टॅटू एक साज़िश – सेक्स कहानी

हेलो दोस्तो मेरा नाम राज है और आज मई आप सबको एक मस्त सेक्सी कहानी सुनाता हू जिसे पढ़कर आप मूठ मार्केर आनंद लो.

मेरी फॅमिली मे पापा मम्मी और एक बहन है आंड हम एक सिटी मे रहते हैं. तो दोस्तो यह कहानी है बेहन की चुदाई की जिसका नाम है निशा है. जो 26 साल की है और मई उसे एक साल छ्होटा हू.

निशा मॉडर्न लड़की है, दिखने मे स्मार्ट और बढ़िया फिगर वाली जो एकद्ूम पताका बन कर रहती है. और आप सबके मॅन मे उसका फिगर ही घूम रहा होगा. तो बता देता हू की उसके बूब्स का साइज़ है 36 और कमर है 32 और उसके हिप्स हैं 38 साइज़ के. तो अब आप सब खुद सोच लो की क्या माल लगती होगी वो. और ऐसे मे जब वो मॉड़र्म् ड्रेसस पहने तो ग़ज़ब्ब हो जाता है.


वो शॉर्ट टॉप और मिनी स्कर्ट जब फंटी है तो मई तो बस उसकी पनटी की ही झलाक देखकर मूठ मार लेता हू. पापा बाहर दूसरी सिटी मे जॉब करते हैं तो उन्हे कूम ही आने मिलता है.

कभी कभी अपने साथ मम्मी को ले जाते हैं तो उन्हे भी कोई परेशानी है नही इसके मॉडर्न ड्रेसस से. सब ऐसे ही चल रहा था और मे बस देसीकाहानी पर स्टोरी पढ़ कर सोचता रहता था की शायद कभी मुझे भी छोड़ने मिल जाए निशा.

कुछ महीनो बाद एक दिन दीदी मेरे पास आई और पूछने लगी की तू किसी टॅटू आर्टिस्ट को जानता है क्या?

मे – क्यू तुम्हे क्या करना है?

निशा – अरे यार मेने बहोट हेरोयिन और लोगो को देखा है इंग्लीश मूवीस मे भी वो टॅटू बनवाकेर एकद्ूम कूल लगते हैं

मे – यहा कोई कूल नही लगता ऐसे

निशा – तू जानता है तो बता क्यूकी इंटरनेट पर दिखा नही रहा यहा कोई

मे – चलो पता करके बता दूँगा

फिर ऐसे ही जेसे मेरा डेली रुटीन था शाम को घूमना दोस्तो के साथ बियर व्गरह पीना तो वही निकल गया और फिर ऐसे ही एक दोस्त था ख़ास असीम तो मेने उससे पूछा की यार कोई अपने यहा टॅटू व्गरह बनाते हैं क्या.

असीम – तुझे बनवाना है क्या

मे – अरे नही पर हो तो बता

असीम अपने हाथ पर टॅटू दिखाता है और शोल्डर पर जो मेने कभी नोटीस भी नही किए

मे – अरे ये कहा से बनवाए

असीम – ये हाथ वाला मेने खुद बनाया है और शोल्डर का वाहा बनवाया था भार जहा से मेने टॅटू बनाना सीखा

मे – तूने क्ब सीखा

असीम – अरे बस एक महीने को सीखने गया था खाली था जब आंड तू बता तू क्यू पूच रहा

मे – अरे वो दीदी को बनवाना था टॅटू

असीम – अरे तो मे बना दूँगा

मे – पक्का

असीम – हन्न यार पक्का

मे – चल मे दीदी को बता दूँगा

फिर मेने आकेर दीदी को बता दिया तो उसने कल ही असीम को बुलाने को कह दिया क़्की मम्मी थे नही घर पर वो पापा के साथ गये थे.

तो मेने असीम को कॉल करके कल आने को कह दिया. अगले दिन असीम सुबा आ गया एक बाग व्गरह ले कर और फिर उसे दीदी से मिलवाया आंड उसने सब सामान निकालना शुरू किया टॅटू का.

