बहन की थ्रीसम चुदाई का आरंभ

हेलो, मेरा नामे आदित्या है. मेरे आगे 26 है. मैं मुंबई का रहने वाला हू. मैं आज आपको जो स्टोरी बताने जेया रहा हू, वो मेरी दीदी के साथ सेक्स की है. जिसे मैने कॉल बॉय रोहित से चुडवाया.

दोस्तों, मेरे दीदी और मैं बहुत फ्रेंड्ली है. घर में हम बहुत खुल कर, एक-दूसरे को स्मूच करते है. फॅमिली के सामने नॉर्मल रहते है. मुझे सेक्स स्टोरी बहुत पसंद है. मैने रोहित की भी सेक्स स्टोरीस पढ़ी है.

उनको पढ़ के मुझे आइडिया आया, की मेरी दीदी के साथ ग्रूप सेक्स किया जाए. मैने दीदी को बताया रोहित के बारे में. दीदी को मैने रोहित की सारी स्टोरी बताई. वो मेरे सामने स्टोरी पढ़ के छूट मसालती थी.

मैं भी उसके सामने अपना 4 इंच के लंड से मूठ मारता था. मैने दीदी से काई बार कहा की मेरा लंड मूह में ले. लेकिन वो नही लेती थी. वो बोलती थी की तेरा ये छ्होटा है. मैं अब आपको दीदी के बारे में बता देता हू.

दीदी का नामे पूनम है. उसकी आगे 28 है. उनका फिगर बहुत अछा है. गांद बड़ी है, जो किसी का भी लंड खड़ा कर दे. कॉलोनी के सभी लड़के दीदी पर लाइन मारते है. दीदी ने एक बार सेक्स किया है. वो भी अपने ब्फ के साथ. अब उसके साथ ब्रेकप हो गया है. दीदी को भी अब सेक्स की ज़रूरत थी. उसने अब कोई ब्फ नही बनाया.

वो बोलती है की अब जो भी करेंगे कुछ अलग और सेक्यूर करेंगे. उसने रोहित की सेक्स स्टोरीस पढ़ी. तो उसे खूब मज़ा आया. उसने मुझे कहा, की इससे मुलाकात हो जाए तो मज़ा आ जाए. क्या सेक्स करता है. स्टोरी में इतना मज़ा आता है, तो रियल में कैसा करता होगा.

उसके बाद मैने रोहित से गूगले छत की. रोहित ने बताया, की उसकी स्टोरीस रियल है, और वो भी रियल कॉल बॉय है. मैने उससे खूब बातें की, और बताया की मुझे मेरे दीदी को छुड़वाना है. उसने ओक बोला. मैने दीदी से बात की, कहा की रोहित सेक्स के लिए मान गया था.

दीदी बोली: तो, उसे मिले कहा?

मैं: दीदी, उसने कहा है की तुम लोग आ जाओ, राजस्थान.

दीदी: देख ले.

मैं: देखना क्या है. चलते है ना, खूब एंजाय करेंगे. तुम भी ओपन होके मज़े लेना उसके साथ. मैं चाहता हू, की मैं भी आपको रोहित के साथ छोड़ू.

दीदी: पागल है क्या तू? तुझे शरम नही आती. अपनी बेहन का ग्रूप सेक्स करेगा.

मैं: अर्रे दीदी, मज़ा आएगा. कॉल बॉय है वो, कोई जीजा नही है. जिससे शरम करे.

दीदी: ठीक है. तेरा लंड तो वैसे भी छ्होटा है. कोई प्राब्लम नही होगी. उसका बड़ा है.

फिर मैने रोहित से उसके लंड की पिक माँगी. उसने मुझे पिक सेंड की, तो वाकाई में लंड अछा दिखा. मैने दीदी को देखाया. तो वो उस लंड को देखती रह गयी. उसने कहा, की उसके ब्फ का भी इतना बड़ा नही था. उसका 5 इंच होगा.

तो, हमने उससे मीटिंग फिक्स की. दीदी भी अब एग्ज़ाइटेड थी. उसे भी चूड़ना था. मैं चाहता था, की दीदी को रोहित दबा-दबा के छोड़े. बहुत घमंड है, इसे अपनी छूट और गांद पर. मुझे छोड़ने नही देती, दूसरे से चूड़ने पर मान गयी. मैने रोहित को पहले ही बोल दिया था, की वो दीदी को जाम के रंडी बना के छोड़े. उसने भी मुझे ओक कहा.

फिर हमने पैसे की बात की, और दीदी और मैं पहुँच गये राजस्थान. घर से 3 दिन का ट्रिप बोल के निकल गये. मैं भी चाहता था, की 3 दिन में रोहित दीदी की छूट और गांद, छोड़-छोड़ के खोल दे. मैं उसके साथ ग्रूप सेक्स करना चाहता था.

