बीमार कज़िन के साथ सेक्स किया

हेलो रीडर्स, ये मेरी पहली स्टोरी है. मेरा नाम जस है. मैं पुंजब से हू. मैं 23 साल का हू. ये स्टोरी मेरी और मेरी कज़िन रूह की है. तो चलिए शुरू करते है

मेरी कज़िन रूह की उमर 32 की है, और 5 साल से मॅरीड है. उसका 2 साल का एक बेबी है, और उसका घर भी हमारे घर से नज़दीक ही है. वो दिखने में पूरी गोरी और हॉट है. उसके बूब्स और आस दोनो पुर भरे हुए है, की किसी का भी उसे देख के उसकी लेने का मॅन करे. दिखने में किसी आक्ट्रेस से कम नही है. ये स्टोरी आज से 6 महीने पहले की है.

मैं और रूह व्हातसपप पे काफ़ी छत करते रहते थे. हम बहुत क्लोज़ थे ये बात घर में सब को पता थी. ईवन जीजा को भी पता थी. वो मुझसे बहुत बातें शेर करती थी. पर कुछ समय से वो काफ़ी उदास सी रहने लगी थी. मैने काई बार पूछा पर उसने कहा नही सब ठीक है.

एक दिन मुझे रूह का कॉल आया. और उसने कहा की उसको बहुत हेडएक था. घर पे भी कोई नही था उसके. जीजा दूसरे शहर में थे, और उसके सास ससुर किसी शादी पे गये थे. मैने उसको कहा की आता हू मैं, और जाने से पहले जीजा को कॉल किया. वो बोले की 5-7 दिन लगेगे उन्हे आने में.

फिर मैं वाहा से निकला, और रूह को कॉल किया की मैं आ रहा था. उसने कहा की आ जाओ जल्दी. मैं फास्ट बिके चलाने लगा. मेरे मॅन में रूह के रिगार्डिंग वैसे कुछ ग़लत नही था. मैं रूह के बारे में सोच रहा था, और उसके घर पहुँचा तो दरवाज़ा पहले से ही खुला था. मैं अंदर गया तो रूह बेड पे हल्की-हल्की नींद ले रही थी.

उसने पतली सी त-शर्ट और शॉर्ट्स पहनी थी. उस त-शर्ट से उसके बूब्स के सॉफ-सॉफ दर्शन हो रहे थे. पहले तो मैं देख के शॉक्ड हो गया. फिर मैने रूह को ना उठाने का सोचा, और देखा उसका बेबी उसी की साइड में सो रहा था. मैं उसके पावं के पास बैठा, और पावं दबाने लगा.

रूह ने कहा की उसे पूरी बॉडी में पाईं थी, और मैं उसको डॉक्टर के पास ले चालू. मेरी पहचान का एक डॉक्टर है. तो मैने उसे कॉल करके घर ही बुला लिया, क्यूंकी रूह और बेबी को लेके जाना मुश्किल था. फिर रूह को जल्दी से कुछ और पहनने को दिया. क्यूंकी जो मुझे दिख रहा था, मैं नही चाहता था की डॉक्टर भी दिखे.

फिर थोड़े टाइम बाद डॉक्टर ने चेक किया, और मुझे बताने लगा की उसका फीवर हाइ था, और पास रह के ख़याल रखने की ज़रूरत थी. तो रूह ने मुझे रात को वही रुकने को कहा. मैने हा कह दिया. फिर बाहर से खाना मँगवाया, और रूह को खिलाया, आंड मेडिसिन दे दी. रूह पसीने की वजह पूरी भीग गयी. उसने लूस त-शर्ट पहनी थी, जो बिल्कुल चिपक गयी थी. उसके बड़े-बड़े बूब्स सॉफ दिखने लगे. मेरा ध्यान उसके गोल-गोल बूब्स पे था, जो बिना ब्रा के बहुत बड़े लग रहे थे. मैं तो बस उसके बूब्स का वही पे दीवाना हो गया.

