भाई की शादी की तैयारी मे मामी की नॉनस्टॉप चुदाई

राम राम मेरे सभी भैया को भाबिया को और औंतीओ को. मई आपका प्यारा रोमी देल्ही से आप सभी का अपनी कहानी मे स्वागत करता हू. जेसा की आप लोगो ने पिछली कहानी मे पढ़ा कैसे भाई की शादी के लिए मैने और मामी ने शादी की और 15 दीनो तक मैने उनकी चूत चोदी. अब पढ़िए कैसे उनको भाई की शादी तक चोद्त हू.

मेरा नाम रोमी है देल्ही का रहने वाला हू हाइट 5’10” मस्क्युलर बॉडी. मामी का नाम सुमन हाइट 5’4” दोध की तरह गोरी. छोड़ता हू जब जोड़ी कमाल लगती है. चलिए देर ना करते हुए सीधी कहानी पर चलते है.

भाई का रिश्ता पक्का होने पर मामी मम्मी को कॉल करती है और रिश्ते के बारे मे बताती है. हम सभी साथ बैठे थे तो मम्मी मुझे और पापा को भी बता देती है.

फिर करीब 9 भजे मई अपने रूम मे जाता हू. मेरा मूड हॉर्नी होता है तो मई पॉर्न देखने लगता हू तभी मामी की कॉल आती है-

मामी:- कैसे हो रोमी?

मे:- ठीक हू मामी आप बताओ आप कैसी है?

मामी:- ठीक हू मई भी, अकेले मे हो तब तो सुमन कहा कर मामी नही.

मे:- ओक मेरी जान.

मामी:- पता चला होगा साहिल का रिश्ता पक्का हुआ है?

मे :- हन बताया मम्मी ने. कब की डटे फिक्स हुई और टायारी कैसी है?

मामी:- 10 दिन बाद की फिक्स हुई है और टायारी ज़ीरो है. तू आजा थोड़ी मदद हो जाएगी और तोड़ा टाइम साथ भी स्पेंड कर लेंगे.

मे:- मई सिर्फ़ मदद के लिए हू, है ना?

मामी:- अरे तेरे भाई की शादी तू नही करेगा तो कों करेगा.

मे:- मज़ाक कर रहा हू जान.

मामी:- हन पता है वैसे मदद का फल भी मिलेगा.

मे :- फल तो कब से खाने को तरस रहा हू.

मामी :- अब और मत तरस, कल आजा मई दीदी को बोल देती हू.

मे:- ठीक है जान.

मामी:- चल सोजा सुबा जल्दी आ जाना… लोवे योउ मेरे राजा.

(कॉल डिसकनेक्ट हो जाती है.)

मई अपनी और मामी की चुदाई याद करके मूठ मारता हू और फिर सो जाता हू.

सुबा मम्मी आ कर मुझे जागती है और कहती है टायर होज़ा मामा के घ्र जाना है. 10 दिन बाद साहिल की शादी है, टायारी करने मे मदद करा देना. (मई सुन कर खुश हो जाता हू.)

नहा धो कर 9 ब्जे के करीब घ्र से निकलता हू. मामा का घ्र गुरगाओं साइड पड़ता है तो मुझे 2 घंटे लग जाते है. देल्ही का जाम तो पता ही है. 11 सा 11 के करीब मामा के घ्र पोछता हू. व्हा मामा और साहिल थे, उनको नमस्ते ही हेलो करता हू थोड़ी मोटी बात होती है. पर मुझे मामी कही दिखाई नही देती तो मई मामा से पूछता हू-

मे:- मामी कहा गयी मामा दिखाई नही दे रही?

मामा:- तेरी मामी बाज़ार गयी है कुछ घ्र का समान लेने, तू खाना खले और आराम कर.

मई खाना खा कर लेट जाता हू. कब आँख लग जताई है पता ही नही चलता.

शाम को करीब 5 ब्जे मेरी आँख खुलती है. मई साहिल को आवाज़ देता हू पर कोई ज्वाब नही मिलता. बाहर आकर देखता हू कोई ंज़र नही आता. फिर मुझे मामी के रूम से उनकी गुनगुने की आवाज़ आती है.

मई आंद्र जाता और जो सीन देखता हू वो कभी नही भूल सकता. मामी परेस्स कर रही होती हन,ई उन्होने वाइट सूट सेमी ट्रॅन्स्परेंट सूट पहना होता आंद्र ब्लू वाइड स्ट्रीप वाली ब्रा, नीचे फिट प्यज़ामी. गांद मे सूट फ्सा हुआ होता है.

मई तो देख कर पगल हो जाता हू, मेरे लंड सलामी देने लगता है. (मामी इयरफोन मे गाने सुन री होती तो उनको मेरा पता नही चलता).

