के होत बहुत रसीले बड़े बड़े मस्त और फूले हुए देखते है. जैसे मानो एक लूंबा किस करने के बाद जैसे होत फूलटे है वैसे. बस याद करता हू तो पूरा 6.7+ इंच का लंड टाइट होकर फूंकारने लगता है.

उनकी छूट मस्त फूली हुई है. छूट के होन्ट मानो जैसे किस करने को रेडी हो ऐसे लगते है गुलाबी गुलाबी . एक दिन उन्होने मुझे खाने पे इन्वाइट किया था. उनका घर बहुत आलीशान और बंगलोव है. सामने बगीचा और मस्त टहलने को एरिया भी है.

उनके घरवाले किसी फॅमिली फंक्षन मैं गये थे 3 दिन के लिए. हुँने मस्त टेरेस पर खाना खाने की सोची . और हम उनके टेरेस पर गाड़ी लगाकर वाहा बैठकर मस्त बियर की चुस्किया लेते.

एकदुसरे की आँखों में देखते बाते कर रहे थे. हमने हल्केसे नशा हो रहा था. मैने एक चिकन का पीस मेरे मूह मैं रखा और पास होकर उनको मूह से खिलाने लगा उन्होने भी मेरे मूह से चिकन पा पीस खाना सुरू किया.

जैसेही आधा पीस उन्होने खाया तब तोड़ा पीस मेरे मूह मैं बचा था .मैने भी हल्केसे उनके कामसीँ रस्सेले होतो पर मेरे होत लगते जीभ से उनकके होत चाटने लगा.

आब मैने उनको कसकर बाहों मैं पकड़के ज़ोर से उनके लिप्स चूसना शुरू किया और उनकी भारी हुई 38 इंच की बड़ी गंद को मसलने शुरू किया. आब वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे मूह मैं अपनी जीभ घुसकर चूसने लगी.

हमारे जीभ एकदुसरे की मूह मैं डालकर हम एकदुसरे को स्मूच करते हुए हमने आब एकदुसरे को नंगा करना शुरू किया.

उसके बड़े बड़े बूब्स और गोरी गोरी गदराई गंद देखकर मेरा काबू खोने लगा. हू भी आब बस पनटी मैं थी और मैं बस अंडरवेर मैं था. मैने उसके बूब्स दबाते हुए.

उनकी गंद दबाना शुरू किया. उसको गाड़ी पे लिटाकर उनके गाल नाक माथे से चूमते उनके गले पर चाटते लोवे बीते करते नीचे नीचे आने लगा. उनके निपल को डटो से हल्केसे काटता तो कभी उंगलियों के बीच में लेकर ज़ोर से मसलता.

आब उनकी गंद को सहलाते उनकी गहरी नाभि मैं जीभ डालकर सरसरते चाटने लगा. और जीभ के साथ गोल गोल घूमते नाभि और उसस्के भरा हुआ पेट को चाटने लगा.

उसकी गदराई जाँघो को सहलाते दबाने लगा. पैर पर हाथ घूमते सहलाने लगा . आब उसकी कामसीँ भारी हुई जाँघो को किस करते करते.

जाँघो के अंदर की तरफ डातों से लोवे बाइट्स करते हल्केसे धीरे धीरे काटते आब उसकी छूट की और बढ़ने लगा.

वो ज़ोर ज़ोर से सासे छोड़ रही थी. कसमसाते हुए आहें भरते हुए. मेरे सर मैं हाथो से बलों को सहलाने लगी नोचने लगी. मैने आब हल्केसे उनकी छूट के उलर पनटी पर मेरे नोस लाकर सूंघने लगा.

हल्केसे उसकी छूट को पनटी के उपर. से डटो मैं प्लादकर खिचाते हुए उसको तड़पाना शुरू किया. वो आब कसमसाते मेरे सर को पकड़ के छूट के होतो पर हल्केसे दबाने लगी. मैने उसकी छूट पर, मेरे गरम सासों की फूंकर मरते. पनटी निकलते छूट पर जीभ जे चटा .

और जीभ से छूट पर थपथपाते हुए चूसने लगा. गंद को साथ मैं ही सहलाते गंद परा चमते मरके थपतपाने लगा.

श ईीस्स स आह श बाबयी उसकी छूट से आब गरम गरम सासे चल. रही हो ऐसा लगा रहा था. मैं मस्त होकर उसकी छूट के होठों को अपने मूह मैं लेकर. चूस्ते हुए चूत मैं जीभ अंदर तक घुसके चाटने लगा था.

मैं अब छूट के अंदर जीभ घुसकर. कुत्ते की जीभ जैसे पानी पीते फड़फदते है. वैसे ही छूट मैं अंदर डालकर फड़फड़ाना शुरू किया.

वो ज़ोर से मेरा सर छूट मीं घुसके चतावा रही थी. मैने इसी बीच बड़े बड़े बूब्स को ज़ोर ज़ोर से. मसलते छाते लगते. उसके भरे हुए मस्त पेट को मसलते, सहलाते छूट को निचोड़ निचोड़ कर चूसने लगा था.