असीम – तो केसा टॅटू बनवाना है

निशा – डिज़ाइन नही हैं तुम्हारे पास

असीम – बहोट सारे हैं लो देखो

फिर दीदी डिज़ाइन चूज़ करने लगते हैं और फिर कुछ डिज़ाइन उन्हे पसंद आते हैं

निशा – ये डिज़ाइन्स मुझे पसंद हैं

असीम- तो बता दो कॉन्सा टॅटू किस जगह बनाना है

निशा – तुम सजेस्ट करदो की कॉन्सा कहा ठीक रहेगा क़्की तुम्हे जाड़ा नालेज होगी इसमे

असीम- आजकल तो हाथ का ट्रेंड है नही क़्की सब मॉडर्न और फॅशनबल हो गये हैं तो मोस्ट्ली या तो पेट पर या शोल्डर पर या ब्रेस्ट से उपर और पीछे हिप्स पर और आयेज थाइस या पेल्विक एरिया मे जेसे नुश्रत आक्ट्रेस के है.

निशा – हन देखा है मेने

असीम – तो तुम बता दो कहा बनवाना है तुम्हे

निशा – यहा बना दो ब्रेस्ट से उपर फ्रंट पर

असीम – कॉन्सा डिज़ाइन

निशा – ये बटरफ्लाइ ड्रॅगन वाला

असीम – ठीक है तो तुम यह टॉप निकाल दो और ये क्परा डाल देता हू और बनाता हू

निशा – मेरे रूम मे ही बना दो आंड राज तू कुछ करले जो करना है ज़्बतक मे टॅटू बनवा लेती हू

वो दोनो रूम मे चले गये पर अब मेरे आंद्र उसके बिना टॉप के बूब्स देखने की आग थी तो मे गाते से साइड मे वेंटिलेटर से झाकने लगा तो देखा की निशा बस रेड ब्रा मे थी.

असीम – यह ब्रा भी निकालनी होगी तुम्हे

निशा – क्या कह रहे हो तुम पागला हो क्या

असीम – किन और किसी से भी बनवा लो या इंटरनेट पर वीडियो देख लो पहले यह कोई एसा वेसा काम नही है बहोट बारीकी का काम है

फिर निशा वीडियोस देखने लग गयी और फिर शांत हो गयी वीडियोस देखकर ऑनलाइन.

असीम – क्यू अब यकीन हो गया

निशा – पर ऐसे तुम्हारे सामने

असीम – एक आर्टिस्ट के लिए सब न्यूड ही होता है आंड हम अपने टॅटू पर फोकस्ड र्खते हैं नही तो बनेगा कैसे और तुम्हारे जेसे कितने गर्ल्स पूरी पूरी न्यूड होती हैं जब नीचे बनवाती हैं तो.

निशा – ह्म ओके पर इसमे वीडियोस मे तो वो ब्रेस्ट पर कुछ लगा र्खा है

असीम – वो सिलिकन टेप होते हैं निपल हाइड करने के लिए पर उनसे फायेदा क्या है जब पुर बूब्स सामने है और बस निपल हाइड करने है.

फिर दोनो हासणे लग जाते हैं और निशा अब अपनी ब्रा निकाल देती है. उसके 36 के गोरे बूब्स असीम देखता रह जाता है और मई भी आंड वो सोफे पर लेती थी पीछे होकर. तो उसके थाइस भी असीम आराम से देख रहा था.

निशा – यार बधा अजीब लग रहा है ऐसे किसी के सामने बिना ब्रा के.

असीम – अरे एक टॅटू बनवाकेर तुम्हे आदत हो ज्एगी आंड तुम जेसी मॉडर्न गर्ल ऐसे सोचोगी तो कैसे चलेगा और सोचो तुम नीचे पनटी एरिया मे बनवाती तो क्या होता तुम्हारा और फिर दोनो सने लगते हैं.

असीम – अब हिलना मत

फिर वो पहले टॅटू का स्टिकर चिपकाता है और फिर डिज़ाइन चिप जाता है. तो फिर अपना वो टॅटू वाला पेन स्टार्ट करके करने लगता है और बीच बीच मे जानबूझ कर बूब्स पर हाथ र्खते जेया रहा था. मई समझ गया की उसने दीदी के बूब्स का पूरा ँज़ा लिया है और फिर आधे घन्ते लगभग मे टॅटू बन गया.

