भाई-बेहन की चुदाई की सेट्टिंग

आपने लास्ट एपिसोड में पढ़ा, की कैसे मेरे और मेरे कज़िन भाई मोहित के बीच चुदाई हुई. मोहित के साथ चुदाई के दौरान मैं 3 बार झाड़ चुकी थी. मैं इतनी तक गयी थी, की मोहित की बाहों में पड़ी रही. मोहित ने मेरे बिखरे बालों को कान से उपर किया. मेरे सेडक्टिव चोकॉलती फेस पर पसीना आ गया था, और मेरी आँखों में अब भी बहुत सी वासना थी.

मोहित और मैं एक-दूसरे की आँखों में देख रहे थे. मुझे इतना छोड़ने के बाद भी मोहित मेरे जिस्म का भूखा था. पसीने से हम दोनो की बॉडी एक-दूसरे से गुम की तरह चिपक गयी थी. मोहित मेरी नंगी गांद पर हाथ सहला रहा था.

मोहित जिस तरह मुझे देख रहा था, उसके लिए मेरे दिल में प्यार बढ़ रहा था. मैने मुस्कुराहट के साथ उसके लिप्स पर किस किया, और उसके गाल का पसीना पोंछते हुए बोली-

मैने कहा: मोहित मेरे भाई अब तेरा बदला पूरा हुआ ना? मेरे भाई ने तेरी सिस्टर को छोड़ा, और तुमने मेरी इतनी तगड़ी चुदाई कर डाली.

मोहित: दीदी मैं आप से सच में प्यार करता हू. मैने कभी सोचा नही था की हम दोनो के बीच ऐसा भी कुछ रिश्ता बनेगा.

शीला: तो फिर तुमने विजय और शालिनी को देख कर मेरे साथ किया ना (मैं मोहित के दिल की बात जानना चाहती थी)?

मोहित: नही दीदी. आप मेरी बचपन से क्रश रही हो (उसने कुछ पुरानी बातें भी बताई और लॅपटॉप ओपन करके उसमे मेरी कुछ पिक्स एडिट की थी, जो बहुत ही ब्यूटिफुल थी, वो भी दिखाई. मोहित ने बहुत से ऐसे किससे बताए, जिससे मुझे पता चला की वो सच में मेरे लिए दीवाना था).

शीला (एमोशनल हो कर): ब्रो तुम मुझे इतना चाहते थे तो आज तक बताया क्यूँ नही ( मैने उसकी गोदी से लॅपटॉप लिया, और साइड पर रख कर नंगी उसकी गोदी में बैठ गयी, और दोनो हाथ उसके गले में डाल कर उसको हग किया)?

शीला: मोहित तुम्हे क्या लगा मैने ऐसे ही तेरे साथ सेक्स कर लिया. उस दिन घर पर तुम सब आए थे, तब तुम मेरे आयेज-पीछे घूम रहे थे. तब से मुझे पता था की तेरे माइंड में मेरे बारे में कुछ ना कुछ चल रहा था. और अब तुमने आ सब बात बता कर सच में मुझे तुझसे प्यार करने पर मजबूर कर दिया. ई लोवे योउ ब्रो.

मोहित: लोवे योउ टू दी. आप मेरे साथ हमेशा ऐसे रहोगे ना?

शीला: हा स्टुपिड. सच काहु तो तुम अपने जीजा जी से भी अची चुदाई करते हो. बहुत एंजाय कर रही हू मैं. देल्ही जेया कर तुम्हे बहुत मिस करूँगी. मिलने आएगा मा मुझे?

मोहित: आप जब कहोगे आ जौंगा.

शीला (उसको चिढ़ते हुए): अछा एक बात बताओ, तुम विजय से गुस्सा हो कर रात को मेरे साथ सब कर रहे थे, या शालिनी की सेक्सी फिगर देख कर? वैसे शालिनी तो बहुत ही स्मार्ट, इंटेलिजेंट, सेक्सी, आंड हॉट है. वैसे देखा जाए तो शालिनी विजय के साथ कर सकती है, तो तेरे भी चान्स है ब्रो.