हमने होटेल बुक किया, और हम रूम में गये. दीदी फ्रेश होने चली गयी. मैने रोहित को कॉल किया, और उसे होटेल आने को बोला. उसने ओक कहा. दीदी आज बहुत ब्यूटिफुल लग रही थी. मैने देखा उसके फेस पर अलग ही स्माइल थी. मैने उससे पूछा-

मैं: क्या दीदी, इतनी क्यूँ खिली-खिली नज़र आ रही हो?

दीदी: कुछ नही. बस जो मज़ा मिलने वाला है, उसे सोच रही हू. कब आएगा रोहित?

मैं: आने वाला है. आज आपकी जाम के चुदाई होगी. आचे से मेकप कर लो. जिससे छोड़ने में मज़ा आए.

दीदी: ओक भाई. मैं रेडी हो जाती हू.

वो बातरूम में गयी रेडी होने. 30 मिनिट बाद दीदी बाहर आई. क्या मस्त माल लग रही थी. उसने गोलडेन लहंगा और गोलडेन ब्लाउस पहना हुआ था. बाल खुले हुए थे, जो उसकी कमर पर आ रहे थे. गांद उभरी हुई नज़र आ रही थी. होंठो पर दीदी ने हल्की लिपस्टिक लगा रखी थी. आँखों में काजल, और फेस फुल सेक्सी मेकप किया था. एक-दूं बॉम्ब लग रही थी. दीदी को देख कर, मेरा पंत में खड़ा हो गया. वो बोली-

दीदी: अब बता छ्होटे, कैसी लग रही हू?

मैं: मेरी जान, एक-दूं मस्त माल लग रही हो. सो ब्यूटिफुल दीदी. आज आपकी बहुत ज़ोरदार चुदाई होगी.

दीदी: थॅंक्स ब्रो. मैं रेडी हू आज रात का मंज़र देखने को. आज मैं भी देखु एक कॉल बॉय कैसे छोड़ता है.

मैं: हा दीदी. आज आपकी ग्रूप चुदाई होगी. मैं भी तो छोड़ूँगा.

हम दोनो हासणे लगे. इतने में डोरबेल बाजी. मैने गाते खोला, तो देखा बाहर रोहित था. मैने उसे हग किया. फिर वो अंदस्र आया, दीदी बेड पर बैठी हुई थी. वो रोहित को देख रही थी. रोहित ने दीदी को स्माइल दी. दीदी ने भी स्माइल दी.

रोहित ने दीदी का हाथ पकड़ कर, अपनी तरफ खीचा तो दीदी रोहित से चिपक गयी. रोहित ने दीदी की गले पर किस कर दिया. दीदी भी उसे किस करने लगी. उसके बाद वो दोनो अलग हुए. मैने कहा-

मैं: रोहित, मैं और दीदी आपकी स्टोरी रोज़ पढ़ते है. जब मों दाद नही होते, तो पूरा दिन सिर्फ़ स्टोरी ही पड़ते है. बहुत मज़ा आता है. आज आपको दीदी ने बुलाया है. उसे आपका लंड पसंद आया है. इसलिए खूब आचे से छोड़ना. रंडी बना देना इसे.

दीदी: तुझे शरम नही आ रही है? ऐसा बोलता है तू मेरे लिए.

मैं: अब तुम नाटक बंद करो, और कॉल बॉय के साथ मज़े लो. आचे से चुदाई होगी तेरे.

फिर हम तीनो बातें करने लगे. रात के 7 बाज गये थे. मैने सोचा खाना खा लेते है, फिर चुदाई का ग़मे शुरू करते है. मैने रोहित को खाने का बोला. तो उसने एस बोल दिया. फिर मैने खाना ऑर्डर किया.

रोहित दीदी के साथ चिपक के बैठा हुआ था. दीदी भी उसके साथ खुश थी. रोहित ने अपना हाथ दीदी की कमर में गाड़ रखा था, और उसकी कमर मसल रहा था. दीदी भी खुश होके स्माइल दे रही थी.

फिर खाना आया और हम खाना खाने लगे. रोहित ने दीदी को अपनी गोद में बिता के खाना खिलाया. दीदी भी बड़े प्यार से स्माइल दे कर खाना खा रही थी. जैसे रोहित खाने का एक बीते दीदी के मूह में डालता, उसके बाद रोहित दीदी के होंठो को किस करता. मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था.

मेरा लंड खड़ा होने लगा. रोहित बहुत रोमॅंटिक लड़का है. दीदी उसके साथ सब भूल के एंजाय करने लगी. दीदी भी रोहित के होंठो को किस दे रही थी. गरम खाना खाने के साथ, रोहित दीदी को गरम कर रहा था. फिर रोहित ने कहा-

रोहित: मेरी जान पूनम. आपको मज़ा आ रहा है ना? कैसा फील कर रही हो?

दीदी: रोहित, सॅकी बहुत अछा फील हो रहा है. नीचे से तुम्हारा लंड चुभ रहा है. और मेरे साथ ऐसा खाना ब्फ ने भी नही खाया.