असीम – देखो

फिर दीदी टॅटू देखती हैं जो बहोट कूल लग रहा था जिसे देखर्क दीदी बहोट खुश हो जाती है.

असीम – निशा इफ़ उ डोंट माइंड मई अपने हर बनाए टॅटू का फोटो लेता हू, तो मे ई?

निशा – अरे नही ऐसे कैसे मे अपनी एसी फोटो लेने डू!

असीम – अरे तुमने ग़लत समझ लिया तुम्हारा नही बस टॅटू का सिर्फ़ टॅटू का वो भी आस आ परोफेससिओनल क़्की ह्यूम दिखाना होता है की हुमारा रियल वर्क केसा है आंड उसमे ना तुम्हारा फेस होगा ना ही कुछ और

निशा – श अच्छा चलो ठीक है

मा उपर से देखता हू असीम दीदी के बूब्स के और उनके पुर फोटो लेता है और एक टॅटू का लेता है और दिखाता है की देखो बस यह लिया है और दीदी सोचती है ठीक है बस टॅटू का लिया है और फिर दीदी क्परे पहें लेती है.

निशा -कितने रुपी हुए

असीम – अरे आप राज की बहें हो रहएने दो

निशा – नही तुम्हारा परोफेससिओं है यह बताओ

असीम – अच्छा फिर 500 रुपीज़ डेडॉ

निशा – बस

असीम – हन अब डिसकाउंट तो लेने पड़ेगा तुम्हे

और फिर स्टे हुए दीदी उसे पैसे दे देती है

असीम – तुमने इतने सब डिज़ाइन पसंद किए तो मुझे लगा जाड़ा टॅटू बनवाने है पर तुमने एक ही बनवाया

निशा – हन पर और बाँवौनगी तो मम्मी को दिख ज्एगा और ठीक नही फिर वो

असीम – वेसए तुम मॉडर्न भी हो आंड एक बूब्स पर बनवा चुकी हो तो एक पेट के नीचे बनवा लेती एकद्ूम स्टाइल आता और तुम्हारी मम्मी को भी नही दिखता

निशा- पेट पर तो दिख ज्एगा

असीम -अरे नुश्रत वाला टाइप और वाहा कैसे दिखेगा आंटी को

निशा – तो वाहा कोई फायेदा भी तो नही है जब दिखेगा ही नही

असीम – अरे सबसे जाड़ा ट्रेंड मे तो वही वाला है आंड दिखेगा बिल्कुल जब कभी बीच पर जाओगी या वेसी ड्रेस फनॉगी तो दिखेगा

निशा – हन यह भी है तो दिखाओ डिज़ाइन्स

असीम – लो देखो

निशा – ये वाला ठीक है

असीम – हन यह ठीक रहेगा

निशा – कैसे आएगा यह बताओ

असीम – हन यह निकालो तो

फिर दीदी अपनी स्कर्ट निकाल देती है तो तभी असीम ख्ता है की पनटी भी निकालनी होगी तो दीदी उसकी टरफ़ देखती है पर फिर निकाल देती हैं टाँग चिपका कर और फिर वो ंज़ारा देख कर असीम और मेरी हालात कराब हो रही थी .

असीम- यह ऐसे आएगा

निशा – हन ऐसे ठीक रहेगा पर अभी नही शाम मे बना देना

असीम – अभी बन भी नही सकता क़्की तुम्हे शेव करनी होगी नीचे एकद्ूम क्लीन

फिर दीदी उसकी ये बात सुनकेर तोड़ा ऑक्वर्ड फील करती हैं

निशा – हन ठीक है

असीम – तो मई आज ही अओन क्या ?

निशा – हन शाम मे आ जाना

फिर मई भी जल्दी से दूसरे रूम मे जाता हू और वो चला जाता है फिर दीदी उपर से मुझे टॅटू दिखती है और ख्ती है की एक और बनवाना है तो तू जल्दी खाना खा लेना फिर मे टॅटू बाँवौनगी तो मेने कहा ठीक है.