मई उनके पीछे जाकर उनको हग कर लेता हू टाइट्ली. मेरा लंड उनकी गांद की दरार मे घुस जाता है. मेरे हाथ उनकी चुचियो पर होते है. अचानक से हुए मामी ड्र जाती है और पीछे मुड़ती है, मई उनको गाल चूम लेता हू. मुझे देख कर तोड़ा नॉर्मल होती है और इयरफोन निकल देती है-

मामी:- ओह रोमी तुमने तो मेरी जान निकल दी थी.

मे:- जान तो तब निकलेगी जब ये (लंड) आपकी गांद मे घुसेगा.

मामी:- मार दे मुझे.. छूट मे डालते टाइम ही जान निकल जाती है.. गांद तो कुवारि है मेरी.

मे :- तभी तो मारनी है.

मामी:- ठीक है महाराज जब घर कोई ना हो तब कारिओ ताकि कुछ पारोबलें ना हो.

मई मामी के चुचि दबाता रहता हू और मामी मेरा लंड मसालती है. मामी को दीवार से स्टा देता हू और होत पीने लगता हू, 1 हाथ उनकी प्यज़ामी मे डाल देता हू. छूट शेव्ड थी (मेरे आने की ख़ुसी मे) और कुछ ज़्यादा ही वेट होगआई थी.

मई 1 उंगली आंद्र डाल देता हू, मामी एंजाय करती है, स्मूच के बाद मई उनकी नेक लीक करता हू. फिर 1 चुचि बाहर निकल कर चूस्ता हू. हम दोनो सातवे आसमान मे होते है. मामी को ख्याल आया कही मामा या साहिल ना आ जाए तो मामी मुझे रोकती है-

मामी:- अभी नही रोमी कोई आ जाएगा.

मे:- मेरे सिर उनकी छूट का नशा चड़ा था तो मई कहा मानने वाला था, मई उनकी 1 ना सुन कर चुचि चूस्ता रहता हू.

मामी:- रुक जा रोमी फस गये तो मेरी बदनामी होगी कभी मिल भी नही पाएँगे.

मई उनका दर्र संजता हू.

मे:- ठीक है मामी मई तो मान जौंगा लेकिन ये (लंड) तो नही मानेगा.

मामी:- इसको मई वैसे शांत कर देती हू.

मामी घुटनो पर बैठ कर मेरा लंड चूसने लगती है. मई उनका सिर पकड़ कर आंद्र तक डाल देता हू उनको साँस आने कम हो जाता है. मेरा लंड लार से भरा होता है. 5-6 मिन्स ब्लोवजोब के बाद मेरा माल निकल जाता है और मामी सारा माल पी लेती है.

मे:- सुमन क्या लंड चुस्ती हो माल क्या जान निकल जाती है (रिलॅक्सिंग).

मामी:- तेरा तो निकल गया मेरा ज़्यादा हो गया, छूट आग की तरह जल रही है.

मे:- चलो पानी डाल देता हू आग मे.

मामी:- अरे कोई आ गया तो??

कुछ देर सोचने के बाद, तू छत के निकाल दे ना मेरा (मामी को पता है मेरे को छूट चाटना कितना पसंद है.)

आप सभी को भी ब्ताना चौँगा की मई छूट चाटने का शॉकिन हू. अगर कोई भाबी या आंटी हो जिसको चटवानी हो वो मुझे बेशक मैल कर सकती है.

मई मामी की छूट सहलाता हू, वो गिल्ली हो चुकी होती है और मई उनकी प्यज़ामी निकालने लगता हू. वो रोक लेती है और ख्ती है तू बातरूम मे जेया मई आती हू.

मामी डोर लॉक करके सूट प्यज़ामी निकल कर बातरूम मे सिर्फ़ बिकिनी मे आती है. मामी का रंग सॉफ है स्किन चिकनी और चुचि मोटी, ब्लू ब्रा और नीचे ब्लू पनटी जो की पूरी गिल्ली हो चुकी थी, कहर ढा रही थी.

फिर मामी मेरे गले लग जाती है और मई मामी को वाइल्ड्ली सक करता हू. उनकी चुचियो को चूस्ता हू. जब मामी से कंट्रोल नही होता तो वो लेट जाती है.

मई अपना मूह छूट के पास लेकर जाता हू और पनटी को चूस्ता हू. फिर पनटी साइड करके फ्रेग्रेन्स इनेली करता हू जो मुझे और वाइल्ड कर देती है. तपाक रहे माल को चाट्ता हू फिर जीभ आंद्र बाहर करता हू. कभी उनकी छूट के लिप्स काटता हू.

मामी की सिसकारिया मुझे बीटीये रही थी वो किस लेवेल पर है. मेरा लंड फिर खड़ा हो जाता है और मई मामी को 69 के लिए बोलता हू. वो मेरे उपर आ जाती है और लंड चूसने लगती है.