थोड़ी देर बाद उसने मुझे कहा की उसको वॉमिट आ रही थी, तो मैं वॉशरूम ले चालू. मैने उसको उठाया, और कमर से पकड़ा, और उसको धीरे-धीरे वॉशरूम ले गया. वो वॉमिट करने की कोशिश कर रही थी, पर हो नही रही थी. वो झुक के बैठ गयी, जिसकी वजह से उसका लोवर नीचे हो गया, और मुझे उसकी गांद दिखने लगी. मैने खुद पे कंट्रोल किया, और उसको वाहा से उठाया. फिर बेड पे ले गया. और लिटा दिया.

वो कुछ ऐसे लेती की मेरा हाथ उसके नीचे आ गया. मैं हाथ निकालता उससे पहले उसने करवट ले ली. जिसकी वजह से उसका बूब बिल्कुल मेरे हाथ में था. मुझे हाथ निकालते हुए पता नही क्या हुआ. मैने उसका बूब ज़ोर से दबा दिया. उसके मूह से पाईं में आ निकली, और मैं जल्दी से बाहर गया.

इतने में बेबी रोने लग गया. शायद उसको भूख लग गयी थी. मैं बहाने से बाहर जाके लंड हिला के वापस आया, तो देखा रूह बेबी को अपना दूध पीला रही थी. मैं अंदर बैठा पर शायद वो वीक फील कर रही थी, तो उसने मुझे देख के अपने बूब्स कवर नही किए.

मैने पहली बार उसके नंगे बूब्स देखे. इतने वाइट और बड़े बूब्स वित पिंक निपल. मेरा मॅन था मैं भी चूस लू. मेरी उसके बूब्स देखता रहा, जो उसने भी नोटीस किया. फिर रात हो गयी, तो हम एक बेड पे सो रहे थे. मैने उसको मेडिसिन दी. बेबी झूले में सो रहा था, और मैं और रूह बेड पे. तकरीबन एक घंटे बाद रूह को मेडिसिन की वजह से गर्मी लगने लगी. वो पसीने से भर गयी. उसने मुझे चेक किया तो मैं सोने का नाटक कर रहा था. उसने मुझे सोता हुआ देख अपनी त-शर्ट निकाल दी, और बूब्स को आज़ाद कर दिया, और सो गयी. क्यूंकी वो सुबह जल्दी उठती थी, और मैं लाते. तो उसे लगा होगा मेरे उठने से पहले वो तैयार हो जाएगी. पर मैं तो पहले से जगा हुआ था.

मैने तोड़ा वेट किया, और थोड़ी देर बाद उससे बिल्कुल चिपक के लेट गया. वो काफ़ी गहरी नींद में थी. मैने पहली बार उसके बूब्स पे हल्के से हाथ रखा. क्या सॉफ्ट बूब थे. मेरे एक हाथ में पूरा भी नही आ रहा था. मैने धीरे-धीरे उसको दबाना शुरू किया. आअहह क्या मज़ा आ रहा था.

फिर मैने अपना लोवर उतार दिया, और उसका हाथ अपने लंड पे रखा. क्या टच था, मेरा लंड पूरा तंबू बन गया. फिर मैने उसके निपल पे अपने लिप्स लगाए. उफफफ्फ़ मुझे करेंट सा लगा. मैं धीरे-धीरे दबाने और चूसने लगा. मुझे पता ही नि लगा मैं इतना खो गया, की धीरे-धीरे से मैं कब उसका पूरा बूब ज़ोर से दबाने लगा, की उसका दूध भी निकल आया.

मैने बूब चूस-चूस के रेड कर दिया. वो नींद में आ आ कर रही थी. फिर मैने उसके हाथ से अपना लंड हिलाया, और पानी निकाल दिया. फिर मुझे कब नींद आ गयी पता ही नही चला. मैं ऐसे नंगा ही सो गया.

सुबह को उठ के क्या हुआ, मैं रूह के कितना और क्लोज़ हुआ, ये आपको नेक्स्ट पार्ट में पता चलेगा.

कोई भाभी या आंटी जो सीक्रेट चुदाई में इंट्रेस्टेड हो, मुझे मैल करे. तो मिलते है नेक्स्ट पार्ट में.

यह कहानी भी पड़े  चोर को अपने हुस्न जाल में फसाकर मैंने चुदवा लिया


error: Content is protected !!