फिर मेने रूम मे आकेर असीम को कॉल की और जल्दी मिलने बुलाया आज और फिर मिलकर उसे पकढ़ा मेने हरामी तूने दीदी के फोटोस लिए.

असीम – और तू चुपके क्या देख रहा था फिर आंड निशा यार है ही इतनी हॉट

मे – मेरी बेहन है वो बोसदिके

असीम – अरे तो तू क्या लंड देख रहा था मेरा टना हुआ बहनचोड़ और अब यह क्या भाओ दिखा रहा है जनता हू सेयेल तुझे और मॅर मत तुझे भी दिलवा दूँगा मज़े

मे – और वो कैसे

असीम – अब वो मुझपर चोर दे बस आज पहले मे छोड़ लू निशा को

मे – बोसदिके कितना हरामी हो रहा है और ऐसे ही छोड़ लेगा

असीम – तू आज भी देखना और फिर ब्टाना

मे – तो सेयेल मेरा काम क्ब होगा तू तो अपने मज़े का सोच रहा है

असीम – अरे लंड के टोपे जब मे छोड़ लूँगा तभी तो काबू मे आएगी चिड़िया और फिर तू भी मज़े लेना

मे – चल ठीक है देखता हू और तूने अगर मेरा काम नही करवाया तो फिर तू भी देख लेना

असीम – हन हन छोड़ लेना बोसदिके लोंड़िया मत बन

फिर मे घर आ जाता हू और रात के 8 ब्ज जाते हैं पर असीम आता नही है अभी तो दीदी उसे कॉल करती है तो वो बतता है की एक एमर्जेन्सी टॅटू आ गया था इसलिए तोड़ा लाते हो गया और बस आ ही रहा हू. फिर 9 ब्जे के बाद असीम आता है और दीदी ख्ती है इतना लाते क्यू कार्डिया तो मेने कहा कल आ जाता.

असीम – अरे तेरी बेहन को आज ही बनवाना है इसलिए व्रना ंटो कल ही आता

निशा – तू चाहे तो सो जेया राज मे गाते बंद कार्दूनगी असीम के जाने के बाद

मे – ठीक है तो

और फिर वो रूम मे चले जाते हैं और मे भी देखने की जगह ले लेता हू.

असीम – शेविंग करली

निशा – हन करली

असीम – अच्छा तो निकालो और मे चेक करलू क़्की एकद्ूम क्लीन शेविंग होनी चाहये टॅटू के लिए

फिर दीदी अपनी स्कर्ट और पनटी निकाल देती है और असीम लेटने को ख्ता है और फिर दीदी की चिकनी छूट पर टच करता है हाथ फेर कर मजा लेता है चेक करने के भाने.

असीम – चलो मे स्टार्ट करता हू फिर और फिर वो डिज़ाइन छाप देता है

निशा – तुम्हारे तो मज़े हैं

असीम – मतलब्

निशा – ऐसे कितनी गर्ल न्यूड होते तुम्हारे सामने

असीम – कोई मज़े नही है

निशा – क्यू

असीम – हुमारा सोचो कितनी मेहनत लगती है हाथ अकध जाते हैं और न्यूड होते हैं तो हम कैसे कंट्रोल करते हैं ये सोचो

निशा – हन यह तो है

असीम – और क्या अब अगर न्यूड होते हैं और कुछ बेनेफिट हो तभी तो मज़े हैं आंड इतनी मेहनत मे पैसे के साथ कुछ टिप मिलती तब मज़े होते

निशा – हन सही बात है यह तो

असीम – अच्छा तुम सपोर्ट करती हो तो तुम्ही स्टार्ट करदो कुछ बेनेफिट करके मेरा

निशा – अच्छा जी मई ही क्यू

असीम – क्यूंकी तुमने ही यह डिसकस किया आंड हुमारी पारोबलें को समझा है और तुम सपोर्ट भी तो करती हो

निशा – पर ऐसे ठीक भी तो नही है

असीम – लो अब तुम तो पलट गयी बात से

निशा – नही यार

असीम – तो कुछ टिप मिलेगी क्या

और ये खते हुए असीम दीदी की छूट की लाइन को टच करदेता है.

