बीवी की अदला बदली का मजेदार खेल

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम किरन है और मेरे पति का नाम अजय है और वो एक केमिकल कंपनी में अच्छे पद पर काम करते है, हम लोग वैसे तो बिहार के रहने वाले है, लेकिन हम लोग अभी पिछले चार सालों से हरियाणा में रह रहे है। दोस्तों मेरे पति अजय की उम्र 36 साल है, लेकिन वो ज्यादा उम्र के नहीं दिखते, वो हल्के से मोटे है, बहुत गोरे और सुंदर भी है और मेरी उम्र 33 साल है, लेकिन में 30 साल की नजर आती हूँ। मेरे बदन का आकार 36-27-36 है।

दोस्तों अब में आप सभी के चाहने वालों को बताती हूँ कि हमने अपनी इस जिंदगी को कैसे शुरू किया? यह मेरे जीवन की एक सच्ची घटना है, जिसने हमारा सोचने समझने का नजरिया ही बिल्कुल बदल दिया। अब हमारी सोच दूसरे लोगों की तरह नहीं उनसे बिल्कुल अलग हटकर है। दोस्तों मुझे लंबे समय से यह शक था कि मेरा पति अजय दूसरी औरतों को चोदने का बहुत इच्छुक है। यह बात मेरे मन में बहुत लंबे समय से थी और अभी एक साल पहले उसने मुझसे कहना शुरू किया कि किरण हम सभी की उम्र बहुत छोटी होती है, पता नहीं अगले पल में हमारे साथ क्या हो जाए?

और इसलिए हमे हमारे इस छोटे से जीवन में यह भी अनुभव एक बार जरुर करके देखना चाहिए कि दूसरों के साथ चुदाई करने में कैसा मज़ा आता है? क्योंकि हम दोनों ने शादी के पहले किसी से चुदाई नहीं की थी। दोस्तों मुझे उसकी वो बातें सुनकर पता चला कि वो किसी दूसरी स्त्री के साथ चुदाई का मज़ा उठाना चाहता था और मुझे भी वो इस काम के लिए यह बातें करके उत्साहित करने लगा था कि में भी किसी दूसरे मर्द के साथ अपनी चुदाई का आनंद लूँ और इन बातों की वजह से हमारी चुदाई में आनंद और भी बढ़ गया।

यह कहानी भी पड़े  पति ने अपने बॉस से चुदवाया मुझे

फिर जब भी वो अपने दोस्तों को हमारे घर में बुलाता, तो अजय रसोई में आकर मुझसे आकर बताता कि आज उसको किस दोस्त की पत्नी को चोदने का मन कर रहा है और वो मुझसे भी पूछता कि मेरा मन किस दोस्त से चुदवाने का हो रहा है? यह सभी बातें करके हम दोनों को बड़ा मज़ा आने लगा था और फिर हम सभी के चले जाने के बाद उस दोस्त और उसकी पत्नी का मना लेकर एक दूसरे को चोदने लगते। फिर कुछ दिनों तक बिस्तर में चुदाई के मज़े लेते समय इस बारे में बातें करते हुए अब मेरी भी हिम्मत बढ़ गयी और में दूसरे जोड़े के साथ काल्पनिक अदला बदली करके चुदाई करने के लिए तैयार हो गई।

फिर हमने अपना शिकार ढूंडना शुरू किया और हमारी नज़र रंजन और मेनका पर पड़ी, जो हमारे ही पड़ोस में कुछ ही दूर पर रहते थे, क्योंकि इन कुछ सालों में हमारी उनसे दोस्ती बहुत गहरी हो चुकी थी, वो दोनों भी हमारी ही उम्र के थे, रंजन 38 साल का था और मेनका 32 की। मेनका का शरीर बहुत सुंदर और उसके बूब्स का आकार 32-26-38 था। वो थोड़ी पतली थी और नयन नक्श तीखे थे और हम दोनों उनके स्वभाव और सुंदरता से बहुत प्रभावित हुए थे।

अब अपनी चुदाई के समय हम रंजन और मेनका के बारे में सोचने लगे और उनके साथ चुदाई की कल्पना करने लगे थे। जब भी अजय मुझे चोदता तब वो मुझसे यही कहता कि मेरी चूत कितनी रसीली, सुंदर है और इसलिए में बड़ी आसानी से रंजन को अपने साथ चुदाई करने के लिए पटा सकती हूँ। फिर मैंने भी अजय से कहा कि आपका लंड भी इतना अच्छा है कि मेनका भी उसके लंड का स्वाद चखने के लिए बहुत आसानी से आतुर हो जाएगी। फिर वो मुझसे पूछता कि आज मुझे किसके लंड से अपनी चुदाई करवानी है,

यह कहानी भी पड़े  पड़ोसिनों की अदला बदली

उसके या रंजन के? में भी अजय से पूछती कि आज उसको किसकी चूत को चोदने का मन कर रहा है, मेरी या मेनका की? अब अजय ने महसूस किया कि मुझे इन बातों से बहुत मज़ा आता है और में बड़ी उत्तेजित होकर अजय से चुदवाने लगी थी। फिर करीब आज से पांच साल पहले एक दिन अचानक अंजाने में ही रंजन और मेनका के साथ यह हमारी कल्पना उस दिन हक़ीकत में बदल गई। एक दिन रंजन और मेनका ने हम दोनों को अपने घर रात के खाने पर बुलाया, हम उनके घर चले गये और वहाँ अजय और रंजन ने साथ बैठकर थोड़ी सी व्हिस्की पी।

फिर मैंने और फिर मेनका ने भी थोड़ी सी ले ली। तभी अचानक से रंजन सेक्सी फिल्मो के बारे में बातें करने लगा, क्योंकि उसको भी पता था कि हम दोनों ऐसी फिल्मे अक्सर देखा करते थे। अब रंजन ने अजय से पूछा, क्या उसने कभी कोई इंडियन सेक्सी फिल्म देखी है? और उसने कहा कि ऐसी फिल्म देखने में बड़ा मज़ा आएगा। फिर अजय ने रंजन को बताया कि अब ऐसी फिल्मे धीरे धीरे सभी जगह पर मिलती है और हमने कुछ देखी भी है और यह ज़्यादा मज़ेदार होती है,

Pages: 1 2 3 4 5 6

Comments 1

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!