गर्लफ्रेंड मेघना का बड़ा ही मस्त ब्लोवजोब

जल्दी से अपना लंच खत्म कर के मैं कार की तरफ भागा. मेघना को कॉल कर के उसका रूटीन पूछ लिया. मैंने उसे कहा की साडी पहन लेना तुम उसमे मस्त लगती हो. मेघना ने कहा ठीक हे. फिर मैंने कार उसके घर की तरफ चला दी. कुछ देर में मैं उसके घर के बहार खड़ा हुआ था. मैंने कार पार्क की और इधर उधर देखा. कोई नहीं था. फटाक से गाडी का डोर बंद किया. मेघना ने अपने घर का डोर खुला रखा था इसलिए मैंने फटाक से खोल के अन्दर घुस गया.

मेरी परी सेक्सी साडी पहन के खड़ी हुई थी. शायद वो अभी नाहा के बहार आई थी. इसलिए उसके कंधे के ऊपर खुले बाल गिले गिले थे. पानी की बूंदों के टपकने से उसकी साडी के ऊपर भी भीगने के निशान बने हुए थे. उसके बालों से शेम्पू की खुसबू आ रही थी. मैंने जा के एकदम से उसको हग कर लिया. वो भी मेरे लिए ही बेताब खड़ी थी और उसने भी टाईट हग दे दी मुझको. उसकी बदन से आती हुई खुसबू मुझे और भी बेताब कर रही थी.

मैंने उसको और भी करीब खिंच लिया और उसकी नशीली आँखों में देखने लगा. हम दोनों की किस चालु हो गई थी जो एकदम डीप और वाइल्ड सी थी. मैंने उसके पेट को पकड़ा, साडी में वो पहले से हॉट थी और फिर ऐसे छूने से जैसे मेरी हालत और भी खराब होने लगी थी. मैं एक पल के लिए रुक गया. वो अपने कमरे के तरफ भागी मुझे चिढाने के लिए. मैंने साडी में मटकती हुई उसकी सेक्सी गांड को देखता हुए उसके पीछे चला गया.

मैंने वहां पर उसे पीछे से पकड़ लिया और हग दे दी. मैं उसके कान को और गले के हिस्से को चूमने लगा. उसका नाजुक बदन पूरा मेरे ऊपर आ रहा था. किस की वजह से मेघना हलकी हलकी मोअनिंग कर रही थी और मुझे वो एन्जॉय करने दे रही थी. मैं अब उसके गले को, कान को, नाक को, होंठो को और दाढ़ी वाले हिस्से को किस कर रहा था और हलके हलके से बाईट भी कर रहा था. धीरे से मेरा हाथ उसके सॉफ्ट बूब्स के ऊपर चला गया. मेघना के टाईट निपल्स की फिल भी मुझे हो रही थी.

यह कहानी भी पड़े  डेरी फार्म के बिहारी नोकर से चुदवा लिया

मैंने हलके से उसकी निपल्स को पिंच किया और नेक पर किस करने लगा. मैं अपने बदन को जैसे उसके ऊपर घिस रहा था. मेरी आइटम भी एकदम हॉट हो चुकी थी. उसके मुहं से हलकी सिसकियाँ निकल रही थी. और वो मेरी आँखों में डीप तक देख रही थी. उसने अपने हाथो को मेरे गले में डाले हुआ था और वो मुझे एकदम डीप किसिंग दे रही थी. हम दोनों की जबाने एक दुसरे का सवाद ले रही थी. हमारी डीप किस कुछ देर तक चली.

मैंने उसको अपनी बाहों में एकदम कस के पकड़ा हुआ था. उसके सॉफ्ट बूब्स मेरी छाती से टकरा रहे थे. मेरे हाथ उसकी पूरी बॉडी के ऊपर इधर से उधर हो रहे थे. मैंने उसके क्लीवेज को भी किस किया और फिर उसके कान में धीरे से कहाँ की मैं तुम्हारे ऊपर सोना चाहता हूँ. वो मुझे ले के अन्दर हॉल में चली गई.

वहां पर एक बड़ा सोफा था जिसके ऊपर उसने मुझे धकेला और वो मेरे ऊपर आ गई. और वो मुझे जोर जोर से किस करने लगी. मैंने उसके कपडे खोले और वो अन्दर से तडप सी रही थी. मैंने मेघना को पूरा नंगा कर दिया. उसने भी मेरी पेंट की ज़िप खोल के मेरे लंड को बहार निकाला.

मेरे लंड का बड़ा साइज़ देख के उसकी आँखों में एक अजब सी चमक थी. और वो मेरे लोडे को हाथ में पकड़ के ऐसे मस्त मसल रही थी की उसका साइज़ भी जैसे बढ़ता ही चला गया. मेघना ने अब मुझे कहा की क्या मैं इसे मुहं में ले सकती हूँ.

यह कहानी भी पड़े  मा बेटे के जवानी सेक्स चुदाई

मैंने कहा, डार्लिंग अगर तुम उसे मुहं में ले लोगी तो मैं खुद को लकी समझूंगा.

मेघना ने बड़े ही सेक्सी ढंग से अपने बाल की लट को कान के पीछे कर दिया. और फिर वो निचे झुकी. मेरे लंड के ऊपर उसने जैसे ही अपने ज्युसी लिप्स को लगाया तो मेरे अंदर का सब खून जैसे एकदम ठंडा हो गया. मेरा बदन सन्न पद गया. मेघना ने लंड को सुपाडे समेत अपने मुहं में 30% भर लिया और वो उसे आइसक्रीम के जैसे लिक कर रही थी. बाप रे क्या फिलिंग थी वो उसको लंड चटाने की!

फिर मेघना ने लंड को हाथ में पकड़ के उसके ऊपर हाथ को जोर जोर से गोल घुमाया. ऐसा करते हुए वो मुझे देख के बड़ी फुदक रही थी. मैंने उसके माथे को पकड़ केवापस अपने लंड की तरफ धकेल दिया. उसने अब की आधे से ज्यादा लंड को अपने मुहं में डाल लिया. और बड़े ही सेक्सी ढंग से उसे चूसने लगी थी. वो ऐसे लंड को सक कर रही थी की बस मजा आ गया. वो अपने दांतों को भी धीरे धीरे मेरे लंड के डंडे के ऊपर दबाती थी जिसकी वजह से और भी मजा आता था. वो हल्का हल्का दर्द किसी प्लेजर से कम नहीं था.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2