अपने बच्चे की जवान स्कूल टीचर की रसीली चूत चोद डाली

हेल्लो दोस्तों मैं आप सभी का antarvasnahd.com बहुत बहुत स्वागत करता हूँ। मैं पिछले कई सालों से इसका नियमित पाठक रहा हूँ और ऐसी कोई रात नही जाती जब मैं इसकी रसीली चुदाई कहानियाँ नही पढ़ता हूँ। आज मैं आपको अपनी स्टोरी सूना रहा हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ कि यह कहानी सभी लोगों को जरुर पसंद आएगी। ये मेरी जिन्दगी की सच्ची घटना है। हेल्लो दोस्तों, मेरा नाम टोनी सिंह है। मैं लखनऊ में ठाकुर गंज में रहता हूँ। मेरा कद 6 फ़ीट 7 इंच का है। बचपन से ही मैं बहुत कमीना किस्म का था।

आज भी मेरी कमीनापंती वैसी ही है। मेरी उम्र 34 साल है। बचपन में जब से मुझे पता चला है लंड से मूतने के अलावा भी कोई काम किया जाता है मेरा लंड तब से 6 इंच बढ़ा है। 4 इंच के लंड को हमारे यहाँ आम भाषा में लुल्ली कहते है। लंड तो हमारे यहाँ काम से कम 8 इंच का हो। 8 इंच के बड़े लुल्ली को लंड कहते है। मेरा लंड 11.5 इंच का है। मेरा लंड रॉड की तरह कड़ा है। एक बार खड़ा होने के बाद बहुत मुश्किल से ही गिरने का नाम लेता है। दोस्तों मेरा शरीर खंभे की तरह है। मै रोज जिम जाता हूँ जिससे मेरा शरीर बहुत ही सुडौल है। मै उम्र में भले ही 34 साल का हूँ। लेकिन मै देखने में अभी 25 साल से ज्यादा नहीं लगता। मेरे मुहल्ले की सारी लडकियां लाइन देती है। मै भी भाव खा के अच्छी लड़कियों के साथ सेक्स करता हूँ। मुझे रोज रोज नई नई चूत चोदना बहुत अच्छा लगता है। मेरा लंड अब तक कई लड़कियों को चोद चुका है। पहले से ज्यादा लडकियां तो मुझ पर अब मरती है। लड़कियों से ज्यादा भांभियां चुदवाना चाहती है। दोस्तों मै अब अपनी कहानी पर आता हूँ।

मै एक शादी शुदा मर्द हूँ। मेरी शादी 7 साल पहले सन 2009 में हुई थी। मेरी बीबी कुछ खाश अच्छी नहीं है। उसका नाम सोनिया है। मैं अपनी बीबी को रात में कई बार चोदता हूँ। दोस्तों चेहरा चाहे जैसा हो। लेकिन चूत को चोदने में आनंद उतना ही मिलता है। अभी मेरी शादी को 3 साल ही हुए थे। एक रात चुदाई की दौरान मेरी बीबी प्रेग्नेंट हो गई। जब उसने टेस्ट करवाया तो वो प्रैग्नेंट थी। आखिरकार उसने एक मॉडल निकाल ही दिया। अब वो मॉडल (बच्चा) 4 साल का हो गया है। पास के ही एक स्कूल में मैंने उसका एडमिशन करवाया है। मेरा ठाकुर गंज में ही मेडिसिन की एजेंसी है। एक दिन मेरे घर का नौकर नहीं आया था। मेरी बीबी की भी तबियत खराब थी। उस दिन बच्चे को लाने स्कूल जाना था। मेरे बच्चे का नाम मुरली है। मैं उसके स्कूल के गेट से अंदर घुसा। मैंने अंदर जाकर एक मैडम को देखा जो मेरे बच्चे को लेकर आ रही थी। मैडम के बाल बिखरे हुए थे। मैडम अपनी बालों को संभाल रही थी। मेरा तो बचपन से ही यही हाल था।

