2 बेटियों के बाप से चूड़ने की सेक्सी कहानी

कमाल ऑफीस चला जाता है, और मुन्नी मास्टरबेट करके कॉलेज चली जाती है. और चुननी बातरूम में नहाने जाती है. तभी उसको मुन्नी (उसकी बेहन) की पनटी झाडे हुए माल से सनी हुई नीचे पड़ी मिलती है, जिसको देख कर उसको समझ आ जाता है, की मुन्नी को बातरूम में इतना टाइम क्यू लग रहा था, अब आयेज.

कमाल ऑफीस में बिज़ी हो जाता है, और काम करता है. काफ़ी तक सा जाता है वो, और एक छ्होटा सा ब्रेक लेके बातरूम में आ जाता है. बातरूम में पहुँच कर वो चुननी को फोन लगता है, ये सोच कर की वो वीडियो कॉल करके चुननी के नाम की मूठ मार लेगा. लेकिन चुननी उसका फोन नही उठती.

तभी कमाल के मॅन में मुन्नी की गांद के तस्वीर आने लगी, और वो ज़िप खोल कर लंड हिलने लगता है. देखते-देखते लंड का साइज़ बड़ा हो जाता है, और वो अपने की ख़यालों में खो जाता है.

कमाल का ख्वाब (रात के 2 बजे).

कमाल धीरे से चुननी-मुन्नी के रूम में आता है. चुननी और मुन्नी दोनो चैन से सो रहे थे. चुननी ने नाइट ड्रेस डाली हुई थी. मुन्नी ने त-शर्ट और शॉर्ट्स डाली हुई थी. कमाल अपने हल्के हाथ मुन्नी के पैरों से लेकर मुन्नी के बूब्स तक फेरने लगता है.

तभी मुन्नी करवट बदलने की कोशिश करती है, लेकिन तोड़ा हाथ हिला दूला कर शांत हो जाती है. कमाल धीरे-धीरे मुन्नी के बूब्स दबाने लगता है, और हल्के-हल्के उसकी शॉर्ट्स उतारने लगता है.

मुन्नी फिर हल्का सा हिलती है, जिससे कमाल थोड़ी देर लिए रुक जाता है. लेकिन फिर वो बाद में अपने काम पे लग जाता है. कमाल मुन्नी की त-शर्ट को उसके बूब्स के उपर तक ले जाता है, और उसकी ब्रा को खोलने लगता है. लेकिन वो खोल नही पाता, तो कमाल मुन्नी की शॉर्ट्स और पनटी उतार देता है.

मुन्नी की छूट पर हल्के-हल्के बाल थे, जिसपे कमाल हाथ फेरने लगता है. फिर थोड़ी देर बाद अपना लंड बाहर निकाल कर जैसे ही वो मुन्नी के होंठो पे रखता है,

मुन्नी की आँखें खुल जाती है. मुन्नी जब तक होश में आती, कमाल ने झटके से लंड पूरा मुन्नी के मूह में घुसा दिया. वो अपने मूह में अपने बाप का लंड देख कर आँखें फाड़-फाड़ कर अपने बाप की तरफ देखने लगी

लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी. कमाल मुन्नी के मूह की चुदाई चालू कर चुका था. मुन्नी मूह से लंड बाहर निकालने के लिए झटपटाने लगी. कमाल मुन्नी को पकड़ कर बेड से नीचे उतार कर उसपे चढ़ गया, और इस बार अपने गोट्ते भी मुन्नी के मूह में भर दिए.

कमाल के दोनो हाथो में मुन्नी के दोनो बूब्स समा गये. थोड़ी देर बाद मुन्नी खुद कमाल का लंड लॉलिपोप की तरह चूसने लगी. मुन्नी घुटनो पर बैठ कर कमाल को ब्लोवजोब का भरपूर मज़ा देने लगी.

लेकिन अब कमाल झड़ने लगा था, और पूरा रस्स मुन्नी के मूह में उतार दिया. कमाल ने जब ख्वाब से बाहर निकल के देखा, तो उसका रस्स मुन्नी के मूह में नही बातरूम की दीवार पर फैला हुआ था. वो झट से रेडी हुआ, और हाफ-दे की लीव लेके घर आ गया.

कमाल जब घर पहुँचा तो देखा चुननी-मुन्नी बेड पर लेट कर हॉरर मोविए देख रहे थे, और साथ ही दोनो की फटत भी रही थी. इसी मौके का फ़ायदा उठा कर कमाल धीरे से चुननी-मुन्नी के पीछे आ गया.