आब वो पागलो की तरहा मेरे सर को जाँघो मक्न जाकड़ कर छूट पर दबा रही थी. मैने झट से उसके पर आकर उसकी छूट पर लंड लगाकर, घिसना शुरू किया .

मेरे लंड का सूपड़ा बहुत मस्त है जिसने भी देखा है उसको पता होगा. अगर कोई देखना चाहे तो मुझे मैल करके बताना आपको देखा दूँगा फिर आप इमॅजिनेशन कर सकेंगे.

जैसे ही मैने लंड के सूपदे से चाँदी पीछे की. और उसकी छूट के होतो पर घिसने लगा. उसके बदन पे लेटकर बदन घिसते, स्मूच करने लगा. उसने भी मेरे साथ अपनी गंद. गोल गोल घूमते, लंड पर चूत को रगड़ते स्मूच चालू किया.

मेरे पीठ पर नाख़ून गाड़ते नोचने लगी तो कभी मेरे गंद को दबोचते दबाने लगी. हमारा यह कंक्रीड़ा का खेल. हम खुले आसमान के नीचे नंगे होकर मस्ती मैं एकदुसरे की प्यास को बुझाने लगे थे.

चाँद की रोशनी मैं दो प्यासे जवान बदन अपनी प्यास भुझहने माब् लगे थे. उसका गोरा गोरा भरा हुआ बदन चाँद की लाइट मैं और चमक उठा था. मैं उसके रेशमी ज़ुल्फोन मैं उंगलिया घूमते स्मूच करते. आब मैने मेरे लंड को चूत मैं सेट करते हल्केसे धक्का लगाया.

मेरा गरम गरम लंड सरसरते हुए छूट की पंखुड़ियों को चीरते हुए उसकी गरम गरम गीली छूट मैं अंदर घुस गया. उसने ज़ोर से मुझे जाकड़ कर. आब नीचे से अपनी गंद आयेज पीछे उठाते लंड को चूत की गहराई मई अड्जस्ट करवाते.

आब मेरी गंद पर थपथपाते मुझे इशारा किया. मैं भी आब ज़ोर ज़ोर से मेरे चेस्ट को उसके बूब्स दबाते हुए. अब ज़ोर ज़ोर लंड अंदर बाहर करते छोड़ने लगा. वो कसमसाते मेरे पीठ मई पंजे गाड़ते नीचे से छुड़वाने लगी.

आहह आ श फट फट आहह एस एस ओह फॅक फॅक फॅक आ की आवाज़ टेरेस पर गूँज उठी. हम दोनो बीच बीच मैं अपनी गंद गोल गोल घूमते और छूट की हर एक को ए मैं लंड का एहसास करवाते चुदाई करने लगते.

हम मस्त स्मूच करते करते बड़े मस्त होकर. खुले आसमान के नीचे नंगे होकर. मस्ती मैं एकदुसरे की बहो मे गंद उठा उठा कर चुदाई का मज़ा ले रहे थे.

रात के समय होने पर किसी को कुछ समझने का भी दर नही था. आब उसने उठाकर मेरी गले पर लोवे बाइट्स करे और मेरे गले लगकर मुझे हटते. आब वो मेरे उपर आकर मेरे लंड को चाटने लगी.

वो कसमसाते आहे भरते. मेरे लंड को मूह मैं लेकर चूस्ते हुए. मेरे गोटियों को दबाते. और मेरे चॉककलेटी सूपदे को मूह मैं लेकर. लोल्ल्यपोप की तरहा चूस रही थी.

मैं ज़ोर ज़ोर से आहे भरते. उसकी रेशमी ज़ुल्फोन को सहलाते. मेरे लंड को चुसवाते. उसके बड़े बड़े बूब्स को पंजो मई लेकर दबाते. निपल को उंगलियों से खिचने लगता.

अब मैं उसके उपर आकर, हमने 69 पोज़िशन बनाते. उसकी छूट मेरे मूह के सामने और मेरा लंड उसके मूह के सामने. ऐसे हमारी 69 पोज़िशन बनाई.

उसके बाद आब मैने भी उसकी छूट की होतो को. पूरा मूह मैं भरकर.उसकी छूट की लकीर मैं जीभ डाली.

मेरी होतो को लगाकर उनकी छूट की होतो से लगते. मेरी गरम गरम सासों से, उनकी छूट मैं, हवा भरना शुरू किया.

जैसे गुब्बारे मैं हवा भरते है, वैसे. उसकी छूट मैं, मूह से हवा भरना शुरू किया.

मैं बीच बीच मैं. मेरी पूरी जीभ को नुकीली बनके फड़फदते हुए. उसकी छूट की दीवार बाजू मैं करते अंदर डालकर फड़फड़ने लगता.

वो भी मेरी इश्स हरकत से मस्त होकर. ज़ोर ज़ोर से मेरे उपर आकर लंड चूस रही थी.