यह कहानी भी पड़े  दोस्त के साथ मिल कर हाईफाई औरत की चूत गांड की चुदाई की-3

किसी खूबसूरत लड़की को देखते ही मेरे लंड का खड़ा हो जाना। मेरा बच्चा मुझे देखते ही मेरी तरफ डैडी डैडी बोलते हुए मेरी तरफ दौड़ने लगा। मैडम मेरे बच्चे को मुरली संभल के बोलते हुए उसके पीछे तेजी से चलने लगी। मैडम की उछलते बूब्स को देखकर मेरा लंड कड़ा हो गया। मुझे मैडम की चलने की स्टाइल दुपट्टे को सँभालने की अदा मेरे दिल को भा गई। मेरा मन मैडम को चोदने को मचलने लगा। मैडम मेरे पास आकर बोली- आपका बच्चा बहुत ही शरारती है। जब तक स्कूल में रहता है। कुछ ना कुछ शरारत करता रहता है। मैंने मन ही मन कहा बिल्कुल बाप पर ही गया है। मैंने मुरली को बाय बोलने को कहा। मुरली बाय बोला ही था कि मैडम झुक कर मुरली को किस करने लगी। मैडम के झुकने पर उनके दोनों चुच्चे साफ़ साफ़ दिखने लगे। मेरे लंड पर प्रेशर बढ़ता ही जा रहा था। मैने तुरंत घर पर आते ही बीबी की जबरदस्त चुदाई मैडम को याद कर करके कर दी। मैंने बच्चे से मैडम का नाम पूंछा। उसने मैडम का नाम लिली बताया।

अब मैं हर रोज अपने बच्चे को लेने जाने लगा। जिस दिन लिली बच्चे के साथ नहीं आती उस दिन मैं अंदर जाकर मिल आता था। मैंने लिली से उनका नंबर मांग लिया। पहले तो हिचकिचाई लेकिन बाद में नंबर दे ही दिया। अब मैं अपने बच्चे को स्कूल लेने नहीं जाता था। फ़ोन से ही लिली से बात करके अपने बच्चे की पढाई लिखाई के बारे में पूंछता था। धीऱे धीऱे मेरी फ़ोन पर बात लिली से बढ़ने लगी। हम एक दूसरे से अपनी अच्छी बुरी बात बताने लगे। मैंने लिली को कई बार होटल भी ले गया।

यह कहानी भी पड़े  पापा के लंड पर बैठकर मजा लिया

लिली की अभी शादी नहीं हुई। एक दिन मेरी बीबी मायके चली गई। मुरली को भी साथ ले गई। मैंने लिली के पास फ़ोन किया। लिली खूब ढेर सारा मेक अप करके मेरे घर पर आ गई। लिली की आँखों का काजल बहुत ही अच्छा लगा रहा था। उसने अपने मुँह को ब्लश करके लाल लाल कर लिया था। लिली बहुत ही मस्त माल लग रही थी। लिली अपनी लंबी लंबी नाखूनों पर लाल रंग की नेलपॉलिश लगा रखी थी। लिली अपनी कमर मटकाते किये ऊंची हील की सैंडल पहन कर मेरे घर में घुस आई। मैंने नौकर को बाहर भेज दिया। मैंने लिली को अंदर अपने रूम में ले गया। लिली भी अभी तक कुवांरी थी। उसका भी मन चुदने को कर रहा था। फ़ोन पर वो बार बार मुझसे कुछ ऐसे ही बात करती थी। मैं समझ गया मैडम को भी अपनी योनि की खुजली शांत करनी हैं। लिली उस दिन ब्लू कलर का शूट पहने थी। लिली उस दिन देखने में बहुत ही आकर्षक लग रही थी। लिली बताने लगी- मुरली बड़ा शरारती है। कभी कभी वो मेरे बूब्स को दबा देता है।

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!