इशिता भाभी का अकेलापन दूर किया

हेलो दोस्तों मेरा नाम समीर है बूत प्यार से सब सैम ही बुलाते है. मई मुंबई में रहता हु सिंगल हु और जॉब कर रहा हु. मई रेगुलर गयम जाता हु इसलिए मस्त बॉडी है और ७ इंच का लुंड है जो ३ इंच मोटा है. ये कहानी एक महीने पहले के है जो मेरी ही भाभी की है.

मेरी भाभी का नाम इशिता है और एकदम दूध जैसी गोरी है और उसका फिगर कुछ ३६-३०-३४ है. जो मैंने बाद में उनसे ही पूछा था. उनकी शादी के बाद मेरा ऐसा कोई इरादा नहीं था.बूत एक बार एकदम टाइट सूट पहना था. जिसमे बूब्स देख के मेरा लुंड अचानक से खड़ा हो गया. और घर के सफाई करते वक़्त काफी बार उनके बूब्स दिख गए थे. मुझे बस मेरा मूड बन चूका था की इसे छोड़ना है.

भाभी तो मुझसे काफी बाते करती ही थी. हसी मज़ाक और मेरा ख्याल भी रखती थी. पर मेरी नज़र हमेशा उनकी बॉडी पे होती थी. ये चीज़ का उन्हें भी हिंट था और कई बार मई मुठ मार लेता था.ऐसा भी हो चूका था की कभी कभी मेरा हाथ उनके हाथ पे या तइस पे या बैक पे लग जाता था. पर उन्होंने कभी कुछ नहीं कहा. मई इतना समझ गया था के मई कुछ भी कर लू ये कुछ नहीं बोलने वाली है.

आखिर में वो वक़्त आ ही गया. एक शादी अटेंड करने मेरे घर वालो के ओने वीक के लिए आउट ऑफ़ सिटी जाना पड़ा. और मुझे पता चला के भाभी की तबियत ठीक नहीं है. इसलिए वो नहीं जाएगी और उनको मायके छोड़ने के प्लान चल रहा था.ये सुन के मैंने अपने ओफ्फ्स प्रोजेक्ट के बहाना बना लिया. मुझे घर में देख के भाभी को भी यही छोड़ दिया क्युकी मेरा खाना पीना भी तो देखना था.

सब घर वाले निकल लिए और मई घर में ही रहा. जिसपे भाभी बोली के आपको ओफ्फ्स नहीं जाना क्या? मई बोलै की घर से कर लूंगा और आपका ख्याल भी तो रखना है और ज़रूरत भी तो पूरी करनी है. भाभी है पड़ी और मई तो बस दिखने के लिए लैपटॉप चालू रखा था.दो दिन बाद भाभी की ताब्यात ठीक हो गयी थी. और मुझे मौका मिल गया की आज छोड़ ही डालूंगा. बाकी मैंने तो इतने महीने में कई बार भाभी की ब्रा में मुठ मार के उनके कप्बोर्ड में रख चूका हु.

रात हो चुकी थी और मेरा लुंड फुल तैयारी में था. हम लोग ने रात में १२.३० तक बाते की और कई बार नॉटी बाते भी हुई. जिसपे वो हमेशा है देती थी पर मुझे कभी रोका नहीं.इससे मई समझ गया के ५ दिन और रात में अब कुछ भी कर सकता हु. भाभी तो गुड नाईट बोल के चले गयी. पर मेरा दिमाग तो घुमा हुआ था. क्युकी उसने मेरा फव येलो सूट पहना था. जिसमे उसके बूब्स एकदम कातिल दीखते थे और अंदर ब्लैक ब्रा पंतय पूरी दिख रही थी.

मैंने हाफ ान ऑवर वेट किया और भाभी के रूम में नॉक किया. थें उसने ५ मीन्स रुकने कहा. क्युकी ी क्नोव वो टीशर्ट एंड ट्रैक में सोती है ऑलवेज.तो वही चेंज करने गयी थी और ऐसे भी मई तो उसे वही सूट में देखना चाहता. क्युकी उसकी तिघटनेस के वजह से बाकी कलर से मुझे कुछ मतलब नहीं था.

उसने अंदर बुलाया और पूछा के क्या हुआ? ी साइड भाभी अब क्या बताऊ एक्चुअली मुझे अकेले नींद नहीं आती है. दो रात मैंने संभल लिया पर आज नहीं हो पाएगा. अगर आपको प्रॉब्लम ना हो तो आज यही सो जाऊ?भाभी २ मिंट तक सोची क्युकी शायद उन्हें भी पता चल ही गया था के मई क्या करने वाला हु. काफी कहने पर वो मान गयी और हम एक बीएड पे लेट गए. और कहा के मई सो रही हु. मई इतना समझ गया था के सिर्फ सूट चेंज किया है बाकी अंदर कुछ नहीं पहना है.

