विदेशी लड़की की रफ़ चुदाई

अब वो न रोक सकती थी … न ही हट सकती थी. वो बस चिल्ला सकती थी, जो कि वो पूरी जोर से चिल्ला रही थी.

‘आआह अह्हह ओ माय गॉड उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह फ़क मी … नाउ प्लीज फ़क मी.’

मैं नहीं माना और वाइब्रेटर से दाने को छेड़ता रहा. फिर थोड़ी देर बाद उसने जैसे तैसे अपने आपको छुड़ाया और वाइब्रेटर मुझसे लेकर मेरे लंड के टोपे पर लगा दिया.
बता नहीं सकता मैं दोस्तो … लंड की कैसे माँ चुदी … आह क्या एहसास था वो!

कुछ देर बाद उसने लंड के सुपारे से वाइब्रेटर को हटाया और मेरे लंड को मुँह में भर लिया. मानो लंड को राहत मिल गई थी. वो लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी थी. पूरा लंड हलक तक डालने लगी थी, जिससे पूरा लंड उसके मुँह के रस से तरबतर हो गया था.

अब वो मेरे आंडों से खेलने लगी और फिर उन्हें भी पूरा मुँह में लेकर लंड हिलाने लगी.

मैं अब चुदाई के लिए मरा जा रहा था. मैंने उसे नीचे लेटाया और उसके दोनों पैर फैला दिए. मैं उसकी टांगों के बीच में आकर लंड को उसकी चूत पर रगड़ने लगा. ऐसा करने से हम दोनों के रस घुल कर एक हो गए.

Videshi Ladki Ki Rough Chudai
Videshi Ladki Ki Rough Chudai
उसकी चूत गीली थी और बहुत बार चुद चुकी थी, तो मेरे ज़रा से झटके में एक बार में पूरा लंड अन्दर तक घुस गया.

लंड ने चुत में डुबकी मारी, तो समझ आ गया कि उसकी चूत के अन्दर समंदर जितना गीलापन था. अब मेरे लंड को उस समंदर में गोते लगाने थे. मैं ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लगा … इतनी ज़ोर से कि हर शॉट में लंड उसके चूत के अंत तक चला जाता. सीधे गर्भाशय के दूसरे सिरे तक चोट मार रहा था.

यह कहानी भी पड़े  पड़ोस के जवान लड़के से चुदाई

वो ‘आआअह्ह अह्हह फ़क मी बास्टर्ड … फ़क माय पुसी..’ करके चिल्लाने लगी.

अब समय आ गया था कि उसको और मस्त करते हुए चुदाई का मजा दिया जाता. मैंने लंड बाहर खींचा और अलग हो गया. वो मेरी तरफ गुस्से से देखने लगी. मैंने वाइब्रेटर उठा कर उसकी चूत की क्लिट पर रखा और लंड से चुत चोदने लगा. वो अब सातवें आसमान पर थी.

मेरे धक्के और वाइब्रेटर उसी पागल करते जा रहे थे. कुछ वक़्त ऐसा करते करते वो बोली- आई वांट टू स्क्विरट आआह्ह आअह्ह्ह फ़क मी हार्ड.

उसका मतलब था कि वो धार मारना चाहती थी. मैंने वाइब्रेटर फुल स्पीड पर कर दिया और धक्के मारने लगा. मैंने एक ज़ोर का धक्का लगाया और लंड बाहर निकला, तो लंड के साथ एक पानी का सैलाब उसकी चूत से निकला. मैंने फिर लंड अन्दर डाला और फिर निकला, ऐसे करते करते उसने पांच से छह बार धार मारी.

फिर मैंने उसे कुतिया बनने को कहा और वो झट से कुतिया बन गयी. मैंने पीछे से आकर उसके चूतड़ों पर एक ज़ोर का चांटा मारा और एक झटके में लंड अन्दर कर दिया. वो एकदम से लंड घुसाने से चिल्ला उठी.

मैंने लंड अन्दर करने के बाद चुदाई के वक़्त उसके चूतड़ों पर इतने चांटे मारे कि उसकी गांड लाल हो गई. उसे मज़ा भी आने लगा था.

कोई दस मिनट बाद हमारे झड़ने की बारी थी.
उसने बोला कि आई वांट टू कम.
मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई और हर झटके में लंड को चूत के अंत तक पेला.

वो चिल्लाते हुए भलभला कर झड़ गयी. उसकी चुत से निकले पानी से मेरा लंड पूरा गीला हो गया. मैंने लंड बाहर निकाला और उसके मुँह में माल छोड़ने का मन बना लिया.

यह कहानी भी पड़े  दोस्त की मा ने क्लीवेज दिखा के सेक्स किया

ये मैंने पोर्न में देखा था कि कैसे लड़का अपना वीर्य लड़की के मुँह में छोड़ता है. मैंने उसको बिस्तर से खींच कर फर्श पर घुटनों के बल बैठाया और उसके मुँह में वीर्य से भरा अपना भारी लंड डाल दिया. वो एक बाजारू रांड की तरह लंड चूसने लगी. उसने जैसे ही मेरे लंड के नीचे वाले छेद पर ज़ुबान से रगड़ा, मैंने उसका मुँह पकड़ कर लंड पूरा अन्दर डाल कर झड़ गया. वो मेरा पूरा वीर्य पी गयी.

झड़ने के बाद हम दोनों कुछ देर ऐसे ही जमीन पर बैठे रहे. फिर सोफे से टिक कर बाकी की एक एक कैन उठा कर बियर पी ली. बियर के साथ सिगरेट का मजा भी हमारी थकान में लज्जत दे रहा था.

उस रात हमने दो बार और चुदाई की, जिसमें से एक बार मैंने अपना वीर्य उसकी चूत में ही छोड़ दिया और दूसरी बार उसके चूचों पर. फिर दो दिन चुदाई का सिलसिला चलता रहा.

ये थी किसी विदेशी अजनबी लौंडिया के मेरी चुदाई की कहानी. मैं आशा करता हूँ कि आपको मेरी ये सेक्स कहानी पसंद आयी होगी … और खास कर महिला पाठकों को मजा आया होगा. मैं दावा कर सकता हूँ कि चाहे वो महिला पाठक हो … या पुरुष, मेरी कहानी पढ़ कर गीले ज़रूर हुए होंगे.

Pages: 1 2 3 4 5

error: Content is protected !!