बहन की चूत का शुद्धिकरण किया

Bahan ki chut ka shuddhikaran kiya apne lund seमेरी सेक्सी बहन मानसी को मैंने दो भैयों से चुदते हुए देखा और उसे ब्लेकमेल कर के अपने बेडरूम में ले गया. वो आगे गई और मैंने उसके पीछे जा के दरवाजे को बंद कर दिया. फिर मैंने अपने मोबाइल को निकाला और उसे कहा तेरे काण्ड का सबूत भी हे मेरे पास मानसी, अब तू बता की मैं क्या करूँ!

मानसी: भाई प्लीज़ डिलीट कर दो इसे, हमारी इज्जत का सवाल हे.

मैंने कहा: साली वहां दो टके के लंड लेते हुए ये इज्जत की बंसुरी नहीं बजाई थी तूने. मैंने सब देखा, मुहं से ले के गांड तक तूने किसी रंडी के जैसे ही चुदवाये थे अपने. और मेरे पास सब का सबूत हे. अब तू बता की क्या करूँ तेरे साथ?

मानसी मेरे पाँव पर गिर पड़ी और बोली, गोलू प्लीज़!

मैंने कहा चल फिर एक प्रोमिस कर मेरे सामने.

वो बोली क्या?

मैंने कहा, कसम खा के उन्के गंदे लंड अपनी लाइफ में कभी नहीं लेगी.

मानसी: हां भाई मैं कसम खाती हूँ की उनसे नहीं चुदवाउंगी.

मैंने कहा, और ये भी कसम खा के किसी और का लंड भी नहीं लेगी.

उसने वो भी कसम खाई.

फिर मैंने कहा, अब ऐसे बोल की मेरा भाई गोलू जब कहेगा मैं अपने कपडे खोल दूंगी!

वो मेरे सामने देखने लगी. मैंने कहा, अब तू बहार के लंड नहीं लेगी तो तेरी चूत की प्यास कैसी बुझेगी? इसलिए मेरा लंड तुझे लेना पड़ेगा.

मानसी ने वो कसम भी खा ली. मैंने कहा, चल अब अपने कपडे खोल.

मानसी ने खड़े हो के अपने कपडे खोल दिए. मैंने पानी के बोटल को उसके हाथ में दे के कहा, कुल्ली कर, चूत और गांड को पानी से साफ़ कर.

यह कहानी भी पड़े  मेरे घर की औरतें की कामुकता

उसने ऐसे ही किया. निचे पानी गिरा उसके ऊपर मैंने मानसी से पोछा लगवा दिया. फिर मैंने उसे कहा, मेरी पेंट लटक रही हे उसके अन्दर बेल्ट हे वो ले आई.

मानसी बेल्ट ले के आई. मैंने बेल्ट को उसके गले में पहना दिया. और उसे कहा, साली कुतिया आज तेरी गांड और चूत का शुध्धिकरण करेगा तेरा भाई अपने लौड़े से. साली दो टके के लोड़ों को ले के तूने अपनी चूत गन्दी कर ली हे हरामी साली छिनाल.

मानसी के गले में पट्टा फिट था और उसे सांस लेने में तकलीफ होती थी जब मैं उसे खींचता था. मैंने बेल्ट को खिंच के उसे अपने लंड के पास लिया और कहा, चल अब मेरे लोडे को बहार निकाल साली रांड.

मानसी के हाथ कांप रहे थे. उसने मेरी जिप खोली और लंड बहार निकाला. कुछ देर पहले ही मैने मुठ मारी थी इसलिए लंड आधा खड़ा था. मैंने मानसी के मुहं को अपने हाथ से पकड़ के दोनों गालों के ऊपर जोर से दबा दिया. उसका मुहं खुल गया और मैंने अपना लंड उसके अन्दर पेल दिया.

मानसी के मुहं में लंड को फिट कर के मैंने उसके बाल को पकड़ा और खड़े हो के उसके मुहं को जोर जोर से चोदने लगा. मानसी को दर्द हो रहा था क्यूंकि मेरे इस ब्लोवजोब में सिर्फ उसको पीड़ा देने का ही इरादा था. मेरा लंड उसके गले से टकरा जाता था और वो अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अहह कर देती थी. मैंने बाल को नोंच के उसे ऊपर उठाया. मेरे लंड का प्रीकम उसके होंठो पर लगा हुआ था. मैंने अपनी इस रांड बहन को होंठो पर किस दिया. और फिर से उसे निचे धक्का दे के लंड मुहं में दे दिया.

यह कहानी भी पड़े  माँ चुदा के आऊँगी अब्बू

मानसी लंड को चूसने लगी. मैंने बेल्ट को एकदम खिंच के ही रखा हुआ था. मानसी की आँखों में आंसू थे और मैं जबरन उसे लंड चटा रहा था. फिर मैंने उसके मुहं से लंड को बहार निकाला. और लंड को ऊपर उठा के उसे कहा. चल अंडे चूस मेरे रंडी.

मानसी मेरे लंड के निचे के अन्डो को अपनी जबान से चाटने लगी. और उसकी जबान गांड तक चली जाती थी. मुझे अजीब सी गुदगुदी हो रही थी उसकी जबान से.

उसने एक मिनिट अंडे चुसे. फिर मैंने उसे कहा, चल खड़ी हो जा और अपने कपडे खोल दे.

वो खड़ी हुई लेकिन मैंने बेल्ट नहीं छोड़ा. वो कपडे निकाल के न्यूड हो गई. मैंने कहा, चल अब मैं मोबाइल में गाना बजाऊंगा तू किसी रंडी के जैसे डांस करेगी.

वो बोली, मुझे डांस नहीं आता हे.

मैंने एक तमाचा मारा उसे और कहा, साली तुझे हेमा मालिनी वाला कथक थोड़ी करना हे. बस अपनी गांड हिला दे भाई के लिए अपने, साली वो वाचमेन के लिए तो बड़ी फुदक फुदक के लोडे ले रही थी छिनाल.

मानसी रोने लगी और बोली, भाई चोदना हे तो सीधे सीधे चोद लो मैंने कहा मना किया हे तुम्हे. लेकिन ऐसी बर्बरता क्यूँ!

मैंने कहा, साली छीनाल ये चुदाई नहीं हे तेरी चूत का शुद्धिकरण हे और शुद्धिकरण में दर्द तो होता ही होता हे. तूने दो लंड लिए हे और अब मेरे लंड से तेरा सफाई अभियान चल रहा हे.

Pages: 1 2

error: Content is protected !!