फिर हाफ ान ऑवर के बाद मैंने हिम्मत करके उसके करीब गया और आवाज़ दी. पर कोई रिस्पांस नहीं था. मई समझ गया के सो गयी है और यही सही मौका है.उसकी बैक मेरी तरफ थी तो मई क्लोज जा के उसके पेअर पे अपना पेअर रखा. फिर उसके दोनों पेअर के बीच अपना पेअर डाला. थें थोड़ा और क्लोज गया और लुंड उसकी गांड पे चिपका दिया. और अपनी चेस्ट उसकी बैक पे लगा दिया. थोड़ा उसको हेड मस्सगे भी कर रहा था.

फिर चीक्स पे किश किया पर इतना सब कुछ होने पे भी कोई रिस्पांस नहीं था. मई तो अपना काम कर रहा था. फिर मैंने मेरी टीशर्ट निकली वापस से चिपक के लेत गया.इससे ज़्यादा मुझसे कण्ट्रोल नहीं हुआ और अब मई सोचा के जो होगा देखा जायेगा. उसकी कुर्ती की चैन खोली और कुर्ती निचे कर दी. सलवार के नाडा भी खोल दिया.

उसकी बैक भी मुझे पसंद थी क्युकी काफी भरी हुई थी. मैंने बैक पे किश शुरू किया. एक हाथ से बूब्स दबाने और निप्पल पिंच करना शुरू किया. मेरे एकदम फव है बूब्स एक हाथ से उसकी छूट सहलाने लगा.ये सब उसे सपना लगा और वो मज़े ले रही थी. मैंने जोश में छूट में ऊँगली दाल दी. जिससे उसकी आँख खुल गयी और मेको देख के रिक्वेस्ट करने लगी.

भाभी – ये क्या कर रहे हो ये सही नहीं है मई तुम्हारी भाभी हु. प्लस जाने दो मई ऐसे चीटिंग नहीं कर सकती… और मई तो बस ऐसे ही मज़ाक मस्ती करती थी.

पर मैंने तो छोड़ा नहीं न अपना ट्रैक भी उतार दिया था. उसका सलवार भी निकला थें उसकी बॉडी की तारीफे करने लगा. और अपना छोड़ने की विश कितनी पुराणी है वो बताया.मेरे लुंड देख के वो थोड़ा शांत हुई और खामोश हो गयी. बस लेती ही रही ऐसे ही. मई समझ गया की इसको चाहिए है बस नखरे कर रही है.

मैंने सीधा उसको नंगा किया और लम्बी स्मूच करने लगा. वो स्टार्ट में तो ऐसे ही पड़े रही. पर मेरा लुंड बार बार उसको टच कर रहा था और वो अपना कण्ट्रोल खो बैठी.उसके बाद जो होठ चूसना शुरू किये की क्या बताऊ मई. एक भुकी शेरनी के तरह बस चूस रही थी जैसे खा जाएगी. मई समझ गया की ये काफी टीम से भुकी है.

मई उसके बाल नोच के होठ चूस रहा था और काफी बार बाईट भी कर दिया. जिससे वो मेरी बैक कसके पकड़ लेती थी. उसके नैक किस्सेस किये और बाईट भी की और वो बस पागल हो रही थी.फिर मैंने बूब्स दबाना शुरू किया एकदम रगड़ के दबा रहा था पिंच कर रहा था. और साथ में १५-२० बाईट किया. जिससे पुरे निशाँ आ गए थे. मैंने निप्पल्स को अपने टंग से राउंड कर कर के चूस रहा था और काट रहा था.

भाभी तो बस आअह्ह्ह्ह ह्म्म्मम्म ोुह्ह्ह्ह फुकककक तुम कितना मज़ा दे रहे हो. आज तक तुम्हारे भाई ने भी इनको नहीं छुआ. मैंने ही दबा के इतने बड़े किये है. बस आज इनको निचोड़ लो खा जाओ फूकककककक मेरी जाननं…थें मैंने जैसी ही छूट पे एयर ब्लो किया तो वो मचल गयी और तड़पने लगी. की यार अब तुम इसे भी चुसोगे क्या मस्त हो तुम. आज तक कोई चूसा नहीं और मेरी यही विश थी और आज तुम उसको पूरा कर रहे हो.. प्लीसीई वेट नहीं करना है बस सुकककककक ित्त्त नाहा… पूरा पानी निकालल दो!

मैंने सब सुन कर जो चूसना शुरू किया. तभी दूसरी बार वो झाड़ गयी क्युकी पहले भी बार तो वो बूब्स सूचक में झाड़ चुकी थी. ज़ोर ज़ोर से छूट चाट रहा था टंग अंदर दाल के छोड़ा उसे. साथ में बूब्स भी कसके दबाये.

वो तो खली पागल हो रही थी. थें मैंने फिंगरिंग शुरू की तो वो और पागल हो गयी. पता नहीं क्या क्या बोल रही थी की जान इसे आज शांत कर दो. क्युकी मेरे मैं के हिसाब से मेरी आज तक चुदाई नहीं हुई सुककककक ित्त्त बॉब्बीयययय… तुम ही मेरी जांणण हो मेरी लाइफ हो और चुसो नाआ… मई तुम्हारी हु आज से.. जस्ट स्खकककक ना मोरे हार्ड न मोरे न मोरे. ऐसा करते एक बार और झाड़ गयी.

