भाभी का मसाज और चोदन पति के सामने

गिगोलो के काम में सबी से बड़ा सुकून ये हे की एक अच्छे लंड के सिवा किसी और चीज का इन्वेस्टमेंट नहीं करना हे. फोन तो सब के पास होता हे. बस फोरम और वेबसाइट के ऊपर ध्यान रखो तो चुदाई का मसाला मिल ही जाता हे. और कभी कभी आप के पुराने क्लाइंटस भी आप के लिए नए माल रिफर करते हे. ऐसा ही मेरे साथ भी हुआ. एक बन्दे का कॉल आया मुझे.

वो अपनी बीवी का मसाज करवाना चाहता था. उसका नाम रसिक था और बीवी का नाम मोहिनी था. मोहिनी 29 साल की जवान भाभी थी. मैं पहले उसकी डिमांड समझा नहीं इसलिए मैंने तब सही बात नहीं की. फिर उसे दुबारा कॉल किया तो उसने मुझे मिलने के लिए बुला लिया.

उसने मुझे अपने कुछ निजी पिक्स दिखाए और कहा की मेरी बीवी को सेक्सी मसाज करवाना हे किसी पराये मर्द से. मैंने कहा मैं मसाज में उतना सही नहीं हूँ तो उसने कहा कोई बात नहीं मेरी बीवी ने भी कौन सा मसाज में पिएचडी किया हे.

हमने वक्त तय किया मिलने का. और उस वक्त पर मैं उसके घर चला गया. वो एक छोटा 1 बीएचके था. मैंने मोहिनी भाभी को देखा जो ट्रेडिशनल कपड़ो में थी. उसका पेट थोडा बहार को आया था और चहरे के ऊपर बहुत सब शर्म थी.

मैं टाइम वेस्ट नहीं करता हु काम के वक्त. इसलिए मैं सीधा ही उस सेक्सी भाभी के पास गया और उसके चहरे को ऊपर कर के किस कर दिया. उसने भी मस्त रिस्पोंस दिया. आखिर वो भी जानती थी की मेरा धंधा क्या हे.

यह कहानी भी पड़े  पड़ोसन आंटी और उनकी 18 साल की ननद

फिर मैं बैठा और कुछ देर हमने बात की मसाज वगेरह की. फिर मैंने कहा, चलो फिर चालु करते हे. रसिक ने मोहिनी को कहा की तुम कपडे निकाल के अपनी बॉडी को तोवेल में लपेट दो. वो फट से चेंज कर के आ गई.

वो आते ही निचे फर्श के ऊपर एक चद्दर डाल के लेट गई. उसने तोवेल डाला था पतला सा और उसके अंदर उसकी सेक्सी ब्रा और पेंटी दिख रही थी. उसकी पीठ मेरी तरफ थी. मैंने भी अपनी टी शर्ट वगेरह उतारी और अंडरवेर में आ गया.

उस वक्त मेरा लंड अभी उतना खड़ा नहीं हुआ था. मैंने धीरे से उसकी कमर के ऊपर हाथ रखा और उसे घुमाने लगा. मोहिनी भाभी के मुहं से आह निकल गई. मैं कमर को मलते हुए धीरे से अपने हाथ को उसकी जांघ के उपर ले गया. रसिक भी सामने ही बैठ के मेरा मसाज देख रहा था.

फिर मैंने अपने हाथ को मोहिनी की गांड के उपर रखा और धीरे से खोला. उसके तोवेल की गाँठ खुल गई. मैंने तोवेल को निकाल दिया और फिर से उसकी गांड को पकड़ के दबाई. वो कराह उठी. उसकी गांड को हाथ से खोलने पर उसकी चूत की महक आ गई. मैंने अपने लंड को उसकी गांड के ऊपर टच कर दिया.

और फिर मैं मोहिनी की कमर को फिर से मसाज देने लगा. मेरा लंड एकदम से कडक था. मोहिनी भाभी को भी बहुत मजा आ रहा था. फिर मैंने निचे हो के उसकी ब्रा के हुक को खोल दिया. वो मस्तिया उठी. मैंने उसकी कमर के ऊपर किस किया और अपने प्यार के निशान यानी की लव बाईटस देने लगा.

यह कहानी भी पड़े  भतीजी का खूबसूरत भोसड़ा चाचा का पूरा लंड निगल गया

फिर वो पलट गई ताकि मैं आगे भी मसाज दे सकूँ. उसके बड़े मोटे बूब्स और सेक्सी काली निपल मेरे सामने थी. उसके बूब्स दूध से भरे हुए लग रहे थे. मैंने अपने हाथ पर अब तेल लिया और उसके बूब्स को तेल वाले हाथो से दबा के सर्कल बनाने लगा.

Pages: 1 2

error: Content is protected !!