मोहित: क्या दीदी आप भी कैसी बातें कर रही हो? मैं तो बस आप से प्यार करता हू.

शीला: हा बाबा, ई नो. बुत क्या तुम्हे शालिनी हॉट नही लगती?

मोहित (ब्लश करते हुए): हा लगती तो है, पर ऐसे कैसे?

शीला: तुम चाहो तो मैं कुछ अरेंज कर सकती हू. इफ़ योउ रियली वॉंट तो दो इट.

मोहित (सोच कर): पर आप करोगे कैसे?

शीला (उसको प्यार से थप्पड़ मारते हुए): श, तो मेरा बच्चा अब शालिनी की भी लेना चाहता है ( और मैं हासणे लगी).

मोहित: दीदी मज़ाक मस्ती तक तो ठीक है, पर शालिनी दीदी को मैं कैसे कर सकता हू? उनको बुरा लगा तो? और वैसे भी, आप देल्ही चले जाओगे, और विजय तो लंडन में रहता है. मुझे तो डेली शालिनी दीदी का मूह देखना है ना. अगर हमारे बीच कुछ हुआ, तो मैं तो उनसे नज़रें भी नही मिला पौँगा.

शीला: मेरे साथ सब कुछ करने के टाइम पर इतना सोचा था? नही ना. तो अब कुछ ज़्यादा मत सोच.

वैसे भी हम चारो यहा एंजाय करने आए है. शालिनी ने कॉर्पोरेट वर्ल्ड में काम किया है. उसके लिए ये सब नॉर्मल होगा.

मोहित: बात तो सही कही अपने. वैसे जीजा जी को देखो और शालिनी को दोनो का स्टेटस मॅच ही नही कर रहा. कल रात वो विजय के साथ कितना कंफर्टबल थी. लगता तो ऐसा था नही की उसका जीजा जी के अलावा किसी के साथ फर्स्ट टाइम था.

शीला: ब्रो योउ थिंक सो मच. इफ़ शी इस ओक वित योउ. वॉट’स युवर मूव?

मोहित (ब्लश करते हुए): उसको प्राब्लम नही है, तो मुझे भी नही होगी. पर दीदी अगर मैं शालिनी के साथ रहूँगा तो विजय क्या करेगा?

शीला: उसके लिए मैं हू ना.

मोहित (सर्प्राइज़्ड फेस): वॉट? अरे योउ क्रेज़ी? दीदी ये कुछ ज़्यादा नही हो जाएगा?

शीला: लिसन ब्रो. हम सब कज़िन्स ने अपने पार्ट्नर के साथ चीट किया है. अब हम दोनो के बीच जो हुआ है, उससे हमारी फॅमिली को कुछ पता नही चलेगा. और मैने आज कभी तेरे बारे में ऐसा नही सोचा था की तुम मेरे कज़िन हो. मैं जैसे विजय को मेरा भाई मानती हू, ऐसे ही तुम मेरे सगे भाई हो. मेरे लिए तुम और विजय एक जैसे ही हो.

मोहित: बात तो आपकी सही है. पर क्या विजय आपके साथ कंफर्टबल हो जाएगा? जितना वो शालिनी के साथ हुआ है?

शीला: तुम्हे शालिनी की लेनी है या ये सब सोचना है? ये सब तुम मुझ पर छ्चोढ़ दो.

मैने मोहित को पूरा प्लान समझा दिया, और वो मेरी बात सुन कर बोला-

मोहित: दीदी आप कितनी शार्प हो. ऐसे तो शालिनी और विजय हम दोनो के साथ ईज़िली कंफर्टबल हो जाएँगे.

शीला: हा बस तुम नखरे मत करना. सब के सामने खुल कर बातें करना. लड़की की तरह शरमाने मत लगना (उसके लंड को हाथ में पकड़ कर). इसकी पर्फॉर्मेन्स अची देना. वैसे तो मुझे इसके साथ बड़ा मज़ा आया है. जान निकाल कर रख दी थी.