आब मैं उसकी गंद पर मेरे डातों से लोवे बाइट्स करते. चाटते हुए चूस्ते हुए . थपथपाते मस्त लंड चुस्वते मज़ा ले रहा था.

अब मैने उसको गंद उपर करके, उसको लिटा कर उसकी गंद को जाँघो को. चाटते हुए काटते हुए, लोवे बाइट्स देने लगा.

और उसकी गंद को सुघाते हुए. अब हल्केसे, उसकी गंद के छेड़ मैं उंगली डालकर सहलाने लगा. उसके पीठ पर डातों से काटते. उसकी रेशमी जुल्फे सहलाते सब कंक्रीड़ा करने लगा.

मैने आब मेरे लंड को गंद के छेड़ पे लगाके. अंदर घुसते आब कसकर शॉट मारा. वो भी करहते हुए आहे भरते . मेरे लंड के प्रहार को झेलते. आब गंद को यहा वाहा हिलाते हुए . मेरे लंड को, गंद मैं लेने के लिए सहयल्टा करने लगी.

मैने उसकी भारी हुई गंद को लचकते देखकर. आब पागलो की तरह उसकी गंद मैं पूरा लंड घुसके. आब कचा कच कचा कच. लंड को अनादर बाहर करते पेलने लगा.

वो भी गंद उठा उठा कर आहे भरते . मेरे लंड लो अंदर बाहर लेते गंद मरवाने लगी. दोस्तो क्या बतौ उसकी गंद का तो मैं दीवाना हू ऐसे भारी हुई गदराई गंद मिल जाए तो बस और क्या चाहिए .

मैं बीच बीच मैं कसकर बदन पर बदन घिसकर. मेरे गंद पूरा लंड अंदर डालकर गोल गोल घूमता ताकि पूरी गंद मैं मेरे लूंबे मोटे लंड का एहसास करवा डू.

वो भी अब मस्त होकर अपना बदन मसल वाते मज़ा ले रही थी. मैने आब फिर से ज़ोर से गंद मारनी शुरुआत की. आब मेरी जंगे उसकी जंगो की टकराते हुए. ठप ठप पच पच पच और ठप ठप की आवाज़ करते. उसकी गंद मैं मेरा लंड अंदर बाहर करते छोड़ना शुरू किया.

वो आब मस्त होकर सीत्करते आ आ ऑश ईीस्स एसस्स बब्बयी. आहह और मररर मेरी गंदड़ खोल्ल दे इसका पूरा होल. आ आ एसस्स योगुऊु आहह और ठप ठप पच पच की आवाज़ से. सारा टेरेस गूँज उठा था.

मेरी गोतिया हर एक झटके के साथ छत छत छाप छाप की. आवाज़ करते मानो उसको हर एक ज़टके के साथ किस कर रही हो ऐसा लग रहा था. एब्ब मैने कसकर उस पर आकर बूब्स मसलते मसलते. उसकी नेक पर चूमते लोवे बाइट्स करने लगा.

आब मेरा पानी उसकी गंद मैं भरना शुरू किया. इससे पहले जुब हम 69 मैं चूसा कर रहे थे तब उसने उसका पानी छोड़ा था. और जब मिशनरी पोज़िशन मैं थी तब एक बार वो झाड़ चुकी थी.

अब मैने कस कर पकड़ते हम दोनो के बदन मैं. रोम रोम मैं एक झींझीनी सी दौड़ गयी. हमारे बदन रोमांचित होकर थरथरते हुए. कंक्रीड़ा करते इश्स अनोखे खुले आसमान की चुदाई का, लुफ्ट उठा रहे थे.

क्या एहसास था क्या बतौ आपको, अमेज़िंग जस्ट अमेज़िंग. हम ऐसे ही थोड़ी देर नंगे लेते रहे स्मूच करते.

तो कैसे लगी हमारी टेरेस पर चुदाई ज़रूर बताना. और कोई आंटी भाभी या गर्ल्स मेरे साथ सीक्रेट एंजाय करना चाहती हो तो ज़रूर बताना. मेरा एमाइल ईद है . अभी मैं वर्क फ्रॉम होमे कर रहा हू. सो सॅटर्डे सनडे मस्त एंजाय कर सकते है.

अभी मैं की एक मंक कंपनी मैं जॉब कर रहा हू. अभी वर्क फ्रॉम होमे चल रहा है. अगर किसी लॅडीस को एंजोर करना है तो ज़रूर बताना. वैसे मेरी एक और फॅंटेसी है. मैं लॅडीस के कइट्ती पार्टी मैं स्ट्रीप डॅन्स करते उनको मज़ा देना है जैसे डॅन्सिंग बेर मेी अमेरिकन लॅडीस करती है वैसे. देखते है कब ये मेरी फॅंटेसी पूरी हो पाएगी. आपकी राय ज़रूर बताना मैल करके आपका योगु.

यह कहानी भी पड़े  नयी नवेली भाभी की चूत मे अपना लंड पेला

error: Content is protected !!