प्यासी चाची को चोद कर प्यास बुझाई

ये मेरे लाइफ की साची घटना है जो आज से एक साल पहले घाटी थी. आप लोग को बोर ना करते हुए सिद्धा स्टोरी पे आता हू.

मेरे चाची का नाम संगीता है जो 35 साल की है जो एक दम सेक्स की देवी है. उसे देख कर किसी भी लड़का और बूढ़े का लंड खड़ा हो जाए. उसके मस्त रस से भरा हुए बूब्स जो 36 के है और पतली कम्र 30 की और उसकी खूबसूरती को बधने बलि चीज़ उसकी 38 की गांद है.

इतनी खूबसूर्त और हॉट होने के बाद भी उसकी बदक़िस्मती थी की मेरे चाहा का एक आक्सिडेंट हो गया. और उसके बाद वो बीमार रहने लगे. जिस की वजा से अब चाची की छूट प्यासी रहने लगी.

मई जब भी उसकी मोटी गांद को देखता था तो मेरा मान करता की उसके गांद मे अभी अपना लंड डाल डू. बुत इतना जल्दी कुछ नही कर सकता था.

मेरे और चाची की अची दोस्ती थी. जब ह्म साथ होते थे किसी ना किसी बहाने मई उसके बदन को टच कर लेता था. कभी गांद को तो कभी बूब्स को बुत वो अनदेखा कर देती थी.

मई हमेशा उसे छोड़ने का सपना देखता था बुत डाइरेक्ट नही कुछ कर सकता था. क्यूकी घर मे सब को पता ना चल जाए.

चाची अंदर से बहुत प्यासी थी बुत वो खुद शो नही करती थी.

एक रात को 1 भजे मई अपने रूम से बातरूम जाने के लिए निकला. जब बातरूम से वापसा आ रहा था तो देखा की चाची के रूम के लाइट ओं है.

तो मई धीरे से उसके रूम के गाते के पास गया. के होल से अंदर देखा तो मे डांग रह गया. मेरी चाची पूरी न्यूड हो कर मोबाइल मे कुछ देख रही थी और अपनी छूट मे बेगान दल रही थी. और मेरे चाचा को बोल रही थी की अब आप से तो कुछ होगा नही देखो मई कितनी प्यासी हू, मेरी छूट मे कितनी आग है लंड लेने की.

मई भी चाची को एसए देख कर अपना लंड भर निकल कर हिलने लगा. और रूम मे चाची ज़ोर ज़ोर से अपनी छूट मे बेनगन डाल रही थी. कुछ देर मे चाची का पानी निकाला और साथ मे मेरा भी.

उस रात के बाद मई और पागल हो गया चाची को छोड़ने के लिए. सुबा हुआ तो देखा चाची किचन मे काम कर रही. मई भी पानी पीने किचें मे गया. तो चाची से पूछा चाची कल रात अपने रूम की लाइट देर तक ओं थी. चाची तोड़ा घबरा गयी और बोली मई बंद करना भूल गयी.

फिर दो दिन एसए ही कहताम हो गये. आज सनडे था तो घर के सब लोग घूमने जेया रहे थे. चाची नही गयी क्यूकी चाचा को देखना होता है. तब मैने सोचा मई भी नही जाता हू और मैने भाना कर दिया और लंच के बाद सब चले गये.

अक्सर मई और चाची साथ मे टीवी देखते है. तो मैने चाची को बोला की चलो टीवी देखते है. हम टीवी देख रहे थे तो मोविए मे एक हॉट सीन चल रहा था.

मैने देखा चाची बहुत गोर से देख रही थी और अपनी छूट एसए बार बार रग़ाद देती जेसे मुझे मालूम ना हो. बुत मे ये सब देख रहा. तो मैने सोचा ये ही मोका है. और मैने चाची से बोला की चाची मैने उस रात आपको देख लिया था की आप अपनी छूट मे बेगान डाल रही थी. तो चाची ने गुस्से मे मुझे देखा और एक थापर मार के रूम मे चली गयी. 2 दिन तक चाची से कोई बात नही हुई.

फिर 2 दिन के बाद चाची बोली चलो टीवी देखते है. तो मे मान गया और टीवी देखने लगा. बुत आज चाची का लग अंदाज़ था. वो मुझ से बिल्कुल चिपक कर थी और बार अपने बूब्स को मेरे खोनी मे टच करवा देती.

मंत के लास्ट डटे मे चाचा को चेक उप के लिए सहर ले कर जाना होता है. मों और पापा ले कर जाते है.