अब मैं और मोहित आउट ऑफ कंट्रोल हो गये, और लीप लॉक कर दिया. मैं भी बहुत एग्ज़ाइटेड थी. हम दोनो फ्रेश हो कर साथ में नहाने चले गये. मैं टवल लपेट कर बाहर आई तो देखा कुछ 10:30 टाइम हो गया था. और मुझे अब भूख भी लगी थी. मैने मरून कलर का प्रिंटेड बॉडयकों ड्रेस पहना था, जिसमे मेरी चोकॉलती स्किन और भी सेडक्टिव दिख रही थी, और हल्का मेकप किया था.

मेरा 34-28-36 का सेक्सी फिगर उस ड्रेस में मस्त लग रहा था. वो ड्रेस मेरी गांद से तोड़ा ही नीचे थे. मेरी लेग्स बहुत सेक्सी दिख रही थी. मैने शालिनी को मेसेज किया-

शील: मिशन सक्सेस्फुल.

उसका भी रिप्लाइ आया: सेम हियर.

मैने नीचे आ कर देखा तो शालिनी ने माज़ेंटा कलर का प्रॉम ड्रेस पहना था. ड्रेस में वन साइड कट था. उसमे से उसकी गोरी चिकनी टांगे बहुत ही सेक्सी दिख रही थी. शालिनी का 38-32-40 साइज़ का फिगर उस ड्रेस में बहुत सेक्सी दिख रहा था. हम दोनो ने हाइ हील पहना था, तो हमारी गांद मस्त दिख रही थी. शालिनी को मैने हग किया.

उसने कहा: विजय हमारे लिए कुछ स्पेशल डिशस बना रहा है.

विजय की नज़र मुझ पर गयी तो उसके मूह से वाउ निकल गया. मोहित भी शालिनी को देखता ही रह गया. हम दोनो आज ग़ज़ब की बाला लग रही थी. मैने विजय को हग किया, और चिक पर किस किया और कहा-

मैं: कल रात कैसी रही? शालिनी को आचे से बजाया ना.

विजय (ब्लश करते हुए): बहुत मज़ा किया. शालिनी दीदी में बहुत गर्मी है. एक्सपीरियेन्स्ड भी है और मज़ा भी फुल देती है. आंड बाइ थे वे थॅंक्स दीदी. आप नही होते तो मैं इंडिया आ कर इतना एंजाय नही कर पाता. आपने मेरी लाइफ का सबसे बेस्ट सेक्स एक्सपीरियेन्स करवाया है ( मुझे हग करते हुए), और आज कातिल लग रही हो. मॅन कर रहा है यही शुरू हो जौ.

शीला: युवर वेलकम ब्रो. तुम्हे किसने रोका है?

विजय: शीला और मोहित यहा पर तो है (मैने देखा दोनो हमे ही देख रहे थे). उनके होते हुए कैसे होगा?

शीला (उसके गले में दोनो बाहें डाल कर): रिलॅक्स ब्रो, मैं हू ना, सब कुछ हॅंडल कर दूँगी. तुम बस देखते जाओ.

अब मैं विजय को छ्चोढ़ कर शालिनी के पास गयी, और उसके कंधे पर हाथ रख कर उसको गार्डेन में ले गयी, और बेंच पर बैठ कर कहा-

मैं (उसकी नंगी तंग पर हाथ रख कर): आज मेरी जान हॉट आंड सेक्सी लग रही है. कल की रात कैसी रही बेबी? फेस देख कर लगता है विजय ने जाम कर छोड़ा है.

शालिनी: हा यार विजय सच में बहुत बढ़िया चुदाई करता है. उसकी बॉडी अफ यार कितनी हॉट है. लंड है की लोहे की रोड. मुझे कल सभी आंगल से छोड़ा उसने. गांद भी मरवा ली. उसका लंड श मी गोद कितना मोटा है यार. योउ नो मुझे कल की चुदाई में जितना मज़ा आया, उतना मेरी लाइफ में कभी नही आया. और कज़िन ब्रो से चूड़ना अड्वेंचर तो लगा.

शीला: ओह नाइस बेबी. तो अब क्या सोचा है?

शालिनी: वो सब छ्चोढ़ आ बता तेरा कैसा रहा मोहित के साथ? मोहित मुझे घूर कर क्यूँ देख रहा है?