(मामी की 1 ख़ासियत है लंड चूस्ते चूस्ते बॉल्स को पूरा अंदर ले लेती है बीच मे). 10 मीं बाद हम दोनो झाड़ जाते है.

मामी आ कर मेरे छाती पर लेट जाती है. उनके मूह मे मेरा माल होता है और मेरे मे उनका. हम दोनो स्माइल करते है और फिर नों स्टॉप स्मूच करते है फिर साथ मे नहाते है.

उसके बाद मामी खाना ब्नाने मे लग जाती है. मई च्चत पर हूका पीने च्ला जाता हू और साहिल को कॉल करता तो वो भी आ जाता है. करीब 9 भजे मामी आवाज़ देती है-

मामी:- खाना टायर है आजओ नीचे.

हम खाना खा के थोड़ी देर रोड पर घूमने चले जाते है.

मामा को जल्दी सोने की आदत है (इसीलिए मामा मामी की सेक्स लाइफ ज़ीरो है). हम घर आते है तब मामा सो चुके होते है और साहिल भी तक गया होता है.

साहिल:- भाई मई तो आज बहोट तक गया चल सोने चलते है.

मे:- हन चल मई पानी पीकर आया.

साहिल:- ठीक है पी आ जल्दी.

मई किचन मे जाता हू मामी बर्तन सेट कर रही होती है. मई उनको हग करता हू और आर्म्स रब करता हू (मामी को पसंद है).

मे:- कब फ्री होगी जान?

मामी:- ब्स तोड़ा काम बाकी है तू रूम मे जाकर लेट. मई सब सेट्ल होने के बाद म्स्ग करूँगी उपर वेल रूम मे मिलना व्हा कोई नही आता. (च्चत पर 1 गेस्ट रूम बना है).

मे :- ठीक है मामी मई इंतज़ार कर रहा हू और सुनो मरून बिकिनी मे आना ( मेरी फॅवुरेट है).

मामी:- ठीक है महाराज.

मई आंद्र आकर लेट जाता हू और इंतज़ार करने लगता हू साहिल सोजता है करीब पोने 12 ब्जे लकी सी मिस कॉल आती है मई देखता हू मामी की थी मई समज जाता हू

मई चुपके से भर निकलता हू और उपर पोछता हू रूम खुला हुआ था मई आंद्र जाता हू मामी कर्टन्स ब्न्ड कर रही होती है

मामी:- आग ये मेरे पातिदेव.

मे:- मुझे तो आना ही था भागवान.

मामी:- (मामी स्माइल करती है और थोड़ी एमोशनल हो जाती है क्यूकी वो सबका ख़याल र्खती है लेकिन कोई उनकी नही सोचता. और अब मई उनका ख़याल रख रहा होता हू.) वो आकर मेरे गले लग जाती है (मई भी तोड़ा एमोशनल हो जाता हू.)

हम 10 मीं ऐसे ही रहते है उनके बूब्स मेरे छाती पर दबे होते है (हमारी हाइट एसी है की हग करने पर जोड़ी क्‍मल लगती है). मामी मूह उपर करती है-

मामी:- थॅंक योउ सो.मच रोमी, तुम ना होते तो मेरा क्या होता और स्मूच करने लगती है.

मई स्मूच कंटिन्यू र्खहता हू और उनकी गांद ड़बने लग्रा हू. मामी ने टशहिर्त और नीचे लोवर डाल रखी थी. मई उनका टशहिर्त निकल देता हू, मामी ने मरून ब्रा डाली होती है.

फिर मई उनके ब्रेस्ट वाला पोर्षन सक करता हू और मामी मेरे कन चबाने लगती है. मई उनको उठा कर बेड पर पटक देता हू और चूस्ता रहता हू.

कुछ देर बाद मामी मेरा टशहिर्त और शॉर्ट्स निकल देती है. मई उनकी लोवर निकल देता हू. अब हम दोनो बस अनडाइस मे होते है. मेरे स्किन भी काफ़ी स्मूद है और उनकी तो क्या ही कहने. दोनो रब होते है मेरी थाइ उनकी थाइस उनका पेट ज़ीरो फिगर, मामी मेरी चेस्ट दबाती है-

मामी:- कितने दिन से तड़प रही हू तेरे लिए.

मे:- अब आ गया हू ना खूब छोड़ूँगा.

मामी:- मार डाल आज मुझे रोमी!

मई उनकी ब्रा अनहुक करता हू चुचिया चूस्ता हू. निपल्स लाइट ब्राउन कलर के उनपर बड़े आचे लगते है. वो मुझे लेता कर मेरे उपर आ जाती है. फिर स्मूच करते हुए नीचे जाती है चेस्ट फिर पेट फिर लंड के उपर वाला पोर्षन. फिर बॉक्सर निकल के लंड चूसने लगती है.