दीदी भी उसे खिलते हुए किस कर रही थी. कभी दीदी उसके फेस पर, तो कभी उसके होंठो पर चूमती. मुझे भी देख कर मज़ा आ रहा था. मेरा लंड टाइट हो गया था. रोहित एक बहुत अछा रोमॅंटिक बॉय है. मैने दीदी का हाथ पकड़ के, अपनी गोद में बिता लिया.

मैं भी रोहित की तरह दीदी को खिलाने लगा, और उसके होंठो चूमने लगा. दीदी भी मेरा साथ दे रही थी. वो भी मुझे चूम रही थी. मैं अपना एक हाथ उसके पैर पर सहलाने लगा. मैने दीदी को कहा-

मैं: वाह मेरी प्यारी दीदी. आज तो तू मुझे किस दे रही है. मज़ा आ रहा है मेरी जान.

दीदी: हा बेबी. तूने इस रोहित को बुला कर मुझे मज़ा जो दिया है. तो तू भी आज मेरे मज़े ले.

मैं: आज तुझे छोड़-छोड़ कर हम दोनो तेरी छूट को फाड़ देंगे.

दीदी: पागल है. आराम से प्यार करो ना. ज़्यादा वाइल्ड करोगे, तो मेरी जान निकल जाएगी. मुझे दर्द होगा.

मैं: चुप कर साली रंडी. दर्द के साथ मज़ा भी आएगा. आज तेरी वाइल्ड चुदाई होगी. मैने रोहित को पैसे दिए है. मुझे पैसा वसूल सेक्स चाहिए.

मैने अब दीदी को गोद में उठाया, और बेड पर फेंक दिया. उसका बदन बेड पर उछालने लगा. दीदी का लहनगा उसके घुटनो तक आ गया. मुझसे अब रहा नही जेया रहा था. मेरा लंड फड़फड़ने लगा. तो मैं दीदी पर टूट पड़ा.

मैने रोहित को इशारा किया और ग़मे शुरू करने को बोला. रोहित भी बेड पर आ गया. दीदी हम दोनो के बीच में लेती थी. वो हमे देखने लगी. उसके फेस पर मेकप होने से चाँद जैसा लग रहा था. उसकी दररी हुई आँखें हमे देख रही थी. दीदी डरते हुए बोली-

दीदी: देखो यार. सेक्स तो करना ही है. लेकिन प्यार से और आराम से करो ना. वाइल्ड होने की क्या ज़रूरत है?

मैं: चुप कर साली. आज तेरी गांद छूट फटेगी. तू चुप-छाप 2 लंड के मज़े ले.

रोहित ने अब दीदी का फेस पकड़ा और गुलाबी होंठो पर हमला कर दिया. दीदी के सॉफ्ट होंठो को वो बहुत आचे से मूह में लेके चूसने लगा. दीदी ने अपना एक हाथ रोहित के बाल में गाड़ा दिया, और सहलाने लगी. वो भी गरम हो रही थी.

मैं भी दीदी के बूब्स दबाने लगा. ब्लाउस के उपर से ही बूब्स को किस करने और चाटने लगा. उपर से रोहित उसके होंठो को चूज़ जेया रहा था. नीचे मैं दीदी के बूब्स चाटने दबाने लगा. दीदी 10 मिनिट में बहुत गरम हो गयी. वो भी रोहित को चूसने लगी. दीदी की सिसकियाँ निकालने लगी.

दीदी: उहह श उफ़फ्फ़.

रोहित अब वाइल्ड्ली दीदी को चूमने लगा. जिससे दीदी की ज़ोरदार सिसकी निकल गयी. मुझे मज़ा आया. मैं भी दीदी के बूब्स ज़ोर से दबाने लगा. बूब्स मोटे थे, और दबाने में मज़ा आ रहा था. रोहित ने अपना एक हाथ दीदी के छूट पर रख दिया.

छूट वो मसालने लगा. उपर से होंठो को मूह में लेके चबाने लगा. दीदी के एक होंठ को उसने काट लिया. जिससे दीदी के चीख निकल गयी. मुझे खुशी हुई, की आज दीदी की ज़ोरदार चुदाई का यह पहला दर्द था.

दीदी भी सब कुछ भूल कर रोहित को चूसने लगी. उसके एक हाथ मेरे हाथ के उपर था, जिससे मैं उसके बूब्स दबा रहा था. वो हाथ हटा रही थी. दीदी को बूब्स पर दर्द हो रहा था. मैने हाथ ना हटा कर और ज़ोर से बूब्स दबाया. दीदी ज़ोरदार सिसकियाँ लेने लगी.

दोस्तों, किसी को रियल में चूड़ना है. सेक्स के सेक्यूर मज़े चाहिए तो रोहित को मेसेज करो. रोहित की मैल ईद गम0288580@गमाल.कॉम है. आप इससे फ्री में बात कर सकते हो. और आपको पूरी सेक्यूरिटी मिलेगी.

थॅंक्स ड्के.

यह कहानी भी पड़े  चुदाई के दिन चुदाई की रातें


error: Content is protected !!