निशा – नही और तुम टॅटू पर ध्यान दो

असीम – मेडम टॅटू पर ध्यान नही देता तो टॅटू कैसे बनाता दिन मे

निशा – हन तो अच्छा सा टॅटू अब भी बनाओ

असीम – मेटो अपना काम पर्फेक्ट्ली कर रहा हू पर तुम सपोर्ट करके बात खकर पलट गये

निशा – नही यार एसी कोई बात नही है.

असीम – तो मतलब् टिप मिल स्क्ति है मुझे

निशा – अभी तुम टॅटू बनाओ वक़्त बहोट हो गया

असीम – अरे ये तो बन ही ज्एगा पर तुम टिप का तो बताओ

निशा – अगर यह रूल बन ज्एगा तब ले लेना मुझसे

असीम – लो तुम सपोर्ट करके ही अपनी बात से पलट गयी

लो बन गया तुम्हा टॅटू

निशा – वाउ कितना स्टाइलिश बनाया है

और फिर असीम अपने बाग मे सब समान र्ख लेता है

निशा – अरे तुम्हे क्या हुआ

असीम – कुछ नही

निशा – अरे तुम यार बुरा नही मानो अच्छा बताओ कितने पैसे हुए मे एक्सट्रा दूँगी

असीम – अब देखो तुमने पैसे की बात कही थी टिप मे क्या

निशा – वो तो मेने ऐसे ही पूच लिया था

असीम – हन और सोचो इतनी रात मे तुम जेसे हॉट गर्ल को देख कर क्या हालत हो रही होगी मेरी

निशा – अच्छा बताओ कितने पैसे हुए

असीम – नही मुझे कुछ नही चाहये अब मे जेया रहा हू

निशा – अरे यार तुम ऐसे बुरा नही मानो आंड अब रात हो गयी है मे कल कुछ सोचकेर बतती हू क्या टिप डू

असीम – अरे तो आधी रात हो ही गयी अब मे जेया भी नही पवँगा तो अभी ही सोच लो आराम से

निशा – तुमसे ह्ड्ड है यार अच्छा मे कैसे बता स्क्ति हू यार क़्की कंट्रोल तुम करते हो और तुम्हारी फील्ड है

असीम – हन यह सही कहा तुम यह एक्सपीरियेन्स करके देखो और तुम को क्या लगता है उस वक़्त वो बता देना और टिप दे देना

निशा – मई कैसे और मुझे टॅटू बनाना नही आता

असीम – अरे तुम्हे बस उस सिचुयेशन मे आना है आंड टॅटू की जघ पेन से कुछ भी बनाओ और एक्सपीरियेन्स करो

निशा – अरे नही यार

असीम – लो पहले खुद टिप देने को सपोर्ट करती हो और फिर ख्ती भी हो और अब मेने सही आइडिया बता दिया तो इसमे भी दिक्कत तुम तो ह्र बात से पल्ट रही हो

निशा – अच्छा ठीक है

असीम – चलो तो पेन लेलो

और फिर असीम अपनी पंत और अंडरवेर निकाल देता है और उसका लंड बहोट मोटा और लंबा था जो 7 इंच से बधा लग रहा था जिसे दीदी देखती रह जाती है.

निशा – अरे तुमने तो अपने इसमे भी डिज़ाइन बनवा र्खा है

असीम – अरे एसा ही होता है यह बचपन से

निशा – अच्छा

असीम – हन्न चलो बनाओ पैंटिंग

अब दीदी उसके लंड के पास ऐसे ही पेन से कुछ बना रहे थे और असीम जानबूझ कर अपने लंड मे हर्कत करके बार बार बीच मे ला रहा था.

निशा – अरे यार इसने बधहि दिक्क्त कर र्खी है

असीम – हॅंडल करो अब तुम ही

फिर दीदी उसे हाथ से पकढ़ कर रोकना चाहती है और दीदी के लंड पकधते ही असीम की आँखे बंद हो जाती है और आहह करता है.

