बेटे ने मा की दो अंकल्स से चुदाई देखी

हेलो फ्रेंड्स, मेरा नामे जयवीर है और मैं गुजरात से बिलॉंग करता हू. मेरे घर में हम 2 लोग है, मैं और मेरी मों. मैं अपनी मों पे इन्सेस्ट हू.

ये मेरी सग़ी मों की रियल कहानी है. और आयेज मैं जो भी बतौँगा, वो सब मैने अपनी आँखों से देखा है. जिसने भी मेरी पिछली कहानी नही पढ़ी, वो जाके पहले पढ़े. तभी आपको ये स्टोरी समझ में आएगी. तो ज़्यादा टाइम वेस्ट ना करते हुआ मैं कहानी पर आता हू, की कैसे मैने अपनी मों को चूड़ते हुआ देखा.

तो मैं अपनी मों के बारे में बता देता हू. मेरी मों का नामे नयना है, और उसकी आगे 47 यियर्ज़ है. उसका फिगर का साइज़ 34-30-38 है, और उसका रंग तोड़ा सावला है, मतलब वो ज़्यादा गोरी नही है. पर उसके फिगर से आप सब समझ गये होंगे, की वो कैसी माल होगी.

अगर आपने मेरी कहानी का पिछला पार्ट नही पढ़ा है, तो पहले वो पढ़िए. तभी आपको ये कहानी समझ में आएगी. तो जैसे आपने पिछले पार्ट में पढ़ा, वैसे ही अब पड़ोसी अंकल जिसका नामे महेश है, वो अब रोज़ आने लगे. वो रोज़ मों की चुदाई करने लगे, और ये सब मैं रोज़ देखता था. मैं ये देख कर मूठ मारता था. इसकी वजह से मेरा नज़रिया मों के प्रति चेंज हो गया.

पहले की तरह संस्कारी नही बल्कि एक रंडी, छीनाल और बाज़ारु औरत की तरह ही देखने लगा मैं मों को. तो ये बात है की पड़ोसी अंकल तो आते ही थे मों को छोड़ने. पर अब वो अपने दोस्त को भी साथ में लेके आने वाले थे. ये बात मुझे कैसे पता यही सोच रहे होंगे आप. तो मैं बता हू की मों का पड़ोसी अंकल के साथ का लाफद देख के, अब मैने जब भी मौका मिलता, मों का फोन चेक करना स्टार्ट किया.

मों का फोन चेक करने पर मुझे उसमे मों की न्यूड पिक्स और सेक्स वीडियोस भी मिले. फिर ऐसे ही एक दिन मों जब नहाने गयी, तब मैने उनका फोन चेक किया. मैने उनका Wहत्साप्प देखा, तो वो रोज़ अंकल से बातें करती थी.

फिर मैने उनकी छत पढ़ी की आज अंकल उनके एक दोस्त के साथ आने वाले है. क्यूंकी उनके दोस्त ने अंकल के फोन में मेरी मों और अंकल की चुदाई की वीडियो देख ली थी, और वो ज़िद कर रहा था मों के साथ चुदाई करने की. इसलिए अंकल आज रात को उसको साथ लेके आने वाले थे. उनकी इस बात पर मों ने रिक्ट करके ये लिखा की.

मों: ओके, लेके आना. आज तो दो-दो लंड से चूड़ने में मज़ा आएगा.

ये देख के मैं शॉक हो गया की मों अब दो-दो लंड से चूड़ेगी. और पूरा दिन मैं यही सोचता रहा और खुश भी हो रहा था, की आज मों का थ्रीसम देखने को मिलेगा. फिर ऐसे ही रात हो गयी. मैने और मों ने साथ में डिन्नर किया, और मों बहुत खुश लग रही थी.

डिन्नर के बाद मैं अपने रूम में चला गया, और मों भी बर्तन धो के अपने रूम में चली गयी. मैं अब पड़ोसी अंकल और उसके दोस्त के आने की वेट कर रहा था.

