Bhabhi Ki Saheli Puja Ki Rasili Gand

दोस्तो, मेरी उम्र 21 साल है.. मैं ग्रेजुएशन कर रहा हूँ।

भाभी की सहेली
एक बार मैं और मेरे भैया-भाभी टूर पर गए हुए थे, और भाभी की फ्रेण्ड पूजा भी साथ में थीं.. जो शादीशुदा थीं।
अभी उनकी शादी को लगभग तीन साल हुए थे.. और उनके पति दस दिन पहले एक महीने के लिए दूसरे स्टेट गए हुए थे।

टूर प्लेस पर एक जगह बहुत भीड़ थी और सभी लोग लाइन में जा रहे थे, हम लोग भी लाइन में लगे थे।

थोड़ी देर बाद लाइन बढ़ी.. फिर रुकी.. फिर बढ़ी सबसे आगे भैया.. फिर भाभी और उनकी दोस्त और आखिर में मैं था। लाइन बढ़ी और इस बार काफी तेजी से मुझे पीछे से धक्का लगा और मेरे लण्ड पर एक झटका लगा।

पूजा की गांड
सामने देखा तो मेरे होश ही उड़ गए.. मैं पूजा जी की गाण्ड से टकराया था।
इतनी बड़ी गाण्ड मैंने आज तक लाइव नहीं देखी थी।

अब मेरा लण्ड खड़ा होने लगा।

एक बार फिर उनकी 38 इंच की बड़ी गाण्ड से टकरा गया, अब मेरा लम्बा लण्ड एकदम से खड़ा हो गया।

इस बार उन्होंने पीछे पलटकर मेरी ओर देखा, मुझे बहुत शर्म आ रही थी, मैं अपने आपको बड़ी मुश्किल से संभालते हुए एकदम रुक गया.. और जब वो मुझसे थोड़ी दूर चली गईं.. तब मैं आगे बढ़ा।

एक दिन का टूर ख़त्म होने के बाद रात को हम घर पहुँचे.. खाना खाया और सो गए। लेकिन मुझे पूजा की गाण्ड का एहसास सोने नहीं दे रहा था, किसी तरह सो गया।

यह कहानी भी पड़े  Bhai Aur Uske Dost Se Meri Chut Gaand Chudi

सुबह देर से उठकर नहाया फिर खाना खा कर टीवी देखने लगा।

भाभी की सहेली का घर
तभी पूजा जी आईं.. भाभी से बात करने के बाद उन्होंने मुझसे अपने घर चलने को कहा।

मैं भी बिना कुछ पूछे उनके घर गया फिर हम दोनों बात करने लगे।
पूजा- और बताओ मजा आया टूर में..
मैंने थोड़ा झिझकते हुए कहा- हाँ..

पूजा- क्या पिओगे.. ठंडा या गरम?
मैंने- नो थैंक्स..
पूजा- अरे ऐसे कैसे.. तुम पहली बार आए हो.. कुछ तो लेना ही पड़ेगा।
मैं चुप बैठा रहा।

पूजा- अच्छा.. तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?
मैंने- नहीं..
पूजा धीरे से बोलीं- अच्छा तुम्हें कल लाइन वाली बात याद है?
मैंने- कौन सी बात?
पूजा- जब तुम मुझसे टकराए थे?
मैंने- ओह्ह.. सॉरी पर मैं जानबूझ कर नहीं..

पूजा ने मेरी बात बीच में बात काटते हुए कहा- हो जाता है भीड़ में.. ऐसा हो जाता है।
मैंने- आपको बुरा तो नहीं लगा?
पूजा- नहीं.. बिल्कुल नहीं।

एक पल के लिए हम दोनों मौन रहे।
पूजा- क्या तुम्हें मजा आया था?
मैंने- अंह.. हाँ..
पूजा- ओह.. तभी तुम्हारा.. वो खड़ा हो गया था है न..
मैंने शर्माते हुए जबाव दिया- हाँ..

पूजा की गांड मारी
पूजा- क्या फिर से टकराना चाहोगे मेरी गाण्ड से?

मैंने- ये.. आप..
पूजा- हाँ या न.. नहीं तो तुम्हारी भाभी से सब कुछ बता दूँगी।
मैंने- हाँ..
पूजा- ठीक है.. टकराओ!

मैं शरमा रहा था।

अब मैं खड़ा हो चुका था.. वो मेरे पास आईं और पास और हाथ पकड़ कर बेडरूम में ले गईं और ब्लू फिल्म चला दी।

यह कहानी भी पड़े  बहन की चुदाई फार्महाउस पर

अब उनकी 32-30-38 की फिगर देखकर मेरा लण्ड खड़ा होने लगा।
पूजा चुपचाप खड़े हो कर टीवी की तरफ देख रही थीं, मैं उनके पीछे खड़ा था, मैं तेजी से उनके पास गया और कसकर उनकी कमर पकड़ ली।
मेरा लण्ड उनकी गाण्ड पर.. हाय.. जन्नत जैसा लग रहा था।

Pages: 1 2

error: Content is protected !!