निशा – अरे क्या हुआ

असीम – वो तुमने पकढ़ा तो कुछ कुछ होने लगा

निशा – जाड़ा फील लेने की ज़रूरत नही है

असीम – अब इतनी सनडर और हॉट लढ़की ऐसे पकढ़ ले तो कों बेवकूफ़ होगा जो फील नही लेगा

निशा – इतनी भी तारीफ नही करो

असीम – नही सच मे तारीफ के क़ाबिल हो

निशा – अच्छा जी

असीम – अब जब टिप देने का सोच ही रहे हो तो स्कर्ट और टॉप निकाल कर सोच लो

निशा – अरे क्यू

असीम – अपने टॅटू भी देख पौँगा ना

निशा – अच्छा

और फिर निशा बस ब्रा पनटी मे आ जाती है और तब तक असीम ब टशहिर्त निकाल देता है और अब वो पूरा नंगा होता है.

निशा – श हो बॉडी बहोट अच्छी बना र्खी है

असीम – और तुमने भी तो बना र्खी है ऐसे मेनटेन करके

निशा – तुम तारीफ करने का कोई मौका नही चोर्ते

असीम – मौके तो कितने चोर रहा हू देखो इस आधी रात मे हम दोनो न्यूड एक कमरे मे अकेले

निशा – तुम बहोट बोलते हो

असीम – अच्छा दोनो एक्सपीरियेन्स साथ मे करते हैं ना जेसे तुमने मेरे इसे पड़ख हुआ है मे तुम्हारे को टच करता हू उससे शयड पता चले जये तुम्हे टिप

निशा – नही ये नही

असीम – अब चलो भी सारे आइडिया दे रहा हू

निशा फिर पनटी निकाल देती है और अब असीम दीदी की छूट पर हाथ र्खकर सहलाने लगता है जिससे दीदी की सिसकी निकल जाती है

असीम – अब तुम्हे क्या हुआ

निशा – अब इतना हॉट लड़का हाथ लगाअएगा तो कुछ तो होगा ही

असीम – अच्छा जी फिर टिप तुम डोगी या मे लेलू

निशा – क्या टिप लोगे

असीम – तुम पर्मिशन तो दो

निशा – ठीक है

और बस यह सुनते ही असीम खधा होता है और दीदी को गले लगाकर होंठ टीका देता है और किस करने लगता है. एक हाथ से दीदी की छूट सहलाता रहता है जिससे दीदी गरम रहे और फिर ब्रा के हुक्स खोल कर ब्रा निकाल देता है.

अब दोनो नंगे होते है एकद्ूम और फिर असीम दीदी के बूब्स दबाने लगता है. फिर एक बूब्स के निपल को मूह मे लेकर चूसने लगता है और होंठो से काटने लगता है जिससे दीदी की आहह निकल रही थी.

निशा – बस अब बहोट हो गया और यह कहकर दीदी उससे डोर हॅट जाती है

असीम – क्यू क्या हुआ निशा अच्छा नही लगा क्या

निशा – इसमे अच्छा लगने की क्या है तुम बस एक टॅटू आर्टिस्ट हो और मेने एक्सट्रा टिप भी डेडी

असीम – तो इस वक़्त मे जेया भी नही सकता तो थोड़ी टिप और डेडॉ

निशा – नही बस काफ़ी है

इतने मे असीम दीदी को अपनी टरफ़ खींच लेता है और एकद्ूम उनकी छूट को ंसलने लगता है और दीदी म्ना करती है.

असीम – राज उठ ज्एगा और फिर वो क्या सोचेगा

निशा – मई खूँगी तुम जब्र्दस्ती कर रहे हो

असीम – अच्छा तो मेरे लंड के पास जो टॅटू बनाया है वो भी जब्र्दस्ती बन गया

निशा – यह तो कोई बात नही है

असीम – अरे तुम इतनी हॉट हो तुम्हे दिक्कत क्या है

निशा – नही बस चोरो

फिर असीम एक उंगली छूट मे डाल देता है और घूममने लगता है जिससे दीदी गरम होने लगती है

असीम – छूट तो गीली हो र्खी है और बस ऐसे ही म्ना कर र्ही हो

निशा – प्लीज़ असीम रहने दो

फिर असीम दीदी को नीचे बिता देता है और अपना लंड उनके होंठ पर र्खहता है. और फिर दीदी भी उसे किस करते हुए चूसने लगती है. असीम तोड़ा घूमता है तो मे देखता हू उसने अपने बाग से लगा कर अपना मोबाइल र्खा हुआ है जिसमे सब रेकॉर्ड हो रहा है. अब दीदी उसका लंड चूस रही है तो सब सॉफ रेकॉर्ड हो रहा है. फिर लंड चुस्वा कर वो दीदी को बेड पर लिटा देता है.