मैं: वो कल तुम दोनो यहा बेंच पर बैठ कर रोमॅन्स कर रहे थे, वो उसने देख लिया.

शालिनी: ओह नो. तो अब तो सब गड़बड़ हो गयी ना ( घबराते हुए)? अब क्या होगा ?

मैं: अर्रे वो सब मैने हॅंडल कर लिया. तुम दोनो को देख कर वो आउट ऑफ कंट्रोल हो गया. अब मुझे सिचुयेशन को हॅंडल करना था, तो मुझे भी उसके साथ रोमॅन्स करना पड़ा (मैं शालिनी को ये जाता रही थी की मैने उसको बचाने के लिए मोहित से सेक्स किया).

शालिनी: तो अब तो वो अंडर कंट्रोल है ना.

शीला: नो बेबी, उसको भी तेरे साथ करना है. उसकी बहुत इक्चा है, और ऐसी कातिल मिलफ देख कर तो किसी का भी मॅन करेगा.

मैं शालिनी की बॉडी को सहलाने लगी. मैने अपना एक हाथ उसकी पनटी के पास रख दिया, और उसके उपर से हाथ घुमा रही थी. शालिनी की आ निकल गयी. मैने उसके एअर पर बीते किया, और शालिनी की बॉडी में लेहायर दौड़ गयी.

शीला: तो बेबी अब तुम रेडी हो ना अपने दूसरे ब्रो के साथ? मोहित का मस्त लंबा है. स्टॅमिना बहुत मस्त है. मुझे तो निचोढ़ कर रख दिया. अब जाओ और उसके साथ मज़ा करो.

मैने मोहित को गार्डेन में बुलाया, और उसको आँख मारी. वो समझ गया की मैने आधा काम कर दिया था. मैं विजय की हेल्प करने किचन में गयी, और उसको पीछे से हग किया. फिर आयेज हाथ डाल कर उसके लंड को . लगी. वो मेरे ऐसे . से बड़ा . लगा. मैने कहा-

मैं: कल रात . शालिनी की बहुत चुदाई . है. अब सब सही चला तो आज हम दोनो की . में जाएगा (मेरी बात सुन कर वो . हो गया).

विजय: हाउ इट विल बे पासिबल?

अब मैने विजय को पूरा प्लान कहा. वो सुन कर वो खुश हो गया. मैने उसके लिप्स पर लिप्स रख दिए, और हमने फ्रेंच किस करना शुरू कर दिया. विजय के दोनो हाथ मेरी गांद को सहला रहे थे. और उसका लंड मेरी छूट पर रब कर रहा था. मैं हॉर्नी हो गयी थी. विजय ने मुझे उठा कर स्लॅब पर रख दिया और बूब्स दबा कर किस कर रहा था. मैने अपने आप पर कंट्रोल किया. हमने विंडो से गार्डेन की और देखा तो शालिनी और मोहित कुछ बात कर रहे थे.

फिर कुछ ऐसा हुआ की शालिनी ने मोहित को हग किया, और दोनो में किस्सिंग शुरू हो गयी. ये देख कर विजय तोड़ा बौखला गया. मुझे उसने कहा-

विजय: दीदी ये क्या होने लगा?

मैने विजय को मेरे साथ रात में क्या हुआ और मोहित के मोबाइल में जो वीडियो थी, उसके बारे में सब बता दिया.

शीला: सॉरी ब्रो, मुझे उसके साथ नही करना था. बुत ई हद नो चाय्स. आप दोनो फ़ासस जाते, सो मुझे कॉंप्रमाइज़ करना पड़ा (सच तो ये है की मेरी भी बहुत इक्चा थी की मोहित मेरी चुदाई करे).

मेरी बात सुन कर विजय का क्या रिक्षन होता है, और हम सब कज़िन्स का इतना ओपन्ली हो जाना कितना रोमांचक होता है. वो सब आपको आने वाले पार्ट्स में पता चलेगा. आपको स्टोरी कैसी लगी वो प्लीज़ कॉमेंट करे और आपका फीडबॅक मूडछंगेरबोय@गमाल.कॉम पर मैल करे.

यह कहानी भी पड़े  माया की चूत मे जेठ का लंड


error: Content is protected !!