फिर करीब 11:30 बजे मैने गाते खुलने की आवाज़ सुनी, और मैने अपने रूम का डोर ओपन किया. फिर मैने चुपके से देखा तो पड़ोसी अंकल और उसका दोस्त आए थे. ये वही दोस्त था, जो काई बार अंकल के घर आता रहता था. उसका नामे अजय था, और वो पड़ोसी अंकल के साथ ही जॉब करता था.

फिर मों ने पहले डोर लॉक किया, और फिर पड़ोसी अंकल ने मों को लीप किस किया. उसके बाद वो तीनो मों के रूम में चले गये. ये देख मैं भी धीरे से बाहर आया, और मों के रूम के पास जाके डोर ओपन करने लगा. पर वो आज भी लॉक था, तो मैं वही विडो वाली जगह पर चला गया अंदर का नज़ारा देखने के लिए.

ये बताना भूल गया था, की मों ने आज सिर्फ़ उपर ब्लाउस और नीचे पेटिकोट पहन रखा था. और उसमे मों एक-दूं छिनाल लग रही थी. तो कहानी पर आते है. फिर रूम में आते ही अजय अंकल मों के पास गये, और मों को लीप किस करने लगे. मेरी मों भी उनका साथ दे रही थी. उधर पड़ोसी अंकल ने मों को पीछे से पकड़ के नेक पर किस करना स्टार्ट किया. 10 मिनिट्स ये करने के बाद अजय अंकल बोले-

अजय अंकल: यार महेश (पड़ोसी अंकल), क्या माल पटाया है तूने, वाह.

अंकल: हा

अजय अंकल: आज तो मज़ा ही आ जाएगा इस माल को छोड़ने में. मैं जब भी तेरे घर आता था, और इसको (मों) देखता था, तो मेरा इसे तभी छोड़ने का मॅन कर जाता था. और आज तेरी वजह से ये मैं कर पौँगा. थॅंक योउ वेरी मच मेरे भाई.

अंकल: अर्रे इसमे थॅंक योउ वाली क्या बात है. ये है ही ऐसी माल, की किसी का भी दिल छोड़ने का कर जाए. मैने भी जब से इसे देखा था तब से छोड़ना चाहता था. पर कभी बोल नही पाया, की कही है मेरी कंप्लेंट ना कर दे. पर जब मैने हिम्मत करके कहा तो ये भी मुझसे चूड़ना चाहती थी. ये एक ही बारी में मान गयी.

मों: तुम हो ही ऐसे की तुम्हे और तुम्हारा लंड देख कर मैं भी रह ही नही पाई.

फिर अजय अंकल और पड़ोसी अंकल मों पे टूट पड़े, और मों की पूरी बॉडी को चूमने और चाटने लगे. थोड़े मिनिट्स में अजय अंकल ने मों का ब्लाउस फाड़ डाला, जिसकी वजह से मों के बूब्स और आचे दिखने लगे. मों ने ब्रा पहन रखी थी, पर उनके बूब्स उनकी ब्रा से पूरी तरह बाहर झाँक रहे थे.

तभी पड़ोसी अंकल ने मों का पेटिकोट भी उतार दिया, और अब मों सिर्फ़ ब्रा और पनटी में थी. अजय अंकल ब्रा के उपर से मों के बूब्स को किस कर रहे थे, और पड़ोसी अंकल मों की गांद का मज़ा ले रहे थे. इतने में अजय अंकल ने मों की ब्रा भी निकाल दी, और मों अब उपर की बॉडी से पूरी नंगी थी. फिर जैसे ही ब्रा निकली, मों के बूब्स पुर बाहर आ गये.

इसके आयेज क्या हुआ, वो आपको कहानी के अगले पार्ट में पता चलेगा. अगर आपको यहा तक की कहानी पसंद आई हो, तो कॉमेंट सेक्षन में अपनी फीडबॅक ज़रूर दीजिएगा. कहानी पढ़ने के लिए धन्यवाद.

यह कहानी भी पड़े  दोस्त ने दोस्त की मा को सिड्यूस किया


error: Content is protected !!