विधवा सास के साथ सम्बन्ध बन गया लखनऊ की कहानी

इसके बाद जरूर पढ़ें अतृप्त कामवाली को चोदकर यौन इक्षा की पूर्ति की
सच पूछिए दोस्तों तो मेरा भी मन अपने सासू मां को अपने बिस्तर पर आने का मन करने लगा। मेरी सांसे तेज हो गई है घबराहट होने लगी क्योंकि मुझे लग रहा था कि आज मैं उनको बोल रही तो। फिर मैं हिम्मत करके सासु मां को बोला कि सासु मां आज आप मेरे साथ ही सो जाओ।

इतना कहते ही सासू मां मेरी तरह देखें और बोली। सोतो जाऊंगी पर यह बात किसी और को पता नहीं चलना चाहिए और मेरे बीच के रिश्ते भी सभी लोगों के सामने सास दामाद का ही रहना चाहिए भले कमरे के अंदर कुछ भी हो।

दोस्तों हरी झंडी मिल चुकी थी बस मैं खड़ा हुआ और उनको अपनी बाहों में भर लिया वह भी अपने बाहों में भर ली. हम दोनों एक दूसरे के जिस्म को टटोलने लगे धीरे-धीरे करके होठ मेरे उनके होंठ के ऊपर पहुंच गए। दोनों के लिए ब्लॉक हो गए देखते देखते हम दोनों बिस्तर पर एक दूसरे के जिस्म के साथ खेलने लगे।

हम दोनों ने एक दूसरे के कपड़े उतारे मैं तो अपनी सासू मां के जिस्म को देखकर खुशियों से भर गया मेरे तन बदन में आग लग गया था दोस्तों। कड़क गोल गोल बूब्ज़, गोल गोल गांड, जिस्म कसा हुआ। मैंने तुरंत उनके चुचियों को अपने मुंह में ले लिया और निप्पल को पीने लगा। वह भी मेरे को बोलते हुए मेरे होंठ चूसने लगे मेरे उनके दोनों बड़े-बड़े बूब्स के ऊपर था। में मसल रहा था। उस मैं मुंह अपना लंड दे दिया वह मेरे लंड को चूसने लगी दोस्तों जैसे जैसे वह मेरे लंड को चूस रहे थे मेरा लैंड मोटा और लंबा हो रहा था।

यह कहानी भी पड़े  घर की बात घर में

जब मैंने उनके चुत पर हाथ लगाया तो देखा कि चुत काफी गर्म हो चुकी थी और गरम गरम पानी निकल रहा था सांसों में खुद बोले। क्या तुम मेरी चुत को चाट सकते हो दोस्तों मैं तो तुरंत ही उनके चुत के करीब पहुंच गया और दोनों पैरों को फैलाकर बीच में बैठकर अपनी जीभ से उनके चुत को चाटने लगा गरम गरम पानी निकाल रहा था और मैं सारे पाने को पहले पी रहा था। करीब 10 मिनट में ही वह इतना ज्यादा गरम हो गई कि क्या बताऊं दोस्त पागल होने लगे।

इसके बाद जरूर पढ़ें चुदक्कड़ हॉट जवान चाची की चुदाई की मेरे मोटे लंड से
उसने कहा कि अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है जल्दी से मेरे जिस्म की ज्वाला को शांत कर दो मैं भी तुरंत नीचे गया दोनों पैरों को अपने कंधे पर रखा और अपने लंड को उनके चुत पर लगाया और जोर से धक्का दिया कर पूरा का पूरा लंड उनकी चुत में चला गया दोस्तों जैसे ही उनके चुत में लंड गया वह पागल हो गई नीचे से धक्के देने लगी। मैं भी ऊपर से धक्के देने लगा।

दोनों एक दूसरे को खुश करने की कोशिश कर रहे थे। उसके बाद मैं नीचे हो गया मेरे ऊपर चढ़ गई मेरा लंड पकड़ कर वह अपनी चुत पर लगाए और बैठ गई। अब उछाल उछाल कर चुदवाने लगी।

दोस्तों उसके बाद तो फिर कभी वह नीचे कभी मैंने कभी घोड़ी बनाकर कभी कुत्ता बना कर तुझे कुत्ता बना कर जैसे मन हुआ हम दोनों एक दूसरे को खुश करते रहे। रात में करीब 3 बार हम दोनों ने सेक्स किया और साथ में अब तो दोस्तों।

यह कहानी भी पड़े  पापा ने माँ समझकर चोद दिया मुझे

हर 1 सप्ताह में लखनऊ में होता हूं मेरे बीवी को लगता है कि मैं उनके मां का ध्यान रखना और दोस्तों अब तो मेरे दो बीवी हो गई अब सास को मैं अपनी बीवी ही मानता पर हर 1 सप्ताह 15 दिन में लखनऊ में होता और बस 2 दिन जमकर उनके चुदाई करता हूं।

हम दोनों का प्यार परवान चल रहा है हम दोनों कहीं घूमने जाने वाले भी हनीमून मनाने मेरे बीवी को लग रहा है कि मां को मन नहीं लगता इसलिए मेरे पति उनको घुमाने जा सच्चाई क्या है दोस्तों अब आपको भी पता चल गया है और मैं जो भी हूं खुश हूं मेरी सास देखो खुश रहे भगवान करे सब को मिले।

Pages: 1 2

error: Content is protected !!