फिर रात का कहाँ खा कर मई अपने रूम मे चला गया सोने और चाची अपने रूम मे. मुझे तो नींद ही नही आ रही थी. सोच रहा था की चाची अब रेडी है शायद बुत शुवर कैसे करू. की तभी भगवान ने मेरी सुन ली.

मेरा डोर मे नॉक हुआ तो गाते खोला तो देखा चाची एक टाइट और सेक्सी निघट्य मे जो उसके जांग तक ही था, नाइट मे तो देखता ही रह गया.

चाची – क्या देख रहे हो सम?

तब मई होश मे आया और बोला कुछ नही.

चाची बोली मुझे आज दर लग रहा सोने मे.

मैने मॅन मे बोला दर नही तुम्हारी छूट की आग है.

फिर चाची बोली तुम मेरे साथ मेरे रूम मे सो जाओ.

मई ओक बोल दिया और उनको रूम मे चला गया.

एक साइड मे चाची लेट गयी और बीच मे चाची की बेटा था. तो मई दूसरे साइड जेया रहा तो चाची ने माना कर दिया. और बोली मेरे पास सो जाओ और मई सो गया.

फिर चाची सो गयी और वो मेरे तरफ अपनी सेक्सी मोटी गांद कर के सो रही थी. मेरा तो लंड अंडरवेर से बाहर आने के लिए उफान मार रहा था.

मई अपना लंड चाची के गांद से चिपका कर सो रहा था. तब चाची और पीछे हो गयी और मेरा लंड उसकी गांद के बीच घुस गया. मुझे लगा चाची सो रही होगी बुत वो तो सोने का नाटक कर रही थी.

जब मैने अपना लंड चाची की गांद मे और दबाया. तो चाची सीधा मेरे तरफ घूम गयी और मुझे कस के हग कर ली. और मेरे लिप्स के सामने अपने लिप्स रखी थी.

चाची की गरम गरम साँसे मेरे लिप्स पे लग रही थी. मई माधोस हो गया और उसके लिप्स को अपने लिप्स मे ले कर ज़ोर ज़ोर से किस करने लगा. वो भी मेरा साथ दे रही थी. एसा लगा रहा था की वो मेरा लिप्स खा जाएगी.

15 मिंट किस करने के बाद चाची मुझ से बोली – सम मुझे बहुत प्यार करो, मई बहुत प्यासी हू.

फिर क्या था, मई भूके शेर की तरह टूट पड़ा. उसकी निघट्य को उतार दिया और मई भी नंगा हो गया. मई चाची के बूब्स को चूसने लगा और चाची बोल रही थी उफ़फ्फ़.. चूस मेरे बूब्स खा जेया.. बहुत दीने से कोई चूसा नही है.. और मेरे सर को अपने बूब्स मे दबा रही थी. ऐसा लग रहा था की चाची बहुत प्यासी है.

अब मई दोनो बूब्स को आचे से चूस रहा था और चाही मेरे लंड को मसल रही थी. और बोल रही थी सम तेरा लंड तो तेरे चाचा से भी बड़ा और मोटा है.

मे : हा चाची अब तुम्हे इसी लंड से तुम्हारी प्यासी छूट को छोड़ कर ठंडा करूँगा.

चाची : हा बेटा छोड़ दे मेरी प्यासी छूट को, जब से तेरे चाचा बीमार हुए तब से छूट मे लंड नही गया है.

मे : चाची टेन्षन ना लो अब हर रात तेरी छूट मे लंड होगा.

और मई अब चाची के बूब्स चूस्ते हुए नीचे चाची के नेवेल चूसने लगा जिस से वो और तड़प उत्ति और बोली-

चाची : बेटा तू कितना अछा चूस्ता है नेवेल मुझे पता होता तो इतने दीनो से प्यासी नही रहती चूस और चूस बेटा उउफ़फ्फ़ आआ..

अब मई चाची की छूट पे आ गया. जैसे ही छूट मे किस किया चाची बेड से उछाल गयी जेसे मछली बिन पानी के उछालती है.

और अब चाची की छूट चूसने लगा और और चाची अपने दोनो लेग्स से मेरे सर को लॉक कर दी. मई बहुत तेज़ी से चाची की छूट चाट रहा था.. लपलप्लप्लप्लप्ल.. छाप छाप छाप और अपनी ज़ुबान भी घुसा रहा था. चाची मेरे सर को पकड़ कर अपनी छूट मे घुसा रही थी.

चाची बोली : बेटा मुझे तेरा लंड चूसना है.

