ट्रेन मे मिली, बेडरूम मे चुदाई की

हेल्लो फ्रेंड्स, मेरा नाम रोहित है. और मैं बहोत ही मस्त हूँ. मैं दिखने मे काफ़ी हॅंडसम हूँ. मैं 25 साल का हूँ और मुंबई मे रहता हूँ.

मैं जॉब करता हूँ और खूब मज़े लेता हूँ. मुझे बहोत अच्छा लगता है जब मैं बिज़ी होता हूँ क्योकि मुझे अपनी बिज़ी लाइफ बहोत ही अच्छी लगती है.

मैं आज आपके लिए एक कहानी ले कर आया हूँ जो की बहोत ही मस्त है. पर कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे मे बताना चाहता हूँ. तो बिना किसी देरी के मैं आपको अपनी कहानी पर ले कर चलता हूँ.

पर इतनी भी जल्दी क्या है. मैं आपको अब अपने बारे मे बता देता हूँ. मैं जिम भी जाता हूँ और मुझे जिम जाना बहोत अच्छा लगता है. मैं बहोत ही मज़े से रहता हूँ.

मैं अब ज़्यादा टाइम ना लेते हुए कहानी पर ही चलता हूँ. कहानी पर ले कर जाने मे ही मज़ा है क्योकि सबके लंड को चूत की प्यास होंगी.

तो बिना किसी देरी के मैं आपको कहानी पर ले कर चलता हूँ. मैं ऐसे ही ट्रेन मे ट्रॅवेल कर रहा था. ऐसे ही क्या बस ये समझ लो की काम से कर रहा था. वो समय सर्दियो का था और सर्दियो के समये आपको तो पता ही है की ट्रेन मे कितनी ठंड लगती है.

तो ठीक उसी तरह मुझे भी ठंड लग रही थी.मेरा सफ़र भी काफ़ी लंबा था तो मुझे बहोत ही मज़ा आ रहा था.

मेरे सामने एक कपल बैठा था जिनकी शादी अभी नयी ही लग रही थी. अब आप ये सोचोगे की नयी का मतलब की लड़की ने चुड़ा डाला हुआ था, न्ही ऐसा कुछ न्ही था.

यह कहानी भी पड़े  छोटी बहन की चुदाई

अब मैं आपको बता दू की मेरा कहने का मतलब है की 2 ही साल हुए होंगे उनकी शादी को. इसलिए मैं ऐसे ही बस उनके साथ बाते मरने लग गया. मैं भैया से ही बाते कर रहा था और वो मुझसे बाते मार रहे थे.

अब ऐसे ही टाइम निकल रहा था. बीच मे हमने खाना भी खाया और हमने साथ मे मिल कर ही खाया और तो और खूब बाते भी मारी.

उनकी बीवी बहोत ही सुंदर थी जिसे मैं देख रहा था और तो और वो भी मुझे देख रही थी. पर मैने ऐसा कुछ भी ग़लत न्ही सोचा था जिसकी वजह से उसे कुछ ग़लत लगे.

ऐसे ही रात हो गई और फिर हम सब सो गये और वो भी सो गये. सुबह जब उठे तो वो भी उठे हुए थे और हमने फिर एक साथ चाय पी और फिर उन्होने मेरा मोबाइल नंबर भी ले लिया. तो उनका फोन बेग मे था जो की निकालना बहुत ही मुश्किल था. इसलिए मैने उनके बीवी को ही कह दिया की आप मेरा नंबर नोट कर लो.

तो मेरे कहने पर उन्होने नंबर नोट करलिया.और फिर मेरा स्टेशन आ गया और मैं अपने घर को चल दिया. घर को जाने के बाद मैने घर आ कर चेंज किया और थोड़ी देर रेस्ट करने के बाद मैं जॉब के लिए निकल पड़ा.

अब 3 दिन बाद मेरे फोन पर एक मेसेज आया तो मैने देखा. पर वैसे भी मुझे बहोत आते है तो मैने ध्यान न्ही दिया. पर जब उसी नंबर से दूसरी बार मेसेज आया तो मैने देखा की ये कोई शालिनी का मेसेज आया है.

क्योकि उस मेसेज मे शालिनी लिखा हुआ था. तो मैं कन्फ्यूज़ हो गया की ये आख़िरकार कौन है. और ये मुझे कैसे जानती है क्योकि मैं तो जानता ही न्ही हूँ. खैर उस समय तो मैने ऑफीस जाना था इसलिए मैं जल्दी मे था तो मेसेज ना देख पाया और ना ही रिप्लाइ दे पाया.

यह कहानी भी पड़े  Mera Kamuk Badan Aur Atript Yauvan- Part 2

फिर जब मैं शाम को वापिस आया तो मैने उस मेसेज को देखा और फिर जा कर मैने उस से बात करनी चाही. क्योकि मैं भी जानना चाहता था की आख़िरकार ये कौन है. जिसे मैं न्ही जानता हूँ.

और फिर उसके बाद मैने उससे बात करी तो उसने मुझे कहा की तुम मुझे इतनी जल्दी भूल गये. तो तब मैने उसे फोन मिलाया और तब उसने बताया की हम ट्रेन मे मिले थे. तो उसके बाद मुझे याद आया की ये तो वो ही भाभी है.

तो मैने उससे बात करी तो मैने उससे सॉरी फील किया की मैने बात भी न्ही करी और ना ही आपका नाम पूछा. तो तब वो कुछ न्ही बोली और फिर उसने मुझे बताया की मैं उसके बाय्फ्रेंड जैसा लगता हूँ जो अब इस दुनिया मे न्ही है.

तब मैने उसे सॉरी फील किया और उसके बाद मैने ऐसे ही काफ़ी बाते करी और तब मुझे ल्गा की वो मुझसे फ्रेंडशिप करना चाहती है. तो मैने उनसे खुद ही पूछ लिया.

और फिर उसके बाद उसने हाँ करी और हम फिर बाते करने लग गये. ऐसे ही काफ़ी टाइम तक चला. फिर एक दिन सुबह ही उसका फोन आ गया की मेरे पति आज जा रहे है सुबह 6 ब्जे की ट्रेन से तो मैं आजाउ. तो ये सुन कर मैं भी चला गया और फिर उसके बाद मैने बाइक उठाई और उसके घर की ओर चल पड़ा.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2

error: Content is protected !!