अब्बा के गुस्से में अम्मी ने मुझसे चुदाई करवाई

हैल्लो दोस्तों मेरा नाम साजिद है मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ ये कहानी में मैंने अपनी अम्मी को चोदा कर अम्मी की गुस्सा को शांत किया मेरी अम्मी का नाम सबाना प्रविन है उनका उम्र 28 साल देखने में बहुत सेक्सी है उनकी फिगर को जो भी देखता है वह पागल हो जाता है ये कहानी 12 मई की रात की है जब रात में लाईट नहीं था और मै मेरा भाई ओर अब्बा छत पर सोए हुए थे |

अम्मी अब्बा से झगड़ा कर के गुस्से से नीचे रूम में सोई हुई थी बाहर में भी असमान में बादल छाए हुए थे ओर बाहर में भी गर्मी लग रहा था |

अम्मी और अब्बा के झगड़े में मुझे मिला चुदाई का मौका

अचानक लाईटआ गई मै नीचे अपने रूम में सोने चला गया मेरे रूम में अम्मी सोई हुई थी मै भी लाईट बन्द कर के बगल में सो गया अम्मी पूरे गुस्सा में थी क्योंकि अब्बा ने अम्मी को बोल दिए की मै तुम से तलाक चाहता हूँ मै सोने वाला था कि अम्मी ने मेरे 7 इंच का लंड को अपने हाथों से पकड़ के सहलाने लगी मै तुरंत अम्मी के हाथों को पकड़ कर हटा दिया

मै–अम्मी आप ये किया कर रही है आपको शर्म नहीं आती

अम्मी –कैसा शर्म तुम्हारे अब्बा तलाक चाहते हैं तो फिर मेरा किया होगा

मेरे दूसरे सौहर तो तुम ही हो

मै–तो आप किया चाहते हैं

अम्मी –मै तुम से निकाह कर के नये शिरे से जीवन शुरू करना चाहती हुँ

फिर अम्मी ने मेरे पजामा के नाडा खोल दी ओर मेरा लंड को देख कर कही मेरे सौहर ये बहुत लम्बा ओर मोटा लंड है इतना कह कर लंड को अपने मुँह में ले कर लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी मेरी अम्मी साड़ी पहनी हुई थी मैंने अम्मी के दूध को दबाने लगा अम्मी मेरे लंड को 15 मिनट तक चूसी फिर मैंने अम्मी की साड़ी ब्लाउज़ उतार दिया अम्मी साड़ी के नीचे कुछ नहीं पहनी हुई थी |

यह कहानी भी पड़े  माँ और ताउजी की खेत में चुदाई

फिर अम्मी को सुला कर बूर को चाटने लग अम्मी सिसकने लगी अम्मी कही मेरे सौहर मुझे तुम से ही अपना बच्चा चाहिये फिर मैंने अम्मी के दूध को पीने लगा कुछ देर बाद अम्मी के दूध के निपूल को सहलाने लगा | मित्रो आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है | मैंने अम्मी की दूध के निपूल को 5 मिनट तक सहलाने के बाद अम्मी बेकाबू हो गई ओ कहने लगी मेरे सौहर मुझे अब मत तडपाव मेरी बूर को चोदो मेरी गांड को मारो जल्दी करो फिर मैंने अम्मी की तडपती वसना को शांत करने के लिए मैंने लंड अम्मी के बूर में सेट किया ओर पेल दिया अम्मी अआआआआआआआआआआआआआआआआ ऊई ऊइ ऊई ऊई आह आह आह आह मार दिया रे कुछ देर अम्मी दर्द से कहरी लेकिन कुछ देर बाद मेरे साथ देने लगी अम्मी कमर उठा उठा कर मुझसे अपनी बूर चोदवाने लगी |

अब्बा के गुस्से में अम्मी ने मुझसे चुदाई करवाई

अम्मी के बूर को मैंने 15 मिनट तक पेला उसके बाद मैंने अम्मी को पेट के भले सोला कर गांड मे लंड को सेट कर के जोर से धक्का मार कर घुसेड़ दिया अम्मी दर्द के मारे आआआआ ऊऊऊऊ आह ऊह आह ऊह करने लगी मैं जोर जोर से अम्मी की उभरे उभरे गांड को पेलता रहा ओर अम्मी आह आह आआआआ करती रही फिर मैंने अम्मी के गांड से लंड निकाल कर फिर से अम्मी के बूर में सेट कर के पूरा लंड घुसेड़ दिया अम्मी इ आआआआ मेरे सौहर मुझे ओर चोद मैं ओर चुदूगी आ आआ अम्मी के बूर से पानी निकल आया मैंने अम्मी के बूर के पानी को पी गया फिर मैंने अम्मी के मुँह में अपना लंड दे कर चुसवाने लगा 20 मिनट तक लंड चुसी फिर से एक बार मैंने अम्मी के बूर में लंड पेल दिया अम्मी आआआआआआअअआअआआअआआआ आह आह आह आह मैं अम्मी की बूर भी चोद रहा था |

यह कहानी भी पड़े  मुस्लिम अम्मी की बड़े लंड सेक्स चुदाई

और दूध भी दबा रहा था और पी भी रहा था अम्मी मेरे लंड की दिवानी हो गई थी मै झड़ने वाला था मैंने ओर जोर जोर से अम्मी के बूर को पेलने लगा फिर मै अम्मी के बूर में झड गया फिर कुछ देर बाद हम दोनों कपड पहन कर घर से बहुत दूर एक सुनसान जंगल में पहुच गया और एक झोपड़ी बना कर रहने लगे अब मैं अम्मी को 12 घंटों तक चोदता हूँ |

मेरी कहानी में मैंने जो कुछ भी लिखा है सौ परसेंट सही है आप सभी अपनी अपनी प्रतिक्रिया देना ना भूले |

error: Content is protected !!