तो हम 69 मे आ गये. चाची मेरे मूह के उपेर अपनी छूट रख दी और मेरे लंड को अपने मूह मे ले ली और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी. हम दोनो इतना माधोस हो गये की 15 मिंट बाद चाची ने मेरे मूह पे पानी पानी चोर दिया और मई उसे पी गया और वो मेरा लंड का पानी पी गयी.

चाची : बेटा अब मुझसे और नही रहा जेया रहा, प्लीज़ छोड़ दो मेरी छूट को अपने मोटे लंड से. मेरी छूट को छोड़ कर फाड़ दे, इसकी प्यास को भुजा दो.

मे : हा मेरी रंडी चाची आज तुझे इतना छोड़ूँगा तेरी रसीली छूट को छोड़ कर भोसड़ा बना दूँगा.

फिर से मई किस करने लगा और चाची मेरे लंड को मसालने लगी. और फिर लंड रेडी था चाची की छूट मे घुसने के लिए.

अब चाची बेड पे सीधा लेट गयी और अपना दोनो लेग्स खोल कर बोली : आजा मेरे राजा बेटा, डाल दे अपनी चाची की प्यासी छूट मे लंड और छोड़ दे.

मई अपना लंड चाची के छूट के उपर रग़ाद था और उपर से नीचे, नीचे से उपर कर था. मुझे मालूम था की ऐसा करने से औरत को बर्दस्त नही होता है और वो तड़पने लगती है छूट मे लंड लेने के लिए और वो ही हाल चाची का था. फिर वो मुझे गली देने लगी, मदरचोड़ कू तडपा रहा है, डाल ना अपना लंड.

तब मुझे और जोश आ गया और मैने एक ज़ोर झटका मारा और पूरे लंड को चाची की छूट मे डाल दिया. एक पल के लिए चाची तो बेहोश हो गयी. जब मैने उसे किस किया तो वो होश मे आई और ज़ोर से चिल्लाने लगी. और बोलने लगी साले हरामी मार दिया फाड़ दिया मेरी छूट निकल उसको बाहर.

तब कुछ देर ऐसे ही लंड अंदर डाल कर उसे किस करता रहा. जब उसे आराम हुआ तो वो नीचे से अपनी गांद हिलने लगी. मई साँझ गया की अब रेडी है.

फिर मई ज़ोर ज़ोर से लंड छूट मे डालने लगा और चाची उफफफ्फ़ आआहा ससस्स.. छोड़ और छोड़ ज़ोर ज़ोर से छोड़ बेटा अपनी चाची को, बहुत मस्त लंड है तेरा उउफ़फ्फ़.. आआहा.. बेटा..

मे : हा चाची मुझे तेरी रसीली छूट को छोड़ कर बहुत मज़ा आ रहा है, ले साली रंडी.. ठप ठप ठप…

10 मिंट ऐसे छोड़ा फिर चाची को बोला घोड़ी बन जेया. तो वो जल्दी से बन गयी और मई चाची के बाल पकड़ कर उसे ज़ोर ज़ोर से छोड़ने लगा. और उसकी गांद मे छानते मार रहा था साथ मे.

चाची : उफफफफ्फ़.. अयाया.. बता कुत्ते सेयेल कितना दम है तेरे लंड मे मुझे आज. लग रहा है की मई किसी मर्द से चुड रही हू.. छोड़ और ज़ोर से छोड़.. फाड़ डाल अपनी कुटिई की छूट आआआहह्ा बएटाा सस्स्स्सस्स उफफफफफफफ्फ़..

पूरे रूम मे बस ठप ठप ठप की आवाज़ आ रही और चुदाई सहनाई बाज रही थी. 15 छोड़ने के बाद मैने उसे बोला मेरे उपर आ कर छोड़. अब तक चाची 2 बार झार चुकी थी.

फिर चाची मेरे उपेर आ गयी और मेरे लंड पे बैठ कर उछालने ल्गी. मई उसके बूब्स को चूस रहा थे और ऐसे छोड़ते हुए 10 मिंट मे मेरा पानी आने वाला था.

तो मैने बोला कहा निकलु?

चाची बोली मेरे मूह मे डाल दे.

फिर मैने उसके मूह मे पानी चोर दिया और वो पूरा पे गयी. फिर मैने चाची को पूरी रात के 3 बार और छोड़ा और अब हम दोनो रोज़ सेक्स करते है.

आप लोग को मेरी स्टोरी अची लगी तो मुझे मैल करिए.

यह कहानी भी पड़े  सगी बहन को नहाते में रसीली बुर चाट चाटकर चोदा

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!