निशा – बॅस अब तो बहोट हो गया

असीम – टिप कंप्लीट कैसे हो स्क्ति है बिना मेरे लंड के टिप के

फिर वो अपना लंड दीदी की छूट पर रब करने लगता है जिससे दीदी और गरम हो जाती हैं और अपनी गांद उठा कर लंड लेने की कोसिस करती है.

निशा – अब करो भी

असीम – तेज़ से बोलो सॉफ सॉफ क्या करू

निशा – फक मे असीम

फिर असीम अपना लंड दीदी की छूट मे उतार देता है और छुदाई शुरू करता है और फिर वो कभी उपर तो कभी दीदी को उपेर बिता कर छोड़ता है और साथ मे बूब्स ड्बे कर मज़े लेता है और फिर झद्ने वाला होता है तो दीदी के बूब्स पर सारा माल निकाल देता है और दोनो लेट जाते हैं. कुछ देर बाद उन्हे होश आता है.

निशा – अब तुम जल्दी से भार सोफे पर जाकेर सो जाओ

असीम – अरे क्या हुआ

निशा – अरे राज आ गया तो वो ह्यूम एक रूम मे देख लेगा

असीम – ठीक है मे जाता हू

निशा – आंड यह बात अब किसी को पता नही चले बस जो हो गया वो फर्स्ट और लास्ट टाइम था

असीम – नही यार ऐसे कैसे

निशा – अब कुछ नही बस

असीम – जब कहूँगा तब छुड़वाना पढ़ेगा यार

निशा – क्या पागल हो

असीम – तुम्हे मजा नही आया

निशा – तो तुम्हारी रंडी बन जौन क्या

असीम – अरे यार हम सीक्रेट र्खेंगे ना

निशा – नही अब कुछ नही

असीम – तुम खुद बुलाओगी की आओ छोड़ो

निशा – तुम जाओ यहा से

और फिर वो भार आ जाता है आंड मे उसे अपने रूम मे ले जाता हू क्यूकी दीदी लेट जाती अब और फिर हम रूम मे आ जाते हैं

मे – ला वीडियो सेंड कर

असीम – करता हू ले

मे – यार तेरे मज़े आ गये

असीम – हन सही मे यार तेरी बेहन ग़ज़ब्ब माल है जो छोड़ ले फन हो जाए

मे – पर मेरा नंबर कैसे लगेगा

असीम – ये बता तेरी मम्मी क्ब आएगी

मे – उन्हे तो 8-10 दिन लगेंगे

असीम – तो फिर आज रात तू छोड़ना उसके बाद ज़्बतक तेरी मम्मी नही आती मई छोड़ूँगा

मे – मुझे बस एक बार

असीम – अरे और भी मौके दे दूँगा पर हन जेसे ही मे तुझे इशारा करू तू रात को रूम मे आ जाना और कुछ भी बोलना मत

मे – ठीक है

फिर दीदी उठकर आते हैं तब तक हम भार बेते होते हैं

असीम – अछा निशा मे चलता हू और अगर किन टॅटू बनवाना हो तो कॉल करदेना

निशा – नही अब नही बनवाना

असीम – ओक फिर मे चलता हू

मे भी दीदी को क्लग का खकर निकल जाता हू और असीम के घर पहुचता हू वाहा वो दीदी को उनकी वीडियो सेंड करता है और तभी दीदी की कॉल आती है जो मे भी सुनता हू.

इसके आयेज भी बहोट छुदाई और मूठ मारने की कहानी आयेज बढ़ती जाएगी जिसमे आप सबको बहोट मज़ा आएगा. तो दीदी की कॉल से शुरू होगी इस कहानी का दूसरा भाग.

यह कहानी भी पड़े  गर्लफ़्रेंड की मस्त चुदाई

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!