मेरी मोनिंग शुरू हो जाती है, कुछ देर ऐसे ही करने पर मेरा निकलने वाला होता है तो मई उनको रोक देता हू. वो अब आ कर मेरे मूह पर बैठ जाती है और मई उनकी छूट चाटने लगता हू, वो पूरी गीली हो जाती है.

मामी:- रोमीीईईई रूव मिईीई चाट चाट उूुुुउउंम रोमीिइ मार डालल्ल्ल्ल्ल्ल चााअत…

अब मामी कपने लगती है तो मई समझ जाता हू मामी झड़ने वाली है. मामी सारा माल मूह पर निकल देती है फिर हासणे लगती है. मई उनकी पनटी उठा कर सॉफ करता हू अपना मूह.

अब हम दोनो टायर थे चुदाई के लिए.

मामी बेड के कॉर्नर पर जेया के मिशनरी पोज़िशन के लिए टायर होती है. मई उनके उपर चाड जाता हू, मेरा लंड फटने को होता है. मई उनकी छूट के मूह पर लंड रगता हू (तड़पता हू उनको).

मामी:- डाल दे ना राजा अब नही रुका जाता.

2 मीं बाद मई लंड डाल देता हू छूट इतनी लूब्रिकेटेड थी की लंड आसानी से अंदर चला जाता है. फिर शुरू होती है ताबड़तोड़ चुदाई (और 1 बात हम कॉंडम उसे नही करते.)

मामी:- आराम से रोमी दर्द होरा है खि भागी नही जा रही..

मे :- मई उनकी 1 ना सुनते हुए हार्ड जर्क दे रहा होता हू.

उनकी चुचि पकड़ कर लंड अंदर बाहर उनकी सिसकारियो से पूरा रूम बाहर जाता है.

मामी:- अयाया आआआ रोमी उूुउऊहह मार गयी रोमी आराम से उूउउऊऊओ…

मे :- आहा आआहा माआमी मुऊऊुुउुआह…

करीब इसी तरह 15 मीं की चुदाई के बाद मेरा निकल जाता है लेकिन मामी माँगे मोरे. वो लंड को फिर से चूस कर खड़ा कर देती है और डॉगी पोज़िशन लेलेटी है.

मई उनके पीछे जाकर उनकी गांद पर थूक लगा कर उंगली डालने की कोसिस करता हू लेकिन वो और ज़्यादा टाइट कर लेती है.

मामी:- आज इस बाक्स दे मेरे राजा कोई नही होगा तब कारिओ, आज छूट मे ही डाल दे.

मई नही मानता आख़िर कर वो गांद ढीली करती है और मई उंगली डालने की कोसिस करता हू. लेकिन उंगली नही जाती क्यूकी उनकी गांद कुवारि थी. मई टाइम कराब नही करना चटा था इसलिए छूट मे घुसेड देता हू लंड और उनको हिला देता हू हर एक जर्क के साथ (दूसरी बार मेरा माल काफ़ी टाइम बाद निकलता है). 20 मीं की चुदाई के बाद हम दोनो जाध जाते है.

मामी वैसे की वैसे सीधी लेट जाती है.. मई उनके उपर लेट जाता हू उनकी बॅक मेरी चेस्ट से टच होती है मेरा माल उनकी छूट से निकल रहा होता है वो सीधी होती है और स्मूच करने लगती है (हम दोनो को सेक्स के बाद कड्ड्ल्स काफ़ी पासन्द है सबको ही होती है). आधा घंटा हम दोनो ऐसे ही लेते रहते है.

अब टाइम सादे 3 हो चुके थे…

मामी:- रोमी सादे 3 हो गये चल नीचे.

मे :- हन चलो.

(मई अपने हाथो से मामी को कपड़े पहनता हू.)

मामी :- तू चल पहले मई सब ठीक करके आती हू.

मई निकल लेता हू रूम से और सीधीॉ मे उनका वेट करता हू करीब 10 मीं बाद मामी आती है.

मामी:- अंदर नही गये अभी तक?

मे:- आपको अकेले नही छोड़ पाया.

मामी करीब आती है हम 5 मीं स्मूच करते है फिर दोनो अपने अपने रूम मे जाकर सो जाते है.

तो ये थी दोस्तो मेरी कहानी मुझे मैल करके ज़रूर बताना कैसी लगी.

अगर कोई भाबी या आंटी हो जिसको चटवानी हो जिनके पति ना छा ते वो मुझे बेशक मैल कर सकती है. आप सभी मैल करके ज़रूर बताना कैसी लगी कहानी, अभी बहोट बाकी है की कैसे मई 10 दीनो तक मामी को छोड़ता हू.

धन्यवाद मिलते है फिर..

यह कहानी भी पड़े  मेरी बहन गरिमा की चुदाई

error: Content is protected !!