बहन के साथ मिलकर माँ का दर्द मिटाया

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम सुमित है और में जयपुर का रहने वाला हूँ। में बी.ए में पढ़ रहा हूँ। हमारे घर में मेरी माँ, मेरी छोटी बहन और मेरे पापा है, मेरे पापा एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में नौकरी करते है। मेरी माँ घर में रहती है और मेरी छोटी बहन 10वीं में पढ़ती है, उसका नाम रूपाली है, वो सुबह 9 बजे स्कूल जाती है और दोपहर में 2 बजे घर आती है और फिर दोपहर में 4 बजे कोचिंग जाती है और शाम को 7 बजे वापस आती है। मेरे पापा रात को 10 बजे आते है, उनकी ड्यूटी कभी-कभी रात की भी हो जाती है। तो दोस्तो अब में आपको उस घटना के बारे में बताता हूँ जो मेरे साथ 3 महीने पहले हुई। एक दिन में कॉलेज से घर आया, तो माँ की तबीयत खराब थी, माँ बेड पर लेटी हुई थी और पापा उसके पास में बैठे थे, पापा की उस दिन नाईट ड्यूटी थी। फिर में रूम में गया और मैंने पूछा कि क्या हुआ? तो पापा ने कहा कि तुम्हारी माँ की तबीयत ठीक नहीं है। तो मैंने कहा कि क्या हुआ? तो माँ झट से बोली कि कुछ नहीं बस ऐसे ही। तो मैंने कहा कि क्या प्रोब्लम है? में दवा लेकर आता हूँ। तो माँ ने कहा कि मैंने दवा खा ली है, तो में बाहर चला आया।

फिर शाम को 7 बजे रुपाली घर आई तो उसने खाना बनाया और फिर हम सबने खाना खाया। अब 9 बजे पापा ड्यूटी चले गये थे, पापा ने रुपाली से कहा कि तुम माँ के पास सो जाना, वो अपने रूम में पढ़ाई कर रही थी, हम एक ही रूम में सोते है। फिर मैंने रुपाली से पूछा कि माँ को क्या हुआ है? तो वो हँसने लगी। फिर मैंने कहा कि इसमें हँसने की क्या बात है? तो उसने कहा कि कुछ नहीं, तुम सो जाओ। तो में गुस्से में बोला कि मुझे कोई बता क्यों नहीं रहा है कि क्या बात है? तो उसने कहा कि अच्छा ठीक है में बताती हूँ मगर तुम किसी को बताना नहीं कि मैंने बताया है। तो मैंने कहा कि ऐसी क्या बात है? चलो नहीं बताऊंगा। तो उसने कहा कि माँ की ब्रेस्ट में दर्द हो रहा है, उसमें गाँठ बन गयी है। फिर ये बात सुनकर मेरा चेहरा शर्म से लाल हो गया और रुपाली का चेहरा भी लाल हो गया था।

यह कहानी भी पड़े  पति,पत्नी,सास ,ससुर की रासलीला - Part 2

फिर मेरे दिमाग में एकदम से विचार आया, मैंने एक किताब में पढ़ा था की अगर औरत की ब्रेस्ट को अच्छी तरह से मसला ना जाए तो उसमें गाँठ बन जाती है। अब मुझको तभी पूरी प्रोब्लम समझ में आ गयी थी, मेरे पापा का सीधा हाथ एक दुर्घटना में टूट गया था, वो जुड़ तो गया था, लेकिन उसमें इतनी ताकत नहीं रही थी। अब में समझ गया था कि पापा माँ की ब्रेस्ट की मसाज नहीं कर पाते होंगे इसलिए ये प्रोब्लम हुई है। फिर तभी इतने में रुपाली ने कहा कि समीर क्या हुआ? तो मैंने कहा कि समझ गया। तो रुपाली ने कहा कि क्या समझ गये? तो मैंने कहा कि प्रोब्लम का हल।

फिर उसने कहा कि क्या? तो मैंने कहा कि कुछ नहीं, तुम जाकर सो जाओ, तो वो माँ के रूम में चली गयी और में भी सो गया। फिर रात को करीब 2 बजे रुपाली ने मुझे जगाया, तो में उठा। फिर मैंने रुपाली से पूछा कि क्या हुआ? तो उसने कहा कि माँ को बहुत ज्यादा दर्द हो रहा है और मैंने माँ से कहा कि समीर कह रहा था कि वो इसका इलाज जानता है, तो माँ ने तुमको बुलाया है। फिर मैंने कहा कि बेवकूफ तुमको ऐसा करने को किसने कहा था? अब में सोचने लगा था कि माँ को क्या बोलूँगा? तो तभी इतने में रुपाली बोली कि समीर जल्दी चलो, माँ को बड़ी तकलीफ़ हो रही है। फिर में और रुपाली जल्दी से माँ के रूम में पहुँचे। अब माँ कराह रही थी। फिर मेरे रूम में अंदर जाते ही माँ ने कहा कि समीर तू कह रहा था कि तेरे पास इसका इलाज है, क्या इलाज है? मेरी तो दर्द के मारे जान निकल गयी है। अब में क्या बोलूं? तो तभी माँ ने कहा कि क्या बात है? तू बोल क्यों नहीं रहा है? तो तभी अचानक से मेरे मुँह से निकला माँ वो इलाज तो पापा कर सकते है। फिर तभी माँ ने कहा कि क्यों? ऐसा क्या है? और फिर माँ और रुपाली मेरी तरफ देखने लगी।

यह कहानी भी पड़े  दोनों बहनों ने मिल बांट के खाया

अब में बुरी तरह से फंस चुका था। फिर तभी माँ ने कहा कि तू इसका इलाज कैसे जानता है? तो मैंने कहा कि मैंने एक किताब में पढ़ा था। तो माँ ने पूछा कि क्या पढ़ा था? फिर मैंने रुपाली की तरफ देखा और माँ के पास जाकर उसके कान में कहा कि जब ब्रेस्ट की मसाज नहीं होती तभी गाँठ बनती है और पापा आपकी मसाज कर नहीं पाते होंगे। तो ये बात सुनते ही माँ ने मेरी तरफ गुस्से से देखा, तो में डर गया। तो मैंने कहा कि में आपको इसलिए बता नहीं रहा था। फिर तभी इतने में माँ दर्द से फिर से चिल्लाने लगी, तो मुझसे रहा नहीं गया। फिर मैंने रुपाली से कहा कि में बाहर जाता हूँ, तुम माँ की मसाज करो। तभी माँ ने मुझे बुलाया और कहा कि रुपाली से नहीं हो पाएगा, तुम करो। अब में और रुपाली माँ को देखने लगे थे। फिर माँ ने कहा कि जल्दी करो, मुझको बहुत दर्द हो रहा है। फिर मैंने रुपाली से कहा कि तुम क्रीम लेकर आओ, जब माँ ने नाइटी पहन रखी थी। अब में उसको उतारने लगा था, तो तभी माँ ने कहा कि ये क्या कर रहे हो? तो मैंने कहा कि मसाज करनी है तो इसे तो उतारना ही पड़ेगा। फिर माँ ने देखा और कोई रास्ता नहीं है तो वो खुद ही उतारने लगी।

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!