फिर वो अपने जूते, पंत और कच्चा भी उतार कर, चुननी की गांद को मसालने लगा. चुननी अपनी गांद पर हाथ पढ़ते ही समझ गयी की उसका बाप आ गया था. लेकिन उसको टेन्षन होने लगी थी, की अगर मुन्नी को पता चल गया तो क्या होगा.

तभी कमाल चुननी की प्लाज़ो का नाडा खोल कर उसकी प्लाज़ो उतारने लगा. चुननी भी दर्र के तोड़ा पीछे हो गयी, जिससे मुन्नी को पता ना चले.

मुन्नी: दीदी देखो कितना डरावना सीन है!

चुननी (अपनी हालत मैं): हा मुन्नी, बहुत डरावना सीन है.

कमाल ने चुननी की पिंक कलर की पनटी उतरी, और उसकी गांद को तोड़ा उठाया और लंबा लंड उसकी गांद में डाल दिया.

चुननी की गांद में एक झटके से लंड जाने से उसकी चीक निकल ही जाती, अगर वो अपने मूह पे हाथ ना रखती तो.

मुन्नी: दीदी! इस हॉरर मोविए को देख के तो मेरी गांद फटत रही है.

चुननी (अपनी गांद के बारे में): मेरी भी मुन्नी!

अब एक लड़की हॉरर मोविए का मज़ा ले रही थी, और एक हॉरर और चुदाई दोनो का. कमाल पीछे से मुन्नी की गांद देख के, और पागल सा हो गया, और धक्को की स्पीड बढ़ा दी. इससे चुननी का बदन हिलने लगा, और उसकी ऐसी हालत हो गयी जैसे कमाल का लंड उसकी छूट की दीवार को चू रहा हो.

मुन्नी चुननी को हिलता देख उसकी तरफ देखी, तो देख के उसको बड़ी ज़ोर का झटका लगा. उसकी आँखें, कान और गांद सभी फटत से गये.

मुन्नी (चिल्लाते हुए): ये क्या रणदपा है?

कमाल ये देख कर करीब 5 सेकेंड के लिए रुका और बाद में दोबारा उसी स्पीड से चुदाई जारी करी, जो पहले स्पीड थी.

चुननी: तू ज़्यादा नौटंकी मॅट कर मुन्नी. मुझे पता है तू सुबा बातरूम में क्या करके गयी थी.

कमाल ( गांद मारते हुए): क्या कर के गयी है ये?

मुन्नी (तोड़ा घबराते हुए): हाअ! तो तुम्हारी तरह गांद तो नही मरवा रही ना.

कमाल मुन्नी की कमर पकड़ कर उसको घोड़ी बना देता है, और चुननी की गांद से लंड निकाल कर मुन्नी के मूह में भर देता है

कमाल: अब बताओ, क्या करके गयी है ये सुबा-सुबा.

चुननी कमाल को मुन्नी के मास्टरबेट के बारे में बताती है. फिर कमाल मुन्नी के बाल पकड़ कर मुन्नी के मूह में ज़ोर-ज़ोर से झटके देने लगता है.

मुन्नी ज़बरदस्ती मूह से लंड निकाल कर खड़ी हो जाती है, और अपने कपड़े उतारने लगती है. ये देख कर कमाल भी अपनी शर्ट उतार देता है. मुन्नी और कमाल झटके से एक-दूसरे से चिपक जाते है, और एक-दूसरे को चूमने लगते है.

कुछ देर तक वो एक-दूसरे एक होंठो से चिपके रहते है. चुननी नीचे से कमाल का लंड चूसने लगती है. थोड़ी देर बाद कमाल दोनो को एक साथ एक दूसरे के उपर कुटिया बना कर बारी-बारी से दोनो की गांद में लंड डाल कर चुदाई करने लगा.

इसके बाद वो दोनो को बेड पे सीधा लिटा कर दोनो के पैरों को चौड़ा करके दोनो की छूट चाटने लगा. करीब 15 मिनिट छूट चाटने के बाद दोनो की छूट गीली हो गयी. फिर कमाल ने एक-एक करके दोनो की छूट में लंड डाल कर चुदाई का मज़ा लिया.

करीब 30 मिनिट की चुदाई के बाद वीर्या ज़मीन पे ही गिरा कर मैं उन्ही के साथ लेट गया. फिर दोनो ने ज़मीन से वीर्या चाट-चाट कर ज़मीन सॉफ कर दी.

स्टोरी पसंद आए तो लीके करे, और नेक्स्ट पार्ट चाहिए तो कॉमेंट करे.

यह कहानी भी पड़े  लड़की लड़के के पीछे पड़ गयी और उसने मज़ा किया


error: Content is protected !!