मुझसे रहा नहीं गया और मैंने लुंड उसके हाथ में दिया. तो वो बस हिला रही थी बहुत बोलने पे उसने चूसना शुरू किया. फुककक यार आइस क्रीम जैसा चूस रही थी. उसका गरम मुँह मुझे पागल कर रहा था. कभी चुस्ती कभी लिप्स पे लुंड रगड़ रही थी. तोह कभी बूब्स पे लुंड मार रही थी निप्पल पे लगा रही थी.मैंने सीधा लिटाया और लुंड सेट किया. वो बोली की आराम से क्युकी आज तक इतना बड़ा देखा नहीं और कभी छुड़वाया भी नहीं.

मैंने कुछ भी नहीं सुना और एक झटके में आधा लुंड अंदर. उसके चिल्लाने से पहले ही मैंने उसको स्मूच शुरू कर दिया और बूब्स दबाने लगा.२ मं बाद और एक झटके से पूरा लुंड अंदर. वो चिल्ला तो नहीं पायी बस आंसू निकल रहे थे. मैंने कुछ न देखा बस धक्के देना शुरू किया.क्या मस्त टाइट छूट थी यार. ५ मिंट बाद उसने भी साथ देना शुरू किया फिर हमारी जैम के चुदाई शुरू हुई.

भाभी – आअह्ह्ह्ह फुकककक ऊऊऊ एसससस फुकककक में हरदररर जाननं… ी वांट तो फील यू और ज़ोर से करो नाआ… मई बस तुम्हारी हु फुकककक फुककक फुकककक.. क्या लुंड है मस्त्त!१५ मिंट बाद मैंने उसे ऊपर लिया वो बस झट से मेरे लुंड पे बैठ गयी और उछलने लगी. ऐसा नज़ारा मई कभी भूल नहीं सकता. बस उछाल रही थी उसके बूब्स भी बाउंस कर रहे थे.

मई लम्बे लम्बे स्ट्रोक मर रहा था और उसके बूब्स भी निचोड़ रहा था. और लिप्स पे ऐसा किश किया की ब्लड निकल गया. वो चुदाई में ऐसी पागल हुई की ज़ोर से मॉनिंग करने लगी-की काश तुमसे मेरी शादी होती मैंने गलती कर दी. तुम कितना मज़ा देते हो छोड़ने में. यू अरे अमेजिंग जांणण जस्ट फ़क में हरदरररर… तुम्हारा लुंड पूरा एन्ड पॉइंट तक टच कर रहा है.. फुककककक फुकककक में ओह्ह्ह एसससस.. यू अरे माय मन जस्ट होल्ड माय बूब्स स्क्वीज़ थम एंड फुककक में मोरे दीपेररर.. मोरे हार्ड मोरे लाउड ओह्ह्ह्हह फुकक मई ना..!

मई बोलै हाँ जान लेट थोड़ी हुआ है. एक ही घर में है हमेशा चुदाई करेंगे और आज इतनी मारूंगा तुम्हारी की तुम चल नहीं पाओगी ईशिताआए…लम्बी चुदाई २० मीन्स के बाद मेरा होने वाला था. तो ज़िद्द कर रही थी के बहार निकालो वर्ण प्रॉब्लम होगी. मई कुछ न सुना और अपनी स्पीड बधाई और उसकी छूट में सारा माल दाल दिया.

पहले तो काफी टेंशन में थी फिर बोली कोई बात नहीं मई पिल्स कहती हु. तुमने जो आज सुख दिया है उसके आगे कुछ भी नहीं है. और अब से हमेशा तुम मुझे छोड़ोगे. कुछ टीम बाद में बच्चा भी चाहिए तुमसे.कुछ टीम ऐसे ही लेट के हम किश करते रहे और वो सो चुकी थी. फिर मैंने फिर से किसिंग शुरू की और वो बोली की अभी बाथरूम में चलो. वह जा के फिर से हमने शुरू किया और डोगग्य स्टाइल में छोड़ा.

उस टीम वो २-३ बार झाड़ गयी और मैंने एक बार उसके मुँह में माल निकला और एक बार छूट में. ये सब ५ भजे ख़तम हुआ और हम सो गए.उसके बाद ४ दिन तक हम दोनों नंगे ही घूम रहे थे घर में. फिर जब मैं करता तो कभी हॉल या बैडरूम या किचन या बाथरूम या गैलरी में चुदाई शुरू कर देते थे.

सब घर वालो के आने के बाद भी हम मौका देख के चुदाई करते थे और अब वो प्रेग्नेंट है.

दोस्तों कहानी कैसी लगी मुझे ज़रूर बताये और कोई लड़की या औरत मुझसे छोड़ना चाहे तो ज़रूर बताये ओर भी जवान भाभी लड़किया ओर आंटी को हॉट बाते करना ही तो आप मैल करे [email protected] आप की सारी डीटेल्स एक दम सीक्रेट रहेंगी उससे आप लोग बेफ़िक्र रहे.

यह कहानी भी पड़े  बिल्डर के साथ सेक्स कर के बीवी ने फ्लॅट की कॉस्ट कम करवाई

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!